बेटे ने प्यासी माँ की चूत चोदी

हेलो दोस्तों मैं हूं गौरव, मैं हिमाचल के शिमला से हूं. यह कहानी है मेरे और मेरी मां के बारे में, कैसे उन्होंने मुझे अपनी जवानी के मज़े दिए, मेरी उम्र १८ साल है और मेरी मां की उम्र ४० साल है, मां के बारे में क्या बताऊं? इतनी हॉट आंटी किसी का भी लंड खड़ा कर दे. ३६-३०-३४ का फिगर है. तो स्टोरी शुरु करते हैं. यह कहानी एक साल पहले की है. मैं स्कूल के फाइनल एग्जाम खत्म करके फ्री हो गया था. पहले मैं माँ के बारे में गलत नहीं सोचता था, लेकिन मेरी मां बहुत प्यासी थी, यह मुझे बाद में पता चला, एक्चुअली मेरे पापा मेरे बचपन में ही मर गए थे. तब से माँ ने अकेले मुझे पाला है, हम दोनों अकेले ही रहते थे, इसलिए मॉम की जिस्म की प्यास बुझ नहीं पाती थी.

मॉम अपनी प्यास सिर्फ मूली या कैंडल से बूजाती थी. यु तो मां के पीछे कितने मर्द पड़े थे, लेकिन वह बदनामी से डरती थी. एक दिन मैं नहा रहा था दरवाजा गलती से खुला रह गया था, अचानक मॉम बाथरुम में आ गई, मैं नंगा खड़ा होकर नहा रहा था. मेरा ७ इंच का लंड खड़ा था. मोम ने मुझे इस हालत में देखा और वह सॉरी कह कर चली गई, मुझे थोड़ी शर्म हुई, मां को मेरा लंड पसंद आ गया था. वह जब भी मौका मिलता मुझे देखती थी, कपड़े बदलते हुए, नहाते हुए. फिर एक दिन में सेक्स स्टोरी पढ़ रहा था मैंने मां और बेटे की सेक्स स्टोरी पढ़ी, उस दिन के बाद मेरा भी मन करने लगा उनके बारे में सोचने लगा, तब मैंने फिल किया कि मेरी मां कितनी सेक्सी और हॉट है.

मैं भी चुप चुपके उनको देखने लगा, पहली बार मैंने उन्हें नहाते हुए देखा, तो लंड का बुरा हाल हो गया. उस दिन मैंने बाथरुम में जाकर उनके नाम की तीन बार मुट्ठ मार दी, तब जाकर मुझे कुछ आराम हुआ और मेरा लंड ठीक तरह से बैठ सका. मैंने कुछ देखा ही ऐसा था मां नंगी बाथरूम में जमीन पर लेटी थी और अपनी चूत में केंडल से अंदर बाहर कर रही थी और अपने बड़े बड़े बोबे दबा रही थी. मेरा तो यह देख कर बुरा हाल हो गया मेरी मां यह सब करती है, तब से मेरा मन उन्हें चोदने को करता था, लेकिन कैसे करता आखिर वह मेरी मां थी. फिर मां ने ही मुझे वह मौका दिया. बाद में माँ जान बूझकर घर में ऐसे कपड़े पहनती थी कि उनके बूब्स दिखते रहते थे और मेरा लंड उन को देख कर खड़ा हो जाता था.

अब वह रात को भी सेक्सी नाइटी पहनने लगी थी, मेरा तो लंड हर टाइम खड़ा ही रहता था और मोम उसे देख कर मजा लेती थी, फिर एक दिन वह दिन आया जिसका मुझे कब से और मॉम को सालों से इंतजार था, मैं बाथरूम मैं माम की पैंटी मेरे हाथ में लेकर मस्ती से सूंघ रहा था और अपने लंड को हिला रहा था, अचानक मां आ गई और उन्होंने मुझे इस हालत में देख लिया, पहले तो वह बहुत गुस्सा हुई एक्चुअली वह नाटक कर रही थी, तुम मेरे बेटे हो तुम्हें शर्म नहीं आती मेरे बारे में ऐसा सोच कर? मोम ने मुझे एक थप्पड़ लगा दिया फिर मैं डर गया और सॉरी कहने लगा और उनके पैरों में पड़ गया.

