Hindi Porn Stories

Sex stories in Hindi

कजिन को प्रेग्नंट कर दिया

हेलो दोस्तों मैं बेनी हूं पटियाला से, मेरी हाइट ५ फुट १० इंच है, मेरी बॉडी मस्त है. मेरा कलर गोरा है, मैं स्टडी कर रहा हूं. मैं जिम भी करता हूं इसलिए बॉडी काफी अच्छी है. मेरे लंड का साइज ज्यादा बड़ा नहीं है सिर्फ ५ इंच से थोड़ा बड़ा है.

यह मेरी और मेरी कजिन सिस्टर की है और एक दम सच्ची है. मेरी कजिन का नाम नेहा है. उनका घर भी हमारे घर से थोड़ी दूरी पर था.

नेहा दिखने में भी सुंदर है, उसका फिगर काफी अच्छा है, लड़कों का उसकी फिगर देखते ही खड़ा हो जाता होगा. बड़े बड़े बूब्स उसकी बॉडी को चार चांद लगा रहे थे.

अब मैं सीधा स्टोरी पर आता हूं, बात २०११ की है. स्टार्टिंग में हमारा उनके घर आना जाना बहुत कम था. मैं तो बिलकुल उनके घर नहीं जाता था. एक दिन जब मैं शाम को घर से निकला तो उनकी मॉम बाहर चेयर पर बैठी थी.

जब मैं पास से गुजरा तो उन्होंने मुझे बुलाया और कहने लगी कि तू हमारे घर बिल्कुल नहीं आता, मैंने कहा कोई बात नहीं आंटी, अब आ जाया करूंगा, तब नेहा को लेकर मेरे मन में कोई गलत विचार नहीं थे, वैसे नेहा की मोम भी माल हे एक नंबर की, उसका भी बाहर अफेयर चल रहा है.

नेहा की मां, डेड दोनों जॉब करते हैं, और घर पर सिर्फ नेहा और उसकी छोटी सिस्टर ही रहते थे, नेहा ने पढ़ाई कंप्लीट कर ली थी, और छोटी ने पढ़ाई छोड़ दी थी.

एक दिन मैं जब उनके घर गया तो वह दोनों ही थे. मैं जाकर उनसे बात करने लगा, उसने मुझे मेरा फोन मांगा डेडी को कॉल करने के लिए, इस तरह मेरे पास उसके डेडी का नंबर आ गया.

एक दिन सुबह मैंने ऐसे ही उसके डेड के नंबर पर गुड मॉर्निंग का मैसेज कर दिया, उधर से भी रिप्लाई में गुड मॉर्निंग आया, उस दिन उसने बताया कि दिन में फोन डेड के पास और सुबह और रात को मेरे पास रहता है.

फिर अगले दिन मैं उनके घर गया तो हम नॉर्मल बात कर रहे थे ऐसे ही उसने पूछा कि तेरी गर्लफ्रेंड है? मैंने कहा नहीं है. तो उसने कहा मेरा तो एक बॉयफ्रेंड है. तो वह अपने बॉयफ्रेंड के बारे में बताने लगी

१०-१२ दिन हमारी नॉर्मल बात होती रही. हम रात को थोड़ी बहुत चेट कर लेते, एक दिन उसने बताया कि उसके घर उसके बॉयफ्रेंड के बारे में पता चल गया है और अब उसका रिलेशन खत्म हो गया है. मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया हमारी चैटिंग ज्यादा होने लगी

हम रात को दो तीन घंटे चैट करते थे. सुबह भी चैट करते थे. हम क्लोज होते गए एक दिन उसने मुझे प्रपोज किया कि वह मुझे लाइक करती हे क्या तुम मुझसे फ्रेंडशिप करोगे? मैंने उस टाइम तो हवा में आकर मना कर दिया कि नहीं हम सिर्फ फ्रेंड ही रहेंगे, वह बोली ठीक है.

थोड़े दिन बाद मैंने सोचा कि जब लड़की खुद मिल रही है तो मैं ना क्यों भोला बन रहा हूं? तो मैंने भी उसे कह दिया कि मैं भी तुझे लाइक करता हूं. वह तो खुश हो गई और कहा कि अब दोनों गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड है.

