बहन और उसके बॉयफ्रेंड का गुलाम बना

loading...

मेरी एज 19 साल हे और मैं हैदराबाद में इंजीनियरिंग कर रहा हूँ. मैं 5 फिट 11 इंच लम्बा हूँ और मेरा वजन 50 किलो हे. वैसे मैं पतला हूँ और रंग में गोरा हूँ. मेरा लंड उतना बड़ा नहीं हे, करीब 4.5 इंच का हे.

मेरी बहन की उम्र 23 साल हे और उसका फिगर कर्वी हे. उसका फिगर 34D 30 34 हे. वैसे उसके बहुत बॉयफ्रेंड रहे हे और वो एक इजी गोइंग लड़की हे. और दूसरी तरफ मेरी कोई भी गर्लफ्रेंड नहीं रही हे. दोस्तों ये कहानी एक फिक्शन हे और वास्तविक जिन्दगी में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. मेरी कल्पना के घोड़े दौड़ा के मैंने ये कहानी लिखी हुई हे बस.

loading...

इंजीनियरिंग में पढ़ाई करने वालो को वैसे भी गर्लफ्रेंड का सुख कम ही मिलता हे. अपनी सेक्स की भावनाओं को शांत करने के लिए पोर्न ही सब से अच्छा दोस्त हे. मैं बहुत छोटी सी उम्र में पोर्न देखने लगा था. पहले मैं इन्सेस्ट पोर्न और इबोनी यानी की ब्लेक लड़कियों का पोर्न देखता था. लेकिन फिर मुझे बीडीएसएम सेक्स में इंटरेस्ट हो चला. मैं बीडीएसएम पोर्न देख के उत्तेजित हो जाता हूँ.

loading...

मेरा लंड 4.5 इंच का हे. और मुझे औरतों को मर्दों को डोमिनेट और ह्यूमिलीएट करते हुए देखना अच्छा लगता हे. मेरा लंड भी वो मर्दों के जितना ही बड़ा हे जो ह्यूमिलेट होते हे. वैसे मेरा लंड छोटा हे ये मैंने किसी को भी बताया नहीं हे.

मैं मोस्टली पोर्न अपने कमरे में डेस्कटॉप के ऊपर ही देखता हूँ. मैं पढाई के बहाने से अपने कमरे के दरवाजे को बांध कर देता हूँ. और फिर कमरे में पोर्न देख के ही मुठ भी मार लेता हूँ. एक दिन सन्डे के दिन मेरे मम्मी पापा बहार गए हुए थे किसी फंक्शन के लिए. और मैं बड़ा खुश था क्यूंकि मेरे पास अच्छा समय था लंड को हिलाने के लिए. क्यूंकि उनके ना होने से मैं सुकून से मुठ मार सकता था.

वैसे मेरी बहन का सभी सामान उसके अपने कमरे में ही हे. लेकिन उसकी कुछ बुक्स मेरे शेल्फ के ऊपर थी. मैंने दरवाजे को उत्तेजना से बंद किया और गलती से और जल्दबाजी में मैं सही तरह से बंद करना भूल गया. फिर मैं बीडीएसएम लगा के बैठ गया. उसमे एक औरत ने एक मर्द को केज में यानी की पिंजरे में बंद कर दिया हुआ था. और वो उसे मार भी रही थी. वो उसके ह्यूमिलिएट कर रही थी और मार भी रही थी.

और तभी मेरी बहन मेरे कमरे में अपनी बुक्स लेने के लिए आ गई. वैसे तो वो मेरे कमरे में आने से पहले दरवाजे को दस्तक देती हे. लेकिन आज पता नहीं क्यूँ उसने दरवाजे को पुश किया और वो खुल भी गया. मैं अपने लंड को बीडीएसएम पोर्न देख के स्ट्रोक कर रहा था. मैं एकदम शोक हो गया और मैंने अपने लंड को पेंट में डाल दिया. लेकिन तब तक बहुत लेट हो चूका था. मेरी बहन ने सब कुछ देख लिया था.

वो चिल्लाने लगी, क्या कर रहे थे तुम? पढ़ाई के बहाने से अन्दर बैठ के पोर्न देख रहे हो! और फिर उसने मुझे कहा की पापा को बोल दूंगी और वो तुम्हे पनिश करेंगे. मैं उसके सामने गिडगिडाने लगा और उसको कहा की ये उम्र में ऐसा होता हे बहन.

