Hindi Porn Stories

Sex stories in Hindi

मम्मी की और मेरी गांड चुदाई

नवंबर का मंथ था. एक दिन मैं कॉलेज से थोड़ी देर से घर आई तो देखा के रोहन आया हुआ था. मैं देखते ही खुश हो गई कि २ हफ्ते के बाद आज चुदने का मौका मिलेगा, अंदर जाकर देखा तो रोहन और कुणाल दोनों आए थे. कुणाल बायसेक्सुअल है. वह गे नहीं है बस उसे लड़कों के लंड चूसना भी उतना ही पसंद है जितना की लड़कियों की चुदाई करना. रोहन वर्कआउट रेगुलर करता  था इसीलिए उसकी बॉडी में काफी ग्रोथ हो गई थी. वह पहले से काफी ज्यादा हॉट दिखता था.

अब मम्मी रूम में कपड़े चेंज कर रही थी. रोहन ने कहा स्वाति तू भी  सामान पेक कर ले हम सब मेरे फार्म हाउस जा रहे हैं. मैं काफी खुश हो गई और मैंने अपनी अपनी  नई ब्रा पेंटि और सेक्सी स्कर्ट रख ली.

मम्मी केप्री है और टाइट टी शर्ट में आ गई. काफी सेक्सी लग रही थी. हम चारो लोग कार ले कर रोहन के फार्म हाउस के लिए निकल गए. पूरे रास्ते में कुणाल ने हमें यह बताया कि कैसे उसने अपनी नई भाभी को चोदा इसी महीने, उसने वीडियो भी बनाया था उन्हें चोदने का, जो उसने हमें दिखाया, भाभी काफी क्यूट थी.

हम लोग फार्म हाउस पहुंच गए ३ घंटे की जरनी के बाद, शाम का टाइम था. तो रोहन स्विमिंग पूल में कुद गया और हमसे भी आने को कहा. मम्मी ने कहा बेटा बस २ मिनट में फ्रेश होकर आती हूं. मम्मी टॉयलेट गई ऊपर वाले रुम में और जब वह नीचे आइ तो उन्होंने काले कलर की बिकनी पहनी हुई थी.

मम्मी की सेक्सी बोडी, बड़ी बड़े बूब्स और बड़ी गांड पर बिकिनी सेक्सी लग रही थी. मैंने भी अपनी जींस और टी शर्ट उतारी और बस ब्रा पैंटी में आ गई. मैंने सुबह से यही ब्रा पेंटी पहनी हुई थी, इसीलिए पसीने से थोड़ी गीली हो गई थी. लेकिन पुल के पानी में ही जाना था. तो मैंने भी चेंज नहीं किया.

मम्मी धीरे धीरे सीढ़ियों से पानी के अंदर गई, और मैं ऐसे ही कूद गई. रोहन मम्मी के पास गया मम्मी के पास गया उनको पुल के अंदर लीया और हग किया. मैंने थोड़ी देर स्विमिंग की. तब तक कुनाल मेरे पास आया और मुझे पीछे से पकड़ लिया और वह पानी में ही अपना लंड मेरी गांड पर रगड़ रहा था.

वहां दूसरी साइड पर मम्मी और रोहन सिगरेट पी रहे थे. कुनाल ने पानी में ही मेरी पैंटी निकाल दी और मेरी चूत में उंगली डालने लगा. मैंने उसे किस करना स्टार्ट कर दिया. मम्मी ने पूछा कि तुम  लोगो को थोड़ी बीयर पीनी है क्या? मैंने मस्ती में एकदम से कुणाल को दूर धक्का दे दिया और जल्दी पानी से बाहर निकल गई, के मम्मी में लेकर आती हु सबके लिए. यह देख मम्मी और रोहन  हंसने लगे.

मैं सिर्फ ब्रा पहने हुए घूम रही थी खुली चूत और गांड के साथ, मैंने सबको बियर पीने के लिए दी और में पुल के साइड में पैर फैलाकर बैठ गई, कुणाल को चिढ़ाने के लिए उसे मेरी खुली हुई चूत दिख रही थी. वह पास आया तो मैंने भी अपनी चूत पर बियर डालना शुरू किया और उसने चूत चाटना पुल में से ही.

