Hindi Porn Stories

Sex stories in Hindi

ऑफिस मेडम की प्यासी चूत

सभी देसी कहानी के वाचको को मेरे लंड का प्रणाम और लेडिज रीडर की चूत को मेरी पप्पी. थैंक्स फॉर योर रिस्पांस ऑन माय इमेल. आज आप लोगों के साथ अपना कुछ दिन पहले का खास एक्सपीरियंस शेयर करना चाहता हूं.

यह कहानी मेरी और हमारे ऑफिस की अकौंट असिस्टेंट मैडम कविता के बीच की है. कविता एक २९ साल की विवाहित लेडी है. उसका फिगर बहुत अवेसम है. उसका फिगर ३६-३०-३२ है. वह पिछले ३ महीने से हमारी फैक्ट्री में ज्वाइन की हुई है.

यह बात दशहरा से एक दिन पहले की है, उनके हस्बेंड CRPF में है और अभी उनकी ड्यूटी किश्तवार में है. वह अपने इनलोस के साथ जम्मू में रेंट पर रहती है. शुरू शुरू में थोड़ी शर्मीली थी और वह ज्यादा बात नहीं करती थी.

पर ऑफिस में काम कम होने की वजह से नार्मली फ्री रहती थी और मैं बिजी रहता था तो उसने मेरा डिजाइनिंग का काम सीखना चाहा. हम घुल मिल गए, पास बैठते तो कभी कंप्यूटर ऑपरेट करते बूब्स टच करना नॉर्मल हो गया था.

एक वीक पहले एक दिन जब मैं उसे कुछ बताने के बाद उसे अपना लैपटॉप देकर फैक्ट्री में राउंड लगाने गया तो उसने मेरे लैपटॉप में एडल्ट वीडियो का फोल्डर ओपन कर दिया. मैंने जानबूझकर डेस्कटॉप पर रखा था और फोल्डर का नाम न्यू डिजाइन वीडियोज रखा था.

वीडियोज देखकर वह मस्त हो चुकी थी तो जब मैं अंदर आया तो उसने डर कर विंडो क्लोज करने की जगह लैपटॉप फेसडाउन  कर के मेरी सीट से उठ गई, मैंने ओपन किया तो वीडियो चली.

मैंने कहा : मैडम जी कैसी लगी?

उसने कोई रिप्लाई नहीं दिया.

मैंने कहा : शर्माती क्यों हो? मेरे से कैसा शर्माना?

यह कहकर मैं फिर से बाहर चला गया जब वापिस अंदर आया तो मैडम ने अपना दुपट्टा साइड पर रखा हुआ था मैं उसकी देखता रह गया और उनके पास जाकर बैठा.

मैंने अपना हाथ माउस पर ले जाते मैडम के बूब्स पर रखा और प्यार से प्रेस किया उसने स्माइल करते हुए बोलि सर जी आराम से करो कोई आ जाएगा. मैंने कहा अगर कोई फैक्ट्री में ना हो तो फिर?

मैडम ने कहा : तब का तब देखेंगे.

५:३० बज गए थे, वर्कर्स जाने लगे. मैंने मैडम को कहा रुक जाओ मुझे भी सिटी जाना है डिजाइन देने. तो तुम १५ मिनट रुको मैं आपको छोड़ दूंगा, उसने ओके बोला और रुक गयी. थोडा नॉटी स्माइल भी किया. उसी समय सिक्योरिटी गार्ड ने रम नॉक किया.

मैंने कहा : कम इन

गार्ड ने कहा : साहब मेरी तबीयत ठीक नहीं लग रही है. मैं १५ मिनट में दवाई लेकर आ जाऊं?

मैंने कहा : ओके, फेक्टरी की बाइक ले जाओ, जल्दी आ जाना.

गार्ड के जाती ही मैंने रूम अंदर से लोक किया और मैडम के पास गया.

मैंने कहा : मैडम अब तो कोई नहीं आएगा, कुछ दिखाओ, मैंने उनकी टांग पर हाथ रखा.

मैडम ने प्यार से हाथ साइड किया.

मेडम ने कहा सर जी रहने दो.

मैंने कहा चलो एक किस ही देदो आज.

मैडम ने कहा : ठीक, बस एक किस बस.