वो बोली, शट अप, पोर्न देखना भी हे तो कभी कभी देखो ऐसे देख के पूरा दिन खराब मत करो. मैं फिर से गिडगिडा पड़ा और मैंने उसे कहा की प्लीज़ तुम जो कहोगी मैं वो करूँगा लेकिन किसी को भी मत बोलना प्लीज़.

ये सुन के उसकी आँखे चमक गई और वो बोली, सच में?

मैंने आगे पीछे सोचे बिना हां कह दिया. वो बोली, आज से मैं जैसे कहूँगी वो तुम्हे करना पड़ेगा देख लो. मैंने कहा हां ठीक हे दीदी.

उसने मुझे न्यूड होने के लिए कहा. मैं थोडा कन्फ्यूज था और मैंने कहा क्या? वो बोली, अबे साले कुत्ते अपने कपडे निकाल ना. मैंने धीरे से अपने कपडे खोलना चालू कर दिया. मेरा लंड सिकुड़ के 2 इंच का हो चूका था.

जैसे ही मैंने अपनी अंडरवेर को खोला वो एकदम जोर जोर से हंसने लगी. मैं एकदम एम्ब्रास हो गया था. वो बोली, अरे ये क्या चीज हे! इतना छोटा लंड! मेरे बॉयफ्रेंड का सोया हुआ लंड भी इस से बड़ा होता हे! मैं सर झुका के उसके सामने खड़ा हुआ था.

वो आगे बोली सच कहूँ तुम कभी भी किसी औरत को खुश नहीं कर सकते हो. और फिर उसने मुझे पोर्न दिखाने के लिए कहा. वो बोली, मुझे अब पता चला की तुम फेमडोम पोर्न देख के लंड क्यूँ हिलाते हो. अब उसने मुझे उसके जूते निकाल के सूंघने के लिए कहा. मैंने उसके जूते निकाले और उसके लेग्स को सूंघने लगा. फिर मैं उसके पैरों को चाटने लगा. वो थोडा अजीब था लेकिन मुझे अच्छा लग रहा था.

फिर उसने खड़े हो के अपनी पेंट और पेंटी निकाल दी. और फिर उसने पेंटी मुझे दे के सूंघने के लिए कहा. और पेंटी को सूंघ के अब मेरा लंड खड़ा होने लगा था. लेकिन उतना भी खड़ा नहीं हुआ. 4.5 इंच जितना लम्बा होने के बाद में वो हार्ड हो गया. मेरी बहन ने हंस के कहा, शिट तुम्हे तो पेंटी की स्मेल अच्छी लगती हे. कितने विकृत हो तुम! अब उसने मुझे कहा की मेरी पेंटी को सूंघते हुए अपने लंड को हिलाओ. मैंने बिना कुछ कहे ऐसे करना चालू कर दिया. 2 मिनिट के अंदर ही मेरे लंड से वीर्य झड़ गया.

वो बोली, तुम्हारा तो लंड टिकता भी नहीं हे लम्बे समय तक. तुम तो हरेक जगह पर लूजर हो. मुझे शर्म आती हे तुम्हारे ऊपर.

मेरा वीर्य निचे फर्श के ऊपर ही पड़ा हुआ था. मेरी बहन ने मुझे वो चाट के साफ़ करने के लिए कहा. वो मेरे लिए एकदम ह्यूमिलीइटिंग था. लेकिन मैंने चाट लिया अपने वीर्य को. फिर मेरी बहन ने मुझे पेंटी दे दी और बोली इसे पहन लो मेरी सिस्सी!

फिर दीदी ने मेरी गांड में ऊँगली डाली और बोली तुझे चोदने नहीं चुदवाने की जरूरत हे भाई.

उस दिन फिर बहन का बॉयफ्रेंड आ गया. मेरी बहन ने कहा मेरी पेंटी और ब्रा पहन के रम दरवाजा खोलो. मैंने कहा प्लीज़ ऐसे मत करो. वो नहीं मानी. मैंने कहा ठीक हे लेकिन प्लीज़ ये किसी को बोलना मत. वो बोली अगर मैंने किया वैसे नहीं किया तो मम्मी पापा को बता दूंगी. मेरे पास कोई और ऑप्शन नहीं था उसकी बात माने बिना.

मैं बहन की पिंक पेंटी और ब्रा पहन के दरवाजा खोलने के लिए गया. जैसे ही मैंने दरवाजे को खोला तो बहन का बॉयफ्रेंड मुझे देख के एकदम से हंसने लगा. और वो खुद को रोक ही नहीं पा रहा था. मैंने उसे ग्रिट किया और फिर वो अन्दर आ गया. वो अन्दर आया और मेरी बहन को किस कर के बोला अरे ये सब क्या हे?

