अनु और आंटी की चुदाई

हेलो दोस्तों, मेरा नाम अमित है और मैं हरियाणा के बहादुरगढ़ का रहने वाला हूं. दोस्तों मेरे मन में आया कि मैं भी अपनी एक सेक्स कहानी आपके साथ शेयर करूं, तो में अपनी कहानी लेकर आपके सामने आया हु.

फ्रेंड्स पहले तो में अपने बारे में थोड़ा बता दू. दिखने में मैं स्मार्ट हूं, मेरी उम्र २१ साल है, मेरी हाईट ५ फुट ८ इंच है, मेरी एथलेटिक बॉडी है. और मेरे लंड का साइज ६.५ इंच है. यह कहानी मेरी, मेरी आंटीकी और उनकी बेटी की जो कि मेरी गर्लफ्रेंड है उसकी हे.

लेडिज में आप सब के रिप्लाय का इंतजार करूँगा, आप मुझे अपने विचार जरुर बताये ताकि में आप को आगे भी खुश करता रहू, और एक बात मुझे चूत चाटना बहुत अच्छा लगता है अगर किसी को चूत चटवानी है तो प्लीज मुझे मेल जरुर करें.

जब मैं छोटा था तो मेरी मम्मी की डेथ हो गई थी, उनकी डेथ के बाद पापा भी काफी अपसेट रहने लगे थे, पर थोड़े दिन बाद सब नॉर्मल हुआ और पापा बिजनेस पर ध्यान देने लगे. धीरे धीरे वक्त गुजरता गया और मैं भी बड़ा हो गया. पापा और मैं बिल्कुल दोस्तों की तरह रहते थे, कभी कभी पापा मजाक मजाक में मुझे पूछ लेते थे की कोई गर्ल फ्रेंड बनाई कि नहीं? तो मैं भी हंस कर टाल देता था.

एक दिन जिंदगी में कुछ अजीब सा ट्विस्ट आया, जब मैं कॉलेज से घर वापस पहुंचा तो देखा कि पापा ऑलरेडी घर पर आ गये थे, वैसे पापा अक्सर लेट आया करते थे लेकिन उस दिन उन के साथ कोई लेडी भी थी और एक खूबसूरत सी लड़की भी थी.

पापा ने मेरा इंट्रोडक्शन कराया कि बेटा यह रेशमा आंटी है, यह मेरे साथ काम करती हैं और यह उन की बेटी है अनु. दोस्तों क्या बताउ? दोनों मां बेटी इतनी सेक्सी थी कि मेरा उन को देख कर खड़ा होने लगा, रेशमा आंटी के बूब्स तो बस क्या बताऊं? उफ्फ्फ जैसे दूध का मटका हो.. दिल कह रहा था कि अगर इस आंटी की मिल जाए तो मजा आ जाए.

फिर उसकी बेटी को देखा तो वह तो उस से भी दो कदम आगे थी, उसके बूब्स ऑलमोस्ट ३४ की साइज होगी और उसकी माँ का रेशमा आंटी का तो पक्का ३६ का होगा, दोनों का रंग एकदम साफ था, मैं तो बस उनको ही देख कर पागल हो रहा था. मैंने पापा को कहा की आप बैठो में थोड़ी देर में आता हूं, फिर मैं अपने रूम में गया पोर्न देख कर मुठ मारी तो कहीं जाकर शांति हुई.

फिर मैं नीचे आया और आंटी से बातें करने लगा, फिर हमारे नंबर एक्सचेंज हुए और आंटी चली गई, फिर आंटी से व्हाट्सअप पर बात होने लगी, एक दिन आंटी ने मुझ से पूछा कि कितनी गर्लफ्रेंड हे तुम्हारी? तो मैंने कहा कि एक भी नहीं है, तो आंटी ने कहा की क्या करते हो तुम सिर्फ पढ़ाई? अरे इस उमर में गर्ल फ्रेंड नहीं बनाओगे तो लड़की से प्यार करना कैसे सीखोगे? ऐसे धीरे धीरे हम खुलने लगे.