मैंने कहा ठीक है तो अब हमारी रोज फोन पर बात होने लगी. एक दिन उसने मुझे अपने घर बुलाया कि तुझे कुछ दिखाना है जब मैं गया तो उसने मुझे अंदर बुला कर गाल पर एक किस दिया और कहा के यही देना था तुझे.

मैं भी खुश हो गया क्योंकि मुझे फर्स्ट टाइम किसी ने किस दिया था. अब हम रोज रात को फोन पर बात करते हमारी बात अब सेक्स पर भी होने लगी. अब हम जब भी मिलते तो काफी देर लिप्स किस करते. मैं उसके बेक पर हाथ फेरता फिर  और वह और से किस करती.

ऐसे ही हम किस कर रहे थे, उसके डेड और मोम तो जॉब पर थे और उसकी सीस तो अब मुझे देखकर ही दूसरे रुम में चली जाती थी, किस करते करते मैंने उसके बूब्स पर हाथ रख दिया तो वह आह्ह हह अह्ह्ह की आवाज करने लगी. मुझे भी आवाज सुनकर जोर चढ़ गया, मैं उसके बूब्स थोड़े प्रेस करने लगा, उस दिन मैंने खूब बूब्स दबाए और खूब कीस भी की.

अब हम सेक्स चैट और फ़ोन सेक्स भी करने लग गए थे. उसके अंदर भी बहुत आग लगी हुई थी, अपनी मां पर जो गई थी. दूसरे दिन जब हम मिले तो मैंने किस करते करते हाथ उसकी चूत पर रख दिया तो वो एकदम से हील गई.

उसने कहा यहां हाथ मत लगाओ प्लीज.

मैंने कहा क्यों अच्छा नहीं लगा?

उसने कहा नहीं मुझे नहीं करना ऐसा कुछ.

मैंने कहा पर मुझे तो करना है.

उसने कहा तो मैं तुम्हारा कर देती हूं.

मैं तो खुश हो गया उसने लोवर में से अंदर हाथ डाला, मेरा लंड तो फुल टाइट था, उसने कहा यह तो बहुत गर्म है और आगे पीछे करने लगी. लोवर की वजह से प्रॉब्लम हो रही थी तो मैंने लोअर नीचे कर दी और वह मेरी मुठ मारने लगी. तो चार मिनट में ही मेरा माल उसके हाथ पर निकल गया.

मेरे एग्जाम शुरु हो गए, सर्दी का टाइम था एग्जाम में हम बिल्कुल नहीं मिले. एग्जाम के बाद एक महीने हॉलीडेज थी मेरी तो लॉटरी लग गयी थी. मैं रोज उसके घर जाता हम रोज किस करते मैं उसके बूब्स चूसता और वह रोज मेरी मुठ मारती थी.

एक दिन हम ऐसे ही किस कर रहे थे मैंने जल्दी जल्दी हाथ उसकी लोअर में डाल दिया और चूत पर हाथ रख दिया एकदम से हील गई और उसकी आंख की आवाज निकली उस दिन उसने मुझे नहीं रोका.

मैंने उसकी पैंटी में हाथ डाला और चूत पर हाथ फेरने लगा उसने मेरी मुठ मारनी बंद कर के मेरे लंड को कस के पकड़ लिया मे चूत को मसलने लग गया.

वह सेक्सी आवाज निकालने लगी, जब मैंने अपनी फिंगर उसकी चूत में डाली तो एकदम से उसने मुझे छोड़ दिया और डर गई क्योंकि वह वर्जिन थी मैंने जबरदस्ती उसके चूत में उंगली डाल दी.

वह मुझे लिपट गई और किस करने लग गई और नीचे से हिलाने भी लगी. मैंने उसका हाथ अपने लंड पर रख दिया. वह मेरी मुठ मारने लगी और मैं उसकी फ़िंगरिंग करने लगा. उस दिन बस इतना ही हुआ.

फिर हम रोज फोन पर सेक्स करने लगे. वह अपनी चूत में उंगली करती और मैं मुठ मारता.

मैंने कहा डार्लिंग तुमसे मिलने को दिल कर रहा है.

तो उसने कहा आ जाओ घर पर.

मैंने कहा देख ले तेरे मॉम डैड को भेज दे बाहर, फिर आ जाता हूं.

