Hindi Porn Stories

Sex stories in Hindi

टीचर को टॉयलेट में चोदा

हाई, सभी लंड वालो और चूत वालिओ को  मेरे नाम का प्रणाम. मेरा नाम करन है. में एच.पी. का रहने वाला हु. मेरी ऐज २१ साल है. और में फ़िलहाल दिल्ही में पढ़ता हु. में एक स्मार्ट ओर हेंडसम लड़का हु. जिसकी वजह से मेरी स्कुल टाइम में बहुत ही गर्ल फ्रेंड्स थी.

मेरे लंड का साइज़ ७.५ लम्बा, और ३ मोटा है.

अब में ज्यादा बोर न करते हुए, स्टोरी की और चलता हु.

ये चुदाई स्टोरी मेरी और मेरे स्कुल की टीचर की है.

जो मुझे इंग्लिश पढाती थी. ये स्टोरी तब की हे, जब में ११ में था.

मेरी इंग्लिश टीचर का नाम था रेणुका. जिसे हम प्यार से रेनू मेम बोलते बठे. एकदम मस्त माल थी यार. उसके बूब्स ओर गांड को देखकर कोई भी मर्द अपना लंड निकाल कर हिलाने के लिए मजबूर हो जाता था. स्कुल के सभी जेन्ट्स टीचर भी उस पर लाइन मारते रहते थे.

उसकी ऐज लगभग ३० साल थी. मेम का फिगर एकदम मस्त था. ३४-३०-३४ का जिसे देखकर  मन करता था की बस पकडू और कपड़े फाड़ कर चोद डालू.

जब रेनू मेम हमारे स्कुल में पढाने के लिए आई थी, उसी दिन से में उसका फेन हो गया था.

वो ज्यादातर पंजाबी सूट ही डालती थी. जिसमे से उनका शरीर एकदम मस्त लगता था. और उनके बूब्स भी आधे दीखते थे.

वो बहुत ही फ्रेंडलियर नेचर की थी. और हमसे बड़े खुल कर बात करती थी. हम कभी कभी उनसे नॉन वेज बाते भी कर दिया करते थे. वो कुछ नही बोलती थी.

में रोज घर आके उनके नाम की मुठ मारता था. और स्कुल में उन्हें चोदने का मोका ढूंढता रहता था.

जब में ११ में था तब मुझे आखिरकार मोका मिल ही गया.

एक दिन रेनू मेम हमारी क्लास में आई लेक्चर के लिए, तो उन्हों ने वाइट सूट पहना हुआ था. जिस मे से उनकी फूलो वाली पेंटी साफ़ दिख रही थी. जब मेने देखि तो आनंद आ गया. और में अपने दोस्तों को मेम की पेंटी दिखाने लग पड़ा.

सभी मेम की पेंटी की तरफ देख ने लग पड़े. मेम ने नोटिस कर लिया. मुझे भी पेंटी दीखते हुए.

पर तब उन्हों ने कुछ नही कहा.

लेकिन लंच ब्रेक में मेम ने मुझे स्टाफ रूम में बुलाया. और मुझे कहा की तुम क्लास में क्या देख रहे थे.

मेरी तो ये सुन के गांड ही फट गई. और मेने डरते डरते बोला, मेम कुछ नही.

मेम ने बोला, जूठ मत बोलो, मुझे पता हे की, तुम क्या देख रहे थे. फिर उन्हों ने मुझे बहुत डाटा.

कहा की, में तुमसे फ्रेंकली  बात करती हु, तो इसका ये मतलब नही की तुम मेरी पेंटी सब को दिखाओ.

मेम डाटते हुए भी इतनी सेक्सी लग रही थी की, में सिर्फ उनके बूब्स ओर पेंटी ही देख रहा था.

मेरा लंड तो एकदम लोहे के रोड की तरफ खड़ा हो गया था.

मेम ने फिर से मुझे उनकी पेंटी को देखते नोटिस कर लिया. और गुस्से से बाथरूम में चली गयी.

