बीवी के साथ मेरी पहली चुदाई

हेलो दोस्तों मेरा नाम अंकित है और मैं २६ साल का हूं, मेरा रंग गोरा, कद ५ फुट ६ इंच है, अच्छी बोडी है, और मेरा लंड ६ इंच का है जो किसी भी औरत को संतुष्ट करने के लिए काफी है. मेरी पिछली स्टोरी को अपना प्यार देने का बहुत शुक्रिया.. उम्मीद करता हूं यह स्टोरी  आपको पसंद आएगी और लड़कों के हाथ उनके लंड पर और लड़कियों के उनकी चूत पर जाने पर मजबूर कर देंगे और खूब मजा देंगे. अब शुरू करते हैं.

यह स्टोरी मेरी और मेरी वाइफ के पहले सेक्स के बारे में है. मेरा पहला सेक्स अपनी वाइफ के साथ वैसे तो नहीं हुआ जैसे मैंने सोचा था, लेकिन जैसे हुआ था वह बहुत मस्त था.

अब मैं पहले आपको अपनी वाइफ के बारे में बताता हूं, मेरी वाइफ का नाम नैना है और उसका एज २५ साल है, रंग गोरा, मस्त फिगर जो किसी भी लंड को दीवाना कर दे, बड़े गोल चूचे और प्यारा सा चेहरा..

मेरी और नैना की अरेंज मैरिज लगभग १ साल पहले हुई थी, किसी भी और दूल्हे की तरह मैं भी अपने सुहागरात की चुदाई के सपने देख रहा था, और अपने लंड को उस रात के लिए तैयार कर रहा था.

कई बार तो मैंने उस रात के ख्याल में ही मुट्ठ मार दी थी, और बाकी सब चुदाई के इंतजाम कर लिए थे..

आख़िर वो रात आ ही गयी में बड़े ही जोश में अपने लंड को काबू करता अपने कमरे में दाखिल हुआ, मेरे बेड तक पहुंचा और नैना का घूंघट उठा कर जब मैंने उसका चेहरा देखा तो मैं पागल सा हो गया, और मेरा लंड बस कंट्रोल नहीं हो रहा था, इतना उछल रहा था. मैंने दूध पिया जो नैना ने मुझे दिया था.

फिर मैं एक जंगली भेडिये की तरह अपने शिकार नैना की तरफ बड़ा और उसका हाथ पकड़ लिया और उसे अपनी तरफ खींचने लगा और उसे अपने पास करने की कोशिश करने लगा, और थोड़ा किस करने लगा. पर वह मेरा साथ बिल्कुल नहीं दे रही थी, मैं रुका और उसके दोनों हाथ पकड़कर उसे पूछा कि क्या हुआ डर रही हो क्या तुम? पहली बार है तुम्हारा..

उस ने जवाब दिया कि नहीं और कहा कि आज वह सेक्स नहीं करना चाहती, वह पहले मुझे थोड़ा जानना चाहती है, उसने बड़े प्यार से कहा.. अंदर से तो मेरा मन कर रहा था कि मैं उसके सारे कपड़े उतार कर उससे चुदाई करू पर मैं उस पर जबरदस्ती नहीं कर सकता था.

तो मुझे मजबूरन मानना पड़ा और उसे सिक्योर और अच्छा फील करने के लिए सोफे पर जाकर सो गया, वह मेरे इस नेचर से काफी खुश हुई और कहा कि मैं खुश हूं कि आप मेरे पति है, और कहा कि उसकी फ्रेंड के पति ने तो उनकी बात नजरअंदाज करते हुए सुहागरात पर उनकी खूब ठुकाई की पर उसे वह बात पसंद नहीं आई.

मैं ऊपर से तो उसकी हां में हां मिला रहा था लेकिन अंदर से जो मुझे आग लगी थी और मेरा लंड फड़फड़ा रहा था वह मैं ही जानता हूं.. थोड़ी देर ऐसे ही लेटने के बाद मे  बाथरुम में जाकर अपने लंड को मुठ मार ली उसके बाद मुझे नींद आइ.

अगले दिन सुबह जब में उठा तो वह नहा धोकर तैयार थी, उसने एक लाल कलर की  साड़ी पहनी हुई थी, क्या मस्त लग रही थी? उसने बड़े प्यार से मुझे उठाया और गुड मॉर्निंग कहा.. फिर हमारी थोड़ी बातचीत हुई और फिर हम तैयार होकर अपने अपने काम में लग गए.

