Hindi Sex Stories

Porn stories in Hindi

मेरा बोस तो कमीना निकला

यह सेक्स स्टोरी है हिना की जिसको उसके बॉस लोगों ने अपनी रंडी बना के रख दिया है. यह बात कुछ एक साल पहले की है जब मैंने एक बड़ी सी एजेंसी ज्वाइन की थी. तकरीबन ३ महीने बाद मेरे पापा का बड़ा सा एक ऑपरेशन आन पड़ा था और हमारे घर की हालत कुछ इतनी अच्छी नहीं थी कि हम सब १० लाख जमा कर सके.

तो हेल्प के लिए मैं सर के पास गई. उन्होंने मुझे शाम को सब के जाने के बाद बुलाया. मैं मिलने गई तो उन्होंने कहा मैं तुम्हारी हेल्प करूंगा पर उसके लिए तुम्हें मेरे अफ्रीका से आए हुए कुछ क्लाइंट को खुश करना होगा. मैं एक निहायत ही खूबसूरत और हरे भरे बदन की मालिक थी. अगर मैं उनको मिल जाऊं तो वह तो मुझे नोच ही ले.

मैंने कहा सर प्लीज मैं ऐसी लड़की नहीं हूं. तो सर बोले देख ले उन्होंने तुम्हें देखा था और मुझे ऑफर किया है कि अगर मैं उन्हें तुझे दे दूं तो वह मुझे यह कॉन्ट्रैक्ट देंगे और इसीलिए ही तेरे बाप की तबीयत बिगडे ऐसी दवाई मैंने कल घर मिठाई में भेजी थी और तेरे बाप को भी कुछ नहीं हुआ बस वह हमारी हिरासत में है हॉस्पिटल में जो तू सीधे से मान जा तो ठीक है वरना तेरी फैमिली को खत्म कर देंगे. मैं क्या करूं समझ नहीं आ रहा था?

वह नजदीक आए और बोले बोल मंजूर है तेरी जवानी का सौदा? में कुछ सोचने की हालत में नहीं थी. मैंने सर झुका लिया और उन्होंने मुझे कहा हिना चल वह लोग  कुछ करें उस से पहले तेरी जवानी मुझे दिखा और इतना बोल कर मुझे कंधा पकड़ कर बैठा दिया गुटनों पर. और अपना लंड बाहर निकाल कर बोले चूस. मेने मुंह फेर लिया तो उन्होंने मेरे बाल पकड़कर मुंह को अपने लंड की और कर के कहा चूस उसे…  उनका लंड कुछ ४ इंच का भी मारकर होगा. मैंने डरते हुए मुंह खोला और उनका लंड चूसना शुरू किया.

थोड़ी देर बाद उन्होंने मुझे एकदम से खड़ा कर के टेबल के सहारे झुका दिया और मेरे स्कर्ट को एकदम से ऊपर करके पैंटी पटक कर के नीचे उतार दी और मेरी चूत में एकदम से एक उंगली डाली और अपने लंड पर थूक लगाकर उसको मेरी चूत से उंगली निकाल के ऊपर से दबाने लगे मैं सर झुका कर रो रही थी.

उन्होंने बिना वक़्त गवाएं मुझ में अपना लंड दो झटके में घुसा दिया. यह मेरा पहला अनुभव था पर मुझे खास दर्द नहीं तक नहीं हुआ क्योंकि मैं बहुत जल्दी गीली हो जाती हु. मेरी चूत का पानी धीरे धीरे मेरी जांघ पर आने लगा था.

बॉस ने २० मिनट तक यू ही मुझे पीछे से ठोका और बाद में मेरे टॉप को ऊपर कर के मेरे भारी बूब्स को चूसना शुरु किया. और उसके बीच लंड रख के शॉट देने शुरु किया. तब मैं टेबल पर लेटी हुई थी और वह मेरे स्तनों पर चढ़े हुए थे. और सारा पानी मेरे बूब्स पर छोड़ कर वह साइड में बैठ गए और बोले मस्त माल है तू हिना और उन्होंने अपने ड्राइवर को बोला मैडम को होटल अल्फा में छोड़ दो, मीटिंग है.

