Hindi Porn Stories

Sex stories in Hindi

USA वाली सेक्सी पंजाबी भाभी

हाय, मैं एक २५ साल का मर्द हूं. USA में रहता हूं अकेला १ बीएचके फ्लैट में. मैं यहां एक एमएनसी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूं. एक दिन मेरे डेड का फोन आया की भैया और भाभी जी USA आ रहे हैं, भैया का ट्रांसफर हुआ है और उनको टेंपरेरी स्टे चाहिए है. यह सुनकर मैं बहुत खुश हुआ, मेरी भाभी का नाम नमिता है और वह ३० साल की काफी सेक्सी औरत है. वह पंजाब से थी, उसका रंग काफी गोरा और बड़े बड़े मम्मे हैं. भाभी की गांड बहुत बड़ी और सुंदर है उनका एक लड़की भी है.

मेरे भैया भाभी को में एयरपोर्ट पर पिक करने गया था. भाभी बहुत ही सुंदर दिख रही थी, उन्होंने सूट पहना था और अपनी क्लीवेज दिखा रही थी. भाभी को देख कर मैं बहुत एक्साइटेड था, थोड़ी बात चित करने के बाद मैं उन्हें अपने घर ले आया, मैंने अपना बेडरूम भाभी और उनकी लड़की को दे दिया, बाहर में और भैया ने बेड बिछाया.

रात के करीब १ बजे मेरी नींद खुली तो मैंने देखा मेरी भाभी भैया के साथ लेटी हुई है. भैया भाभी के मम्मे चूस रहे हैं और भाभी अपने हाथ भैया के सिर पर घुमा रही थी.

भाभी ने कहा : आराम से आज इतनी जोर से क्यों चुस रहे हो?

भैया ने कहा : तेरे मम्मे हैं ही इतने अच्छे.

भाभी ने कहा : जल्दी करो, कहीं तुम्हारा भाई न आ जाएं.

भईया ने कहा : वह तो वैसे भी तेरे को हवस से देखता है.

भैया ने अपना लंड बाहर निकाला और भाभी की चूत में घुसा दिया भाभी की चीख निकलते निकलते रहे गई. भैया भाभी के ऊपर चढ़ गये और भाभी की चूत मारने लगे. भाभी सिसकियां ले रही थी, मेरी हालत खराब हो गई. मेरा कोक फुल खड़ा था. मैंने भी अपना कोक पेंट में हाथ डालकर हिलाना चालू किया. भाभी झड़ गई. भइया ने अपना माल भाभी के चूत पर छोड़ दिया, भाभी उठी उनका मुंह पर वीर्य गिरा हुआ था. उन्होंने अपने कपडे समेटे और अंदर चली गई, भैया भी सो गए. मैंने उस रात तीन बार मुठ मारी. भैया और भाभी वापस इंडिया चले गए कुछ समय बाद.

इस बात को २ साल बीत गए और मेरी भी शादी हो गई और मैं अपनी वाइफ के साथ रहने लगा. मेरी वाइफ बहुत ही झगड़ालू औरत है, हर चीज मि लडती थी. एक बार मुझे बहुत ही बैड न्यूज़ मिली कि मेरे भैया और भाभी का डाइवोर्स हो गया, मेरे भाई का अपनी सेक्रेटरी के साथ चक्कर था और उसे दो बच्चे भी थे. यह न्यूज़ मेरी भाभी बर्दाश्त नहीं कर पाई और उन्होंने भैया को डिवोर्स दे दिया, मैं अपनी भाभी के बारे में सोच कर बहुत उदास था, किस्मत वालों को ही भाभी जैसी वाइफ मिलती है.

तभी मेरी भाभी को मैंने मैसेज किया और कहा कि अगर आपको कोई भी जरुरत हो तो बोल देना, मैं आपका और सोनल(उनकी बेटी) का ध्यान रखूंगा. भाभी जस्ट रिप्लाईड विथ थैंक्स. मुझे करीब २ हफ्ते बाद भाभी का मैसेज आया कि उसे कुछ पैसों की जरूरत है, डिवोर्स के बाद उसके पास ज्यादा पैसे नहीं हे.