फिर अगले दिन हम दोनों मेरे ऑफिस वाले फ्लैट में आ गए घर से.. वहां हम दोनों अकेले थे. जल्दी ही हम एक दूसरे की कंपनी बहुत एंजॉय करने लगे, हम बहुत अच्छे दोस्त बन गए थे.

में तो सुबह निकल जाता और शाम को आता था वह पूरा दिन अकेली होती थी तो इसीलिए उसने एक स्कूल में टीचर की नौकरी ज्वाइन कर ली अब हम सुबह साथ निकल जाते और वह दोपहर को आ जाती और मैं शाम को.. सब बहुत अच्छे से चल रहा था.

बहुत सुंदर और स्वीट थी अब बस कमी थी तो चुदाई की और मुझे भी कंट्रोल नहीं हो पा रहा था, अब हमारी शादी को लगभग २ महीने हो गए थे और अब कुछ ना कुछ तो करना था, वह भी चुदाई के मामले में थोड़ा पीछे हट जाती थी.

फिर नैना का बर्थडे आ रहा था और हम रहते भी अलग घर में थे, उसके और मेरे घर वाले से तो मैंने डिसाइड किया कि यही मौका है उसे आई लव यू बोलने का.. और चूत में लंड डालने का..

उसका बर्थडे सैटरडे को था उसके स्कूल में हाफ दे था में और मेरी छुट्टी थी, मैंने सोच लिया था कि पूरा दिन उसे इंप्रेस करुंगा और रात को चुदाई  करेंगे..

मैंने सोचा कि सुबह गिफ्ट देकर घूमने चलेंगे और रात को म्यूजिक सिस्टम लगा कर और सब डेकोरेट करके प्रपोज और चुदाई.. में इतना एक्साइटेड हो गया कि मुझे एक बार वही मुठ मारनी पडडी..

फिर बर्थडे वाले दिन हम सुबह उठे वह एक पिंक कलर की साड़ी पहन कर तैयार हो गई थी.. क्या लग रही थी??  आज तो क्लास के लड़कों की पेंट टाइट हो जानी थी. थोड़ा डीप नेक ब्लाउज मस्त लग रही थी..

फिर वह स्कूल के लिए निकल गई और मैं बाकी तैयारियों में लग गया, मैंने एक रुम के बाहर से डेकोरेट किया और म्यूजिक लगाया रोमांटिक और बाहर से उसके लिए एक केप्री और शर्ट खरीद लाया और एक ज्वेलरी और साड़ी..

वह दोपहर तक आई और आते ही मैंने उसे सरप्राइज़ किया, २ अम्युजमेंट पार्क की टिकट से और उसे वह केफ्री और शर्ट दिया, क्या लग रही थी वह उन कपड़ों में.. उसके बूब्स मस्त बड़े बड़े लग रहे थे, मेरा तो मन कर रहा था कि अभी कूद जाऊं उस पर फिर हम बाहर गए और हमने खूब इंजॉय किया, हम हर जगह हाथ पकड़ कर घूम रहे थे.

फिर हम घर आये और मैंने उसे साड़ी गिफ्ट किया जो कि ब्लैक कलर की थी. फिर हम डिनर के लिए पास वाले रेस्टोरेंट में गए और वहां केक काटा. उसके बाद हमने वहां पर पहली बार लिप किस किया और उसने कहा यह है मेरा बेस्ट बर्थडे हे.

फिर हम घर आए वह बहुत थकी हुई जल्दी से अपने कपड़े बदलने लगी लेकिन मैंने उसे रोका और उसे रुम में लेकर उसके साथ डांस करना स्टार्ट कर दिया और सॉन्ग खत्म होने पर घुटनों पर बैठकर उसे आई लव यू कहा.. और उसने भी आई लव यू टू कहां..

फिर मैं उठा और हमने एक दूसरे को हग दिया और फिर किसिंग स्टार्ट कर दिया. इस बार मेरा पूरा साथ दे रही थी, मेरा लंड भी पुरा तन चुका था और वह भी गरम हो चुकी थी. फिर मैंने उसे कस के अपने लंड पर दबाया और उसकी गांड को दबाने लगा साड़ी पर से ही और किस भी चल रही थी.

थोड़ी देर के बाद मैंने उसका पल्लू गिरा दिया और गले को और क्लीवेज को किस करने लगा बड़े मजे से और वह मेरे पीठ पर हाथ फेर रही थी. फिर मैं धीरे-धीरे नीचे आकर उसके पेट पर किस करने लगा और उसकी नवल पर गुदगुदी करने लगा, बड़ा मजा आ रहा था वह मदहोश हो रही थी.

