चूत के बदले जॉब

loading...

हेलो दोस्तों यह मेरी पहली इंडियन माँ बेटे की सेक्स कहानी है, जिसे मैं आप सबके सामने पेश कर रहा हूं. यह बात आज से ५ साल पहले की है और यह बात मेरे दिल पर एक भारी वजन की तरह है, इसलिए सोचा मैं आप सब से अपने दिल की यह बात  शेयर करु, ताकि मेरा दिल थोड़ा हल्का हो जाए.

यह कहानी मेरी मां की चुदाई की है जो हर कोई लड़का शायद ना बता पाए. पर मेरे सामने मेरी मां पिछले ५  सालों से चुदती आ रही है, तो दोस्तों चलिए अब मैं आपको अपनी कहानी बताता हूं.

loading...

मेरे घर में मैं और मेरी मम्मी रहते हैं, मेरे पापा हम दोनों को बचपन में ही छोड़ कर इस दुनिया से जा चुके थे. अब घर चलाने के लिए मम्मी जॉब करती थी, पहले तो वह ऐसे ही छोटी मोटी जॉब करती थी, जिसकी वजह से आसानी से मेरी १२ की पढ़ाई हो गई पर अब मैं कॉलेज में जाने लग गया था इसलिए मम्मी की थोड़ी सी सैलरी में अब कुछ नहीं होता था, इसलिए उन्होंने एक बड़ी मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करना शुरू कर दिया.

loading...

और कहते हैं ना बड़ी कंपनी बड़े काम, यह बात मेरी मां के साथ ही हो रही थी, और दिन-रात अपने ऑफिस के काम में लगी रहती थी, पर पैसों के मामले में अब हमारा हाल बिल्कुल ठीक हो गया था पर मम्मी आराम नहीं करती थी, लगातार काम ही काम करती रहती थी. मेरा कॉलेज का एक साल भी ऐसे ही निकल गया, और फिर अचानक मम्मी की तबीयत खराब रहने लगी.

दोस्तों मुझे माफ करना मैंने अभी तक आपको अपनी मां के बारे में कुछ नहीं बताया. उनका नाम सुषमा है उनकी उमर उस टाइम ३२ साल की थी और वह ज्यादा तर साड़ी और काफी डीप गले का ब्लाउज पहनना पसंद करती थी, मेरी मां दिखने में बहुत सेक्सी है, हमारे आसपास के सब अंकल और जवान लड़के मेरी मां के सपने देख कर मुठ मारते थे.

अब आप मेरी मां के बारे में भी जान चुके हैं इसलिए मैं वापस अपनी कहानी पर आता हूं. मेरी मम्मी को करीब १ महीने की ऑफिस से हॉलिडे लेनी पड़ी, जिसकी वजह से मम्मी को जॉब से निकाल दिया गया. मम्मी अब अब फिर से टेंशन में आ गई क्योंकि अब उन्हें फिर से काम कम पैसों वाली जॉब चालू करनी पड़ेगी.

मेरे मम्मी के बॉस राकेश जो कि मम्मी से करीब ८ साल बड़े होंगे, पर वह दिखने में बड़े हैंडसम थे. एक दिन में कॉलेज से जल्दी आ गया और सोचा कि आज घर जाकर मम्मी की हेल्प कर दूंगा, मैं जैसे ही घर के बाहर आया तो देखा कि राकेश अंकल यानी मेरी मम्मी के बॉस की कार हमारे घर के सामने खड़ी थी.

मैं समझ गया कि शायद आज मम्मी फिर से अपनी पुरानी वाली जॉब करने लग जाएगी.. मैं चुपके से घर के अंदर गया तो मुझे मम्मी के बेडरूम उसमें से उन दोनों की बातों की आवाज़ आ रही थी. मैं चुपके से मम्मी के रूम की विंडो के पास गया और उन दोनों को चुपके से दिखने लगा, मैंने देखा कि मम्मी बॉस के सामने अपने दोनों हाथ जोड़कर उन से रिक्वेस्ट कर रही थी की उन्हें अपनी जॉब वापिस दे दो.

राकेश ने कहा – सुषमा तुम मेरे ऑफिस की सबसे अच्छी एम्प्लोई हो पर मैं कंपनी के रुल्स में फंसा हूं, पर एक रास्ता है जिसे तुम फिर से अपनी पहले वाली जॉब तो आसानी से पा सकती हो और पहले से ज्यादा एक्स्ट्रा इनकम भी कमा सकती हो. यह बात सुनकर मम्मी के चेहरे पर खुशी आ गई और जट से बोली, बोलिए सर वह कौन सा रास्ता है?

