Hindi Porn Stories

Sex stories in Hindi

पड़ोसन आंटी की चूत की खुजली

हेलो दोस्तों, मेरा नाम आनंद है. मैं २४ साल का हूं और बेंगलुरु में रहता हूं. मेरी हाईट ६ फुट है और मेरा लंड इंच लंबा है. मेरी बॉडी एवरेज है, यह मेरी पहली कहानी है तो आप इसे इंजॉय करें और अपना फीडबेक भेज दीजिए

यह बात कुछ महीने पहले की है मैं जब इंजीनियरिंग के फाइनल ईयर में पढ़ रहा था और मेरी छुट्टियां चल रही थी.  मैं तब इंजीनियरिंग क्या फाइनल ईयर में पढ़ रहा था और मेरी छुट्टियां चल रही, तब मेरा रोज का रुटीन रहता था इवनिंग में बैडमिंटन खेलना हमारे अपार्टमेंट में उस वक्त वहां कुछ लेडीज भी आती थी बैडमिंटन खेलने के लिए. इसी बहाने मुझे उन के साथ मिलने का मौका मिला.

एक दिन एक मस्त लेडी जिनकी उम्र ३८ के आसपास होगी उसने मुझे अपने साथ खेलने को इंवाइट किया, उसने उस दिन एक ब्लू टॉप और नीचे योगा पैंट पहनी थी.

ऐसी मस्त आंटी को देख मुझे भी रहा नहीं गया और मैंने भी हां कर दी, खेलते खेलते उसके पैरों में चोट लग गई और गिर गई मैंने तुरंत उसे हेल्प किया और फिर थोड़ी देर बाद उसने मुझे उनके फ्लैट तक छोड़ कर आने को कहा तो मैं उसके साथ उनको पकड़ कर ले गया. वह बहुत खुश हुई और मुझे थैंक्स कहा.

हम दोनों में दोस्ती हो गई है उनका नाम आरती है. अब जब वह ठीक हो गई तब हम डेली शाम को मिला करते और इसी तरह हमारी फ्रेंडशिप बढ़ने लगी.

उनका फ्लैट मेरे फ्लैट के ओपोजीट है लेकिन दूसरे बिल्डिंग में था. बाद में मुझे उसने फोन पर पता लगा कि उनके हस्बेंड एक बड़े एमएनसी में काम करते हैं और बाहर ही रहते हैं मोस्ट ऑफ द टाइम, जिससे उन्हें अकेलापन महसूस होता रहता है.

एक दिन उन्होंने रात को १२ बजे मुझे फोन करके कहा कि उन्हें डर लग रहा है कि कोई घर में घुस आया है. तो मैं जल्दी से उनके फ्लैट गया, मुझे भी थोडा डर लग रहा था लेकिन जब मैं वहां पहुंचा तो दरवाजा खुला ही था.

मैं धीरे धीरे अंदर बेडरूम की और बढा तो दोस्तों मैंने देखा उसे देखते ही मेरे होश उड़ गए, आरती वह नंगी बेड पर लेट कर अपनी चूत सहला रही थी, उसकी आंखें बंद करो मेरा नाम लेकर आहें भर रही थी.

मुझे कुछ समझ आता इससे पहले ही उसने मुझे देख लिया और मुझे अपनी भूखी नजरों से मुझे देखने लगी. वह उठ कर मेरे सामने आती है वैसे ही नंगी, बूब उछलते हुए, गांड मटकते हुए, उसका वह गोरा बदन देख कर मेरा लंड तो टाइट हो गया था, उस के गोल गोल मिल्की बूब्स ऐसे लग रहे थे जैसे पके हुए आम है.

वह सीधे आकर मेरे पेंट के ऊपर से मेरे लंड को सहलाते हुए मेरे कान में कहती है कि यह सब तो एक बहाना था उनकी नजर मेरे लंड पर पहले से ही थी, उसने कहा मेरी चूत बहुत दिनों से कुंवारी है.