फिर मैं खड़ा हुआ और उसको पीठ के बल करके उसकी गांड में साड़ी के ऊपर से ही लंड दबाकर उसके बूबू से खेलने लगा और दबाने लगा, और उसकी गर्दन और बैक को बीच बीच में किस करने लगा, अब मैंने उसकी साड़ी का जो हिस्सा पेटीकोट के अंदर होता है उसे बाहर निकाला.. एकदम से नैना शरमा गई और घूमकर मुझे चिपट गई. मैंने उसे टाइट हग किया.

फिर वह अलग हो गयी और मेरी शर्ट उतारने लगी और मेरी शर्ट उतार दी, तो मैं पेंट में था और वह ब्लाउज पेटीकोट में.. मेरा लंड तो मानो पेंट फाड़ने को तैयार था.. फिर वह मुजे छाती पर किस और बाइट करने लगी.. बड़ा मजा आ रहा था.

फिर मैंने उसका ब्लाउज उतारना शुरु किया और अच्छे से एक एक हुक खोल रहा था और उसके बूब्स आजाद हो रहे थे, मेरा लंड और टाइट होता जा रहा था, फिर उसके बूब्स से पागलों की तरह खेलने लगा इतने बड़े-बड़े और मुलायम थे. मैंने उसका हाथ लेकर अपनी पेंट के उपर लंड पर रख दिया, उसका हाथ लगते ही मेरा लंड पागल हो गया..

फिर मैंने अपनी पेंट का हुक खोला और पैंटी नीचे गिरा दिया, मेरा लंड बंबू की तरह मेरी अंडरवेअर में खड़ा था. वह भी पागल हो गई थी, अब मैंने उसे उठाया और सोफे पर बैठा दिया और उसके पैरों को किस करने लगा, और पेटीकोट को ऊपर खीसका कर उसकी जांघों को मसलने और चूमने लगा..

अब हम दोनों पूरी तरह तैयार और गर्म हो चुके थे, मैंने उसके पेटीकोट का नाड़ा खोल के पेटीकोट नीचे कर दिया. अब वह ब्लैक बिकिनी में और में अंडर वियर में था.

फिर मैंने उसे उठाया और बेड पर ले गया और उसे लेटा कर उसके ऊपर आ गया और उसकी ब्रा उतार दी, और उसके बूब्स को एक-एक करके किस करने लगा और दबाने लगा.. क्या मजा आ रहा था.. फिर उसने मेरी अंडरवियर उतारी  और लंड पर टूट पड़ी, और मुझे हैंड जोब और ब्लोजॉब देने लगी. में बेड के किनारे बैठा था और वह मेरे लंड को मस्त चूस रही थी, वाह क्या मजा आ रहा था.

फिर १० मिनट के बाद में जड गया और मैंने अपना माल उसके मुंह पर ही गिरा दिया. अब मैंने उसे ऊपर लिया और उसकी पैंटी उतार कर उसकी चूत चाटने लगा और उंगली करने लगा, मैं उसकी चूत में उंगली करता जा रहा था और थोड़ी देर बाद वह जड़ गई अब हम दोनों नंगे एक दूसरे से चिपके हुए थे.

और हमारे लंड को चूत के तैयार होने का इंतजार कर रहे थे, थोड़ी देर बाद वह तैयार हो गई और फिर मैं ऊपर चढ़ गया और अपना लंड उसकी चूत में डालने लगा. वह बहुत चिल्ला रही थी, जिससे मेरा मजा डबल हो रहा था.

फिर मैंने आराम से अपने लंड को थोड़ा सा उसकी चूत में फसा दिया और झटके देकर घुसाने की कोशिश करने लगा, और वह बुरी तरह चिल्ला रही थी पर कह रही थी अंदर घुसाओ.. कुछ झटकों के बाद लंड अंदर घुस गया और हम हल्के हल्के झटके मार कर एक दूसरे को किस करते इंजॉय करने लगे.

हमे बड़ा मजा आ रहा था, फिर मैंने उसे अपने ऊपर बिठा लिया और वह झटके देने लगी और मैं उसके बूब्स से खेलने लगा, मुझे स्वर्ग जैसा अहसास हो रहा था..

फिर मैंने उसे लेटाया  और उसके ऊपर आ गया और झटके देने लगा, थोड़ी देर बाद हम दोनों जड़ने वाले थे, मैंने स्पीड बढ़ाई और वह चढ़ गई फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाला और अपना सारा माल उसके पेट पर खाली कर दिया. फिर साफ करने के बाद हम ऐसे ही सो गए. एक दूसरे से चिपक के और सुबह फिर सेक्स किया..