मुझे बहुत मजा आ गया. पूरे १२ दिन के बाद किसी ने मेरी चूत को चाटा था और आज चुदने वाली थी. मम्मी ने रोहन के कान में कुछ कहा और दोनों बाहर आ गए. रोहन खड़ा हो गया और मम्मी अपने घुटनों पर बैठ गई. रोहन की चड्डी उतारी और उसका लंड हाथ में लेकर किस किया. और लंड मुंह में डाल कर चूसने लगी. कुणाल यहां मेरी चूत चाट रहा था बियर की पूरी बोतल खत्म हो गई थी, और उसकी जीभ से मेरा भी पानी निकलने ही वाला था.

मैंने कुणाल का मुंह अपनी चूत से हटाया और उसे किस करने लगी. अपनी चूत का पानी उसके मुह से पी रही थी. मम्मी की बेक हमारी तरफ थी. रोहन मम्मी का मुंह पकड़कर उसे अपने लंड  से चोद रहा था. रोहन ने हाथ से मम्मी की ब्रा भी निकाल दी और मैंने भी अपनी ब्रा उतार के फेंक दी.

अब मैं बिल्कुल नंगी थी और मम्मी सिर्फ चड्डी में. रोहन का लंड खड़ा हो गया था मम्मी के चूसने से. कुणाल लंड भी टाइट था, वह ऊपर उठा पुल से और मुझे वही लेटाया और लंड मेरी चूत में डाल दिया.  मुझे मजा आ गया और फिर हमने चुदाई स्टार्ट कर दी वही पूल साइड पर ही. मैं जमीन पर लेटी हूं और वह मेरे ऊपर लेटा मेरी चूत मार रहा है.

रोहन ने अपना लंड मम्मी के मुंह से निकाला और मम्मी के बाल पकड़ कर कहा तू कितनी बड़ी रंडी हो गई है मेरी जान..  अपने बेटे के दोस्त से कितने सालों से चुदवा रही है, मम्मी ने भी हंस के कहा हां बेटा मैं छीनाल हूं. इस चूत की प्यास बुझती ही नहीं किसी से में मरवा लू, तू ही इसे शांत कर दिया कर वरना सारी दुनिया चोद चोद कर हालत खराब कर देगी.

मम्मी की बातें सुनकर हम लोग और गर्म होने लगे. मैंने भी कहा हां मम्मी तेरी ही तरह मैं भी छिनाल ही निकली. लंड लिए बिना मजा नहीं आता अब तो. चूत में आग लगी रहती है. इन बातों से खुश होकर कुणाल ने और जोरजोर से झटके मारने शुरू किए चूत के बिल्कुल अंदर तक जाने लगा.

मम्मी बोली हां स्वाति रंडी तो तुम भी निकली, मैंने तो सिर्फ रोहन के लंड पर सवारी करवाई थी तेरी.  पर तू तो कितनों की लेने लगी. वह मेरी चुदक्कड बेटी.

वहां रोहन भैया ने मम्मी को डौगी स्टाइल में  किया, उनकी पेंटि नीचे की पर उतारी नहीं पूरी, और पीछे से लंड उसकी चूत में डाल कर चोदना शुरू की फुल स्पीड में, यहां मैं कुणाल के नीचे लेटी चुद रही थी और वहां मेरी मम्मी कुतिया की तरह पीछे से हम दोनों अह्ह्ह्ह ओह्ह्ह अह्ह्ह्ह इम्म्म उन्न्न्न उम्म्म्म ओह्ह ओह्ह्ह ओम्म्मा अह्ह्ह्ह उम्म्म्म  ऐसी आवाज निकाल रहे थे.