रास्ते में ड्राइवर बोला क्या मैडम आज आप कहां आ गई यह मीटिंग में? मैंने कहा हां थोड़ा काम है, तो वह मुस्कुराने लगा.. मैंने उससे बात करना मुनासिब नहीं समझा जब मैं रूम पर पहुंची तो वहां ५ निगरो थे, सब हट्टे कट्टे और भूखे भेड़िए जैसे.. मेरे जाते ही एक ने दरवाजा बंद कर दिया और मैं जैसे बैठी तो एक बोला हे बेबी डोंट सिट लेट्स मेक अ पेग फॉर अस मैंने सबके लिए एक दारु का पैग बनाया जब मैं देने गई.

तो पहले वाले ने मेरा हाथ पकड़कर कहा नॉट लाइक दैट. लेट्स रिमूव युअर क्लॉथ बेबी, एंड देन सर्व. में कपड़े निकालने के लिए रूम में जाने लगी तो एक ने बोला नहीं बेबी हमारे सामने ही कपड़े उतारो. मैंने शर्मा के अपना टॉप उतार दिया मैं ऊपर ब्रा में हो गई और फिर मेरे मेने अपना स्कर्ट निकाल दिया. अब मैं ब्रा पैंटी में थी मैं पेग देने जाने लगी.

तो एक बोला नेकेड मीन्स टोटली नेकेड. रीमूव धीस ब्रा पैंटी अल्सो. मैंने सर झुका के वह भी निकाला. मुझे नंगा देख कर उनके मुंह से सिसकिया निकलने लगी मैं अब पेग देने जा रही थी.

तब दूसरे ने कहा बेबी ग्रेब ग्लास इन बिटवीन युअर ह्यूज लेमन बूब्स मैं समझ नहीं पाई.. तो वह मेरे करीब आया और मुझे टेबल की और कर के मेरे बूब्स को अपने दोनों हाथों से पकड़ कर ग्लास के नजदीक मुझे ले गया और ग्लास को मेरे दो बूब्स के बीच की जगह से पकड़ वाया और मेरे हाथ मेरे बूब्स पर रखवा के बोला नाव सर्व ग्लास लाइक देट. मैंने ऐसे ही हर एक को सर्व किया. सबने ग्लास लेते हुए मेरे बूब्स को टच किया, मैं बहुत जलील फील कर रही थी.

उन्होंने एक बैग में से कुत्ते का पट्टा निकाला और मुझे घुटनों के बल बिठाकर मेरे गले में वह बांध दिया और वह पट्टा पकड़कर कुत्तिया की तरह पुरे रूम में चलाया मैंने हाथ जोड़कर कहा उनको कि वह ऐसा ना करें पर उन्हें कहां सुनना था? अब उन्होंने मेरे सामने अपने कपड़े निकालने शुरू किए ओह माय गॉड उनके लंड देखकर मेरी मानो कटती गई ८ से ९ इंच के सब के काले और मोटे लंड.. और वह भी सब नीग्रो की साइज बड़ी थी मैं डर गई.

उस पर वह हंस पड़े और बोले बेबी धिस कोक विल मेक यू क्रेजी टुडे.. और सब सोफे पर बैठ गए और मुझे ऑर्डर दिया कि मैं उनके लंड को चूसु.. में एक के बाद एक सब के पास गई और उनके लंड चूस के दिए.

सब ने मुझे तकरीबन १० मिनट तक अच्छे से चुसवाया और मुझे लेकर बेड रूम में गए. मेरा पट्टा निकाल के उन्होंने फेंक दिया और अब पहला नीग्रो मुझपे चढ़ा और उसका लंड मेरी चूत पर रखा और बाकी लोगों ने मेरे हाथ पैर पकड़ लिए मैं समझ नहीं पा रही थी की मर्जी से करवा रही हूं कि मर्जी से जो पकड़ रहे हैं. पर अब मेरे ऊपर चढ़े नीग्रो ने मेरा मुंह दबा दिया और एक दम जोर से झटका दिया.

मेरी पूरी बॉडी खींच गई अब मुझे समझ में आया उन्होंने क्यों मुझे जकड़ रखा था.. और उसने वापस जटका दिया मैं चिल्ला नहीं पा रही थी मुंह दबने से और मेरी आंखों से आंसू आ गए. सब ने मुझे चोद दिया मैं बिस्तर की चादर को नोच रही थी और वह नीग्रो मुझे अब धीरे धीरे झटके शुरू हुए.

और तकरीबन १५ मिनिट की धुआंधार चूदाई के बाद वो नीचे उतरा और बाकी के चार ने भी मुझे यह पोजीशन में एक घंटे तक चालू रखा. अब उन्होंने मुझे उल्टा किया और मेरी गांड पर अच्छे से तेल लगा दिया मैं समझ गई मैंने कहा डोंट इन एस प्लीज..