में भी मुठ मारने के लिए बाथरूम में गया. और मे अभी मुठ मार रहा था की मुझे खयाल आया की जेंट्स और लेडीज के बाथरूम के बीच एक वेंटीलेटर है.

में वेंटीलेटर से लेडीज बाथरूम में जांक ने लगा, तो देखा की रेनू मेम ने अपनी सलवार खोली हे, और अपनी पेंटी उतार रही है. शायद उन्हें ठीक फिल नहीं हो रहा था, की सब उनकी पेंटी को देख रहे है.

इतने में किसी ने मेम के बाथरूम का दरवाजा बहार से लॉक कर दिया, शायद प्यून ने किआ था.

तो अब मेम अंदर फस गयी. इससे पहले वो हेल्प के लिए चिलाती की उन्हों ने मुझे देख लिया, और मुझे दरवाजा खोलने के लिए बोला.

में मान गया.

मेने मन बना लिया की अब तो में मेम को चोद ही दूंगा. इसलिए मेने जाकर दरवाजा खोला, और अंदर घुस गया. और अंदर से दरवाजा बंध कर दिया.

मेम ने बोला की, ये तुम क्या कर रहे हो?

मेने कहा, मेम मेने आपको पेंटी उतारते हुए देखा, आप बहुत सेक्सी लग रही थी.

तो मेम ने बोला, तो क्या करू. तुमने देख लिया तो किसी को बताना मत, और बोल के जाने लगी.

मेने मेम का हाथ पकड़ लिया, मेम ने बोला, तो क्या कर रहे हो?

मेने बोला, मेम आपको नीचे से तो देख लिया. अब में आपको उपर से भी नंगा देखना चाहता हु.

मेम ने बोला, की ये क्या बोल रहा हे, पागल हो गया हे क्या?

मेने कहा, मेम आप बहुत सेक्सी हो. प्लीज एक बार अपने बूब्स दिखा दो.

प्लीज प्लीज….

मेरे इतना कह ने पर वो मान गयी, और कहने लगी की, बस देख ना ही है. और किसी को बताना मत.

मेने कहा, ओके.

इसके बाद मेम ने अपनी शर्ट उतार दी. अब उसकी दो मस्त मस्त चुचिया मेरे सामने ब्रा में खड़ी थी.

मेने कहा, मेम प्लीज ब्रा उतार दो. मेम ने कहा, मेरा हाथ पीछे नही पहुच रहा है. तुम ही उतार दो. मेरे मन तो जेसे की लड्डू फूटने लगे थे.

फिर मेने मेम के पीछे जा कर जटाक से उनकी ब्रा की हुक खोल दी. और उनकी दो बड़ी बड़ी बॉल्स उछल कर बहार आ गयी.

में तो मेम के बूब्स को देखते ही रह गया. एकदम दूध दी सफ़ेद और उन पर गुलाबी निपल ऐसा लग रहा था की जैसे किसी ने आइसक्रीम के ऊपर चेरी डाल दी हो.

उसे देख कर मेरा लंड एकदम खड़ा हो गया. और मुझ से रहा नही गया. और में मेम को पकड़ कर किस करने लगा.

मेम ने मुझे हटा दिया. और कहा की, ये क्या कर रहे हो. कोई आ जायेगा.

मे प्लीज़ मेम करने दो, कोई नही आएगा. इतना कहते ही मेने मेम को फिर से पकड़ लिया. और किस करने लगा. अब की बार वो भी मेरा साथ देने लगी. मेरे दोनों हाथ मेम के बूब्स को सहला रहे थे. उन्हें किस करने के बाद में उनकी चुचियो को चूसने लगा.

उसके बूब्स तो बहोत सॉफ्ट सॉफ्ट थे एक स्पोंज की तरह एकदम रसीले और नाजुक भरे बोबे देख के मेरा मन डोलने लगा और मेने फैसला किया की कुछ भी हो जाये आज तो मेंम को चोदना ही हे. अगर एक बार उसे चोद दू तो वह अपने आप मेरे लंड की दीवानी हो जाएगी और मुझे अपनी चुदाई करवाने बार बार बुलाएगी.

