Hindi Porn Stories

Sex stories in Hindi

सोनिया की चूत से खून निकल गया

हेलो दोस्तों आप सभी को मेरा लंड भरा प्यार, आज मे आप को एक सेक्स स्टोरी सुनाता हूं, अभी कुछ दिनों पहले अक्टूबर मंथ में मैं कुछ दोस्तों के साथ एक पार्क में घूमने गया था..

वहां हम लोग काफी मस्ती कर रहे थे इसी बिच एक लड़की मेरे पास आई और बोली कि मेरा मोबाइल कहीं गिर गया है, आपने देखा है क्या? तो मैंने बोला नहीं, सॉरी हमने नहीं देखा है.

तो उसने कहा कि प्लीज एक बार आप मेरे नंबर में रिंग कीजिए ना, अगर मेरा मोबाइल कही यही पर आस पास होगा तो रिंग बजने से पता चल जाएगा की वह कहा पर हे और मुझे मेरा मोबाइल मिल जायेगा, तो मैंने उसे अपना मोबाइल दे दिया उसने अपना नंबर मिलाया और कोल किया और वह इधर उधर देखने लगी रिंग तो जा  रहा था लेकिन सुनाई नहीं दे रहा था, फिर उसने कुछ देर अपना मोबाइल ढूंढने के बाद मेरा मोबाइल वापस कर दिया और चली गई, वह भी वहा पर घुमने के लिए अपने दो तीन दोस्तो के साथ आई हुई थी.

फिर हम दोस्तों ने मिल कर वाही कॉफी पी और अपने अपने घर आ गए, रात को ११ बजे के आस पास मेरे व्हाट्सअप में मैसेज आया कि थेंक यु  तो मैंने देखा की कोई अननोन नंबर है, और यह थैंक्यू किस लिए लिखा हुआ हे? तो मैंने भी रिप्लाई किया कि किस बात का थैंक्स और कौन हो आप? में काफी देर तक उस के जवाब का वेट करता रहा लेकिन कोई रिप्लाई नहीं आया.

फिर अगले दिन में फिर से मैसेज आया है हेल्लो तो मैंने भी हाय कहा और फिर पूछा आप कौन है? मैं आपको जानता नहीं हूं, तो रिप्लाई आया जी हम मिल चुके हैं , तो मैंने बोला कब?

तो वह बोली कल पार्क में आप ने मेरी हेल्प की थी ना फोन ढूंढने में इसी लिए आपको मेरा  थैंक्यू बनता है न.. तो मैंने बोला ओह्ह इट्स ओके लेकिन कल तो आप ने थैंक्स मुझे बोला ही था लेकिन बाय द वे फोन मिल गया क्या? तो वह बोली कि खोया ही कहां था जो मीलेगा? वह तो आपका नंबर चाहिए था इसलिए वह सब नाटक करना पड़ा की मेरा फोन यही आजू बाजु खो गया हे, ताकि आप का नम्बर मेरे पास आ जाये.

तो मेने बोला की आप को मेरा नंबर किस लिए चाहिए हे? तो बोली आप से बात करने के लिए, आप मुझे बहुत अच्छे लगे और टीवी में एक एड आता है ना फोन नंबर लेने के लीये मुझे आयडिया  उस में से ही आया था, तो मेने बोला वेरी स्मार्ट.. फिर हम लोगों की काफी बातें हुई, उसका नाम सोनिया है, देखने में भी ठीक ठाक है. उस के बूब्स ३४ के होंगे, उस की कमर ३८ की होगी, उसकी  गांड बहुत ही मस्त हे और उसकी आँखे एकदम नशीली हैं, कुल मिला कर वह एकदम हॉट आयटम हे.

फिर हम लोग जब भी मौका मिलता बातें करते, मैंने कई बार नॉन वेज जोक सेंड किया तो खूब हसती, फिर धीरे धीरे हम सेक्स चैट करने लगे, हॉट पिक्स एक्सचेंज करने लगे, फिर कॉल करने लगे, वॉइस चैट होने लगा, अब घंटों बातें करते. हम रोज रात को चुदाई की बाते भी करने लगे और वह बाते करते समय मेरा भी लंड खड़ा हो जाता था. उसकी चूत गीली हो जाती, अब हम दोनों को रियल चुदाई की जरूरत थी तो हमने प्रोग्राम बनाया कि हम कहीं बाहर चलते हैं क्योंकि वह यहां एक पीजी में रहती थी

तो उस को जाने में कोई प्रॉब्लम नहीं था, तो हमने सी बीच जाने का प्रोग्राम बनाया और निकल पड़े. सुबह में ९ बजे की बस थी और हम ४ बजे शाम को सी बिच पहुंच गए, वहां एक रुम लिया और रूम में जाते ही हम लिपट गए, फिर काफी देर चिपके रहे, किसिंग की, फिर वह बोली कि प्लीज राज पहले फ्रेश होकर कुछ खाना खाते हैं बाहर चलते हैं, उस के बाद, अभी बहुत थकी हुई हूं और भूख भी लग रही है.

तो मेने बोला ओके सही बात है, भूख तो मुझे भी लग रही है, फिर हम लोग फ्रेश होकर होटल से बाहर आये कुछ खाया, फिर शसी फ़ूड भी खाया, सी मैं शाम को बहुत मस्ती की. फिर हम होटल पर लौट आए, रास्ते में कंडोम का पैकेट भी लीया, कंडोम देख कर वह हंसने लगी और बोली कि लगता है आज रात को तुम मुझे सोने ही नहीं दोगे.

