Hindi Porn Stories

Sex stories in Hindi

रुक जा यार कितना चोदेगा

हेल्लो दोस्तों, मैं रोबिन सिंह. काफी दिनों के बाद अपनी नई कहानी लेकर हाजिर हुआ हूं, क्योंकि काफी दिनों से सेक्स लाइफ कुछ मंदी में चल रही थी.

लेकिन अब आपको अपनी स्टोरी से रुबरु करवाता रहूंगा, क्योंकि अब मेरी सेक्स लाइफ में एक नई बहार आ गई है, चलिए ज्यादा बातें ना करते हुए मजा लेते हैं मेरी इस नई कहानी का.

मेरे पापा ने मुझे चंडीगढ़ की एक कोचिंग क्लास में एडमिशन करवा दिया था, उस क्लास में मेरी एक दूर ही रिश्तेदार भाई की लड़की भी कोचिंग कर रही थी उसका नाम ममता था. ममता मुझ से उम्र में ५ साल बड़ी थी, उसकी उम्र ३० के करीब थी और अभी तक शादी नहीं हुई थी.

पापा ने मेरी उससे बात करवा दी मेरी फैमिली ने मुझे उसके साथ ही रहने को बोला क्योंकि वह काफी सिंसियर और इंटेलीजेंट थी. वह चंडीगढ़ में आईएएस और पीसीएस की प्रिपरेशन कर रही थी. ममता और उसकी एक फ्रेंड ने मोहाली एरिया में टू बीएचके फ्लैट ले रखा था.

मैं अपना सारा साजो सामान लेकर चंडीगढ़ आ गया. ममता मुझे स्टेशन रिसीव करने आ गई. हम फ्लैट में पहुंचे तो ममता ने मुझे रूम मेट जस्सी से भी इंट्रोडक्शन करवा दिया.

मुझे ममता के साथ रूम शेयर करना था, उनके साथ एडजस्ट करते करते मुझे काफी दिन लग गये. मेरा पढ़ाई में काफी मन लग रहा था, ममता बहुत अच्छी थी और मुझे बहुत अच्छा गाइड भी करती थी, पर मेरे अंदर कुछ ठीक नहीं था, सेक्स किए हुए बहुत दिन बीत गए थे और मेरे अंदर कामदेवता उबाले मार रहा था.

ममता दिखने में तो कुछ खास अट्रैक्टिव नहीं थी, रंग तो गोरा था लेकिन किताबों में घुस के रहने की वजह से उनकी आंखों के नीचे बहुत डार्क सर्कल हो गए थे. फिजिकल एक्टिविटी भी कम थी तो उनका बदन गठीला सा था. रात को सोते समय कई बार मेरा हाथ उनके बूब्स पर या जांघ पर चले जाता था.

मेरे मन में उनके लिए कामुक भावनाएं जागृत होने लगी. एक दिन वह पढ़ने के बाद सो गई पर मुझे नींद नहीं आ रही थी, कामदेवता मेरे सर पर हावी थे. मैं दो बार मुठ मर चुका था, पर फिर भी चेन नहीं मिल रहा था. मैं ममता के पास लेटा था उस दिन ममता ने टाइट लोवर पहनी थी.

अचानक उन्होंने करवट बदली और उनकी गांड मेरी तरफ हो गई, इतनी गोलमटोल गांड मैंने कभी नहीं देखी थी. ममता पर मेरी नियत बेईमान हो रही थी और लंड आक्रोश की चरम सीमा पर था.

मैंने मन हल्का करने के लिए लंड निकाला और उनके पास ले के हिलाने लगा, हिलाते हिलाते मे लंड उसकी गांड के पास ले गया और लंड ऐसे ही उनकी गांड पर टच करने लगा. लोवर के होते हुए भी गांड बहुत गर्म लग रही थी, मैं लंड उसकी गांड पर प्रेस करने लगा, ऐसा करने में मुझे बहुत मजा आ रहा था.

फिर शायद उनको कुछ महसूस हुआ तो मैंने फटाफट लंड अपनी पैंट में डाला और सोने की एक्टिंग करने लगा, अगली रात भी ऐसे ही किया और इससे मेरे मन में कुछ शांति आई.