फिर उन्होंने मुझे उठाया और शरारती नजरों से देखा और मेरे लंड को घूरने लगी उन्होंने मेरे हाथ को पकड़ा और मुझे अपनी तरफ खींचा, मेरा लंड उनको कपड़ों पर रगड़ रहा था और उनके होंठ मेरे होंठों से बहुत नजदीक थे, मेरा दिल जोर से धड़क रहा था, मैंने कुछ कहने की कोशिश की लेकिन मॉम ने मेरे होठों को अपने होठों से लॉक कर दिया और पागलों की तरह मुझे चूमने और चूसने लगी. मेरा भी सपना पूरा हो रहा था तो मैं बहुत खुश हुआ था.

फिर मोम ने अपने ओठ हटाए और मेरी आंखों में देखा उनकी आंखों में वासना तड़प रही थी. उन्होंने मुझे कहा गौरव में भी तुझे पसंद करती हूं बेटा, तेरी मां बहुत प्यासी है, और इसकी प्यास तू ही बुझाएगा. यह सुन कर मेरा तो जेकपॉट लग गया. मैंने उन्हें इस बार कस कर बाहों में जकड़ लिया और कहां आप जैसी सुंदर औरत मैंने कभी नहीं देखी मोम. आप बहुत सेक्सी हो माँ. यह सुन कर वह मुझे लिपट गई और मुझे बाहों में कस लिया.

फिर मैंने मोम के बूब्स उनके कपड़ों के ऊपर से ही दबा दिया. मां के मुंह से आहह्ह्ह औह्ह्ह निकल गई. उन्होंने कहा बेटा कपड़े तो उतार दो पहले. मैंने झट से उनका कुर्ता उतार दिया, उफफफफ क्या लग रही थी सेक्सी ब्रा में.

उनके बड़े बड़े बोबे बाहर आने को तड़प रहे थे, मां ने अपनी ब्रा उतार दी और मेरे ऊपर फेंक दी.

फिर उन्होंने अपनी सलवार वही उतार दी. मैंने कहा मां मैं आपकी चड्डी अपने दांतों से निकालना चाहता हूं, माँ ने मेरा सर पकड़ा और अपनी चूत से लगा दिया, हाय  खुशबु भी यार क्या बताऊं? फिर मैंने दांतों से उनकी पेंटी नीचे खींच दी, क्या मस्त चूत थी, छोटे छोटे बाल और गुलाबी चूत से रस टपक रहा था, मेरा तो बुरा हाल हो रहा था यह सब देख कर, मैंने अपने ओठ उनकी चूत पर रख दिए और उनका रस पीने लगा, और धीरे धीरे रस को अपने गले से नीचे उतारने लगा और उसका मजा लेने लगा.

अब मोम भी अपनी आंखें बंद करके सिसकियां ले रही थी और मेरे सर को अपनी चूत में दबा रही थी और कह रही थी आह्ह ओह हहह ओह हहह ओओऊ पि बेटा सारा रस पि जा आह्ह ओह्ह हहह ओह हहह बहोत मजा आ रहा हे बेटा. पि ले अपीन माँ की चूत और धन्य हो जा और अह्ह्ह होह अह्ह्ह ओह अहह जोर से चूस बेटा. मैं अपनी जीभ अंदर बाहर कर रहा था वह भी मस्ती में आह ओह हहह ओह हहह ऊऊ येस्स सेक्सी आवाजें निकाल रही थी और लंबी लंबी सांसे ले रही थी. फिर उन्होंने मुझे खड़ा किया और होंठ चूसने लगी, वह मेरी पूरी बॉडी पर किस कर रही थी और अब मैं मोंन कर रहा था.

