Hindi Sex Stories

Porn stories in Hindi

भाभी की गांड का रहस्य

हेलो दोस्तों, मैं अपनी नयी कहानी लेकर फिर से आपके सामने हाजिर हु, आप लोगों को मेरा पहला स्टोरी बहोत पसंत आया होगी, आज मैं आप लोगो को अपनी दूसरी रियल कहानी बताने जा रहा हूं, मेरी उम्र ३३ साल है और मैं बेंगलोर का रहने वाला हूं.

में प्रोफेशन से एक बेंकर हु और कोई भी मेरे साथ चैट करना चाहे तो मुझे मेल कर सकता है.

जैसे की मैंने बताया था लास्ट स्टोरी में मेरी भाभी के बारे में, उसका फिगर ३६-३४-३६ है और यह जो भी साइज़ हे इसमें मेरा भी हाथ हे. मैं मेरी भाभी को चोद चोद के और उस के बूब्स को दबा दबा कर गांड मार मार कर बड़ा किया है, तो मेरे इस काम से भाभी मेरी शुक्र गुजार थी.

अब मैं कहानी पर आता हूं, यह बात करीब २ विक पहले की हे जब मैं, भैया और भाभी मैसूर घूमने गए थे अपनी कार में, हम लोग सुबह सुबह ही निकल गये थे घर से और मस्ती करते हुए जा रहे थे, मैं कार चला रहा था और भैया मेरे साइड की सीट में और भाभी पीछे बैठी थी, हम लोग मैसूर घुमे, काफी मजा करने के बाद  रिटर्न में काफी थक गए थे.

तो मे भैया से कह रहा था कार चलाने के लिए और में पीछे जा कर सो गया भाभी के गोद में, और काफी अंधेरा भी हो गया था, और आप लोगों को तो पता है कि मैं एक चुदक्कड हूं और जब भाभी की गोद में सोया हु तो उन के बदन से आती हुई खुशबू से भला में कैसे अपने आप को संभाल पाता, लेकिन तब मेरे भैया भी थे तो मुझे अप ने आप पर कंट्रोल करना पड़ा, लेकिन मैंने फिर भी भाभी की चूत में हाथ डाल कर फिंगरिंग करने लग गया था.

भाभी भी काफी सेक्सी हो गयी थी और चूत भी गीली हो चुकी थी और मेरा फिंगर भी गिला हो गया था और मैं उस रस को चाट चाट के साफ भी किया, तब मैंने भाभी को कहा प्लीज मेरे लंड को सहलाओ और जोर जोर से हिला कर पानी निकाल दो, मेरी रंडी भाभी ने ऐसा ही किया और हम लोग एक ओरल सेक्स के बाद हमारे घर पर पहुच गये.

में काफी मूड में था, क्योंकि अभी तो आधा सेक्स ही हुआ है अब मुझे उस रंडी की गांड मारनी थी, तभी भैया आये और बोले प्रेम डिनर का क्या प्लान है? तेरी भाभी बहुत थक चुकी है और वह खाना नहीं बना सकती ऐसा बोल रही है. मैंने कहा कोई बात नहीं मैं बाहर गया से ले आता हु. और मैं बाहर गया और डिनर ले कर आ रहा था तभी भैया का फोन आया कि थोड़ा ड्रिंक लेकर आना मुझे बहुत थकान महसूस हो रही है, मैं लेकर आ गया. मेरे भैया ड्रिंक्स लिए और थोड़ा खाना खाया और सो गए.

में और भाभी खाना खा रहे थे. तभी मैंने पूछा भाभी को हो जाए एक चूत-गांड-लंड का गेम? भाभी बोली मैं थक गई हूं, मजा नहीं आएगा, मैंने कहा तेरा मजा में निकालता हूं रुक साली रंडी और जल्दी भैया का स्टेटस देख कर मेरे रूम में आ जाना, मैंने खड़े हुए लंड से तुम्हारा वेट करूंगा, तो वह मेरी रंडी मेरे को बोली तू  कभी नहीं सुधरेगा रंडुआ, और तेरी भाभी को बीना चोदे रह नहीं पायेगा, फिर मैंने बोला तेरे जैसी रंडी हो तो मैं लाइफटाइम शादी भी ना करू और तुजे ही चोदता रहू. फिर में अपने रम में जा के फ्रेश हुआ और भाभी का इंतजार करने लगा.

