Hindi Porn Stories

Sex stories in Hindi

सिस्टर की डबल धमाल चुदाई

हेलो दोस्तों, मेरा नाम रोहित आहूजा है, मैं उदयपुर राजस्थान से हु, मेरी उम्र ३० साल है. मैं शादीशुदा हूं और मेरी बीवी सेक्स में मुझे बहुत खुश रखती रहती, लेकिन फिर भी मैं अक्सर मौका मिलते ही बाहर की बिरयानी भी खाता रहता हूं.

मेरा लौड़ा करीब ७ इंच लंबा हे और करीब ३ इंच मोटा है. मेरी हाइट ५ फुट ७ इंच है, और मेरी बॉडी टाइप एथलेटिक्स है. मैं रोज़ कसरत करता हूं इसलिए एकदम मस्त चुस्त फुर्तीला हूं, चुदाई में लंबे सेशन करना मुझे अच्छा लगता है.

मेरी वाइफ का एक रात में कम से कम दो तीन बार तो पानी निकलवा ही देता हूं. हम दोनों खूब जोरदार तरीके से चुदाई करते हैं एकदम खुल के सेक्स का मजा लेते हैं, संडे को तो हम दिन में भी चुदाई करते हैं और मेरी बीवी मुज पर बहोत खुश रहती हे.

आप मुझे अपने कमेंट मेंल कर सकते हैं, चलो अब स्टोरी पर आते हैं.

यह कहानी मेरी शादी से पहले की है, जब मेरी उम्र २४ साल थी, मैं अपनी मासी के घर घूमने गया हुआ था, मेरी मासी की तीन बेटियां हैं, जिन में से दो की शादी हो चुकी है. आज की स्टोरी में आप को बताऊंगा कि केसे मैंने मेरी २ कजीन बहनो को एक साथ चोदा था.

मेरे बारे में तो आप जान ही गए होंगे, मेरी २ कजिन के बारे में बता दूं, उनका नाम है हनी और डोली.

हनी मेरिड हाउसवाइफ हे जीस की उम्र उस टाइम करीब ३० साल की थी. वह थोड़ी सी मोटी है बट बहुत ही खूबसूरत औरत है, उसका जिस्म देख कर अच्छे अच्छो की नियत खराब हो जाए, बड़े बड़े बूबे जीनका साइज करीब ३६ होगा और सेक्सी सी गांड, बड़े बड़े हिप्स, चलते वक्त उस की गांड ऐसे मटकती के की मार ही लो साली की, उसका कलर एकदम गोरा है.

उसकी बॉडी पर हमेशा ऐसी भीनी भीनी खुशबू आती है जो मुझे उस की ओर बहुत आकर्षित करती है, वह हमेशा डीप नेक टाइट फिटिंग बेक लेस ब्लाउज पहनती है. उसकी पीठ इतनी चिकनी है कि क्या बताऊं? उसके बूब्स ब्लाउज में भी कमाल लगते हैं, उस की क्लीवेज ओ माय गॉड.. उसको याद कर के मैं कई बार मुट्ठ मार लेता हूं.

डोली की उम्र करीब २६ साल थी उस समय. डोली सबसे छोटी वाली सिस्टर है, वह दिखने में बिल्कुल बार्बी डॉल लगती है, स्लिम बॉडी, गुड फ्लेक्स, फेयर स्किन कलर उस के बूब्स करीब ३२ होंगे उस टाइम, वह अक्सर मॉडर्न ड्रेस पहनती है, उसका गांड का साइज़ काफी अच्छा है, डॉली एकदम डेलिकेट डारलिंग है, बहुत ही सेक्सी दिखती है, उसकी आँखे छोटी और शार्प कलर की है.

अब स्टोरी पर आते हैं..

मैं अपनी मौसी के यहां स्टे कर रहा था, दिसंबर के दिन थे, ठंड का टाइम था. मेरी मासी वाले बहुत ही अमीर लोग हैं, उनका बहुत बड़ा बंगला है, जब भी मैं उन के घर जाता हूं तो वह मुझे एक सेपरेट रुम दे देते हैं सोने के लिए.