फिर वह झुकी और मेरे लंड को पकड़ के हिलाने लगी और बोली ओ मेरे बेटे कब से मैं तरस रही हूं और इतना मस्त लंड घर में ही था आज मैं अपनी हर ख्वाइश पूरी करुँगी. यस मां में भी बहुत तड़पा हूं आपके लिए. यह सुन कर उनकी आंखों में नशा छा गया और वह वासना में डूब गई. उसने मेरे लंड को चाटना शुरू किया चाटते हुए उसने मेरा पूरा लंड मुंह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह लंड को चूसने लगी. मुझे बहुत मजा आ रहा था, पहली बार कोई मेरा लंड चूस रहा था वह भी मेरी अपनी मां.

मैं मस्ती में बोल रहा था वाह मां तू क्या मस्त है आई लव यू माँ, मोम अब बहुत एक्सइट हो गई थी और वह गंदी गालियां भी दे रही थी, मादरचोद आज अपनी मां की प्यास बुजा, अपने लंड से मेरी चूत को मसलो, आ जाओ बेटा चोद दो अपनी मां को.

अब मैं भी खुल कर बोलने लगा था, ओ मम्मी तुम ने मेरे लंड को बड़ा तड़पाया है आज तेरी चूत मार के ईसे शांत करूंगा. आजा मेरी जान मेरी प्यारी मां, मैंने उन्हें बाहों में उठा लिया और बेड रूम में ले गया मैंने उन्हें बेड पर पटक दिया और उनके जिस्म से खेलने लगा. हम दोनों एक दूसरे से लिपट कर एक दूसरे को चूस रहे थे. फिर मैंने मोम की चूत को थोड़ा गीला कर दिया और लंड चूत पर रगड़ने लगा, मां ने कहा बेटा अब चोद डाल, आज अपनी मां को अपनी रंडी बना ले.

फिर मैं भी यह सुन कर बहुत गर्म हो गया और फिर मैंने एक जोर का झटका लगाया और लंड चूत में घुस गया, मां जोर से चिल्ला उठी हरामजादे आराम से मार कब से चुदी नहीं है यह, मैं फिर आराम से झटके लगाने लगा, मोम मजे ले रही थी और सेक्सी तरीके से मुझे गर्म कर रही थी. मैं मस्ती से मोम के जिस्म का मजा ले रहा था मोम ने फिर मुझे लेटाया और मेरे ऊपर बैठ गई, उन्होंने अपने बूब्स मेरे मुंह में दबा दिए.

और मेरे लंड पर बैठ गई और ऊपर नीचे उछलने लगी, उनके बूब्स क्या हिल रहे थे? मेरा तो सपना पूरा हो गया मेरी अपनी मां मुझसे चुद रही थी वह भी मस्ती में, पूरी रात मैंने उसको सोने नहीं दिया. सुबह उठ के मोम ने मुझे प्यार से किस किया और थैंक्स कहा. मैंने मॉम को किस कर के कहा मैं हमेशा आपको प्यार करता रहूंगा, यह सुन कर मां की आंखें चमक गई और वह मुझसे लिपट गई, फिर हम पति पत्नी की तरह रहने लगे जब भी मन करता हम खूब चुदाई करते थे, और एक दूसरे की प्यास भी बूजाते थे.

अब हम हर रोज साथ में सोते हैं और एक दूसरे को खुश रखते हैं, आखिर में बस यही कहूंगा कि मां को चोदने में जो मजा है वह किसी में नहीं, सोच के देखो अपनी मां को नंगा बाहों में, आज की मुठ माँ की ही मारना, बाय फ्रेंड्स अगली स्टोरी के साथ फिर मिलेंगे आई लव यू माय मॉम.

One Reply to “बेटे ने प्यासी माँ की चूत चोदी”

Comments are closed.