एक दिन मैंने आंटी से उनकी बेटी अनु का नंबर मांगा तो आंटी हसते हुए बोली क्या बात करनी है तुम को अनु से? मैंने कहा कि कुछ नहीं बस ऐसे ही जस्ट हेलो हाय करनी है. आंटी बोली कि मैं सब जानती हु कि इस उम्र में कैसी हेलो हाय होती है. और उन्होंने मुझे नंबर दे दिया अनु का, फिर मेने अनु से बात करना स्टार्ट किया पहले कुछ दिन नॉर्मल बातें हुई, फिर एक दिन मैंने पूछा कि तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है? तो उसने कहा कि नहीं है, मैं समझ गया कि लाइन क्लियर है.

फिर धीरे धीरे रोज घंटो हमारे बिच बातें होने लगी, उसने बताया कि उसके पापा की डेथ हो गई थी एक कार एक्सिडेंट में, तब से मम्मी ने उसे संभाला है, तब मेरा माथा ठनका कि उधर भी बात बन सकती है. फिर थोड़ी नॉन वेज बातें होने लगी सेक्स के बारे में. मैंने उसे कहा कि पापा सुबह ऑफिस जाते हैं और शाम को आते हैं, तो मैं कॉलेज के बाद घर पर एकदम खाली होता हूं, तुम कल मेरे घर पर आ जाओ मस्ती करेंगे, तो वह मान गई. मैंने उसे कहा कि अच्छे से शेव कर के आना.

तो उसने कहा कि क्या मतलब? कुछ करने का इरादा है क्या? तो मैंने कहा हो भी सकता है और नहीं भी, तो उसने कहा कि यार प्लीज कुछ करना मत, मैंने कभी तक कुछ नहीं किया है, तो मैंने कहा कि यार कुछ नहीं होगा, तुम डरो मत.

अगले दिन वह करीब २ बजे घर आई, उसने ब्लैक कलर का टॉप और जींस पहनी हुई थी, वह बहुत ही सेक्सी लग रही थी, उसके अंदर आते ही मैंने मेन दरवाजा की कुण्डी लगा दी, और उस को अपने रूम में ले गया और रूम का दरवाजा बंद कर के उसे पीछे से जोर से पकड़ लिया और उसकी गर्दन पर किस करने लगा.

मैंने कहा : क्या बात हे बहुत सेक्सी लग रही हो यार? जैसे कोई परी उतर आई हो उपर से.

अनु ने कहा : ओहो अच्छा जी ऐसा क्या दिख रहा है जनाब को आज जो पहले कभी नहीं दिखा मुजमे?

मैंने कहा : यार मुझे तो हर रोज दीखता है यह कहते हुए मैंने उसकी गर्दन पर किस की.

अनु मेरा थोडा सा विरोध करते हुए बोली : छोड़ो मुझे यार, क्या कर रहे हो? मुझे कुछ हो रहा है, प्लीज छोड़ो, कोई आ जाएगा.

मैंने कहा : आज कोई नहीं आएगा मेरी जान और मैंने उसे लिप्स पर किस किया.

धीरे धीरे वह भी साथ देने लगी और मैंने अपना एक हाथ उसके टॉप में डाल दिया और उसके बूबे को दबाने लगा और उसकी सांसे तेज होने लगी, तभी वह बोली यार मुझे कुछ हो रहा है और उसकी आंखें बंद होने लगी. मैं समझ गया कि लोहा गरम है तभी मैंने उसका टॉप उतार दिया उसने वाइट कलर की ब्रा पहनी थी.

मैंने जैसे ही उसकी ब्रा उतारी, उसके दूध ऐसे बाहर आए जैसे बरसो की कैद से आजाद हुए हो, में उस के बूब्स पर टूट पड़ा, उसके बूब्स को दबा रहा था, और एक हाथ उस की चूत पर ले गया, जैसे ही मेने उसकी चूत को पेंट के ऊपर से हल्का सा टच किया उसने मेरा सिर जोर से पकड़ा और किस करने लगी.