फिर करीब दो घंटे के बाद वह रंडी आई, पता नहीं किस से मरवा रही थी, मुझे गुस्सा आ गया था वेट कर कर के, तब मैंने पूछा क्यों इतना लेट हो गया? तो बोली तेरे भैया भी घर पर हे, और वह ड्रिंक कर के  सोये हे, लेकिन उन को थोडा थोडा होश हे तो में उन से चूत मरवा के आई और उन को एकदम थका के सुला दी. अब वह सुबह तक नहीं उठेंगे.

मेने कहा वाह रंडी तेरा तो जवाब नहीं तू तो एकदम एक्सपर्ट खिलाड़ी है और मुझ से गांड मरवाने के लिए चूत मरवा कर आ गई, तो उसने कहा कि भडवे बात कम कर और चोद तेरी रंडी को, फाड़ डाल उस की गांड जो तेरा लंड लेने के लिए आई है.

तभी मैंने मेरा पेंट खोल दिया और मेरे लंड को उसके मुंह में डाल के रेडी करने लगा और उसके दोनों गोल गोल बोबे को दबाने लगा, चाटने लगा, खाने लगा, उस के बूब्स को पूरा लाल करने के बाद मैं उसकी चूत को चाटने लगा, पूरी जीभ को उस की चूत में घुसा दिया और उसके बालों को सहलाने लगा, उसकी चूत के ऊपर छोटे छोटे बाल काफी मदहोश कर देते हैं मुझे, वह अब आह हु ऊया हहिः अहह ऐऊ ओह अहह औऔउ आम्म अह्हो ह हहह औऊ बहुत जोर जोर से आवाज करने लगी, बस बस बस और नहीं. मैं और जोर से उसकी चूत को चाटने लगा और वह पानी छोड़ दी मेरे मुंह में ही, क्या टेस्ट था?

पूरा पानी पीने के बाद मैं तैयार हो गया, मुझे आज इस रंडी को दिखाना था कि मैं उसका देवर उसके पति से अच्छा चोदता हूं कि नहीं. और फिर मेने उसे डौगी स्टाइल में  लिटा के चोदा, क्रीम उस की गांड में लगाया और एक जबरदस्त मारा उसकी गांड के ऊपर, उसका गोरा गांड पूरा लाल हो गया और वह चीख पड़ी, अरे भोसड़ी के लवडे के बाल, मादरचोद, बहनचोद साले, में गांड मरवाने आई हूं, तू तेरा लंड को गांड में मार भोसड़ी के, हाथ से नहीं मार पेन होता है, मैंने कहा पेन और क्या क्या होता है, आज सब तुझे पता चलेगा, रुक रंडी चुप हो कर देख मैं क्या क्या करता हूं? तू बस एंजॉय कर.

मैंने मेरे बड़े लंड को उस की गांड में एक ही बार में घुसा दिया, वह चीख पड़ी, निकाल साले निकाल इसे नहीं नही प्लीज़, फाड़ देगा क्या साले? मैं कहां सुनता था, और फिर उसे और जोर जोर से मारने लगा फच फच फच, उसका गांड पूरा लाल हो चुका था, वह काफी एंजॉय करने लगी थी, बीच बीच में फक फक फक फक बोल कर मेरा हौसला बढ़ा रही थी और मैं भी काफी जोर के साथ से चोद रहा था और करीबन २५ मिनट चोदने के बाद मैं झड़ गया और मैंने सारा पानी उस के गांड में ही डाल दिया, और थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहे और बात करने लगे मैसूर की ट्रिप के बारे में.

