बदसूरत बायोलोजी टीचर को चोदा

loading...

हाय लंड वाले भाइयों और श्रीचूत वाली बहनों.. आप सब को मेरा नमस्कार, पिछली स्टोरी में मुझे ज्यादा कमेंट नहीं आए लेकिन जितने आए उतने अच्छे थे, तो आज मैं आपके सामने हाजिर हूं एक नई स्टोरी के साथ. जैसा कि पिछली अपडेट में मैंने बताया कि हमारी बायोलॉजी टीचर ने मेरी और श्री की चुदाई देखी थी, और मुझे ब्लैकमेल कर रही थी. उसने हमारा वीडियो बना लिया था और मुझे कहा कि अगर तुमने मेरी बात नहीं मानी तो मैं यह वीडियो सब को दिखा दूंगी.

तो मेने कहा कि जैसा आप बोलोगी मैं वैसे ही करूंगा.. तो उसने जो कहा उसे सुनकर मेरे होश उड़ गए, उसने कहा कि मैं तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहती हूं. वैसे तो मैं लड़कियों को चोदने के लिए हमेशा तैयार होता हूं, लेकिन हमारी बायोलोजी टीचर जिनका नाम दीपा था इतनी बदसूरत थी कि अगर कोई आदमी ५० साल से सेक्स के लिए तड़प रहा हो और टीचर उसके सामने नंगी भी खडी हो जाए तो भी वह आदमी उसे नहीं चोदेगा, उसका फिगर कुछ २५-२६-२५ था, दिखने में बिल्कुल भी अच्छी  नहीं है लेकिन वह कहते हैं ना कि मजबूरी में गधे को भी बाप बनाना पड़ता है इसलिए मैंने उसे कहा कि मैं तैयार हूं तो उसने कहा कि संडे को मेरे घर आ जाना.

loading...

तो संडे को मैं उसके घर गया उसका घर भी उसी की तरह बदसूरत था, फिर मैंने डोर बेल बजाई और टीचर ने दरवाजा खोला, वह मुझे देखते ही खुश हो गई और मुझे अंदर खींच लिया. और दरवाजा लॉक कर दिया. जैसे दरवाजा बंद हुआ वह मुझ पर टूट पड़ी और मेरे होठों पर किस करने लगी. मुझे यकीन हो गया कि घर पर कोई भी नहीं है इसलिए इस रंडी ने मुझे यहां बुलाया है. मुझे उसकी शक्ल देख कर घिन आने लगी. लेकिन वह मेरे होंठों को रंडियों की तरह चुसे जा रही थी.

loading...

फिर उसने पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड को दबाने लगी मेरा लंड टाइट होने लगा उसने मेरे पेंट को उतार दिया और मेरे लंड को देखकर खुश हो गई, जैसा कि मैंने पहले बताया था कि मेरा लंड ६ इंच का है, जो किसी लड़की को खुश करने के लिए काफी है.

उसने मेरे लंड को अपने मुंह में लिया और जोर जोर से चूसने लगी मुझे मजा आ रहा था फिर उसने मेरा लंड बाहर निकाला और हैंडजॉब देने लगी, और फिर मुंह में लिया और चूसने लगी. कुछ देर बाद में जड़ गया और उसने सारा पानी थूक दिया. फिर उस रंडी ने कहा की जैसे तुमने श्री के साथ किया था वैसे करो वरना.. मैं तुम्हारे और श्री की वीडियो नेट पर डाल दूंगी.

तो मैं डर के मारे उसके काले होंठ चूसने लगा उतने भी बुरे नही थे वह. फिर मैंने उसके ड्रेस निकाल कर फेंक दिया, मुझे देख कर हैरानी हुई कि उसने अंदर ब्रा और पेंटी नहीं पहनी थी. उसके छोटे बूब मेरे सामने थे.

मैं उसे चूसने लगा और दबाने लगा. वह जोर जोर से सिसकियां लेने लगी, वह कुछ ज्यादा ही गर्म हो चुकी थी. फिर मैंने उसे सोफे पर बैठाया और उस की काली चूत पर अपना लंड रख लिया मैं जैसे ही धक्का मारने वाला था, उसने मुझे रोका और कहा पहले मेरी चूत को चाटो तो मुझे ना चाहते हुए भी उस की गंदी चूत को चाटने लगा कुछ देर बाद भी लेकिन इस बार मैंने उसका पानी नहीं पिया.

फिर हम लोग 69 की पोजीशन में आ गए वह मेरा लंड  चूस रही थी और मैं उसकी चूत में उंगली कर रहा था, उसे बहुत मजा आ रहा था और जोर जोर से सिसकियां लेने लगी. थोड़ी देर बाद वह फिर से जड़ गई. फिर कुछ टाइम बाद वह सीधा बैठ गई और कहा की मेरी चूत फाड़ डालो, मेने उसकी टाँगे फैलाई और अपना लंड उसकी टांग पर रख दिया और एक जोर का धक्का मारा, अभी पूरा लंड भी नहीं गया था कि वह चिल्ला उठी.

लेकिन उसने लंड को बाहर निकालने नहीं दिया, कुछ सेकंड बाद वह शांत हुई और मैंने एक बार धक्का मारा और जोर जोर से झटके मारने लगा, वह जोर जोर से आवाज  निकल रही थी और जोर से चोदो.. फाड़ डालो मेरी चूत को.. वह पूरी रंडी बन चुकी थी और पागलों की तरह चिल्ला रही थी बड़े मजे से उसके चोद रहा था.

करीब १० मिनट बाद मैं झड़ने वाला था तो मैंने उसे कहा कि टीचर मैं झड़ने वाला हूं, तो उसने मेरा बाहर निकाला और मैंने सारा रस उसके पेट पर गिरा दिया, और उसने मुझे अपने ऊपर लेटा दिया. फिर वह उठी और मेरे लंड को चूसने लगी, मेरा लंड  फिर से खड़ा हो गया.

फिर वह अंदर गयी और तेल ले आई और मेरे लंड की मालिश करने लगी, उसने कुछ तेल अपनी गांड के छेद पर लगा लिया. मुझे पता लगा कि यह अब अपनी गांड चुदवायेगी. फिर वह सोफे पर एक कुत्तिया की तरह खड़ी हो गई.

मैंने अपना लंड  उसकी गांड के होल पर रखा और जोरदार झटका मारा, उसकी गांड से खून निकलने लगा. तो मैंने जोर जोर से धक्का मारना शुरू किया, उसकी आंख से आंसू निकलने लगे, लेकिन वह मजे ले रही थी. मैं अपना सारा गुस्सा उसकी गांड में निकाल रहा था, साली की बहुत बड़ी गांड थी. वह जोर जोर से चिल्ला रही थी और मेरा साथ दे रही थी. मैं भी बड़े गुस्से से चोद रहा था. और बीच बीच में उसके बूब्स को जोर से मसल रहा था, उसकी गांड में से खून निकल रहा था. मैंने परवाह नहीं की, फिर कुछ देर बाद में उसकी गांड में ही झड़ गया, फिर मैंने कुछ देर आराम किया और कपडे पहन कर घर चला गया और अगले दिन श्री को सारी बात बताई.

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age