तो मैंने भी बोल दिया जान, यहां सोने के लिए नहीं आया हूं, ऐसे ही बात करते करते हम होटल आ गए, कपड़े गीले थे और सी वोटर वाले थे, तो हम फिर से शोवर ले लीए. जब मैं बाथ रुम से बाहर आया तो देखा की वह सो गई है, मैंने उसे नींद से जगाया और बोला जान तुम भी नहा कर फ्रेश हो जाओ, वह फिर गई बाथ रूम में और मैं सो गया, जब नींद खुली तो रात के ९:३० बज चुके थे.

और सोनिया भी मेरे पास में ही सो रही थी, मैंने उसे जगाया और बोला जानू काफी लेट हो गया है, अब उठो डिनर लेने चलना है, रेडी हो जाओ. और हम रेडी होकर नीचे होटल के ही रेस्टोरेंट में गये और भर पेट खाना खाया.

फिर हम बहार गये और आइसक्रीम खाया और वापस रूम में आ गए और दरवाजा लॉक किया और मेने उसे बाहों में उठा लिया और चूमने लगा, वह भी मुझे चूम रही थी. हम दोनों एक दूसरे को पागलों की तरह चुमें जा रहे थे, उस के सेक्सी मुह की खुशबु मुझे पागल बना रही थी और उसे किस करते करते ही मेरा लंड एकदम टाईट हो गया था.

मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और उसके कपड़े उतार दिया, वह भी मेरे कपड़े उतारने लगी. अब हम सिर्फ अंडर गारमेंट में थे. मैंने उसे लेग्स से चूमना शुरू किया, वह अपने लेग्स को एक दूसरे में लपेट रही थी और मैं चूमते हुए ऊपर की तरफ जा रहा था, जांघों से होते हुए चूत की तरफ बढ़ता जा रहा था, अब में धीरे धीरे उसकी चूत  पर आ गया.

मैंने पहले पैंटी के ऊपर से ही चूत को पहले चुमा फिर पेंटी के ऊपर से चूत को चाटने लगा उसकी चूत गीली हो गई थी और पैंटी भी भीग गई थी चूत के पानी से. और मुझे उस के चूत का सोल्टी सोल्टी टेस्ट आ रहा था. अब मैं और ऊपर की तरफ चूमने लगा और वह अहः ओह अह हू हो अह हां हो अह्ह्ह कर रही थी. अब बारी थी नवल की, उसकी नवल मस्त गहरी नवल थी.

मैंने जीभ डाल डाल कर नवल की चुदाई की और ब्रा के ऊपर से होते हुए उस के लिप्स को चुमा तो वह अपना मुंह खोल दी और आँखे बंद कर ली और मुंह से आह आह औउ अह्ह्ह ओह अह्ह्ह औऊ अम्म की आवाज निकालने लगी, मैंने उसकी लिप्स पर जीभ फेरी, लिप्स को चूसते हुए मुंह में जीभ डाल दिया और हम दोनों स्मूच करने लगे.

अब उसे उल्टा लेटा कर उसकी पीठ को चूमने लगा, गांड को पैंटी के ऊपर से ही चूमने लगा, वह छटपटा रही थी और बोले जा रही थी जान आह हहू अह्ह्ह बस्स्स अब बस करो डाल दो ना, मैं मरी जा रही हूं, प्लीज. मैंने बोला जान अभी कहा रुको तो अभी तो बहुत कुछ करना है.

वह बोली नहीं जान पहले डाल दो अब बर्दाश्त नहीं हो रहा, प्लीज कुछ करो यार. अब मैंने ब्रा की हुक खोल दी और उसे सीधा लिटा दिया और ब्रा के अंदर हाथ डाल कर बूब्स को सहलाने लगा और दातों से ब्रा को पकड़ कर निकाल दिया और बूब्स को मुंह में लेकर निप्पल को चूसने लगा.

कभी लेफ्ट को तो कभी राइट को चुसता चूमता दबाता गया, वह भी पागलों की तरह मुझे जब मौका मिलता चुमती चाटती और कई तरह की आवाजें निकाल रही थी, फिर काफी देर के बाद मैंने कंडोम निकाला और पहन लिया.

फिर पेंटी खोल कर कर चूत को चुमा, चाटा, जीभ से चूत के दाने को सहलाना स्टार्ट ही किया कि उसने मेरे बालों को पकड़कर ऊपर खींच लिया और बोली राज प्लीज अब डाल दो, मैं तुम्हारे हाथ जोड़ती हूं. मैं ओके बोला और लंड को चूत में लगा कर पुश किया टाइट चूत थी चार पांच बार कोशिश करने के बाद आधा अंदर चला गया, वह दर्द के कारण चिल्ला रही थी, तो मैं धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा.

थोड़ी देर के बाद वह बोली राज अब ज़टके से पूरा डाल दो और मैंने भी दो बार झटके मारे और पूरा लंड अंदर चला गया, उसकी आंखें लाल हो गई सांसे लगा रुक गई सर ऊपर की तरफ हो गया, मैं डर गया और उसे चूमने लगा, काफी दर्द हुआ था.

थोड़ी देर बाद में फिर से आगे पीछे करने लगा, अब उसे भी अच्छा लग रहा था, अब वह अपने लेग्स को ऊपर उठाकर लंड ले रही थी, मैं भी लगातार चोदे जा रहा था, काफी देर बाद में जब जड गया तो उसके ऊपर ही लेट गया.

करीब १० मिनट लेटने के बाद मैं उठा तो देखा बेड की चादर खराब हो गई है, खून निकला था चूत से, तुरंत उसे उठा और चादर को बाथ रूम में साफ कीया, हम लोग चार  दिन रूके वहां और जम के चुदाई की.

(Visited 174 times, 2 visits today)

3 Comments

Add a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hindi Porn Stories © 2016