में हमेशा की तरह एक सेपरेट रूम में सोया हुआ था. मुझे टॉयलेट लगी तो मेरी नींद खुल गयी फिर में टॉयलेट करने उठा तो मैंने मेरे रुम के पास वाले रुम की लाइट ऑन देखी. मुझे थोड़ा अजीब लगा क्योंकि उस टाइम रात के करीब २ बज रहे थे, वह रूम डॉली का था, मुझे लगा शायद वह लाइट ऑफ करना भूल गई होगी, तो मैंने सोचा अंदर जा कर लाइट ऑफ कर देता हूं, लेकिन मेने उसे खोलने की कोशिश की पर में नाकाम रहा क्योंकि दरवाजा अंदर से लॉक था, तो मैंने इग्नोर किया और मैं टॉयलेट करने के लिए चला गया.

फिर जब मैं बाथरूम से वापस अपने रूम में जा रहा था तो मेरा ध्यान डोली के रूम की विंडो पर गया, विंडो बंद थी लेकिन पूरी तरह नहीं, शायद अंदर से खराब होगी अचानक अंदर से मुझे किसी की तेज तेज सांस लेने की आवाज सुनाई दी. अब तो मैं समझ गया कि दाल में कुछ काला है. मैंने खिड़की को धीरे से थोड़ा खोला और वहा से झाँकने लगा और देखा तो देख के तो मैं एकदम हैरान हो गया.

अंदर डोली और हनी दीदी एकदम नंगी थी, वह दोनों एक दूसरे को पागलों की तरह लिप्स पे चूमे जा रही थी, उन दोनों को ऐसी हालत में देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया, वह दोनों लेसबियन पोर्न स्टार लग रही थी, हनी दीदी बेड पर नंगी लेटी हुई थी और डोली उन के ऊपर थी. वह दोनों भूकी बिल्लियों की तरह एक दूसरे को किस कर रही थी, फ्रेंच किस की आवाज मेरे कानों तक आ रही थी, पहले तो उन दोनों को ऐसे कर के देख मुझे शौक लगा, लड़की को लड़की के साथ सेक्स करते देख मुझे अजीब लगा, लेकिन मैं मुंह बंद कर के शो देखने लगा.

वह दोनों किसिंग में डूबी हुई थी, ट्यूब लाइट की रोशनी में उन दोनों की गोरी चमड़ी चमक रही थी, डोली का जिस्म तो एकदम क्रीम जैसा लग रहा था, उस की बॉडी पर ब्रा और पैंटी की इलास्टिक के निशान साफ़ दिख रहे थे, हनी दीदी पूरे जोश में थी, वह किसिंग करते करते डोली के हॉट भी चाट रही थी, फिर डोली ने हनी के मुंह में अपना थूक डाला.

मुझे यह देख के बहुत अजीब लगा और गंदा भी.. लेकिन वह दोनों तो बहुत इंजॉय कर रही थी.

अब डोली हनी दीदी के बूब्स दबाने लगी वह दीदी की निपल्स के साथ भी छेड़ छाड़ कर रही थी, हनी दीदी के बड़े बड़े बोबे डोली के हाथों में नहीं आ रहे थे, कुछ देर बूब्स दबाने के बाद डोली उन्हें चूसने लगी, हनी दीदी औउ ओह हां हो अह होह अहह महम ओया ह्ह्ह ओजः होहा ओहो ओइई  कर रही थी और डोली उन के बूब्स चूसे जा रही थी.

अंदर का माहौल बहुत गर्म था, यह सब देख कर मेरा पानी निकल चुका था, मैं टॉयलेट गया और अपना लंड और अंडरवीयर साफ कर के वापस आ कर खड़ा हो गया. मुझे एक वहा पर खड़े खड़े देख के एक आयडिया आया, मैंने दोनों की कुछ पिक्चर अपनी नोकिया फोन से खींच ली और एक छोटा सा एमएमएस भी बना लिया.