अनु कहने लगी : आह ओह अहह औउ ओह अहह अम्म ओह अहह हो अहह अय्यु ओह अहह अम्म्म अमित क्या कर रहे हो? मुझे कुछ हो रहा है. ऐसा मत करो ना.

मैंने उसकी एक ना सुनी और एक हाथ से उसकी चूत मसलता रहा.

अनु ने कहा : अमित बेबी औउ अह्घ्ह ओह अह्ह्ह अम्म्म ओह हां अय्य्य येस्स हां ओह अह्ह्ह अमित बेबी प्लीज सुनो ना.

तभी मेरे दिमाग में एक आइडिया आया, मैं मेरे रुम में रखे हुए फ्रिज से आईस क्यूब निकाल कर आया और आ के अपने काम पर दोबारा लग गया, मैंने अनु से पूछा कैसा लग रहा है? तो वह थोड़ी बोली की बहुत मजा आ रहा है. तब मैंने हल्का सा  उसकी चूत को प्रेस किया उसे और मजा आने लगा और उसके मुंह से बस आह ह अह्ह्ह ओह अहह औऊ ओह अहह अम्म्म ओह अहह अय्य्ये येस्स हां होहः अम्म्म माय बेबी प्लीज डू इट जैसी आवाजे आने लगी.

मैंने उसकी पैंटी उतारी, उसने लाल कलर की पैंटी पहन रखी थी. जो की पूरी तरह से गीली हो चुकी थी और जैसे ही मैंने उसकी पैंटी उतारी उसकी चूत के दर्शन किए क्या बताउ दोस्तों बिल्कुल गुलाबी चूत थी उसकी. मुझे रहा नहीं गया मैंने आइस क्यूब ली  और उसके दोनों बूब्स के बीच रख के उसे जीभ से नीचे लाने लगा, वह पूरी तरह मस्त हो गई थी.

अनु कहने लगी : आह ओह अहह उऔ ओह अहह अहह ओह अहह अम्म आह बेबी मुझे मार दोगे क्या आज है हाय माआआ.

जैसे ही मैं उसकी चूत पर पहुंचा वह तो जैसे बेकाबू हो गई, उसने मेरा सर दोनों हाथों से पकड़ कर अपनी चूत पर रगड़ने लगी.

अनु कहने लगी आह्ह ओह अहह औउ ओह अहह अम्म आई लव यू यार ओघ्ह्ह बेबी लिक माय पुसी बेबी लिक माय स्वीट पुसी बेबी मेक मी कम डार्लिंग

ऐसा कह के उसने अपनी दोनों टांगों में मेरे मुंह को जोर से जकड़ लिया और उसका बदन टाइट होने लगा, मैं समझ गया कि उसका होने वाला है, इतने में उसने जोर से चीख मारी.

वह कहने लगी आऊ अहह आय एम कमिंग बेबी अमित आय एम कमिंग बेबी.

बस इतना कह के उसकी चूत से पिचकारी मेरे मुंह पर लगी, इसके बाद वह ठंडी पड़ गई.

मैंने कहा : चलो मैडम नाऊ इट्स माय टर्न.

अनु मुस्कुराते हुए कहने लगी अब मुझ से कुछ नहीं होगा वेट फॉर युअर टर्न.

मैंने कहा यार यह ठीक नहीं है, तुम्हें मुझे मदद करनी होगी बेबी प्लीज.

अनु ने कहा अच्छा जी चलो कर देते हैं मदद.

मैंने कहा चलो नाऊ फाइंड माय लॉलीपॉप एंड प्ले विथ इट.

उन्होंने मेरी पेंट में हाथ डालते हुए कहा कि थोड़ा कॉपरेट करना जल्दी निकल लेना मुझे डर लग रहा है यह कहते हुए उसने मेरा लंड हाथ में पकड़ा.

मैंने उससे कहा की कम ओन चूसो ना यार.