तभी रंडी भाभी ने कहा उनकी बहन आ रही है कल कुछ एग्जाम के लिए, तो मैं वह सुनकर काफी खुश हो गया और एक छोटा सा स्माइल सा आ गया मेरे फेस पे, तभी वह भाभी देखि और पूछा तुम क्यों खुश हो रहे हो? मैंने कहा है ऐसे ही, तो वह समझ गई और बोली उसके बारे में सोचना भी मत, वह काफी अच्छी है और यह सब वह नहीं करती है. मैंने कहा ठीक है लेकिन एक बार ट्राई कर के देखने में क्या जाता है. अगर वह अच्छी होगी तो नही करेगी और अगर वह भी तुम्हारी जैसी चुदक्कड निकली तो फिर मेरा लाइफ सेट. और ऐसी बात कर के भाभी अपने रूम में चली गयी.

मैं सुबह करीबन १० बजे उठा और फ्रेश होकर हॉल में आकर बैठ गया, भैया भी थे, और संडे का दिन था तो कुछ काम भी नहीं था. ११ बजे के आस पास दरवाजे का बेल बजा और भाभी की बहन आई, जब तक मैं नहा धोकर रेडी हो गया था. मेरी नजर जब उस पर पड़ी तो मैं दंग रह गया, वह तो एक माल है उसका नाम है ममता, काफी टाइट जींस, टाईट स्कर्ट स्लीव लेस मेरे हिसाब से उसका फिगर ३६ से ज्यादा होगा, गांड उसका ३४ के आस पास होगी, एकदम गोरी चिट्टी थी, बहुत सुंदर लग रही थी. मेरा लंड भी समझ गया था कि उसे कुछ मिलने वाला है.

तभी भाभी आई और वह लोग रुम में चले गए, फिर थोड़ी देर में वह फ्रेश होकर भाभी के रूम से निकली, उसे देख में वहीं पर ही बेहोश होने वाला था, एक सिंपल ड्रेस पहन के आई और उस ड्रेस से समझ में आया कि साली का ब्रेस्ट ३८ तो पक्का है, और मुझे चढ़ गया वह दिमाग में, लेकिन मैं सही समय का इंतजार कर रहा था.

फिर हम लोग सभी लंच लिए, काफी बातें की मैं और ममता भी काफी बातें किए, वह अभी एमबीए कर रही थी और उसका स्पेशलाइजेशन फाइनेंस था, और मैं अपना एमबीए काफी पहले कर चुका था और वह जॉब ढूंढ रही थी, और मैं बैंक में जॉब करता हूं, तो हम नौकरी के बारे में बात कर रहे थे.

तभी भैया के दोस्त का फोन आया और वह लोग कुछ पार्टी का प्रोग्राम कर रहे थे उस रात के लिए किसी और जगह पर, और भैया ने रात को पार्टी के लिए कंफर्म कर दिया और करीबन ६:३० बजे घर से निकल पड़े, अब घर में मैं, भाभी और ममता तीनों लोग ही थे.

मैं भाभी से कहा कि भैया भी मस्ती करने चले गए, हम लोग भी मूवी देखने चलें क्या? भाभी बोली पूछो ममता को अगर वह जाएगी तो चलते हैं, और हम लोग कार में मूवी देखने चले गए में मूवी में दोनों के बीच में बैठा था और मूवी देख रहा था, और आप लोगों को पता है मैं तो अपनी रंडी भाभी के लिए पहले से ही तैयार था चुदाई करने के लिए, तो मैं धीरे धीरे उसे छेड़ने लगा और कभी बूब्स में कभी चूत में कभी गांड में हाथ मारने लगा, भाभी को डिस्टर्ब हो रहा था मूवी देखने में, लेकिन मुझे मजा आ रहा था. इंटरवल के समय में कुछ पोपकोर्न और कोल्ड ड्रिंक लेकर आया और हम लोग सेकंड पार्ट मूवी का एंजॉय करने लगे.