उस एमएमएस  में रिकॉर्ड किया कि कैसे हनी दीदी डोली से अपनी चूत चटवा रही है, हनी दीदी की चूत एकदम खुली हुई थी और उस पर काफी बाल भी थे, डोली उस गंदी चूत को चाट रही थी और हनी दीदी उसका मुंह अपनी चूत पर दबा रही थी, मेरा लंड एक बार फिर से खड़ा हो गया था. वहां पर खड़े खड़े मेरे पैर अब दूख रहे थे तो मैंने सोचा चलो अब निकलते हैं यहां से.

मैं अपने रूम में गया और उन की पिक्स और उस एमएमएस को देख कर मुठ मारी और सो गया.

सुबह उठा तो मासी, मैंने और हनी और डोली ने साथ में नाश्ता किया. फिर थोड़ी देर बाद मासी घर के काम में लग गई और मैं हनी डोली के साथ था.

वह दोनों एकदम नॉर्मल बिहेव कर रही थी, लेकिन मेरे दिमाग में तो रात के सीन आ रहे थे, एमएमएस  याद आ रहा था. मैंने डोली से कहा इधर आ कुछ फोटो दिखानी है, वह बोली कौन सी फोटो? मैंने कहा ऐसे ही कुछ फोटो है और मैं उस को साइड में ले गया और उस रात वाली फोटो दिखाई. डोली एकदम डर गई कहने लगी रोहित यह क्या है? तूने सब देख लिया और हमारी फोटो भी खींच ली?

वह कहने लगी कि प्लीज किसी को मत दिखाना वरना हम दोनों की बहुत बेज्जती होगी. मैंने कहा नहीं दिखाऊंगा लेकिन एक शर्त पर.

उसने पूछा क्या हे तुम्हारी शर्त?

मैंने कहा मैं तुझे और हनी दीदी को चोदना चाहता हूं, वह कुछ नहीं बोली और चुपचाप सर नीचे कर दिया.

मैंने उसे ब्लैकमेल करते हुए कहा सोच ले वरना..

और फिर मैंने कहा अगर तुम दोनों एक बार मुझे चोदने दो तो मे यह पिक्स और वीडियो डिलीट कर दूंगा.

डोली मान गई और बोली मुझे मंजूर है लेकिन रुक मुझे दीदी से पूछना पड़ेगा, मैंने स्माइल करते हुए कहा मुझे पता है तू उसे पटा लेगी.

 

फिर डोली हनी दीदी के पास गई और उन्हें समझाने लगी. फिर वह दोनों मेरे पास आई और बोली आज रात को तू भी सब के सोने के बाद डोली के रूम में आ जाना.

मेरा तो काम हो गया. मैं बहुत खुश था, एक साथ दो खूबसूरत सेक्सी लड़कियों को चोदने का मौका मिल गया. मैं बचपन से इन दोनों को बहुत पसंद करता था. मैंने दीदी के बारे में सोच कर मैंने बहुत बार मुठ मारी थी, लेकिन आज उन दोनों को चोदने का मेरा सपना सच होने वाला था. मुझ से तो रात का कभी इंतजार नहीं हो रहा था.

फिर रात हुई सब अपने अपने रूम में सोने चले गए, फिर मैं वेट कर रहा था कि कब डोली हनी को चोदूंगा, तभी हनी दीदी मेरे रूम में आई और बोली चल आ जा.

मैं अपनी दीदी के साथ डोली के रूम में चला गया. हनी दीदी ने रूम को अंदर से लॉक कर दिया और अब हम तीनों बेड पर थे.

मैंने उन दोनों से पूछा तुम दोनों एक दूसरे के साथ ऐसा क्यों करती हो? लड़के मर गए हैं क्या?

तो मेरी हनी दीदी बोली अब तुझ से क्या छुपाना भाई? तेरे जीजा जी ज्यादातर टूर पर रहते हैं और उनका लंड बहोत ही छोटा सा है. मुझे उन के साथ सेक्स में जरा भी मजा नहीं आता है. वह मुझे हफ्ते या १५ दिन में एक बार चोद देते हैं. वह भी ऐसी चुदाई की कब स्टार्ट हुई और कब खत्म हुई मुझे पता भी नहीं चलता है.

