भाभी का मसाज और चोदन पति के सामने

loading...

गिगोलो के काम में सबी से बड़ा सुकून ये हे की एक अच्छे लंड के सिवा किसी और चीज का इन्वेस्टमेंट नहीं करना हे. फोन तो सब के पास होता हे. बस फोरम और वेबसाइट के ऊपर ध्यान रखो तो चुदाई का मसाला मिल ही जाता हे. और कभी कभी आप के पुराने क्लाइंटस भी आप के लिए नए माल रिफर करते हे. ऐसा ही मेरे साथ भी हुआ. एक बन्दे का कॉल आया मुझे.

वो अपनी बीवी का मसाज करवाना चाहता था. उसका नाम रसिक था और बीवी का नाम मोहिनी था. मोहिनी 29 साल की जवान भाभी थी. मैं पहले उसकी डिमांड समझा नहीं इसलिए मैंने तब सही बात नहीं की. फिर उसे दुबारा कॉल किया तो उसने मुझे मिलने के लिए बुला लिया.

loading...

उसने मुझे अपने कुछ निजी पिक्स दिखाए और कहा की मेरी बीवी को सेक्सी मसाज करवाना हे किसी पराये मर्द से. मैंने कहा मैं मसाज में उतना सही नहीं हूँ तो उसने कहा कोई बात नहीं मेरी बीवी ने भी कौन सा मसाज में पिएचडी किया हे.

loading...

हमने वक्त तय किया मिलने का. और उस वक्त पर मैं उसके घर चला गया. वो एक छोटा 1 बीएचके था. मैंने मोहिनी भाभी को देखा जो ट्रेडिशनल कपड़ो में थी. उसका पेट थोडा बहार को आया था और चहरे के ऊपर बहुत सब शर्म थी.

मैं टाइम वेस्ट नहीं करता हु काम के वक्त. इसलिए मैं सीधा ही उस सेक्सी भाभी के पास गया और उसके चहरे को ऊपर कर के किस कर दिया. उसने भी मस्त रिस्पोंस दिया. आखिर वो भी जानती थी की मेरा धंधा क्या हे.

फिर मैं बैठा और कुछ देर हमने बात की मसाज वगेरह की. फिर मैंने कहा, चलो फिर चालु करते हे. रसिक ने मोहिनी को कहा की तुम कपडे निकाल के अपनी बॉडी को तोवेल में लपेट दो. वो फट से चेंज कर के आ गई.

वो आते ही निचे फर्श के ऊपर एक चद्दर डाल के लेट गई. उसने तोवेल डाला था पतला सा और उसके अंदर उसकी सेक्सी ब्रा और पेंटी दिख रही थी. उसकी पीठ मेरी तरफ थी. मैंने भी अपनी टी शर्ट वगेरह उतारी और अंडरवेर में आ गया.

उस वक्त मेरा लंड अभी उतना खड़ा नहीं हुआ था. मैंने धीरे से उसकी कमर के ऊपर हाथ रखा और उसे घुमाने लगा. मोहिनी भाभी के मुहं से आह निकल गई. मैं कमर को मलते हुए धीरे से अपने हाथ को उसकी जांघ के उपर ले गया. रसिक भी सामने ही बैठ के मेरा मसाज देख रहा था.

फिर मैंने अपने हाथ को मोहिनी की गांड के उपर रखा और धीरे से खोला. उसके तोवेल की गाँठ खुल गई. मैंने तोवेल को निकाल दिया और फिर से उसकी गांड को पकड़ के दबाई. वो कराह उठी. उसकी गांड को हाथ से खोलने पर उसकी चूत की महक आ गई. मैंने अपने लंड को उसकी गांड के ऊपर टच कर दिया.

और फिर मैं मोहिनी की कमर को फिर से मसाज देने लगा. मेरा लंड एकदम से कडक था. मोहिनी भाभी को भी बहुत मजा आ रहा था. फिर मैंने निचे हो के उसकी ब्रा के हुक को खोल दिया. वो मस्तिया उठी. मैंने उसकी कमर के ऊपर किस किया और अपने प्यार के निशान यानी की लव बाईटस देने लगा.