कुनाल ने मेरे दोनों पैर लेके अपने कंधे पर रखे और मेरी चूत और ज्यादा खुल गयी जिसमे उनका लंड पहले से ही ठुकाई कर रहा था.  वह मुझे किस करता रहा और निचे चूत मारता रहा, वह पर रोहन पूरी स्पीड में मम्मी की चुदाई कर रहा था कुत्तो की तरह.

मम्मी जो आवाजे निकाल रही थी उससे सब का चुदाई का माहौल बन रहा था. पेंटि पैरों में फसी होने की वजह से मेरे पैर दूर नहीं हो रहे थे और चूत बिल्कुल टाइट हो रही थी जिससे भैया का मजा मुझे चोदने में बहोत बढ़ ह्या था और उनको अब मुझे चोदने में डबल मजा आ रहा था.

मम्मी ने सब को रोकने को कहा, कि चलो थोड़ी पोजीशन चेंज करते हैं. कुणाल ने लंड मेरी चूत से निकाला वह मेरे ऊपर से बाजु की साइड में हट गया और हम दोनों रोहन और मम्मी के पास चल कर पहुच गये. चलते समय भैया का लंड इधर उधर हो रहा था और उसे देख कर मुझे लग रहा था की वह मुझे अपनी और आने को कह रहा हे, मेरा मन हो रहा था की उसे मुह में डाल कर बिना पकाये ही कच्चा खा जाऊ. वह पहुच कर हम ने देखा की रोहन ने भी अपना लंड मम्मी की चूत से निकाला औरत खुद खड़ा हुआ. उसने मुझे जुकने को कहा में भी जुक गयी फिर उसने मुझे झुका के एक बार मुझसे चुसवा के साफ करवा लिया, कुनाल ने उसका लंड सीधे मम्मी के मुंह में डाला और मम्मी ने बिल्कुल कुतिया की तरह ही चाट चाट के साफ किया मेरी चूत का पानी उसके लंड से,  मम्मी डॉगी स्टाइल में ही जुकी हुई थी अभी तक.

रोहन ने मुझे भी मम्मी के पीछे ऐसे ही झुकने को कहा, मैं भी कुतिया बन गई और मम्मी की चूत में मुंह डाल कर पीछे से चाटने लगी, मैं अपनी जीभ को मम्मी की गांड पर घुमा रही थी उनकी चूत गांड सब चाट चाट कर साफ कर रही थी. मुझे बहोत ही अजीब लग रहा था की में अपनी ही माँ की चूत और गांड को चाट रही हु पर मुझे एक अजीब आनंद भी आ रहा था. वहां कुणाल और रोहन ने एक एक बियर की बोतल और खोली और हम ही देखते हुए पीने लगे. कुछ देर बाद रोहन ने हम दोनों को एक दूसरे के सामने मुह कर के अपने अपने घुटनों पर बैठने को कहा,  हम उसकी हर बात गुलामों की तरह मान रहे थे.

उसने अब मम्मी को बोला कि तू स्वाति को खींच कर एक थप्पड़ मार, जो मम्मी ने मारा भी बहोत जोर से. ओर से मेरा गाल गरम हो गया और लाल भी हो गया. फिर मुझसे कहा तू तेरी मम्मी को एक थप्पड़ मार, मैंने यह कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं मेरी मम्मी को कभी थप्पड़ मारूंगी, मैंने भी पूरी ताकत से थप्पड़ रख दिया मम्मी के गाल पर फिर मम्मी को मारने को कहा फिर मुझे.

ऐसे हमने सात सात थप्पड़ मारे एक दुसरे को. दोनों के दर्द से आंसू निकल आए और गाल बिल्कुल गर्म और लाल पड़ गए. फिर हमसे एक दूसरे के फेस पर थूकने को कहा जो हमने किया. मैं मम्मी के मुंह पर थूक रही थी और मम्मी मेरे, पता नहीं क्यों हमें बहुत मजा आ रहा था.