उन्होंने मेरे सेक्स के सारे सपने जो मैं शादी से पहले देखती थी सब तोड़ दिए इसीलिए मैं डोली के साथ सेक्स कर लेती हूं.

दीदी यह सब कुछ बताते बताते थोड़ी सी सीरियस हो गई थी तो मैंने डोली से पूछा और तेरे कौन सी आग लगी है, वह बोली मैं तो बस दीदी का साथ देने के लिए इनसे करती हूं, वरना मेरा बॉयफ्रेंड है जो मुझे खूब चोदता है.

मुझे पता तो था कि डोली एक नम्बर की चुदक्कड हे लेकिन ऐसी बेशर्म है यह नहीं पता था.

हनी दीदी ने मरून कलर का नाइट गाउन पहना था, जिस में उन के बूब्स के ऊपर क्लीवेज के यहां नेट लगी थी, और डोली ने पजामा और टी शर्ट पहना था, वह दोनों बहुत सेक्सी लग रही थी.

फिर मैंने उन दोनों को कहा प्रोग्राम शुरू करें, दोनों ने स्माइल करते हुए सर हिलाया और फिर हनी दीदी ने मुझे पकड़ कर किसी स्टार्ट कर दी. हमारे रूम में आह हु उऔ ह्ह्ह ओह हू होःह ओह हां ह मोअ ओह हां उऔउ ओह हां मह मोअ हां की आवाजे आने लगी थी, दीदी बहुत ही गर्म हो चुकी थी और उसे किसिंग करने में बहुत मजा आ रहा था. फिर उन्होंने हटा कर मैंने डोली को भी किसिंग की, हम तीनों किसिंग को फुल इंजॉय कर रहे थे, मुझे किसिंग बहुत पसंद है, उन दोनों के होंठ चूसने में मुझे बहुत मजा आ रहा था, वह दोनों तो सेक्स में बहुत एक्सपर्ट लग रही थी. फिर हनी दीदी ने मेरे हाथ ऊपर करवा कर मेरी टी शर्ट और बनियान उतार दी, वह मुझे गले लगाकर मुज़े फेस पे और चेस्ट पर किसिंग करने लगी, जब वह चेस्ट पर किस कर रही थी तो डोली ने मुझे एक लंबा स्मूच किया, फिर मैंने स्मूच तोड़ते हुए हनी दीदी का गाउन उतार दिया आऊ हहह ओह हहह फक.

यह औरत आग थी. कितनी खूबसूरत और सेक्सी औरत को चोदने को मिलेगा यह मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था. हनी दीदी के बड़े बड़े बूब्स और झांटो वाली चूत सेक्सी ब्लैक ब्रा और पैंटी में कैद थे.

मैंने पीछे घूम के डोली की टी शर्ट उतार दी, उस ने अंदर ब्रा नहीं पहनी थी. उस के बूब्स देख कर मैंने उसे पकड़ कर बेड पर लेटा दिया और खुद उस के ऊपर चढ़ गया.

अब मैं डोली के ऊपर था और वह मेरे नीचे. उस के ३२ के बूब्स का मजा ले रहा था, उन्हें चूस रहा था, उस के निप्पल पर मैंने लव बाईट भी की. डोली फुल जोश में थी. उस ने आंखें बंद कर दी थी और मेरे साथ सेक्स में एंजॉय कर रही थी, उस की धड़कन ट्रेन की तरह फ़ास्ट चल रही थी जो साफ सुनाई दे रही थी और वह धीरे धीरे आऊ औउ ईई अहह ओह हां मम ओह हह आवाज भी कर रही थी, मेरे पीछे से मेरे ऊपर हनी दीदी भी चढ़ गई और वह मेरी पीठ पर किसिंग करने लगी. मैं डोली पर और हनी मेरे ऊपर थी, हनी दीदी मोटी है इसलिए हम दोनों दब रहे थे, और डोली ज्यादा दब रही थी, क्योंकि वह बहुत पतली है तो उस ने हमें उठने को बोला.