तब मैंने सोचा कि क्यों ना एक बार ट्राई किया जाए ममता को? और मैं ममता के पीछे कंधे में हाथ डालने का कोशिश किया, ममता ने कहा क्या कर रहे हो? तो मैंने कहा सिर्फ हाथ स्ट्रेच कर रहा हूं, और तभी मैंने जानबूझकर ममता का  पॉपकोर्न गिरा दिया.

वह उसके कपड़े के ऊपर गिर गया लेकिन पता नहीं चल रहा था की कहां कहां गिरा है, तो मैंने कहा उठो मत, हम लोग ऐसे ही खा लेंगे, और मैं उसके कपड़े के ऊपर से ही लेकर खाने लगा, तो भी एक दो बार उसके बूब्स में मेरा हाथ टच हुआ था, काफी सॉफ्ट फील हो रहा था, उसके बाद मैंने जानबूझकर पॉपकोर्न खोजने लगा उसके कपड़े के ऊपर मेरी उंगली पर थोड़ा सा जोर लगाने के साथ साथ में को ढूंढने लगा. तभी मुझे कुछ अहसास हुआ उसकी पैंटी का और मैं गरम हो गया. लेकिन तब तक वह कुछ नहीं बोली मेरे को, लेकिन उसका मतलब यह नहीं था कि सिग्नल मिल गयाहे  चोदने के लिए. मूवी खत्म हुआ फिर हम लोग घर गए और फ्रेश हो गए और भाभी के रूम में बातें करने लगे. मुझे तो बस चोदना था और मैं भाभी को इशारा कर रहा था, प्लीज प्लीज और तभी यह भी कंफर्म हो गया था कि भैया मॉर्निंग को आएंगे क्योंकि उन्होंने ज्यादा पी ली थी.

भाभी ने कहा मैं तैयार हूं तुम मुझे जितना चोदना चाहते हो चोदो लेकिन मैं ममता को कैसे बोलू? वह सब क्या सोचेगी? तो मैंने कहा हम लोग एक प्लान करते हैं और प्लान के मुताबिक में भाभी को चोद दूंगा और हम लोग दरवाजा बंद नहीं करेंगे और पानी की बोतल भी रूम में नहीं रखेंगे, ताकि वह आ के सर्च करें और नहीं मिलने पर आप को पूछने आएगी और आपको यहां देखेगी और हम लोग उसको सॉरी बोल कर उसे भी ट्राई करेंगे.

फिर हम लोगों ने ऐसे ही किया फिर मैं और भाभी रूम में जाकर सेक्स करने लगे उस दिन भी मैंने भाभी की गांड मारी क्योंकि मुझे ममता की चूत मारनी थी, पर तभी कुछ आवाज आई दीदी.. दीदी.. हम लोगो ने उसे इग्नोर किया और सेक्स करने लगे, तभी ममता आई और देख कर दंग रह गई, बोली यह क्या दीदी? क्या कर रहे हो इसके साथ? भैया क्या सोचेंगे?

फिर मैंने कहा यह मेरी गलती है, ऐसा मत सोचो. मुझे माफ कर दो, तब मैं पूरा नंगा खड़ा था और वह मेरे लंड को देख रही थी. मैंने कहा अगर तुमको कोई भी हेल्प चाहिए पूछो एग्जाम की तैयार में या जॉब के लिए में तुम्हारी मदद करने के लिए तयार हु. प्लीज हमें माफ कर दो, तुम जो बोलोगी मैं वह करुंगा, तभी वह हस पड़ी और बोली ठीक है फिर मुझे भी तुम अपनी भाभी की जैसे चोद कर दिखाओ.