फिर कुणाल पास आया और हमारे चेहरे को चाटने लगा उसने हमारा चेहरा चाट चाट के  पूरा क्लीन क्लीन कर दिया. फिर रोहन अपना खड़ा लंड लेकर हमारे पास आया और हम दोनों मां बेटी कुतिया की तरह उसका लंड मुह में लेकर लंड चूसने लगे. पीछे कुणाल ने मम्मी की गांड में लंड डाल दिया और चोदने लगा. मम्मी आह्ह पोह्ह्ह अह्ह्ह ओम्म्म औऊ ओह्ह्ह येस्स अह्ह्ह्ह फ्ह्ह्ह आओं ह्ह्ह्ह ओह्ह्ह आह्ह ययय येस्स अह्ह्ह ओह्ह्ह येस्स आवाज निकल रही थी और लंड चूस रही थी.

कुनाल ने मम्मी की गांड को चोदते चोदते  मेरे चूतड पर किस किया और मेरी गांड में उंगली डालने लगा. मैंने कभी अपनी गांड आज तक मरवाई नही थी इसीलिए मेरी गांड बिल्कुल टाइट है. रोहन भी हमारे पीछे आया और पीछे से मेरी चूत में लंड डाल के चोदने लगा.  हम मां बेटी पास पास में कुतिया की पोजीशन में चूद रहे थे और आह्ह अह्ह्ह ओह्ह्ह एस फक मी आह्ह फक मी अआः ओह्ह्ह अयेस्स्स्स आओ ओम्म्म आह्ह आ ओह्ह ओह्ह्ह एस बेबी फक मी ऐसी अवजे निकाल रहे थे और हम को बहुत मजा आ रहा था.

मेरा पानी निकलने वाला था इस जुदाई से और सेक्सी बाते बहोत देर तक सोचने की वजह से, मैंने रोहन से कहा की मेरा पानी अब निकलने वाला हे कुछ करो और जोर जोर से मेरी चूत को मरो. तो उसने स्पीड पर बढ़ा दी चुदाई की, मैंने पुरे प्रेशर से सारा पानी चुदाई में ही निकाल दिया और फिर कुछ सेकंड में रोहन ने भी पूरा पानी मेरी चूत में डाल दिया. मम्मी और कुनाल भी अब खत्म हो गए थे.

मैंने देखा मम्मी की चूत से पानी टपक रहा था, क्योंकि मम्मी गांड मरवाने के साथ अपनी चूत में उंगली डलवा रही थी और उसकी गांड के छेद में से कुनाल का  पूरा कम बहार बह रहा था. रोहन ने मुझे मम्मी की चूत को एकदम चाट चाट कर साफ करने को कहा और मम्मी को मेरी, हमने  बारी बारी एक दूसरी की चूत को चाट चाट कर पूरी सफाई कर दी.

चुदाई खत्म होने पर हम सब ने शोवर लिया, कपड़े पहने, मम्मी ने एक नई शॉर्ट्स पहन ली  और मेरी माँ ने ऊपर एक सेक्सी टाइट टी शर्ट पहनी जिससे उनके बूब्स कस के बाहर दिखाई दे रहे थे. मैंने अपनी मिनी स्कर्ट पहनी और ऊपर टी शर्ट पहना.

हमने डिनर सेट किया, बीयर पी और सब ने साथ में खाना खाया. कुनाल रोहन से कह रहा था यार तेरी मदत से तो मैंने मेरी सेक्सी भाभी को चोद दी. और अब तू दीदी को चोदने का भी प्लान बना यार.. वह नेक्स्ट मंथ १० दिन के लिए दिल्ली आ रही है कि और वह अकेली आ रही हे उसके साथ जीजू भी नहीं होंगे. मुझे हमेशा से उसकी गांड मारनी है, उसकी चड्डीयो को मैने सूंघ सूंघ कर बहुत बहोत बार मुठ मारा है.

यह सुन कर रोहन ने कहा की तू बिल्कुल चिंता मत कर, उसे आने दो. फिर मैं और तुम साथ मिल कर उसकी ऐसी चुदाई करेंगे की वह उसके पति को भी भुला जाएगी और हम से चुदवाने के लिए यही पर रह जाएगी. उसे हम ऐसे चोदेंगे जेसे तेरी भाभी को संस्कारी बहू से संस्कारी रंडी बना दिया वैसे तेरी बहन की भी चुदाई कर के उसे भी अपनी रांड बहन बना देंगे.