में उसके बोबे अपने हाथो में भर के चुसे जा रहा था और दबाए जा रहा था. वाह, क्या स्वाद था, उनके दूध का.

चुचियो को चूसते चूसते मेरे हाथ मेम के सलवार के उपर से ही उनकी चूत को सहलाने लगे.मेने अहसास किया की उसकी चूत एक भट्टी की तरह तप रही हे और मुझे पता चल गया की मेम बहुत गरम हो चुकी थी. और उन्हों ने खुद ही अपनी सलवार को खोल दिया. वाह क्या चूत थी उनकी, एकदम पिंक और हल्के हल्के ब्राउन के साथ. में तो चूत को देखकर पागल हो गया.

मेम भी अब मस्त हो रही थी. उन्हों ने मेरी पेंट ओर जेकेट को उतार दिया. और मेरा ७.५ का नाग उनके सामने आ गया. मेरे लंड को देखकर, मेम कहने लगी. करन तेरा लंड तो बहुत ही बडा लगता है. रोज सपनो में मुझे चोदता होगा, और इसे हिलाता होगा.

मेने कहा, मेम प्लीज़ इसे चुसो.

मेम मेरे लंड को मुह में लेकर ऐसे चूसने लगी, जैसे कोई बच्चा लोलीपोप चूस रहा हो.

में तो जैसे जनत में ही पहुच गया था.

अब मेम भी पूरी गरम हो चुकी थी. और बोलने लगी, करन प्लीज़ जल्दी चोदो, अब मुझसे रहा नही जा रहा है.

मेने मेम को घोड़ी बनाया और उनके पर्स से उनकी पेंटी निकाल कर उनके मुह में डाल दी. और मुह पर अपना हाथ रख दिया.

अब मेने अपना लंड उनकी पिंक चूत पर रख कर सेट किया. और एक जोर दार धका लगाया. और मेरा पूरा लंड उनकी चूत में घुस गया.

मेम हडबडा उठी दर्द के कारण. पर मुह बंद होने के कारण मेम की आवाज बहार नही आई.

अब में लगातार धके मारने लगा. अब मेम का दर्द भी कम हो गया था. इसलिए वो अपनी कमर हिला के मेरा साथ देने लगी. मेने उनके मुह से पेंटी निकाल दी.

अब वो सेक्सी वोइस में मोन करने लगी.

मेम : आआ आआ हहहः आआ आआह म्म्म्म उफ्फ्फ करन चोद मुझे. चोद करन आआ आआ हाहाहा ऊह्ह्ह्ह ह्म्म्म म्म ऊओ ह्ह्ह आआआ.

मेने भी अपने धको की स्पीड बढ़ा दी, और थोड़ी देर में जड गया. में १०-१५ धको के बाद जड़ने वाला था. मेने कहा, मेम मेरा निकलने वाला है. तो मेम ने कहा की, निकालो लंड ओर मेरे मुह में डालो.

मेने लंड उनकी चूत से निकाला और उनके मुह में दे दिया. वो मजे से मेरा सारा माल पी गई.

मेने पूछा, मेम मजा आता, तो मेम ने कहा की बहुत. लेकिन थोडा कम्फ़र्टेबल नही था बाथरूम में.

तो उन्हों ने कहा, कल सेकंड सैटरडे है. तो तुम टयूशन का बहाना बना कर मेरे घर आ जाना.

वहा फुल मजा करेंगे. क्युकी मेरे हस्बैंड शोपकीपेर है. तो दिन में दुकान पर ही रहते है.

मेने कहा, ओके मेम.

इतने में बेल भी बज गई, और उन्हों ने कहा की मेरी क्लास हे. इसलिए वो चली गयी. जाते जाते मेने उन्हें एक किस किया. और कहा की कल मिलते है.

इसके बाद मेरी स्टडी पूरी होने पर मेने हर हॉलिडे पर मेम को उनके घर पर चोदा. और स्कुल में भी काफी मजे किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hindi Porn Stories © 2016 Frontier Theme