बॉस ने कहा – देख लो तुम इसके लिए तैयार हो पर वह रास्ता इतना भी आसान नहीं है

मम्मी बोली – सर आप बताओ, बस मैं कुछ भी करने के लिए तैयार हूं.

राकेश ने कहा – सुषमा तुम्हें अपनी पहली वाली जॉब को पाने के लिए पहले मुझे खुश करना होगा अपना जिस्म मुझे देकर और एक्स्ट्रा इनकम के लिए तुम्हें हमारी कंपनी के लिए नये क्लाइंट को भी खुश करना होगा, तभी वह हमेशा हमारी कंपनी के साथ ही जुड़े रहे.

मम्मी ने जैसे ही उनकी बात सुनी तो वह एकदम शोक में आ गई और बोली, नहीं सर ऐसा तो नहीं हो सकता, सॉरी.

राकेश ने कहा – देख लो आगे तुम्हारी मर्जी. यह देखो मैं तुम्हारे लिए २५००० का चेक लेकर आया था, बस इस पर तुम्हारा नाम लिखना है.

कुछ देर सोचने के बाद मम्मी मान गई और फिर क्या था, राकेश एकदम खड़ा हुआ और अपने सारे कपड़े उतार कर मम्मी के कपड़े उतारने लगा. उसने एक मिनट में ही मम्मी को पूरा नंगा कर दिया और उनका लंड करीब ८ इंच का होगा. उन्होंने मम्मी को नीचे फरश पर लेटाया, अपना लंड मम्मी के मुंह में डालकर उनके मुंह को चूत की तरह चोदने लगा, मम्मी को ८ इंच का लंड लेने में काफी तकलीफ हो रही थी, पर राकेश पुरी जबरदस्ती से उनके मुंह को चोदने में लगा हुआ था.

करीब १० मिनट मम्मी के मुह को चोदने के बाद उन्होंने मम्मी के फेस पर अपना सारा पानी निकाल दिया और फिर उसी पानी को अपने लंड पर लगाकर मम्मी को अच्छे से चटवा चटवा कर साफ करवाया.

उसके बाद मम्मी को घोड़ी बना दिया और पीछे से मम्मी की चूत पर लंड सेट करके मम्मी को जोर शोर से चोदने लगा मेरी मम्मी बहुत जोर जोर से चिल्ला रही थी पर राकेश पर इसका कोई असर नहीं हो रहा था. अब यह सब देख कर मेरा लंड भी बुरी तरह से खड़ा हो गया था मैं भी बाहर खड़े रह कर मुठ मारने लगा.

मम्मी की चूत में से खून निकल रहा था क्योंकि आज मम्मी ने ना जाने कितने टाइम के बाद अपनी चूत में एक लंड लिया था, मम्मी की चूत को चोदने के बाद अब उन्होंने अपना लंड मम्मी की गांड पर रख लिया.

मम्मी तभी बोली – सर प्लीज यह कभी नहीं किया. आज मैंने अपने पति के बाद आपका लंड लिया है. प्लीज आज तक उन्होंने मेरी गांड नहीं मारी, प्लीज आप मेरी गांड फिर कभी मार लेना, मेरा बेटा आने वाला होगा.

राकेश ने कहा – बस मेरी जान २ मिनट की बात है कुछ नहीं होता वैसे भी बस मेरा होने ही वाला है.

यह कहते कि राकेश ने मम्मी की गांड पर बहुत सारा थूक लगाया और एक झटके के साथ लंड मम्मी की गांड में डाल दिया, मम्मी बहुत जोर से चिल्लाई पर राकेश ने मम्मी को बहुत जोर से पकड़ा हुआ था और जोर-जोर से मम्मी की गांड को चोदने लगा. करीब ५ मिनट बाद राकेश ने अपने लंड का सारा पानी मां की गांड में निकाल दीया, मम्मी बेड पर एकदम बेहोशी की हालत में लेट गई.

फिर राकेश ने चेक पर साइन किया और मम्मी के मोटे मोटे चूतडो में चेक की गोल बनाकर वहां फसा गया. फिर उसने अपने कपड़े डाले और कहा तुम कल या परसों से ऑफिस आ सकती हो.

फिर वह घर से चला गया, में भी बाहर चला गया ताकि मम्मी थोड़ा रेस्ट कर सकें, फिर अगले दिन मम्मी ने मुझे ३००० रूपये दिया और कहा और मेरी जॉब फिर से लग गई है, मुझे सब पता था कि यह जॉब कैसी लगी है, पर अगर मम्मी खुश है तो मैं भी खुश हूं.

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age