फिर वो पलट गई ताकि मैं आगे भी मसाज दे सकूँ. उसके बड़े मोटे बूब्स और सेक्सी काली निपल मेरे सामने थी. उसके बूब्स दूध से भरे हुए लग रहे थे. मैंने अपने हाथ पर अब तेल लिया और उसके बूब्स को तेल वाले हाथो से दबा के सर्कल बनाने लगा.

और फिर मैं अपने एक हाथ को मोहिनी भाभी की चूत के ऊपर ले गया. उसने मेरे लंड के ऊपर हाथ रख के मुठ्ठी में दबा लिया मेरे हथियार को. और फिर मैं कुछ कहता उसके पहले तो वो मेरे लंड को चूसने लगी. मैं लंड चुसाते हुए उसका बॉडी मसाज कर रहा था.

और फिर वो खड़ी हुई उसने मुझे फर्श के ऊपर धक्का मारा और मेरे लंड के ऊपर आ गई जैसे. उसने लंड को मुहं में लिया और चूसने लगी. वो इंडियन स्टाइल में मस्त कोक सकिंग दे रही थी मुझे.

रसिक अभी भी सामने पथ्थर के जैसे अपनी बीवी का सेक्सी मसाज देख रहा था. मैंने उसे देखा तो वो बोला, मेरा तुम लोगों का ज्वाइन करने का टाइम नहीं हुआ हे तुम दोनों एन्जॉय करो अभी. मैं खुश हुआ की मोहिनी को अकेले भोगने को मिल रहा हे.

मोहिनी भाभी ने अपने ब्लोवजोब खत्म किया और मैंने उसके मुहं में ही अपना माल छोड़ा. फिर मैंने उसको निचे लिटा के उसकी टांगो को खोल दिया. मैंने उसकी बाल वाली चूत के ऊपर अपनी जबान रख दी और उसके चूत के दाने को चूसने लगा. उसकी चूत से निकलते हुए ज्यूस को चूसने का अपना ही मजा था!

वो अपनी टांगो को मेरे माथे के ऊपर भींच के मजे से चटवा रही थी. मेरे लंड में अजब सी एनर्जी थी और मैं बेताब था उसका बुर फाड़ने के लिए! 15-20 मिनिट तक चूत चत्वा के वो भी एकदम उत्साहित और उत्तेजित हो चुकी थी.

रसिक ने तब मुझे कंडोम का पेकेट दिया और मोहिनी भाभी ने कंडोम को मेरे लंड के ऊपर पहना दिया. मैंने लंड को चूत के ऊपर रख के अन्दर डालना चाहां लेकिन चूत बड़ी ही टाईट थी. मैं सोच में पड़ा की एक शादीसुदा औरत की चूत भला इतनी टाईट कैसे!

मैंने थोडा तेल ले के उसकी चूत के ऊपर लगाया और फिर कंडोम के आगे के हिस्से पर भी. और फिर एक धक्के के साथ मेरा थोडा लंड अंदर घुसा. उसके मुहं से अजब सी शांति वाली आवाज आई. मैंने उसके बूब्स चुसे और लंड को पूरा अन्दर डाला. मैंने अपने पैरो को उसके पैरो के दोनों तरफ लपेट के उसे कस लिया. उसका पति रसिक अब अपने मोबाइल से हम दोनों की सेक्सी क्लिप बना रहा था. मैंने कहा चहरा मत आने देना. वो बोला, हां भाई उसका ध्यान हे मुझे!

मैं अब मोहिनी भाभी के ऊपर चढ़ के उसे मस्ती भरे हुए धक्को के साथ चोद रहा था. और फिर उसका पानी छुट गया. और फिर मैंने उसे कहा चलो कुतिया बन जाओ मेरे लिए. मैंने पीछे से अब अपना लंड उसकी चूत में घुसेड दिया और चोदना लगा. वो अपने पति रसिक के लंड के करीब थी.