वो बोली, ये मेरी सिस्सी बिच हे और विकृत भी. हमारे लिए गुलाम का काम करेगा ये. कुछ भी आर्डर करो और वो करेगा तुम जो कहोगे!

और फिर वो दोनों एक दुसरे को मजे से किस करने लगे. बॉयफ्रेंड ने मुझे कहा मेरी तलवे चाटो. मैंने उसके जूते निकाले और उसके पाँव को चाटने लगा. उसने अपनी एक ऊँगली मेरे मुहं में डाली जिसे मैं चूसने लगा. मेरी बहन हंसने लगी. फिर उसने मेरी बहन के कपडे निकालने के लिए कहा मुझे. मेरी बहन के कपडे खोले मैंने और मेरी बहन ने अपने बॉयफ्रेंड के कपडे निकाले.

मैं उसको लंड को देख के एकदम चौंक गया. उसका लंड पूरा 8 इंच का था जो एकदम कडक था और हिल रहा था. मेरी बहन ने लंड को पकड़ा और बोली, देख इसे असली मर्द का लंड कहते हे ऐसे दिखता हे लोडा. फिर मेरी बहन ने कहा यहाँ आओ. फिर मेरी बहन ने मुझे उसके बॉयफ्रेंड के टट्टे चूसने के लिए कहा.

मैंने बिना कुछ कहे उसे अपने मुहं में ले लिया. और मेरी बहन लंड को चूसने लगी. मेरी बहन ने गले तक लंड को भर लिया. और फिर उसने लंड को मुहं से निकाला और मुझे चूसने के लिए कहा. बहन के बॉयफ्रेंड ने जबरन पूरा लंड मेरे मुहं में ठूंस के चोदना चालू कर दिया.

ये सब 10 मिनिट तक चलता रहा. और फिर उसके लंड से निकला हुआ वीर्य मेरे मुहं में भर गया. मेरी बहन ने मेरा मुहं पकड़ के सब वीर्य को पिने के लिए कहा. फिर मेरी बहन ने वापस उस लंड को चूसा और बहन ने मुझे बॉयफ्रेंड की गांड चाटने के लिए कहा. मैंने वैसे ही किया. बहन के बॉयफ्रेंड का लंड फिर से खड़ा हो गया.

उसने फिर मेरी बहन को बिस्तर पर फेंक दिया और चूत के अन्दर लंड डाल दिया. मैं नजदीक से बहन की चूत में बड़ा लैंड घुसते हुए देख रहा था. उसने अब अपनी स्पीड को बढ़ा दिया और मेरी बहन जोर जोर से मोअन करने लगी.

मेरी बहन जोर जोर से अह्ह्ह अह्ह्ह फक मी अह्ह्ह्ह अह्ह्ह मोअन कर रही थी. मेरी बहन ने मुझे देख के कहा, देख ऐसे चोदते हे औरत को, तू सिर्फ लंड ही हिलाएगा हरामी! और फिर उसने कहा तू हम दोनों को चोदते हुए देख के अपने लंड को हिला ले.

मैंने अपने लंड को पकड के हिलाया. और मेरा पानी फिर से 2 मिनिट में ही निकल गया. वो दोनों मुझे देख के हंस रहे थे. वो और जोर जोर से बहन की चूत मार रहा था. उसके बॉल्स हवा में इधर उधर हो रहे थे. मेरी बहन ने अब मुझे उसके बॉल्स चाटने के लिए कहा. मैं टट्टे चाटने लगा. और तभी बॉयफ्रेंड ने ढेर सारा वीर्य चूत के अन्दर ही निकाल दिया.

अब उसने खड़े हो के मुझे चूत को चाटने के लिए कहा. मैंने अपनी बहन की चूत के ज्यूस को और उसके अन्दर के वीर्य को चखा. और मैंने चाट चाट के चूत को साफ़ कर दिया.

कुछ देर बाद फिर से वो दोनों ने काम चालू कर दिया. फिर वो जाने लगा. जाते हुए उसने कहा आज से तू हम दोनों का गुलाम हे और अब तू मुझे सर कहेगा और अपनी बहन को मेडम.

उसके जाने के बाद मेरी बहन ने मुझे नाइटी पहनाई और घर साफ़ करने के लिए कहा!

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age