उसने कहा : क्यों डर गए?

मैंने कहा कोई बात नहीं, कल बताता हूं तुझे.

उसने कहा कल क्या करोगे ऐसा?

मैंने कहा कल कुछ नया ट्राय करूँगा.

उसने कहा नहीं जितना हो गया उतना ही बहुत है.

मैंने कहा मेरा तो अभी तेरी चूत चाटने का दिल है.

उसने कहा तो चाट लो किसने मना किया है?

मैंने कहा चल जल्दी कपड़े उतार.

उसने कहा उतार दिए अब.

मैंने कहा अब मैं तेरे ऊपर आता हूं.

उसने कहा जल्दी करो ना मुझसे वेट नहीं होता.

ऐसे ही हम दोनों अपना अपना हाथ चलाने लग गए और दोनों ने अपने आप को शांत किया. और सो गए. ऐसे ही दिन गुजर रहे थे. मैंने एक दिन उसे सेक्स के लिए कहा तो उसने साफ मना कर दिया. मुझे बहुत गुस्सा आया और मैंने उससे बात करनी बंद कर दी. उसने भी ७-८ दिन कोई बात नहीं कि. एक दिन उसका मैसेज आया.

उसने कहा गुस्सा हो?

मैंने कहा नहीं.

तो उसने पूछा बात क्यों नहीं करते अब?

मैंने कहा बस ऐसे ही मेरी मर्जी.

उसने कहा सेक्स के लिए मना किया इसलिए ना?

मैंने कहा हां और अगर सेक्स नहीं करना तो बात नहीं करुंगा.

उसने कहा प्लीज ऐसे मत कहो. कल घर आ जाना और कर लेना जो दिल करें.

मैंने कहा ओके डार्लिंग लव यू.

उसने कहा पहले तो बात भी नहीं करते थे अब लव यू डार्लिंग?

दूसरे दिन में फुल तैयारी में गया बाल साफ किए एक बार मुठ मारी और नहा कर चला गया. जब मैं उसके घर गया तो उसकी बहन सहेली के घर गई हुई थी.

हम दोनों अकेले थे बस. पहले हमने थोड़ी बात की फिर किस शुरू हो गई मैं उसे बेड पर ले गया किस करते करते मैंने उसके बूब्स दबाने शुरू कर दिए. वह आवाजें निकाल रही थी.

मैंने उसकी टी शर्ट ऊपर की और बूब्स चूसने लग गया. उसने मेरा सर पकड़ कर बूब्स में दबाना शुरु कर दिया और मजे लेने लगी. उसके बूब्स तो बस कमाल के थे हाथ में भी नहीं आ रहे थे. काफी देर बूब्स चूसने के बाद मैंने उसकी टी शर्ट उतार दी वह शर्माने लगी और अपने बूब्स हाथ से ढक लिए.

मैं उसके हाथ हटाकर बूब्स चूसने लगा. इधर मेरा लंड फटने को हो गया था मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और खुद उसके ऊपर आ गया. लंड उसकी चूत पर चुभ रहा था वह नीचे से थोड़ा थोड़ा हील भी रही थी.

बूब्स चूसने के बाद मैंने उसकी लोवर नीचे कर दी, उसने पैंटी नहीं पहनी थी और चूत बिल्कुल शेव थी. बस मैंने उसकी चूत में उंगली शुरू कर दी वह मुझे लिपट गई और आवाजे निकालने लगी. मैंने उसकी चूत पर अपने लिप्स रख दिए उसे झटका सा लगा.

उसने मेरा सर पकड़ लिया और बूब्स पर दबाने लगी और जोर जोर से आवाज करने लगी. जल्दी करो मैंने उसके चूत के दाने को मुंह में ले लिया और जोर से चूसने लगा.

वह तो बस पागल हो गई थी और जोर जोर से ऊपर नीचे होने लगी. २ मिनट बाद उसने पानी गिरा दिया और शांत हो गई. फिर मैंने भी अपने कपड़े उतारे और बिल्कुल नंगा हो गया.