लेकिन उनको कहां सुनना था बस जैसे चूत में मुझे पकड़ कर पहली बार डलवाया वैसे गांड में डलवाया और वहां भी मुझ से पांचो ने मुझे पेला. में चलने की हालत में नहीं थी इतना थक चुकी थी, तो भी इनकी हवस तो अभी बाकी थी. अब एक नीग्रो नीचे बैठ गया और मुझे अपनी और पीठ करके ऊपर बेठने को कहा और गांड पे अपना लंड रख कर वापस अंदर समा गया मुझ में. और दूसरे ने मेरी कमर पकड़ कर आगे से चार्ज लिया.

मैंने मना किया पर सुनता कौन था मेरी? और मेरी चूत में वापस घुसा दिया. अब वह गांड  वाला  था वह थोड़ा और ऊपर आया उनके लंड मोटे थे तो बाहर निकल जाने का कोई सवाल नहीं था. उन दोनों के बीच वाली जगह में एक और नीग्रो आया में डरने लगी कि अब यह क्या करेगा?? अब उसने अपना लंड मेरी चूत के पास में दबाया. मैं रोने लगी चीखने लगी पर उसने दबा के एक ही चूत में दो लंड घुसेड़ दिया नीचे खून निकलने लगा.

अब चौथे नीग्रो ने मुझे थोड़ा लेटा कर मेरे बूब्स के बीच में लंड रख कर रगड़ना चालू किया और पांचवे नीग्रो ने मेरा मुंह पकड़ कर उस में लंड देकर शॉट देना शुरु किया. मेरे एक जवान जिस्म के साथ पाचो नीग्रो एक साथ मजे ले रहे थे. अब मुझे उठा कि एक राउंड टेबल पर सुला दिया और एक के बाद एक सब ने मुझे पेलना शुरु किया और बाकी खड़े खड़े मुझे मुंह में चूसवाये और मेरे को मसलते रहे.

जैसे जैसे वह लोग आते हैं मेरा मुंह पकड़ कर उसमें पानी छोड़ दिया करते. सुबह 4 बजे मुझे उन लोगों ने छोड़ दिया और ड्राइवर को ले जाने को बोला. ड्रायवर आए तब तक मैं नहाने चली गई बाथरुम में जा कर खूब रोई पर कोई चारा नहीं था. रास्ते में जाते हुए में पीछे सो गई तब एकदम कार रुकने का अहसास हुआ, वह एक चाली में रुकी थी.

तभी ड्राइवर बाबू भाई बोले मैडम आइए मैंने कहा यह मेरा घर नहीं है बाबू भाई… तो बोला हां मेम बाहर तो आइए.. मैं बाहर आई और खोली में गई.. जाते ही उसने दरवाजा बंद किया.. अंदर तकरीबन ७ से ज्यादा मर्द थे.

मैं बोली यह कहां ले आए? तो वह बोला क्यों हमें मौका नहीं देगी?  और सब मुझ पर एकदम से टूट पड़े. सबसे पहले बाबू भाई ने मुझे सब के सामने बिस्तर पर लिटा दिया और मेरे हाथ बंधे हुए थे सब ने मेरे जवान जिस्म का मजा लिया और ७ बजे मुझे वापस मेरे घर छोड़ दिया. ऊपर से मेरे साथ रात भर जो हुआ उसकी सीडी  भी मेरे बॉस के पास है, जहां में नीग्रो लोगों के साथ मस्ती से सेक्स कर रही हूं वह साफ दिखता है.

अब मेरे जैसी हसीन लड़की उनको रोज बिस्तर पर मिलती हैं खुद तो इंजॉय करते हैं दूसरों को भी मेरे साथ भेजते हैं. और यह तो सब जानते हैं पराई औरत को हर कोई बड़ी जबरदस्ती और पावर से चोदता है. बस यही मेरे साथ हो रहा है हर रोज..

(Visited 1,679 times, 8 visits today)

रिलेटेड हिंदी सेक्स कहानियाँ

Hindi Porn Stories © 2016 Desi Hindi chudai ki kahaniya padhe. Ham aap ke lie mast Indian porn stories daily publish karte he. To aap in sex story ko enjoy kare aur is desi kahani ki website ko apne dosto ke sath bhi share kare.