फिर हनी दीदी बेड पर लेट गई और मैंने उन की ब्लैक ब्रा उतार कर उन पर टूट पड़ा. हनी के जैसे बड़े बूब्स मैंने आज तक नहीं देखे थे, क्या बड़े और मोटे बूब्स थे? उन्हें दबाने में और चूसने में एक अलग का मजा आ रहा था. फिर मैंने अपनी दीदी के फुल बॉडी पर किस की और नीचे उनकी चूत तक पहुंच गया.

इसी बीच डोली ने मेरा लोवर उतार दिया और अब मैं सिर्फ बोक्सर में था, मैंने बेड पर लेटी हुई हनी दीदी की पैंटी उतार दी और उनकी बालों से छिपी चूत मेरे सामने थी. उनकी चूत से अलग ही महक आ रही थी, काले काले घुंघराले बाल काफी बड़े हो गए थे, मुझे ऐसी जंगली चूत को देख कर नशा चढ़ने लगा, मैं बैड के पास नीचे बैठ गया और उनकी चूत चाटने लगा मैं उनकी चूत में उंगली भी कर रहा था.

हनी दीदी पुरे जोश में आ चुकी थी और ऊ ह्ह्ह ईई अहह ह हहह ओओं ओह हहह अम्म ओह हहह जोर से चाटो बोल रही थी.

डोली ने मेरा बॉक्सर उतार दिया था और वह नीचे जमीन पर लेट कर मेरा लंड  चूस रही थी. मेरा लंड एकदम कड़क हो चुका था और मुझे बहुत मजा आ रहा था.

दीदी ने कहा अब और मत तड़पाओ रोहित, चोद दो अपनी दीदी को, बहुत प्यासी है मेरी चूत, मैंने डोली के मुंह से अपना लंड हटाया और खड़ा हो गया, अब मैंने बेड पर  दीदी के पैर फैलाए और उन के ऊपर आ गया.

अब मैं उनकी चूत पर अपना लंड मसल रहा था, बहुत मजा आ रहा था, उन्होंने कहा प्लीज अब डाल भी दो, चोदो मुझे, मेरा लंड देख कर वह बहुत खुश हो गई थी, मेरा लंड उस टाइम करीब ६ इंच का होगा, वह कहने लगी ऐसे लंड के लिए मैं शादी से पहले जो सपने देखे थे उन्हें आज पूरा कर दे मेरे भाई, चोद दे अपनी हनी दीदी, फाड़ दे मेरी चूत.

अब मैंने अपना लंड उस की चूत में फसाया गीली चूत होने के कारण लंड आसानी से पुच कर के उनकी चूत में घुस गया और उनकी आह्ह औऊ निकल गई.

उन की आवाज रूम से बाहर ना चली जाए इसलिए डोली ने उन्हें लिप्स किस करना शुरू कर दिया, उनकी चूत अंदर से बहुत गर्म थी, मुझे ऐसा लग रहा था जैसे किसी भट्टी में लंड डाल दिया हो.

मैं उन्हें चोदने लगा धीरे धीरे झटके लगाने के बाद मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी, अब मैं पूरे जोश में उस शादीशुदा औरत को चोद रहा था जो रिश्ते में मेरी कजन दीदी लगती थी. उन्हें चोदने में मजा आ रहा था उसे मैं शब्दों में एक्स्प्रेस नहीं कर सकता.

मैं लंड को अंदर फसा दिया और उनकी चूत के अंदर रगडने लगा, मुझे अपने लंड पे उनकी बच्चेदानी महसूस हो रही थी, मेरे पेलने से दीदी औउ आयी इई अहह ओअहः इई येस्स कर रही थी.