मुझे कभी भी ऐसा नहीं लगता कि ममता को शक हो रहा है. एक बार रात के २ बज गए थे, ममता सो ही नहीं रही थी. उनके सोने के इंतजार में मैं भी पढ़ने की एक्टिंग कर रहा था. रोज उनकी गांड पर लंड लगाने की आदत हो गई थी.

ममता बोली आज तुम्हें नींद नहीं आ रही है क्या? कल टेस्ट है क्या? मैंने बोला बस ऐसे ही ममता आप बैठे हो तो आपको देखकर मेरा भी पढ़ने का मन कर रहा है.

ममता बोली तू पढ़ने बैठा है या मेरे सोने के बाद मेरे करवट बदलने का इंतजार कर रहा है? यह सुनकर मैं हैरान हो गया मेरे मन में कई ख्याल आने लगे. इतना तो सोचा की ममता दी को बुरा तो नहीं लगा वह सब, वरना वह मुझे  डांटती या घर पर शिकायत कर देती.

अब मैं आगे क्या करुं? क्या कहूं यह सब के बारे में? फिर ममता बोली देख रोबिन इन सबसे मेरी नींद बहुत डिस्टर्ब होती है. मुश्किल से ६ घंटे सोने के लिए होते हैं उसमें भी अगर ऐसे नींद टूटे तो मेरा सारा दिन बहुत खराब जाता है. मैंने सॉरी बोला और कहा कि ऐसा दोबारा नहीं होगा.

फिर हम दोनों लेट गए करीब एक घंटे बाद ममता ने करवट बदली और गांड मेरी तरफ कर दी, मैंने कुछ नहीं किया और चुप चाप लेटा रहा.  १५ मिनट बाद ममता बोली आज क्या हुआ? मैं कुछ नहीं बोला और लेटा रहा.

फिर ममता मेरी तरफ मुड़ कर बोली देखो रोबिन ऐसे मुझे बार बार डिसटर्ब करने से अच्छा है तुम एक ही बार अच्छे से मेरी मार लो. और फिर तुम भी आराम से सो सकोगे और मैं भी. यह कह के उन्होंने मेरा हाथ अपनी गांड पर रखा और कहा तुम जो चाहो कर लो, आज जस्सी भी नहीं है यहां. मेरा मन तो भाग भाग हो गया.

मैं और ममता एक दूसरे को किस करने लगे ममता बोली मैं तो खुद ढूंढ रही थी कोई मुझे चोदना शुरू करे, पढ़ाई के चक्कर में मेरी चूत पर कभी ध्यान ही नहीं गया कि उसे भी कुछ चाहिए. मैं ममता के मोटे मोटे बूब्स उनकी कमीज के ऊपर से दबाने लगा.

उस दिन ममता ने सलवार कमीज पहना हुआ था, मैंने ममता का कमीज उतारा ममता उस दिन बिना ब्रा की थी. मैं उनके बूब्स पर टूट पड़ा और उनके ऊपर से उनके दूध चूसने लगा, ममता सेक्सी आवाज करने लगी. मैंने ममता के बूब्स चूस चूस कर लाल कर दिये.

इतने में मैंने अपनी लोअर उतार दी और ममता ने भी अपनी सलवार का नाडा खोल दिया. ममता जी के गोरे गोरे बूब्बे और बदन को चुमते हुए मैंने उनकी सलवार खींच कर उतार दी. ममता की मोटे मोटे भरी टांगें मेरे सामने थी. ममता के पैर और पायल पहने पैरों को चुमते चुमते मैंने उनकी चूत पर से पैंटी का पर्दा हटा दिया.

ममता की फुली हुई चूत जिस पर हल्के हल्के बाल थे बेसब्री से मेरा इंतजार कर रही थी. मैंने ममता की टांगे फैलाई प्यार से अपनी जुबान को उनकी चूत पर लगा दिया. ममता आह आह्ह ओह हहह ओह हहह उम्म्म येस्स्स्स करने लगी.

ममता की चूत मेरे चूसने के साथ लगातार पानी छोड़ रही थी. ममता आवाजें करने लगी, मैं १५ मिनट तक उनकी चूत चूसता रहा.