उसने पहले तो मना किया फिर बाद में चूसने लगी, क्या बताउ दोस्तों मजा आ गया उसको लंड चूसा के, मैं बेड पर लेटा हुआ था और वह बैठ कर मेरा लंड चूस रही थी. तब मैंने अपने एक हाथ से उसके चूत को सहलाना शुरू किया, और वह फिर से रेडी होने लगी, उसे मजा आने लगा उसने मेरा लंड मुंह से निकाला और बोली.

अनु : अरे यार प्लीज़ यार फिर से लिक करो ना प्लीज बेबी.

मैंने कहा : हा बेबी बिल्कुल मेने उसे नीचे लेटाया, उसकी दोनों टांगों के बीच आ कर उसकी चूत चाटने लगा.

अनु : ओह एससस बेबी डू लाइक दिस ओह गॉड.

मेरा लंड भी खड़ा था, अब मैं थोड़ा पीछे हटा और अपना लंड उसकी चूत पे टिकाया  तभी वह बोली

अनु : प्लीज अमित यह नही प्लीज मेरा पहली बार है, और मुझ से यह नहीं लिया जाएगा.

मैंने कहा तुम्हें मुझ पर भरोसा है क्या थोड़ा भी?

अनु ने कहा : हां यार तुम पर तो खुद से ज्यादा भरोसा है, तभी तो इतना कुछ हुआ है.

मैंने कहा तो भरोसा रखो बहुत मजा आएगा.

अनु ने कहा पक्का ना यार प्लीज दर्द मत करना प्लीज.

मैंने कहा कोशिश पूरी करुंगा बेबी पर एक बार थोड़ा दर्द होगा तो उसे हैंडल कर लेना बाकी मैं देख लूंगा.

फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा है और हल्का सा झटका लगाया.

अनु ने कहा कि आह निकालो बाबू प्लीज बाबु निकालो बाहर.

मैं उसके लिप्स पर किस करने लगा, थोड़ी देर बाद उसका दर्द थोड़ा कम हुआ, मैंने एक और झटका मारा और आधा लंड उसकी चूत में जा चुका था.

अनु ने कहा : हाय मां मर गई यार प्लीज निकालो बहुत दर्द हो रहा है.

मैंने कहा बस मेरी जान थोड़ी देर और मैं थोड़ी देर बाद आगे पीछे करने लगा. जब वह मस्त हो गई तो मैंने एक और झटका मारा और पूरा लंड की चूत में डाल दिया,  उसकी आंखें फट गई एकदम और वो भी गाली देने लगी.

अनु ने कहा कुत्ते रंडी नहीं हूं मैं, पहली बार चुदवा रही हूं, थोड़ा आराम से नहीं कर सकते क्या?

मैंने कहा बस मेरी जान हो चुका जितना दर्द होना था. अब तो बस मजा आएगा मैंने धीरे धीरे स्ट्रोक की रफ्तार बढ़ा ने शुरू की और उसे मजा आने लगा.

अनु ने कहा : औह्ह्ह बेबी तुम तो कमाल हो, फक मी हार्ड बेबी मुझे बहुत मजा आ रहा हे. जोर से चोदो मुझे ऐसे ही करते रहो और यह बोलते बोलते वह जड़ गई.

मैंने कहा बाबू मेरा भी होने वाला है कहां करु? तो उसने कहा कि प्लीज बाहर निकालो मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई और मेरा भी निकल आया. मेरे मुंह से बस ओह्ह्ह बेबी निकला और मैंने अपना माल अनु की चूत के ऊपर छोड़ दिया.

फिर घड़ी की तरफ देखा तो ४:३० बज चुके थे. फिर हम उठ कर तैयार हो गए और अनु जाने लगी, वह ठीक से चल नहीं पा रही थी, जाते जाते बोली

अनु ने कहा कमीने तेरे प्यार के चक्कर में चाल भी बिगड़ गई है मेरी.

और उसके बाद हम मौका मिलते ही सेक्स करते हैं.

2 Replies to “अनु और आंटी की चुदाई”

Comments are closed.