फिर अचानक हनी दीदी की चूत ने अपना पानी छोड़ दिया, उनकी मलाई बहुत ज्यादा निकली थी, मैंने भी लंड बाहर निकाला और जुबान से चाट के उनकी चूत साफ की, अभी तक मेरा पानी नहीं निकला था इसलिए मैंने एक बार फिर अपना लंड उसकी चूत में डालना चाहा लेकिन मुझे डॉली ने रोका.

डोली एक कपड़ा लेकर आई जिससे उसने दीदी की चूत पोंछकर सुखा दी और फिर उसने मेरा लंड भी पोछा और कहा अब चोद, सुखी चूत में ज्यादा मजा आएगा, मैंने एक बार फिर हनी दीदी की चूत में अपना लंड पेल दिया, सुखी होने के कारण अब लंड चूत में फिसलने की जगह घीस रहा था, जिस से चुदाई करने में एक अलग ही मजा आ रहा था. फिर थोड़ी देर के चुदाई के बाद मेरे लंड ने हनी दीदी की चूत में ही पानी छोड़ दिया और मैं उनके ऊपर लेट गया.

इस लंबी चुदाई के बाद में थोड़ा रिलैक्स हो के लेट गया, लेकिन डोली की ठुकाई अभी बाकी थी तो उसने मुझे लेटने नहीं दिया और मेरे छोटे हो चुके लंड को देखकर बोली अब मेरा क्या होगा?

तो हनी दीदी बोली रुक मैं अभी से फिर से खड़ा कर देती हूं, इतना कह कर वह फिर से मुझे किस करने लगी, उन्होंने मुझे रूम में पड़ी एक प्लास्टिक चेयर पर बैठा दिया और खुद जमीन पर बैठ कर मेरा लंड चूसने लगी, वह एकदम पोर्न स्टार की तरह मेरे लंड की ले रही थी, धीरे धीरे मेरा लंड एक बार फिर से अपने पूरे शबाब पर आकर खड़ा हो गया था, फिर उन्होंने डोली को बुलाकर कहा यह ले चुदवा ले, बुजा ले अपनी प्यास.

डोली में आ के मेरे लंड पर कंडोम लगाई और फिर मेरे ऊपर आकर बैठ गई, धीरे धीरे लंड उसकी चूत में जाने लगा, चेयर बिना हाथ वाली थी इसलिए उसने मुझे पकड़ लिया और ऊपर नीचे हो के चुदवाने लगी, लेकिन मुझे इतना मजा नहीं आ रहा था, इसलिए मैंने उसे अपने ऊपर से हटाया और उठ कर उसे चेयर पर हाथ रखकर झुकने को कहा, उसने ऐसा ही किया फिर मैंने पीछे से उसके पैर थोड़े खोलें और उसकी चूत में अपना लंड पेल दीया.

डोली की चूत बहुत टाइट थी, लंड मुश्किल से अंदर जा रहा था. मेरे लंड पर उसकी चूत की दीवारे महसूस हो रही थी, मैं उसके हीप्स पर हाथ फेरते फेरते उसे  ताबड़तोड़ तरीके से चोद रहा था, सेम टाइम हनी मुझे किस कर रही थी, हम तीनों पर सेक्स का नशा बहुत बुरी तरह चढ़ा हुआ था, रूम का टेंपरेचर ठंडा होने के बावजूद हम बहुत गर्म हो गये थे. डोली मझे से गांड देकर चुदवा रही थी, फिर कुछ देर बाद डोली और मैं दोनों खत्म हो गए.

उस रात हमने पूरी रात एक दूसरे के जिस्म का पूरा मजा लिया, वह चुदाई मेरी लाइफ की सबसे बेहतरीन चुदाई थी.

उसके बाद मैंने डोली और हनी को बहुत बार चोदा लेकिन एक साथ नहीं.

(Visited 927 times, 34 visits today)

4 Comments

Add a Comment
  1. Bhai wo mms ya pics hai
    Kya mujhe Teri behan ka no milega

  2. WhatsApp bhabhi or girl only 9135661511

  3. I love bahi moje bhi aek girlfriend milegi 09649579979 puspendra

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hindi Porn Stories © 2016