उसने लंड चूसने से मना कर दिया और हाथ से आगे पीछे करने लगी. मैं उसके बूब्स पीने लगा. २ मिनट बाद मैंने उसे कहा कि अब असली काम करे तो वह डर रही थी. मैंने उसे समझाया तो वह मान गई. मैं उसकी लेग्स के बिच आ गया और लंड उसकी चूत पर लगा रहा था. वह हिलने लगी मैंने लंड का टोपा सेट किया और हल्का सा झटका मारा उसकी तो आंखे  जैसे बाहर ही आ गई.

उसने मुझे धक्के देना शुरु कर दिया. मैंने उसे कंधे से पकड़ा और जोर से धक्का मारा, वह चिल्लाने लगी और बोलने लगी प्लीज बाहर निकालो बहुत दर्द हो रहा है.

उसकी चूत से खून भी आ रहा था. मैंने ऐसे ही लंड चूत में रहने दिया और उसके ऊपर लेट गया और किस करने लगा. और बूब्स दबाने लगा. ५ मिनट बाद वह भी ठीक हो गई और किस का रिस्पांस देने लगी.

बस फिर क्या मैंने धक्के लगाने शुरु कर दिया वह भी नीचे से धक्के मार हुई थी और आवाज़ निकल रही थी बस टाइम था तो जल्दी ही होना था बस 5 मिनट तक के लगने के बाद मेरा माल उसकी चूत में ही निकल गया मैं उसके ऊपर ही पडा रहा ठंड में भी हमें पसीना आ रहा था.

थोड़ी देर बाद मैंने फिर से उसे गर्म किया और लंड चूत में पेल दिया इस बार मैंने १५ मिनट तक उसकी चूत मारी और उसने भी फुल सपोर्ट किया. और माल फिर उसकी की चूत में ही गिरा दिया

उसने कहा अब तो खुश हो?

मैंने कहा हां जान बहुत खुश हूं.

उसने कहा अब मुझे छोड़कर मत जाना प्लीज.

मैंने कहा कभी नहीं जाऊंगा.

फिर उसने मुझे किस किया

उस दिन रात को उसका मैसेज आया

उसने कहा जान सारे शरीर में दर्द हो रहा है. पैर में बहुत पेन है और वह फिर दवाई लेने चली गई. दूसरे दिन उसने बताया कि वह सारी रात सो नहीं पाई थी क्युकी सारी बॉडी में पेन हो रहा था.

हमारा रिलेशन ५ साल रहा और इन ५ सालों में मैंने उसे बहुत ज्यादा सेक्स किया हफ्ते में दो बार तो पक्का ही था कभी कभी तीन बार भी हो जाता था.

५ सालों में मुझे भी उससे प्यार हो गया था. और वह भी मेरे बिना रह नहीं सकती थी. लेकिन हमारा रिश्ता कजिन का था तो शादी होना पॉसिबल नहीं था, उसका रिश्ता हो गया. पर वह इस से खुश नहीं थी.

उसके घरवालों ने भी उससे पूछा कि अगर कोई और लड़का पसंद है तो बताओ और उसने मेरा नाम नहीं लिया. बस फिर क्या उसकी शादी होने तक हमने खूब चुदाई की मैंने उसकी गांड भी मारी.

ईसी बिच उसने कहा कि वह मेरे बच्चे की मां बनना चाहती है. मैंने भी उसे प्रॉमिस किया की पहला बच्चा हम दोनों का ही होगा. फिर उसकी शादी हो गई मैं उस दिन बहुत रोया. उसकी शादी के थोड़े दिन बाद वापस रहने आई उसने मुझे फोन करके बुलाया वह १० दिन घर पर रही और हमने लगातार १० दिन खुब सेक्स किया.

जब वह चली गई तो थोड़े दिन बाद उसका फोन आया कि वह प्रेग्नेंट है. तभी उस को चौथा महीना लगा हुआ था. यह बात उसकी छोटी सिस्टर को भी पता है और उसकी मॉम को भी पता लग गया है. लेकिन उन्होंने मुझे कुछ नहीं कहा अब उसका हस्बैंड भी मुझे अच्छी तरह जानता है.

नेहा की ख्वाइश है कि लड़का हो और मैं चाहता हूं कि लड़की हो.

2 Comments

Add a Comment
  1. बहोत अचूछी कहानी है

  2. maza aa gya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hindi Porn Stories © 2016 Frontier Theme