मैं और मम्मी उन दोनों की इन बातों से हंसने लगे और कहने लगे कि रोहन तू कितना बड़ा वाला है साले तूने न जाने आज तक कितनी लड़कियां और औरतों की चूत और गांड मारी है.

डिनर के बाद रोहन ने म्यूजिक लगाया और मम्मी को स्ट्रिप डांस करने को कहा. रोहन और कुणाल बेड पर लेट गए और मुझे रोहन भैया ने अपने पास लेटाया और वह मेरे बूब्स दबा दबा कर मजे लेते रहे टी शर्ट के ऊपर से.

मम्मी इतना सेक्सी डांस कर रही थी कमर हिला हिला कर, घूम कर अपनी गांड दिखाती, दोनों के लंड खड़े हो गए, कुणाल से रहा नहीं गया और वो मम्मी के पास जाकर नाचने लगा. मम्मी ने अपनी टी शर्ट उतार दी और थोड़ी देर नाचते नाचते अपनी शॉर्ट्स भी उतार दी. और अब वह ब्रा और पैंटी में थी, जो के बिल्कुल टाइट थे. और मम्मी के बूब्स उभर के दिख रहे थे.

कुणाल ने मम्मी को किस करना शुरु किया. यहां रोहन मेरी स्कर्ट में हाथ डाल कर मेरी चूत में उंगली करने लगा और फिर मेरी गांड तक उंगली डाल दी. रोहन ने कहा गुडीया आज तक तेरी चूत तो काफी मारी आज तो मुझे तेरी गांड मारने का मन हो रहा है तेरी मां की तरह. मैं थोड़ा सोचने लगी और फिर डिसाइड किया कि ओके मैं अपनी गांड मरवा लेती हूं.

यह सुनकर रोहन खुश हो गया और मम्मी थोड़ी शॉक हो गई क्योंकि मैं हमेशा गांड मरवाने से बिल्कुल मना कर देती थी. रोहन ने मुझे बेड पर लेटाया मेरी टी शर्ट और स्कर्ट ही खीच कर उतार दी. मेरी पैंटी और ब्रा भी एक एक करके निकाल दी. मुझे बहोत जोर जोर से  किस करने लगा, हम लोग एक दूसरे में बिल्कुल खो गए. उसका हाथ मेरी गांड सहलाने में ही लगा था.

तभी मैंने मम्मी की मों करने की आवाज सुनी, रोहन के नीचे से कुछ दिखाई नहीं दे रहा था सिर्फ आवाज सुनाई दे रही थी. हहा आह्ह ओह्ह्ह मेरी जान और जोर से और जोर से इसका मतलब मम्मी की मस्त चुदाई चल रही थी. रोहन ने मुझे उल्टा किया और डॉगी स्टाइल में रहने को कहा.

उसने मेरी गांड के छेद में एक उंगली डाली, आयाह्ह्ह  मुझे करंट सा लगा उसकी उंगली को अपनी गांड के अंदर फील करके. फिर उसने थोड़ी देर बाद दूसरी उंगली भी डालने लगा मुझे दर्द होने लगा था थोड़ा सा. उसने उंगली निकाली वह गया और मम्मी के पर्स में से  तेल की बोतल ले आया. तब तक मैंने देखा कि कुणाल नीचे लेटा हुआ था और मम्मी उसके लंड पर कूदक रही थी और नीचे से चूत की चुदाई हो रही थी.

रोहन ने तेल मेरे गांड के बुर पर लगाया और अपने लंड में डाला. फिर वह मेरे पीछे खड़ा हुआ और लंड का टोपा मेरे गांड के होल में रखा बस मेरी तो फट गयी की न जाने मुझे कितना दर्द होगा.