और फिर तो दोस्तों मैं बहुत खुश हो गया और बोला कम तो अवर सेक्स ग्रुप, यह सब देख कर भाभी बोली ममता तू चुदेगी पक्का? ममता बोली दीदी में चुत मरवा मरवा कर उसे बड़ा बना चुकी हूं, और तुम मुझे पूछ रही हो? मैं जब यहां आई तभी मेने प्रेम को देख के सोचा था की ईस गांडू से चूत मरवाउंगी

यह सब सुन कर मेरा मन उत्तेजित हो गया और मैं जट से ममता के ऊपर चढ़ गया और उसके बड़े बूब्स को दबाने लगा, क्या मस्त थे दोस्तों और एक तरफ में भाभी की चूत में फिंगरिंग कर रहा था, ममता मेरे लंड को पकड़ने के लिए इधर उधर हात घुमा रही थी.

तभी मेने उसे मेरा लंड पकड़ा दिया और वो उसे केले के जैसे चूसने लगी, मां कसम क्या लग रहा था, एक तरफ भाभी, एक तरफ ममता. ममता के मेने कपड़े खोल दिये थे, अब वह सिर्फ पैंटी और ब्रा में थी, भाभी ने कहा अरे रंडूवा, अभी ममता आई तो तुम मुझे अच्छे से नहीं चोदेगा मुझे पता है क्योंकि उसकी गांड मुझसे बड़ी है, उसकी ब्रेस्ट भी मुझसे बडे है और तुझे बड़े बड़े पसंद है, मैंने कहा ऐसा कुछ नहीं है भाभी, आप तो मेरी जान हो और जान को पहले उसके बाद बाकी सबको ऐसा बोल कर मैंने ममता को पूरा नंगी कर दिया और उसकी चूत को चाटने लगा, यह एक पूरा नया अनुभव था, उसकी चूत में बाल नहीं थे, पूरी क्लीन शेव थी और बड़े बड़े उभरे हुए थे.

उसके बाद में रह नहीं पाया और मैंने उसे चोदने के लिए उस के ऊपर चढ़ गया और मेरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया, वह एकदम से सहम गई और बोली कि कितना बड़ा है तुम्हारा? मेरे पूरे बदन में आग लग गया, ऐसा लगा कि तुम पूरा लंड को चूत में डाल कर मुह से निकाल दोगे, और वह औउ ह अह ओह हहा ऊउअ ओह अहह अम्म इह अह ह्होह हहह आवाज करने लगी, उधर भाभी मेरी गांड चाट रही थी तो कभी ममता की बूब्स दबा रही थी, और मे भी एक तरफ से रंडी भाभी के बूब्स को दबा रहा था, और ममता पूरी तरह से अपनी गांड को उठा उठा कर मरवा रही थी और काफी गंदा गंदा गाली दे रही थी, बहन के लौड़े, मादरजात, भोसड़ी के जात.

और मैं भी उसे मार रहा था ऐसे ही पच पच और ऐसे ही चोदते चोदते तक़रीबन २० मिनट हो गया और मैं पूरा पानी उस रंडी ममता के ऊपर डाल दिया और वो रंडी भाभी तड़प रही थी चूत मरवाने के लिए, फिर कुछ देर बाद मेने भाभी को चोदा डॉगी स्टाइल में और फिर २ घंटे बाद ममता की गांड में भी चोदा, उस रात मैंने ६ बार सेक्स किया और रात भर सारा पानी उस ममता की बॉडी में ही डाला और वह दोनों बहने सारा पानी को चाट ले रहे थे साले रंडियों की औलाद, ऐसी रंडियों को जितना चोदो सेटिसफाय नहीं होते हैं, मैं चोद चोद के थक गया वह साले नहीं थक रहे थे, फिर फाइनली में ही हार मान गया और बोला बेटर लक नेक्स्ट टाइम और हम ऐसे ही नंगे सो गये एक दुसरे के ऊपर.

(Visited 3,785 times, 23 visits today)

रिलेटेड हिंदी सेक्स कहानियाँ

Hindi Porn Stories © 2016 Desi Hindi chudai ki kahaniya padhe. Ham aap ke lie mast Indian porn stories daily publish karte he. To aap in sex story ko enjoy kare aur is desi kahani ki website ko apne dosto ke sath bhi share kare.