मैंने भाभी को काफी पैसे ट्रांसफर कर दिए, भाभी बहुत खुश हुई और उसने मुझे थैंक्यू बोला. मैंने कहा इसकी कोई जरूरत नहीं है भाभी, फिर मैं और भाभी फोन पर भी बात करने लगे कि वह कैसी है? क्या चल रहा है? आज खाने में क्या खाया? मैं उसे अपनी हरामी पत्नी के बारे में भी बोलने लगा था, वह उसके अनुभव के अनुसार मुझे बात बात पर सलाह देती थी. मैंने नमिता भाभी को मेरे पास  आने को कहा.

लेकिन वह मान नहीं रही थी मैंने काफी मनाने पर भाभी मान गई. मैं बहुत खुश हो गया. कुछ दिन बाद भाभी एयरपोर्ट पर आ गई. मैं उन्हें लेने के लिए एयरपोर्ट पर गया था वह बहुत ही सुंदर लग रही थी. मैंने उसे देखके हग कीया और उसने भी मुझे देख के हग किया, जैसे की हम बहुत पुराने प्रेमी हो. फिर हम कार में बैठकर बहुत सारी बातें करने लगे.

मैं भाभी और उसकी बेटी सोनल को अपने घर ले गया. मेरी पत्नी ने भाभी को देखकर सिर्फ थोड़ी सी मुस्कुराहट दी. मैं भाभी को गेस्ट रूम में ले गया और मैं अपने काम पर चला गया. जब मैं वापस आया तो मैंने देखा कि मेरी जघडालू पत्नी अपनी मां के यहां चली गई थी. उसने मेरे लिए चिट्ठी रखी हुई रखी थी. इस पर मेरी भाभी ने कहा मुझे माफ कर दो मुझे नहीं पता था कि मेरे आने से तुम्हारे बीच में झगड़ा बढ़ जाएगा और वह घर छोड़ कर चली जाएगी.

मैंने कहा भाभी थैंक गॉड वह चली गई थोडे दिन तो चैन मिलेगा.

फिर भाभी ने मेरे सामने देख कर एक स्माइल दे दी. अब मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरा सपना सच होने वाला है. उस दिन भाभी ने बहुत ही स्वादिष्ट खाना बनाया और हमने साथ में मिलकर खाया. खाना खाने के बाद भाभी अंदर गई और उसने नाईट सूट पहन लिया. उसने एक ब्लैक कलर की सुंदर नाइटी पहन रखी थी. और उस गोरे बदन पर उसकी नाइटी बहुत ही सेक्सी लग रही थी. भाभी के मस्त मोटे मम्में भी नाइटी में पूरी तरह आ नहीं रहे थे. मैं बेड पर लेटा हुआ था और थोड़ी देर में भाभी आ गई और वह मेरे पास आकर बेड के कोने पर बैठ गई.

फिर भाभी ने कहा मैं तुम्हारा शुक्रिया अदा करना चाहती हूं कि तुमने मुझे बहुत सारे पैसे भेजें, मैंने कहा कोई बात नहीं भाभी. भाभी उठी और जाने लगी उनकी उभरी गांड देखकर मेरा लोडा खड़ा हो गया. मैं उठा और भाभी के पीछे गया भाभी गेट खोल कर बाहर निकल ही रही थी कि मैंने भाभी के कंधे पर हाथ रखा कहा भाभी आज यहीं मेरे साथ ही सो जाइए.

भाभी थोड़ा सा हिचकिचाई और फिर बोली अच्छा, मैं भाभी के साइड में लेटा था. मैंने अपनी शर्ट निकाल दी और अंडरवियर भी उतार दीया. मैं पूरा नंगा था. मैं अपनी भाभी के करीब गया और उनको लिपटने लगा, भाभी समझ गई मैं क्या चाहता हूं? मैंने उनके गोरे कंधों को चूमा और फिर नेक पर किस किया, उनका नाइटी उतारा और बेड से दूर फेंक दिया, भाभी कोई विरोध नहीं कर रही थी. मैंने उनके गोरे बूब्स हाथों से मुसले और फिर मुंह में डाल कर चूसने लगा. भाभी कह रही थी आह आराम से करो, भाभी मेरी बॉडी पर हाथ फेरने लगी.

मैं उनके फेस के पास गया और भाभी के आंखों को देखा वह काफी मस्ती में थी. मैंने उनके लिप्स सक किये और भाभी की चूत चूसने लगा, भाभी भी पूरा साथ दे रही थी, भाभी बोली अब प्लीज़ डाल दो ना तुम्हारा मेरे अंदर.

