कजिन की बीवी की चुदाई

हेलो दोस्तों मेरा नाम अली है. और यह मेरी दूसरी स्टोरी है मेरी पहली स्टोरी आप लोगों को बहुत अच्छी लगी तो मैं आज अपनी दूसरी स्टोरी लिख रहा हूं. यह मेरे साथ 2 दिन पहले हुआ और यह मैं आपके सामने पेश कर रहा हूं..

अब मैं आपको ज्यादा बोर नहीं करूंगा और सीधा स्टोरी पर आता हूं. जैसे की आप सबको मालूम है मेरी उम्र 26 साल है. और मेरी कजिन की बीवी उसका नाम शाहीना है और उसकी उमर 22 साल की है. उसकी शादी 19 साल की उम्र में ही हो चुकी थी. मेरा कजिन मस्कत में रहता है. शादी के ठीक 2 महीने बाद वह मस्कत काम के लिए जा चुका था और उसकी बीवी यहाँ पर रह गयी थी.

मैं पिछले 2 हफ्ते पहले मेरे एक रिश्तेदार की शादी में गया था और वहां शाहीन भी  थी. मेरा उस से उठना बैठना नहीं था तो मैरे कजिन की मां ने मुझे उसके बहु से मिलवाया फिर हम बातें करने लगे. फिर हमने एक दूसरे के नंबर भी ले लिए. मैं पहले से ही एक एसकोर्ट का काम करता था तो मुझे भी खुशी हुई कि मैं भी एक बार मेरी कजिन की बीवी को चोदने  की कोशिश कर लू.

उसी दिन रात को मैंने उसे एक टेक्स्ट मैसेज किया

मैंने लिखा :  हाय भाभी..

भाभी ने मुझे लिखा : हेलो अली मुझे तुम भाभी कह कर मत बुलाओ.. मुझे तुम सिर्फ शाहीन कह कर बुला सकते हो.

मैंने कहा : ओके आप अभी क्या कर रही हो?

उसने कहा : तेरे कजिन के की कॉल का वेट कर रही हूं.

मैंने कहा  : आपको नींद नहीं  आती हे क्या उसके बिना?

मैंने बिना सोचे समझे अपनी पहली चाल चल दी, ताकि मुझे मालूम पड़े की वह भूखी है कि नहीं. अगर वह भूखी होगी तो मुझे कुछ अच्छा रिप्ले करेगी नहीं तो मुझे इग्नोर कर देगी.

और उसने थोड़ी देर में मुझे सीधा मैसेज किया

उसने कहा : मुझे नींद तो नहीं आती है क्या करें अब आदत सी हो चुकी है.

मैंने कहा :  भाई तो आपका अच्छे से ख्याल रखते हैं ना?

उसने कहा : ख़याल तो रखते हैं फिर भी….

फिर भी सुनते ही मैं ठान लिया है अपनी की यह अपने काम की लड़की हे.

मैंने भाभी से पूछा : फिर भी क्या भाभी?

उसने कहा : तुम छोड़ दो वह बातें.

मैंने कहा : नहीं तुम मुझे बोलो ना.

उसने कहा : नहीं तुम नहीं समझोगे..  अभी तो तेरी शादी भी नहीं हुई है ना.

मैंने कहा : शादी नहीं हुई हे इसका मतलब यह नहीं हे की मैं बच्चा हूं.

उसने कहा : फिर भी मैं तुमसे कैसे कहूं?

मैंने कहा : मुझे अपना दोस्त समझो और जो बात तुम्हारे मन में हे वह कहो.

उसने कहां : मुझे अच्छा नहीं लग रहा है, में नहीं बता सकती हु.

मैंने कहा : कुछ नहीं होगा मैं किसी से कुछ भी नहीं कहूंगा.