और फिर उसने उसके लंड को अपने मुहं में ले लिया. मैंने उसके लंड को देखा तो वो सिर्फ 4 इंच का ही था और एकदम काला था कलर में. मेरे धक्को से वो चुद रही थी और पति के लंड को मुहं में ले के चूस रही थी. मेरा पानी निकल पड़ा कंडोम के अन्दर ही!

मोहिनी भाभी अभी भी रसिक का लंड चूस रही थी. फिर वो नंगा हो गया और अपने लंड को उसने अपनी बीवी की चूत में डाल दिया. और वो एकदम जोर जोर से चोद रहा था बिना किसी दया के. मोहिनी जोर जोर से अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ओह ऑफ अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह कर रही थी. और फिर पांच मिनिट के अन्दर उसके लंड का पानी भी छुट गया!

वो कुछ दुखी सी लग रही थी. मैंने उसके पास गया और उसे किस दिया. वो उठ के बाथरूम की तरफ बढ़ी. मैं भी उसके साथ हो लिया. हमने एक दुसरे के बदन के ऊपर साबुन लगा के नहलाया. फिर मैं उसे तोवेल में लपेट के बाथरूम से बेडरूम में ले आया.

फिर मैंने मोहिनी को कहा तुम साडी पहनो ना. उसने साडी पहनी बिना ब्रा के. मैंने कहा अब मैं तुम्हे रेप करते हे वैसे चोदना चाहता हूँ. मैंने कहा तुम मुझे पूरी ताकत से रोकने की कोशिश करना. उसे भी मेरा आइडिया पसंद आया.

मैंने उसे अपने हाथो में उठाया और वो कठिन हो गई. मुझे अच्छा लगा. मैंने उसे जबरदस्ती से चुम्मा दिया और उसके कपडे खोलने लगा. वो साडी उतरवा के फिर नोर्मल हो गई. एक घंटे तक मैंने उसकी चूत बजाई. और फिर मैं न्यूड उसकी चूत में अपना लंड रख के ही सो गया. जब मेरी नींद खुली तो मेरा लंड उसके हाथ में था और वो सोयी हुई थी.

मैंने खड़े हो के अपने लंड को उसके दोनों बूब्स के बिच में डाल के बूब्स फकिंग चालू कर दिया. वो उठ गई और मेरे करीब आ गौ. मैंने उसे किस किया. फिर मैंने उसे वही पर घोड़ी बना के मस्त चोदा.

जब हम सेक्स कर के बहार आये तो रसिक सोफे के ऊपर सोया हुआ था. मोहिनी ने उसे उठाया और बोली जाओ बेडरूम खाली हे अन्दर बिस्तर के ऊपर जा के सो जाओ.

फिर उसके जाने के बाद हम दोनों किचन में गए. वो खाना बना रही थी और मैंने उसको प्यार किया. किचन में उसको चोदने का भी बड़ा मजा आया मुझे.

फिर मेरे जाने का वक्त हो गया. लेकिन तभी कुछ अजीब हुआ. मोहिनी ने रसिक को आवाज लगाईं और मेरी पेंट खोल दी. उसने कहा, चुसो इसे!

मैं और रसिक दोनों अचंबित हो गए. मैं गे नहीं था पर रसिक ने लंड को चुसना चालू किया तो मुझे अच्छा लगा. मोहिनी ने तब कहा, जब तुम्हे अपनी बीवी किसी से चुदवाने मजा आता हे तो मैं भी देखूं की तुम किसी का लंड चूसते हुए कैसे लगते हो!

रसिक ने लंड को गले तक भर के खूब चूसा. चोद चोद के मेरा लंड थका हुआ था इसलिए पुरे 20 मिनिट के ब्लोवजोब के बाद ही रसिक उसका पानी निकाल सका. फिर मोहिनी को एक किस दे के मैं निकल गया.

और फिर वो दोनों रेग्युलर मुझे बुलाने लगे थे. रसिक का तबादला होने तक मैंने मोहिनी को बहुत चोदा और वो भी मुझे प्यार करने लगी थी! लेकिन मेरा धंधा ऐसा हे की मैं एक औरत को अपना दिल नहीं दे सकता हूँ!

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age