फिर मैंने अपना लंड  उनके हाथ में अपना लंड पकड़ दिया ममता ने मेरा लंड हाथ में लिया और हिलाते हिलाते हुए कहा  काफी मोटा है जस्सी के डिल्डो से भी ज्यादा.

यह सुन कर मैंने उनकी तरफ देखा तो वह बोली कि जस्सी यूज करती है और कभी कभी मुझे भी साथ लेती है, और हम बारी बारी एक दूसरे की चूत में लंड से चुदाई करते हैं, ममता उठकर लंड मुंह में लेने लगी, ममता सारे मुंह में लंड फिराने लगी और मदमस्त होकर लंड के मजे लेने लगी.

ममता की गांड मेरी तरफ थी और मैं अपना आपा खो रहा था. मैंने कहा ममता बस अब मुझे चोदने दो, आपकी गांड मुझे पुकार रही है, ममता बोलि रुक ना यार कितना मस्त है तेरा लंड उसे चुसके बहुत मजा आ रहा है मुझे.

मैंने अपनी मिडिल फिंगर ममता की चूत में डाल दी और अंदर बाहर करने लगा, वह तो पूरी तरह गर्म थी और चुदाई को तैयार भी थी, और ममता लंड चूसने में इतनी मशरूफ थी कि क्या बताऊं? आखिर काफी देर तक लंड को चूस चूस कर लाल कर देने के बाद वह घोड़ी बन गई और बोली अब चोद मुझे.

मैं फटाफट उनके पीछे आया और लंड  चूत पर सेट करके एक ही झटके में लंड  ममता की चूत में घुसा दिया. ममता की आवाज निकल गई और बोली आराम से भाई आज ही जरूरत है क्या? बाकी के दिनों के लायक रखना है या नहीं?

मैंने आराम से झटके मारना शुरू किए और लंड ममता की चूत में सरसराहट फैलाने लगा, और ममता धीमी धीमी आहें भरते हुए आवाज निकालने लगी, मेरी जान लंड  तो सनसनी फैला रहा है बहुत मजा आ रहा है. डिल्डो तो कभी भी लंड की जगह नहीं ले सकता.

मैं उनकी कमर हाथों में लेकर उनकी चूत को काम रस से भर रहा था. फिर मैंने ममता को सीधा किया, ममता ने अपनी टांगे हाथों से पकड़कर ऊपर कर ली.

मैंने लंड ममता की गांड पर लगाया ममता ने झट से रोक दिया और कहा आज नहीं प्लीज आज तुम चुत में ही डालो, फिर कभी पक्का डलवा दूंगी गांड में.

मैंने लंड चूत पर लगाया और जोर के झटके से चूत का पूरा अंदर तक डाल दिया और इस बार तेजी से झटके लगाना शुरु किया, ममता अपने होंठ दांतों में दबाकर आवाज निकालने लगी और नीचे ममता के मोटे मोटे कूल्हे मेरे कूल्हों से टकरा कर थक थक थक करते हुए कमरे में गूंजने लगे.

मैंने ममता की टांगों को बाहों में भर कर लंबे लंबे झटके मारने शुरू कर दिए ममता अपना सर इधर उधर पटकने लगी बस करो बस करो प्लीज़ बोलने लगी.

मैं चाहता था कि मैं जड जाऊं फिर ही रुकूंगा, मेने झटके लगाना जारी रखा, ममता बेड शीट मुठ्ठियों में भर के आवाज  निकाल रही थी रुक जा यार कितना चोदेगा बड़बडाती रही.

फिर पास ५-६ बड़े बड़े जोर दार झटके से ममता की चूत में अपना माल भर दिया, ममता ने जोर से मेरी छाती पर हाथ मारा और बोली तुझे यह नहीं बोला था कि रेप ही करदे मेरा, मैंने कहा ममता रेप थोड़ी किया तुमने खुद चुदवाया.

ममता बोली पागल जैसे तू ने चोदा है वह एक रेप ही था, फिर मैंने उन्हें प्यार से किस किया और उनके पीछे से चिपक के एक हाथ उनकी गांड पर रख कर सो गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hindi Porn Stories © 2016 Frontier Theme