शाहीन ने कहा : शादी के 2 महीने बाद वह बाहर चले गए. बाद में 1 साल के बाद वह घर पर आये. और फिर वापस चले गए अब 2 साल हो चुके हे और उनके आने का कुछ अतापता नहीं हे अब मुझे उनकी बहुत याद आती है.

मैंने एकदम मासूम बच्चे की तरह उनसे पूछा.

मैने कहा : उसमें क्या है वह आप को रोज रोज फोन तो करते हैं ना? वह आप को भूल तो नहीं गये हे ना?

तो शाहीन ने कहा : हां, वह मुझे फोन तो करते हैं पर अगर वह साथ होते हो तो अच्छा था ना.

यह बात सुनते ही मैं समझ गया कि वह बहुत भूखी है मुझे कुछ ज्यादा इंतजार करना नहीं होगा और वह तो मुझे एक दिन में ही पटने वाली है.

मैंने कहा : आप इतनी सुंदर हो फिर भी आपको इधर अकेला छोड़ कर विदेश क्यों चले गए

शाहीन ने कहा :  क्या मतलब?

मैंने कहा : अगर मैं उनकी जगह होता तो मैं आपको में कभी अकेले रहने नहीं देता. और हमेशा आप के पास ही रहता और अगर कही जाता तो आप को साथ में लेकर जाता. नहीं तो में भी कही परदेस जाकर नोकरी नहीं करता मेरे कजिन की तरह. मेरे लिए पैसे से ज्यादा जरुरी मेरी पत्नी का प्यार हे.

शाहीन ने कहा :  अब क्या है जो हुआ सो हुआ उसे बदल नहीं सकते हे.

मैंने कहा : बदल नहीं सकते फिर भी में आपको खुश देखना चाहता हूं.

शाहीन ने कहा :  की  वह कैसे हो सकता हे?

मैंने सीधा बोल दिया की अब बोल ही देता हु जो होगा देखा जाएगा बोल कर

मैंने कहा : आप कहे तो मैं आपके लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हूं.

उसके बाद उसका कोई रिप्लाई नहीं आया. मैंने आधा घंटा इंतजार किया फिर भी कुछ मेसेज नहीं आया.

अब मैं घबरा गया कि वह अपने पति को इस के बारे में कुछ कह तो नहीं देगी ना और उसने बता दिया तो यह बात मेरी फैमिली तक पहुंच जाएगी  और फिर मेरी तो खेर नहीं मुझे सब लोग मरेंगे दाटेंगे और यह सब बाते सोच कर मुझे रात भर नींद भी नहीं आ रही थी. और फिर थोड़ी देर सोच सोच कर मैने कहा की अब जो होगा देखा जायेगा. ऐसे सोचने से कुछ भी नहीं हो सकता हे. और फिर मुझे कब नींद आ गयी मुझे कुछ भी पता नही चला.

एक दिन वैसे ही बीत गया और में उसके मेसेज का बहोत जोर से इंतजार कर रहा था. दूसरे दिन शाम को मुझे एक मैसेज आया शाहिन  का

शाहिद ने कहा : अरे अली तुम कहां हो?

मुझे ३० मिनिट में मोल में आके मिलो.

मुझे कुछ समज नहीं आ रहा था की अब क्या होने वाला हे और उसने मुझे मोल में क्यों बुलाया हे. में एक तरफ से बहोत घबरा गया था लेकिन फिर भी मैने हिम्मत की और उसे मिलने के लिए मोल की तरफ निकल गया.

मेरा इंतजार वह एक कॉफी शॉप में मेरा इंतजार कर रही थी मैंने आजू बाजू देखा कोई पहचान वाले नजर नहीं आ रहे थे. में सीधा जाकर उसके सामने वाली सीट पर बैठ गया

मैंने कहा : हाय भाभी

शाहिन ने कहा : हेलो.

मैंने कहा : क्या हुआ मुझे आप ने यहाँ पर क्यों बुलाया हे?

शाहिन ने कहा : तुम क्या चाहते हो मेरे से?