मम्मी बोली वाह रोहन बेटा मेरी गांड पहली बार तुने ही मारी थी और मेरी बेटी की भी तुम ही मार रहे हो. रोहन हसा और धीरे धीरे लंड का टोपा गांड के अंदर डाला. मुझे बहुत दर्द होने लगा मुझे एक एक नस खिचती हुई लग रही थी. तेल की वजह से थोड़ी आसानी हुई. उसका मोटा लंड चला जा रहा था. ३ इंच तक मुझे लगा कि मैं मर जाऊंगी रोने लगी और मेरे आंसू निकल आए.

कहने लगी कि मुझे नहीं करना बाहर निकालो मैं अपने आप को छुड़ाने की कोशिश करने लगी तो रोहन ने मुझे पकड़ा और जोर से तीन झटके मारे जिसमें पूरा लंड अंदर घुस गया मैं दर्द में चिल्ला रही थी और रो रही थी बहुत ही ज्यादा. रोहन ने लंड अंदर ही रहने दिया थोड़ी देर तक.. तब तक काफी दर्द हुआ.

मम्मी भी कुणाल के लंड पर से उठ कर मेरे पास आई और बोली कोई बात नहीं बेटा अभी दर्द हो रहा है थोड़ी देर बाद मजा आएगा तो  रोहन ने आब धीरे धीरे लंड हिलाना शुरु किया.

मेरी गांड के अंदर उसका लंड अंदर बाहर होता हुआ मेरी जान ले रहा था. बहुत दर्द हो रहा था, और साथी ही धीरे धीरे मजा भी शुरू हुआ. मैं दर्द से चिल्ला रही थी निकाल लो प्लीज गांड मत मारो बहुत दर्द हो रहा है.

रोहन को और मजा आने लगा उसने लंड एकदम अंदर तक पेलना शुरू किया. मेरी तो गांड फट गई. मेरा दर्द सब मजे में बदल गया यह मुझे पता ही नहीं चला. उसके लंड के साथ ही मेरी गांड भी खुल बंद हो रही थी. मैं आवाजे निकाल रही थी.

कुनाल दिन भर चुदाई कर के  बहुत थक गया था, तो उसने मम्मी को लेटा कर लंड आखरी बार उनकी चूत में डाला और १० बड़े झटके देकर सारा पानी अंदर डाल दिया. और दोनों नंगे ही बने लेते रहे और एक दूसरे को किस करते रहे.

मेरी गांड की चुदाई अभी शुरू थी. रोहन आगे चूत में उंगली से हिला रहा था और पीछे लंड से गांड मार रहा था. मे भी हार चुकी थी और वह भी थक गया था. उसने जोर जोर से कुछ ज़टके मारे और मुझे चिपका लिया, गरम गरम पानी मेरी गांड में बहा दिया.

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कमेंट  में जरूर लिखें ताकि की देसी कहानी पर कहानियों का यह दौर आपके लिए यूं ही चलता रहे.

मैं वैसे ही पड़ी रही और मेरी गांड में लंड डाले वह भी मेरा ऊपर पड़ा रहा. हम सब ऐसे ही सो गए नंगे. आप ने ये गांड सेक्स कोई हिंदी पोर्न स्टोरीज़ डॉट कॉम पर एन्जॉय किया. सुबह तक मेरी गांड में बड़ा दर्द महसूस हो रहा था. मैंने आईने में देखा तो मेरी गांड का होल खुला खुला लग रहा था. खून काफी निकला था, मम्मी ने मुझे किस किया और कहा वाह स्वाति तू भी अब बड़ी वाली रंडी बन गई हे मेरी तरह.

रोहन और कुणाल के लंड सूजे हुए थे कल कि इतनी सारी चुदाई के बाद, उस दिन हमने आराम किया कोई चुदाई नहीं की फिर वापस दिल्ली आ गए.

(Visited 2,820 times, 111 visits today)

5 Comments

Add a Comment
  1. Nice story ….i also want to fuck u

  2. Bahan ke Lori galat kahani likhati tumhari mAmy ko kutte chode

  3. mujhe bhi band Marni h

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hindi Porn Stories © 2016