कोलेज के सेक्सी माल को चोदा

loading...

हेलो दोस्तो, मैं हूं राजीव एक कहानी लेकर आया हूं, मैं बेंगलुरु में काम करता हूं और दिल्ली का रहने वाला हूं.. यह स्टोरी मेरे कॉलेज के दिनों की है, जब मैं दूसरे साल में था. तब हमारी जूनियर में एक लड़की आई उसका नाम था मिली.. दीखने में क्यूट सी, हाइट फुट इंच होगी बड़े बोबे और मस्त कर्वी फिगर.. और जब चलती थी तो गांड की क्या बात करूं.. लंड खड़ा कर देती थी.

पहली बार देखते ही फिदा हो गया था मन करता था पकड़कर चोद दू. फिर सोचा जब चोदना है तो उसे भी थोड़ा तड़पा-तड़पा कर चोदा जाए, सोचा क्यों ना उसके बारे में पता किया जाए और पता करते करते फेसबुक पर रिक्वेस्ट भेज दी और उसने एक्सेप्ट भी कर ली..

loading...

फिर क्या था फ्लर्ट करना, लाइन मारना शुरू कर दिया. वह भी बड़ी चालु चीज़ थी, खुद ही लाइन दे रही थी. मैंने भी मौके पर चौका मार दिया और बोला आई लाइक यू, और उसने भी मैसेज कीया कि वह भी मुझे लाइक करती है, और उसने बताया उसका बॉयफ्रेंड है और वह मुंबई में रहता है. और उसने बताया बहुत महीने हो गए उसे मिली भी नहीं है, और मैंने बोल दिया फिर तो तुमने कुछ इंजॉय भी नहीं किया होगा? तो उसने बोला ऐसी कोई बात नहीं है..

loading...

फिर क्या था उस रात हमने काफी बात किया और अगले दिन हम लाइब्रेरी में मिले और साथ-साथ काफी बातें की और उसने कहा आप बहुत अच्छे हो, काश मेरा बॉयफ्रेंड भी यही होता, मैंने कहा तो उसको चिट कर लो और वह हंस पड़ी ऐसे ही हमारी बातें होती रही. फिर वह रात आई जिसका इंतजार था.. फ्रेशर्स नाइट.. उस रात क्या कयामत ढा रही थी ब्लैक साड़ी? उसमें उसकी नवल साफ दिख रही थी और उसके साड़ी की ब्लाउज से उसके साइड बूब्स और ऊपर से उसके क्लीवेज.. वाहहह पूरी अप्सरा लग रही थी.

मैं मौका देख उसके पीछे आ गया और उसको पीछे से टच करके अपना खड़ा लंड उसकी गांड में चुभाने लगा और उसको भी यह पता था और वह खुद अपनी गांड ऊपर नीचे करके मेरा बुरा हाल करने लगी, मौका देख के मैं उसे कॉलेज के राइट विंग के टॉप फ्लोर के वॉशरूम में ले गया, उस टाइम तो बस दोनों प्यार से एक-दूसरे को हवस की नजरों से देख रहे थे, उसने पागलों की तरह मुझे दीवार पर चिपका दिया और किस करने लगी, मेरे होठों को चूसने लगी और मैं उसकी साड़ी का पल्लू हटाकर उसके बोबे को दबाने लगा.

उस को घुमा कर पीछे से हग करके उसके बूब्स को मसलने लगा और वह अपने होठों पर किस करते हुए अपनी गांड को मेरे लंड पर चुभाने लगी, फिर मैंने उसके बूब्स को उसके स्लीवलेस ब्लाउज से निकालकर मसलते हुए उसके निप्पल को उंगली से नीचोड़ने लगा और साथ साथ उसकी नेक पर अपने जीभ से लीक करने लगा, फिर सामने लगे मिरर में उसकी आंखों की हवस साफ साफ दिखाई दे रही थी, अब बस उसको और तड़पाना चाहता था, कि वह पूरे कॉलेज में मेरी रांड बने फिर क्या था?

दूसरे हाथ से मैंने उसके पेटीकोट में हाथ डाल कर उसकी चिकनी चूत को रगड़ने लगा और तब पता चला वह अभी तक वह वर्जिन थी, फिर तो मैंने उसके कानों में कहा आज की रात तुम्हारी नयी रात है, इसको सेलिब्रेट करेंगे हर महीने की इस डेट को और उसने कहा राजीव जिंदगी पर तुम्हारी बन जाऊंगी.. आज अब तड़पाओ मत.. चोद डालो.. रांड बना लो अपनी.. उसकी ऐसी लैंग्वेज सुन मुझे भी जोश आ गया.

फिर उसके बाल पकड़ उसको घुमाकर और गोद में उठा कर सामने मिरर कि स्लेब पर बिठाकर उसके दूध को चूसने लगा और साथ साथ उसकी चूत को उंगली से चोदने लगा.. मैं नीचे जाकर उसके पेटीकोट को उतार कर उसकी जांघो को किस कर के उसकी टांगे खोल उसकी चूत को चाटने लगा और वह मेरा सर उसमें घुसा कर मचलने लगी..

और मुझे जकड़ने लगी और उसका सारा माल निकल गया, फिर उसने कहा राजीव गांड पर जो लंड घीस रहे थे मुझे मुंह में लेना है, उसने पागल बना दिया मुझे.. फिर क्या था वह घुटनों पर आई और मेरी पैंट जैसे ही खोली 8  इंच का लंबा लंड उसकी आंखों के सामने आ गया और वह उस पर भूखी शेरनी की तरह टूट पड़ी और मेरे लंड को हाथों में लेकर ऊपर नीचे करते हुए लंड को मुंह में लेने लगी, और मैं भी जोश में आकर उसके बाल पकड़कर उसको मुंह में चोदने लगा.

फिर वह मेरे बोल्स को चूसने लगी और मैं अब पागल सा हो गया था, फिर मैंने पीछे से उसकी चूत में लंड खड़ा करने लगा और उस को तड़पाने लगा, अब वह तड़पने लगी और कहने लगी चोद डालो मेरी चूत को.. फाड़ डालो.. आज पूरी रांड बना दो अपनी..

फिर मैंने एक जोर का धक्का मारा तो उसकी चूत में से ब्लड निकलने लगा और ऐसे ही धीरे-धीरे धक्के देता रहा, फिर क्या था.. उसको भी जोश आ गया, और गांड उठा उठा कर लंड लेने लगी, और मैंने उसकी कमर पकड़कर उस को कुत्ते की तरह चोद चोद के उसके बालों को खींच रांड की तरह चोदने लगा, और सामने मिरर में उस को चोदते हुए उसके चेहरे को देख उस पर बिल्कुल रहम नहीं आ रहा था, और उसकी गांड को थप्पड़ मार मार को उसको चोदे जा रहा था, और उस रात को फिर हमें वहीं रुकना पड़ा क्योंकि बाहर सब मुझे ढूंढ रहे थे और उसके रूममेट उसे भी ढूंढ रहे थे, तो यह थी कॉलेज में मेरी पहली चुदाई.. उसके बाद क्या हुआ कैसे मैंने उसको और उसकी रूममेट कि चुदाई की वह अगली स्टोरी में बताऊंगा..

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age