मैं घबरा गया मेरे मुंह से कुछ भी निकल नहीं रहा था.

शाहिन ने कहा : तुम मुज से जरा भी डरो मत और जो तुम्हारे दिल में हे वह मुझे बता दो.

मैंने कहा : आप बहुत सेक्सी हो.

शाहिन ने कहा : बस इतना ही?

मैं खुश हो गया कि वह अब मुझ से पट चुकी थी.

मैंने कहा :  नहीं, और आप दुनिया की सबसे सेक्सी लड़की है.

शाहिन ने कहा : अब बस कर ज्यादा मस्का मत डाल.

फिर मैंने सब कुछ उससे कहा कि उसके रिप्लाई ना आने पर मेरी हालत खराब हो गई थी तो उसने भी कहा कि मैं तुम्हारे सवाल से सोच में पड़ गई थी कि क्या जवाब दूं, इसलिए मैंने कुछ रिप्लाई नहीं दिया और सीधा मॉल में बुला लिया. में जानना चाहती थी की तुम मेरी मजा ले रहे हो के सच में कुछ कहना चाहते हो और मेरी मदत भी करना चाहते हो. क्योंकि सिर्फ बोल कर चले जाने वाले बहोत लोग होते हे. और मुझे तुम पर भरोसा था की तुम सच में मेरी मदत करना चाहते हो.

फिर हम लोगों ने मॉल में घूमते घूमते लिफ्ट में जाते समय किस कीया और मैने उसके बूब्स को भी दबाया. और उसने मुझे कहा की मौका मिलते ही मुझे कॉल करेगी तू आ जाना. यह बोल कर वह उसके घर पर चली गई. उसके बाद हमारा फोरप्ले चालू था स्कयप में पर हम लोगो को मौका नहीं मिल रहा था मिलने का.

शनिवार के दिन शाम को मुझे उसने कॉल किया और बताया कि उसकी सास  पड़ोसी की शादी को जाने वाली है और वह कुछ रिजन कर के घर में रह जाएगी ताकि हम दोनों मजे कर सकें. मैं बहुत खुश हुआ उसके याद करते रात को जल्दी सो गया ताकि सुबह जल्दी उठ सकूं.

सुबह ८ बजे उठकर तैयार होकर अपनी बाइक लेकर उसके घर से १ किलोमीटर पहले जा कर रुक चुका था. जैसे उसकी सास घर से निकली करीब ११ बजे उसका कॉल आया.

शाहिन ने कहा : जानू जल्दी से आ जाओ.

मैं वहां गया और मैंने दरवाजे की बेल मारी उसने एक दरवाजा खोला. वह बहुत हॉट दिख रही थी उसने ब्लैक कलर की नाइटी पहन रखी थी जैसे ही हम अंदर गए मैं उसे पागलों की तरह चूमने लगा वह भी मुझे रिस्पॉन्स दे रही थी.

१० मिनट किस के बाद हम  दोनों ने अपने कपड़े फेंक दिए और हम दोनों बिल्कुल नंगे थे.

मैं उसके बूब्स देख कर एक हाथ से उसे दबाने लगा और एक हाथ उसके चूत पर रगड़ने लगा और एक बूब्स को चाटने लगा.

वह बहुत उत्तेजित हो रही थी और मेरे लंड को जोर जोर से हिला रही थी तकरीबन 5 मिनट के बाद दोनों झड़ गए.

उसके बाद हम ने 69 पोजीशन में आ के बहुत अच्छे से मजे लिए.

उसके बाद हम ने बहोत अच्छे से चुदाई की मजा ली.

हम दोनों बहुत खुश हो चुके थे दोनों की प्यास बुझ गई थी.

उस दिन हमने चार बार  सेक्स किया फिर जल्दी जल्दी दोनों नहा कर रेडी हुए. करीबन २ बजे मैं वहां से निकल गया ताकि उसकी सास आकर हमे साथ में देख ना ले.