मैं मैडम के लिप्स के पास गया और प्यार से किस कर दी और चूसने लगा. वह पीछे हटना चाहती थी पर मैंने लिप्स नहीं छोड़े और जैसे ही टंग मुह में डाली तो वह भी रिस्पांस करने लगी. उसे मजा आ रहा था. हमारी किसिंग तेज हो गई मैंने उनके बूब्स दबाए और फिर गांड, हम पीछे हटे और फिर एक बार फिर मैडम ने किस किया, मैडम का हाथ मेरे लंड पर था.

मैंने कहा मैडम एक बार इसको भी किस दे दो.

मैडम ने कहा गार्ड आ जाएगा.

मैंने कहा रुको, मैंने गार्ड को कॉल किया उसने कहा सर रुक जाओ जाम लगा है, १०-२० मिनट में आया.

मैडम ने सुना और नीचे बैठ गई.

टाइम  वेस्ट ना करते हुए मैंने जिप खोली और मेरा ६  इंच का मोटा लंड बाहर निकाला, मैडम बोली कितना बड़ा है उनका थोड़ा छोटा है. और यह कहते ही उसने उसे मुंह में लेकर चूसने लगी. वाह क्या मजा रहा था. पता नहीं कब की प्यासी लौड़ा चूस रही थी. १०  मिनट लगातार चूसने के बाद मैंने आवाज लगाई आई एम अबाउट टू कम, मैडम रुकी और बोली मुझे चखना है.

मैंने मैडम का सिर पकड़कर प्लीज फास्ट की और उनके मुंह में ही झड़ गया और मैडम को खड़ा करके किस करने लगा. मैडम की शर्ट ऊपर की और बूब्स बाहर निकालें और चुसे. २-५ मिनट और फिर गेट खुलने की आवाज आई और मैडम वोशरूम चली गई कपड़े ठीक करने के लिए.

गार्ड चाबी देकर वापिस गया तो मैडम बाहर निकली शरमा रही थी. हम गाड़ी में बैठे और सिटी की और चल पड़े. मैंने मैडम का हाथ पकड़ रखा था. थोड़ी हिम्मत करके मैंने मैडम को कहा मैडम आप कल आ सकते हो?

मैडम ने कहा : कल तो छुट्टी है.

मैंने कहा : हा, तभी तो आज का पेंडिंग काम कल पूरा करेंगे.

मैडम ने कहा की अगर किसी ने देखा तो?

मैंने कहा गार्डन कल छुट्टी पर होगा और मेरे पास फैक्ट्री कि एक चाबी है. तुम कल आ जाओ जल्दी छुट्टी कर देंगे.

मैडम ने कहा : अगर आई तो जल्दी नहीं जा सकती घर वालों को शक होगा.

मैंने कहा : मन में मैडम के अंदर तो आग लगी है तो पक्का इसकी चूत लूँगा.

मैडम आप घर पर छुट्टी का मत बोलना मैं आपको चोक से पिक कर लूंगा. मैडम का स्टॉप आ गया और वह चली गई. मैं अपने रूम में पहुंचकर बहुत खुश था. मैंने मैडम को फोन किया उसने फोन स्विच ऑफ कर दिया था. मैंने मैडम के नाम की मुठ मारी और सो गया.

सुबह ९ बजे मैडम को पिक किया और फैक्ट्रि आ गए और गाड़ी पीछे लगाई. गेट लोक कर के अंदर आ गये. जैसे ही ऑफिस में पहुंचे तो पूछा क्या लोगी? मैडम बड़ी नोटि स्माइल में बोली, तुझे लुंगी.  में मैडम को अपने साथ ऑफिस के कांफ्रेंस रूम में ले गया. वहां पर एक राउंड टेबल है और सोफा कम बेड हे बॉस के लिए. मैडम को अंदर जाते ही पीछे से पकड़ लिया और हमने किस कर ली. किस करते टाइम उसके बूब्स दबा रहा था. तभी मैडम रुकी, सर क्या हम कपड़े उतारकर साइड में रख दें नहीं तो ख़राब होंगे.

मैंने कहा ठीक हे तुम मेरे उतारो मैडम ने मेरी शर्ट और पेंट उतारी और जैसे ही मेरा जोकी देखा तो बोली सर रुको अभी बड़ा टाइम है. मैंने मैडम की शर्ट खोली और क्या मस्त ब्लू ब्रा, मेने ब्रा खोल दी.