ऐसा करते हुए उसने मेरे कान में अपनी चीभ को लिक करने लगी. अब मैं भी जोश में आ रहा था, मैंने उसके बालों को पकड़ा और एक हाथ से उसके एक बूब को दबा कर पकड़ा और किस करने लगा.

करीब १५ मिनट किस करने के बाद में उसके बूब्स को पकड़ कर उसे चूसने लगा, इतने में वह एक भूखी शेरनी की तरह मेरी पेंट को जल्दी जल्दी खोलने लगी अपने हाथों से, और सीधे मेरे लंड को बाहर निकाल कर हिलाने लगी.

उस ने कहा आज तो मेरी चूत की खुजली तुझे ही मीटानी पड़ेगी और उस ने इतना कहते हुए मुझे बेड पर धक्का दिया और मेरे ऊपर चढ़ गई और लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.

यह तो कहना पड़ेगा उसने चोक करे हुए भी मेरे लंड को चूसा और उसके बाद में उ मेंने उसके मुह में कम कीया, माय गॉड वह पूरे मजे में मेरा सारा कम पि गई.

अब मैं भी उसको पकड़ कर उसकी चूत में अपनी जीभ से लीक करने लगा साथ ही मैं उसकी पीठ को भी सहला रहा था. वह एकदम मदहोश हुए जा रही थी. उसके मुंह से सिर्फ अहह ओह अह्ह्ह इया इह अह एस ओओं हो अहह ह्म्म्माओ ओह प्लीज आनंद आःह  मम्म और अंदर आःह आह्ह अम्म ओओं की आवाज आ रही थी. वह मुझे अपने पैर के बिच में जोर से पकड़ कर दबाने लगी, उसने अपना सारा पानी छोड़ दिया और मैं पि गया. उसके चेहरे पर एक हसीन सी मुस्कान थी. अब इतने में मेरा लंड फिर से काम पर लगने के लिए रेडी हो गया था.

मैंने उसे बैड पर पलटा मिशनरी पोजीशन में उसकी चूत पर अपना लंड रब करना चालू किया, वह कसमसाने लगी और मुझे चोदने की रिक्वेस्ट करने लगी. कहने लगी अब और मत तड़पाओ मिटा डालो मेरी खुजली, इतना बोलते ही मैंने एक ही झटके में अपना लंड  उसकी चूत में पेल दिया, उसकी चीख निकल गई. उसने काफी दिनों से सेक्स नहीं किया था. अब मैं तेजी से उसे चोदने लगा, उसे भी मजा आने लगा था.

वह मुझे अब गालियां देने लगी थी. चिल्ला रही थी मादरचोद आनंद तेरे लंड से तो आज मजा आ गया आ ऊया ह्हहा हह मम्म ओह हां ऐसे ही चोदते रहना मुझे मेरे राजा आह्ह औउ हो अहह हो अहह हो हां. आज चोद चोद के मेरी ही चूत में जड़ जाना, मैं पिल्स ले लूंगी पर रुकना मत हां और जोर से करो आनंद ऐसा कहते हुए और दो बार जड़ गई.

और हमारी चुदाई उस रात चार बार और चली. बीच में मैंने उनके फ्रीज में पड़ी आइसक्रीम को भी चूत पर लगा कर दिया और लिक किया. वह बहुत खुश रहने लगी मेरी चुदाई से. हम एक महीने तक हर रोज सेक्स करते हैं, मैं कॉलेज से आने के बाद उनके साथ रोज सेक्स करता हूं, हमने बाथरुम में भी किया और किचन में भी लेकिन अब उन्होंने दूसरा फ्लैट ले लिया चेन्नई में. इसीलिए हमारी चुदाई भी रुक गयी. आज भी उनको याद करके मचल जाता हूं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hindi Porn Stories © 2016 Frontier Theme