Hindi Porn Stories

Sex stories in Hindi

बचपन की दोस्त की चुदाई

हेलो दोस्तों मेरा नाम अर्णव सिंह है और जो इंडियन सेक्स स्टोरी आज पढ़ने वाले हैं वह मेरे और मेरे बचपन की दोस्त रूचि की है जो आगरा में रहती है और हां मैं मेरठ में रहता हूं.

अपना इंट्रोडक्शन देता हूं. मैं १९ साल का हूं और मैं दिखने में काफी स्मार्ट हूं और बॉडी भी ठीक ठाक है और मेरा लंड का साइज ६ इंच है जो किसी भी लड़की को सैटिस्फाई कर सकता है. अब आप लोगों को बोर ना करते हुए मैं अपनी कहानी पर आता हूं.

यह कहानी अब से २ महीने पहले की है जब मैं अपने एक एक्जाम के लिए आगरा जाने वाला था तो पापा ने बोला कि आगरा में मेहता की बेटी तेरी बचपन की दोस्त रहती है तो उसके पास रुक जाना, तो मैंने कहा ठीक है. मैं अगले दिन आगरा चला गया और रूचि मुझे स्टेशन पर लेने आ गई. जब मैंने उसे देखा तो देखता ही रह गया वह दिखने में काफी सेक्सी थी.

उसका फिगर ३८-२८-३० होगा. फिर हमने एक दूसरे को हग किया और फ्लेट के लिए चल दिए. फ्लेट में उसके साथ उसकी एक फ्रेंड की रहती थी जो कुछ दिन अपने घर गई थी और फ्लेट में सिर्फ दो ही रूम थे, तो रुचि ने कहा तुम इस रूम में सोना तो मैंने अपना सामान रखा और नहा कर कपड़े बदल कर आया.

तो रूचि बोली यार अर्णव तू तो काफी स्मार्ट है, मन कर रहा है तुझे किस कर लूं तो मैं बोला मजाक मत कर, मॉल चलते हैं घूमने. तो उसने कहा माँल छोड़ आज यही पार्टी करते हैं, तो मैं बोला ठीक है. तो उसने म्यूजिक सिस्टम ऑन किया और एक रोमांटिक सॉन्ग चला दिया और हम कपल डांस करने लगे. मेरा एक हाथ उसकी कमर में था क्या फिलिंग आ रही थी.

यार मन कर रहा था उसे चोद दू पर मैंने अपने आप को कंट्रोल किया और उसे प्रपोज कर दिया तो उसने हां बोला. फिर मैंने पूछा क्या मैं तुझे किस कर सकता हूं? तो उसने हां बोल दिया और फिर मैं उसे किस करने लगा, पहले वह मुझे सपोर्ट नहीं कर रही थी और बाद में फुल टाइट पकड़कर किस करने लग गई.

१० मिनट की किस के बाद वह चाय बनाने चली गई तो मैं किचन में गया और उसे पीछे से पकड़कर उसकी गर्दन पर किस करने लगा तो वह पूरे जोश में आ चुकी थी.

फिर मैं उसके बूब्स को भीचने लग गया, उसके बूब्स इतने मोटे मोटे थे कि मेरे पूरे हाथ से नहीं पकड़े जा रहे थे. फिर मैंने उसे अपनी गोद में उठाकर रूम में ले गया और बेड पर लेटा दिया और उस को किस करने लगा और किस करते करते उसके कपड़े उतार दिए और अपने भी उतार दिए. अब हम दोनों बिल्कुल नंगे थे और एक दूसरे के ऊपर लेटे थे. फिर मैं उसके बूब्स को चूसने लगा और वह जोर जोर से मोंन कर रही थी.

फिर मैं उसकी टांगे फैला कर उसकी चूत में अपनी जीभ अन्दर की और उसकी चूत  को चूसने लगा और फिर रूचि और जोर जोर से मोन करने लगी और कुछ देर बाद वह जड गई और फिर मैं उसका सारा पानी पी गया.

फिर मैंने उसे खड़ा किया और अपना लंड उसके मुंह में दे दिया और फिर वह मेरे लंड को जोर जोर से चूसने लगी. २० मिनट उसके मुह को चोदने के बाद में उसके मुंह में ही झड़ गया और फिर हम किस करने लगे. उसके बाद वह मेरे लंड को हिलाने लगी.

५  मिनट बाद फिर मेरा लंड खड़ा हो गया और अब मैंने उसकी दोनों टांगों को फैला कर उस की चूत पर अपना लंड सेट किया और एक जोरदार धक्का मारा और मेरे लंड का टोपा उसकी चूत में घुस गया और वह जोर जोर से चिल्लाने लगी और आह्ह ओह अहह ओह अह्ह्ह हो अह्ह्ह मुझे चोद मर गई निकाल बाहर ईसे और मुझे गालियां भी देने लगी.

पर मैं नहीं रुका और फिर एक जोरदार धक्का मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत  में चला गया और वो और तेज चिल्लाने लगी. फिर मैं धक्के मारने स्टार्ट कर दिए वह भी मुझे अपनी गांड उठा उठाकर सपोर्ट कर रही थी. ४५ मिनट की चूत चुदाई के बाद मैंने अपना सारा वीर्य उसकी चूत में डाल दिया और हम ऐसे ही नंगे एक दूसरे के ऊपर सो गए.

अगले दिन हमने पूरे दिन चूदाई की. दो दिन बाद रुचि की फ्रेंड अनामिका आ गई, अब हम चूदाई नहीं कर पा रहे थे. फिर एक दिन रात को जब रूचि सोने की तैयारी कर रही थी तो मैंने उसे बोला कि जान तेरी गांड मारनी है, तो उसने हां बोल दिया और कहने लगी कि आराम से क्योंकि अनामिका आज आ गई है और उसे पता चल जाएगा, तो मैं बोला उसे पता नहीं चलेगा आराम से करुंगा.

फिर मैं उसके बुब्स को ऊपर से ही चूसने लगा और उसे बेड पर लेटा दिया और उसकी चूत को चाटना शुरू किया तो वह मौन करने लगी. उसके मोन की आवाज रूम से बाहर जा रही थी, तो फिर मैंने उसे गोद में उठा कर अपना लंड सेट किया और ऊपर नीचे करने लगा. फिर वह खुद की कमर को ऊपर नीचे करने लगी.

२० मिनट बाद मैं उसकी चूत में जड गया. फिर कुछ देर बाद मैंने उसको उल्टा किया और उसकी गांड को चूसने लगा और वह आवाजें करने लगी. फिर मैंने उसकी गांड पर अपना लंड सेट किया और एक जोरदार धक्का मारा तो वह बहुत जोर से चिल्लाने लगी.

दो तिन धक्के में मेरा पूरा लंड उसकी गांड में चला गया और मैंने तेज तेज धक्के मारना स्टार्ट कर दिया. ३५ मिनट तक उसकी गांड मारने के बाद में जड गया था. अब जब भी हमें मौका मिलता है हम चुदाई कर लेते हैं क्योंकि मैं हर हफ्ते आगरा जाता हूं और २  दिन उसकी चुदाई करके आता हूं.

1 Comment

Add a Comment
  1. muje bi marni he oski

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hindi Porn Stories © 2016 Frontier Theme