फिर उनकी सलवार को उतारी तो वह शर्मा उठी और मैंने उनको बेड पर धक्का दीया और मैडम की पैंटी उतार दी. पैर खोल दिए और चूत चाटने लगा. एकदम क्लीन शेव चूत. जैसे मैंने चाटी मैडम की आह निकल गई.

मैं चूत चाटने लगा और मैडम आह ओह अह्ह्ह ओ ह्ह्हः करने लगी. मैंने ऊँगली अंदर अंदर डाली और हिलाने लगा. उसने पानी निकाल दिया और में सारा पि गया, और चूत साफ कर ली. वह दो मिनट बाद उठी और मेरी जोकी निचे कर के मेरा लंड  चूसने लगी.

तभी मैंने मेडम को उठाया गोद में बिठाकर किस कर दिया, और मैडम के बड़े बड़े बोबे चूसने लगा, निप्पल को काटने लगा, मेडम आहा इह हां हो अहह करने लगी.

मैं फिर से उसकी चूत चाटने लगा तो बोली सर अब चोद भी दो. यह सुनते ही मैंने मैडम की लेग स्प्रेड की और मेरे लंड को चूत पर रगड़ना शुरू किया. मैडम तड़पी रही थी और बोली सर डाल दो. इतना सुनते ही मैंने लंड डाला तो फिसल गया. मेने फिर से सेट किया और धीरे धीरे डालने लगा. चूत थोड़ी टाइट थी. मेंरा लंड धीरे धीरे अंदर चला गया, चूत एकदम गरम थी.

मैंने उसे चोदना शुरु किया और सिर्फ १० मिनट में मैडम जड़ गयी और उसकी चूत टाइट हो गई. मुझे लंड निकालना पड़ा और मैडम बोली, सॉरी आज जल्दी हो गया आपने पागल कर दिया था इसलिए.  मैडम १५ मिनट बाद फिर रेडी थी और मिशनरी पोजीशन में आ गई.

तो मेने उसे डॉगी पोजीशन में आने को कहा. वह मान गई और मैंने उसे कुतिया बना के लंड उसकी चूत में डाल दिया और की चुदाई शुरू कि. वह मजे लेने लगी सर और तेज, मैं चोदता रहा और उसकी चूत में सारा माल छोड़ दिया. और हम एक ही बेड पर लेटे रहे. ३० मिनट के बाद मैंने मैडम को फिर से किस करना शुरू किया. मैडम बोली सर अब किसी और पोजीशन में करो ना.

मैंने उसे घोड़ी बनाया तो बोली सर अभी तो किया था, मैंने कहा पहले आपकी फुद्दी में डाला था अब गांड में डालना है.  वह बोली नहीं सर मैंने सुना है बड़ा दर्द होता है मैंने आज तक यहां नहीं किया और आपका इतना मोटा कैसे जाएगा?

मैंने उससे पूछा आपकी फुद्दी को मजा आया ना तो गांड मरवा ट्रिपल मजा आएगा. वह मान गई और फिर मैंने उसकी गांड पर वेसेलिन लगा दी है और लंड  उसकी गांड पर रखा लंड का टोपा अंदर गया तो वह चिल्ला उठी सर आःह ईई मर गई.

मैंने उसके मुंह पर हाथ रखा और कान में कहा बस एक झटका और फिर फुल मजा,  अगर नहीं आया तो बाहर निकाल दूंगा. उस पर सेक्स सवार था तो उसने ओके कहा.  जैसे उसने ओके कहा तो मैंने लौड़ा अंदर ठोक दिया वह चिल्ला उठी और मैं रुक गया, और १० सेकंड के अंदर बाहर करना शुरू किया.

मैडम को मजा आने लगा और इंजॉय करने लगी. हसते हसते अहः ही अहह ही अहह  चोदो और अह्ह्घ इःह चोदो. १५ मिनट बाद में गांड में जड़ गया, फिर हम बेड पर लेट गये.

हमने कपड़े पहने और लंच किया और वापस आकर दो बार चुदाई की. उस दिन के बाद मैडम बीच बीच में तो ऑफिस के पास वाले स्टोर रूम में  मेरा लौड़ा चूस लेती है. आपको यह इंसिडेंट कैसा लगा बताना जरूर.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hindi Porn Stories © 2016 Frontier Theme