मैंने अपना ८ इंच लंबा और मोटा लंड भाभी की चूत में डाल दिया. भाभी चिल्लाई आह मर गई मैंने तेजी से झटके मारे भाभी का कम निकल रहा था. मैंने बोला आह्ह्ह्ह कितने सालों बाद मौका लगा है, भाभी बोली अगर तू पहले मिलता तो तुझसे ही चुदवाती. भाभी को यूंही मैंने ३० मिनट तक पेला, भाभी चार बार जड चुकी थी, भाभी का गोरा बदन लाल हो गया था.

मैं झड़ने वाला था मैंने भाभी को स्मूच करा और बहुत सारा माल भाभी की चूत में डाल दिया, भाभी बोली बहुत मजा आया आज. मैंने बोला भाभी मैंने इससे अच्छा सेक्स का मजा नहीं लिया किसी औरत के साथ, भाभी मुस्कुराई और मुझे लिपट गई. पूरी रात हम ऐसे ही नंगे सोते रहे. सुबह में उठा तो भाभी किचन में थी. उन्होंने सिर्फ एक चड्डी और एक पतली ब्रा पहनी हुई थी.

मैं नंगा था और अपना व्यक्त कॉफी लेकर भाभी के पीछे से झकड़ा. भाभी ने मुझे लिप्स पर किस देते हुए गुड मॉर्निंग कहा, मैं नीचे गया और भाभी के अंडरवेअर को निकाला और उसकी गांड चाटने लगा. अभी ओह माय गॉड करने लगी. उसकी गांड में जीभ डालकर मैंने उसकी गांड का बहुत स्वाद लिया, भाभी के तो होश उड़ गए और गांड को अच्छे से चटा रही थी.

मैंने भाभी को पकड़ा और गांड में लंड डाल दिया. धीरे धीरे पूरा कोक भाभी की गांड में घुस गया. भाभी चिल्ला उठी प्लीज बाहर निकालो मैंने कोक बाहर निकाला, भाभी ने चेन की सांस ली. मैंने लेकिन फिर से घुसा दिया भाभी की गांड में और झटके देने शुरू कर दिए. भाभी बहुत बुरी तरह सिसकियां ले रही थी, उनकी गांड का छेद बहुत बड़ा हो गया था. मैंने भाभी की चूत में हाथ रखा और साथ में गांड में भी चुदाई करता रहा. भाभी अब गांड को पीछे धकेल कर चुदवा रही थी.

थोड़ी देर में भाभी का माल निकल गया भाभी वहां से बाथरुम चली गई मैं  अभी भी बहुत उत्तेजित था मैं भाभी के पीछे पीछे चला गया, भाभी बाथरूम में गांड धो रही थी, मैंने जाकर भाभी को दोबारा डॉगी बनाकर चोद डाला.

यह जुदाई का जबरदस्त सिलसिला चलता रहा. भाभी रात को मेरे साथ लेटी थी और हम बातें कर रहे थे. मैंने बोला नमिता तुम यहीं रुक जाओ, भाभी ने कहा तुम्हारी वाइफ का क्या? और मैं यहां नहीं रह सकती. मैंने बोला भाभी बुरा मत मानो पर मैं अब तुम्हें चोदे बिना नहीं रह सकता, मैं एक अपार्टमेंट ले लेता हूं, तुम वहां सोनल के साथ रहो, तुम्हारा सारा खर्चा मैं उठाऊंगा नमिता भाभी चुप रही.

मैं बोला भाभी तुम जानती हो मैं तुम्हें बहुत प्यार करता हूं, प्लीज आप भी मुझे मना नहीं करना. भाभी हां बोली भाभी ने कहा तुम मुझे रोज मिलने आओगे? मैंने बोला हां पक्का आऊंगा. फिर मैंने और भाभी ने सालों चुदाई की और भाभी को तीन बच्चे भी दिए, वह ऐसे ही रहने लगी, कुछ समय बाद मेरा और मेरी वाइफ का डाइवोर्स हो गया. मैंने और भाभी ने कोर्ट मैरिज कर ली और हम साथ ही रहने लगे.

1 Comment

Add a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hindi Porn Stories © 2016 Frontier Theme