कलिग को चोदा

हाय दोस्तों मेरा नाम अंकित उपाध्याय हे और में मुंबई में जॉब करता हूँ. दोस्तों मेरी फेमिली में मेरी माँ हे मेरी पत्नी सुष्मा हे और एक छोटा बेटा रवि हे. दोस्तों पहले तो मेरी और मेरी वाइफ की जिंदगी को प्रोब्लामे नहीं था लेकिन मेरा बेटा जब ५ साल का हुआ उसके बाद मेरी वाइफ ने जॉब सुरु करदी उसकेबाद वो मेरी तरफ जरा भी ध्यान नहीं देती.

दोस्तों जब भी में उसके पास जाने की कोशिस करता हूँ वो बस मेरे बेटे के अच्छे भविष्य का वास्ता दे कर मुझे लौटा देती हे में उसे बहुत समजा ने की कोशिस करता हूँ लेकिन पता नही वो क्यू नहीं मानती अब तो में भी थक गया हूँ उसे मेने अपने में ही रहने को छोड़ दिया लेकिन मेरी सेक्स की इच्छाओं का क्या तो दोस्तों उसके लिए मेरे साथ ही मेरी एक कलिग हे जिसका नाम जाह्नवी हे और वो भी मेरे जेसे ही प्रोब्लम की शिकार हे तो एक दिन हम दोनों ने अपने अपने बारे में जाना तब से हम दोनों को एक दुसरे से ज्यादा लगाव हो गया और हम दोनों साथ में ही वक्त निकाल ने लगे में जॉब और घर से ज्यादा उसके साथ ही होता था.

ना मुझे कोई पूछने वाला था ना उसे कोई रोक ने टोक ने वाला था. तो दोस्तों चलो में अपनी असल बात पर आता हूँ. एक दिन हम दोनों मेरे एक दोस्त के फार्म हाउस पे गए थे जहा हम दोनों के सिवा कोई नहीं था पहला आधा घंटा तो इधर उधर की बातो में निकाल दीया लेकिन फिर मेने ही उससे सेक्स की बात छेदी वो थोड़ी शर्मा रही थी तो मुजको ही पहेल करनी पड़ी.

दोस्तों जेसे ही मेने उससे सेक्स करनी इच्छा जताई उसने नजरे झुकाकर हां में गर्दन हिलाई और हम दोनों दरवाजा बंद करके अन्दर चले गए. अन्दर जाते ही वो तो बड़ी बेशर्म हो गयी हम दोनों ने शर्त रख्खी की जो पहले कपडे निकालेगा वो उपर रहेगा तो दोस्तों उसने इतने जल्दी कपडे निकाल दिए की वो मुझसे शर्त जित गयी.

अब में निचे जमीन पर लेता था और वो अपनी चूत को जमाए मेरे लंड पर बेथ गयी और मेने उसके गोर गोर बूब्स को अपने हाथो में बड़ी ताक़त से झकड़ लिया चुदवाने के लिए वो रेडी हो चुकी थी क्यू की दोस्तों उसकी चूत में से पानी झड रहा था और उसके बूब्स भी एक दम टाइट हो गए थे जोप दबाने में मुझे बहुत मजा आ रहा था.

अब वो निचे झुकी और अपने बूब्स को मेरे मुह में दिया और बोली चूस इसे और चूस चूस कर बाईट कर कर के इसे लाल बना दे में बड़े स्वाद से उसके बूब्स सने लगा फिर तो मेने उससे शर्त तोड़ दी और उसे ऊपर से निचे लिटा दिया और उसकी प्यारी प्यारी चूत को चाटने लगा.

उसकी चूत से आती स्मेल मुझे मदहोश बना रहि थी वो भी नागिन के जेसे इधर से उधर करवट ले रही थी और में उसकी चूत में और घेहराई में चूस रहा था मेरी जिब उंदर तक घुसा चूका था दोस्तों क्या मजा आ रहा था. वो भी मदहोश पड़ी मजे लूट रही थी.

यारो उसकी चूत को मेने एक घंटा तक चूसा और चूस चूस कर लाल लाल टमाटर जेसे बना दिया अब मेने उसके दोनों पेरो को फेला कर उसे ओदा कर दिया और अपने ८ इंच के लम्बे लंड को उसकी चूत में घुसा दिया. या रो अब में झोर झोर से झटके लगाने लगा वो भी अपनी कमर हिलाने लगी २ घंटे तक हम चोदै करते रहे.

अब वो कहने लगी यार झोर झोर से झटके लगाओ और भी मजा आए. में भी यही करने वाला था और वो बोली तो फिर देर किस बात की मेने पूरी ताकात से उसकी चूत में लंड से झटके लगाए वो दर्द में तड़प तड़प कर मजे ले रही थी.

अब तो वो भी झोर झोर से झटके लगाने लगी दोस्तों मेने उसे इतना चोदा की चोद चोद कर उसकी चूत को मेने फुला दिया दोस्तों उसकी चूत को भोसदा बना दिया.अब तो पहले से और भी ज्यादा सेक्सी सेक्सी लग रही थी दोस्तों मुझे तो उसकी चूत में से लंड निकाल ने का मन ही इ होता था.

हम दोनों के मुह से अब तो सेक्सी सेक्सी आवाज़े आआअह्हह्हह्हऊऊफ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्   आआऔऊउआआअआआआआह्ह्हजेसे निकल रही थी सेक्सी आवाज भी बड़ा मजा देती हे चुदाई करने में . अब तो हमें चुदाई करते करते पुरे चार घंटे गुजर गए थे हम दोनों सेक्स में मग्न थे दोनों में से का भी मन नहीं था की एक दुसरे से अलग हो बहुत वक्त के बाद ये मजा मिला था.

दोस्तों झोर झोर से चुदाई करते करते में उसकी चूत में ही झड गया. ये अनुभव हमें इतना मजा दे गया की अब हमें इसका नशा हो गया हम दोनों केसे भी करके वक्त निकाल लेते हे और सेक्सी सेक्सी मजेदार सेक्स करते हे और खुस रहते हे. दोस्तों हमारी दूसरी भी स्टोरीज हे जो में आपको बारी बारी बताऊंगा मुझे आशा हे आप को हमारी स्टोरीज पसंद आएगी.