दिल्ली की हॉट लड़की को शराब पिला के फुल नाईट चोदा

loading...

ये सेक्स की कहानी 2016 के गर्मियों की है और ये सब दिल्ली में हुआ था. मेरा अनकरीब ब्रेकअप हुआ था और मैं किसी नयी औरत की तलाश में था. मैं दोस्तों के साथ क्लब में पार्टिस के लिए जाता था ताकि मैं किसी औरत को पटा सकूँ. और एक दिन मुझे एक हॉट लड़की की भेट हो गई. उसकी उम्र करीब 18 साल की थी और उसके अन्दर जबरदस्त एनर्जी थी. मेरी एज तब 23 साल की थी.

मैं एक लम्बा आदमी हूँ और मेरी बॉडी अथ्लेटिक है. उसकी हाईट करीब 5 फिट की थी और वो दिखने में थोड़ी सी डार्क थी. उसके लम्बे बाल कमर के निचे तक जाते थे और उसका चहरा एकदम मासूम सा था. उसका फिगर एकदम करारा सेक्स था करीब 32 28 34 जितना. और जब मैंने उसे फर्स्ट टाइम देखा अपने सेक्सी बालों को हिला हिला के नाचते हुए तभी से मेरा दील उसके ऊपर आ गया था.

loading...

वो नंगे पांव ही अपने दोस्तों के साथ डांस कर रही थी. और और उसके मांसल लेग्स ने भी मेरा दिल हिला के रख दिया था. उसने टॉप और शोर्ट पहना हुआ था. मैंने पी हुई थी और मैं उसको एकदम घुर के नाचते हुए देख रहा था. और फिर मैं उसके पास जा के खुद भी नाचने लगा ताकि मेरे को उसे टच करने का और करीब से देखने का मौका मिले.

loading...

ऑलमोस्ट एक घंटा हो चूका था. मैं एकदम जोश में था और नाच रहा था उसके एकदम करीब में ही. फिर मैं और मेरे दोस्त बहार सिगरेट के लिए गए और वो भी अपने दोस्तों के साथ बहार आई. उसने मेरे पास आ के सिगरेट मांगी. मेरे पास पूरा पेकेट था. मैंने कहा एक किस करने दो फिर सिगरेट देता हूँ! मेरे अकेले के पास ही सिगरेट थी!

वो करीब 10 सेकंड तक एकदम चुप सी रही और फीर वो चलते हुए मेरे पास आ गई और मेरी लाइफ की सब से हसीन किस उसने मेरे को दे दी. आज भी उस किस के बारे में सोचता हूँ तो मेरा लंड एकदम से खड़ा हो जाता है. वो अपनी एडियों पर खड़ी हुई थी और मेरे बालों को पकड के मुझे निचे खिंच के मेरे लिप्स के ऊपर अपने लिप्स को घिस रही थी. वो जोर जोर से मेरे होंठो को चूस रही थी. मैंने उसे कमर से पकड लिया और उसकी गांड को दबा के जोर जोर से उसके होंठो को चूसने लगा. पता नहीं हम दोनों ने कितने समय तक एक दुसरे को किस किया लेकिन जब उसने किस को तोडा तो मेरे और उसके दोस्त सभी तालियाँ बजा रहे थे.

मैंने उसके लिए एक सिगरेट निकाली और सुलगा भी दी. और फिर वो अपने दोस्तों के साथ चली गई ज्यादा पिने के लिए. मैं अब एकदम चार्ज हो चूका था तो मैं भी उसके पीछे चला गया. मैंने उसे कहा मेरे प्लेस पर तुम डूब जाओ उतनी शराब है अगर तुम आना चाहो तो! उसने अपने दोस्तों से बात की और कुछ बहाना बना के मेरे साथ निकल पड़ी. हमने एक केब ली और हम मेरे घर पर आ गये.

जब हम दोनों केब में थे तभी मैंने उसे पकड के छेड़खानी स्टार्ट कर दी थी. मैं चुपचाप ये कर रहा था ताकि ड्राईवर को कुछ पता ना चले. मैंने उसे बाहों में भर लिया और उसको किस करते हुए उसके टॉप को ऊपर कर दिया. मैंने उसके बूब्स दबा रहा था और उसकी निपल्स से खेल रहा था. वो अब मोअन करने लगी थी.

और अब उसकी आवाज बढ़ रही थी और वो मेरे ऊपर चढ़ रही थी. उसे तो जैसे केब ड्राईवर की कोई चिंता ही नहीं थी. मैंने भी अपनी ज़िप खोल के लंड को बाहर निकाला और उसे चूसने के लिए इशारा कर दिया. उसने कहाकि मैंने कभी ऐसा नहीं किया है. लेकिन मैंने उसके माथे को लंड के ऊपर धक्का सा दे दिया और वो सुपाडे को चूसने लगी और फिर वो अपनी जबान को मजे इ मेरे लंड पर घुमा के उसे चूसने और हिलाने लगी थी.

अब वो मेरी गोदी में पड़ी हुई थी और मेरे लंड को एकदम मजे से चूस रही थी जैसे की वो कोई रंडी हो. मैंने धीरे से अपने हाथ को सरका के उसके शोर्ट के अन्दर डाला जिस से मैं उसकी चूत को टच कर सकूँ. वो बहार से काफी गीली थी और वो एकदम होर्नी हो चुकी थी. शायद तो केब ड्राईवर को भी पता चल ही चूका था की पीछे की सिट पर क्या खेल हो रहा था क्यूंकि मैंने उसे आयने में मुछों में हँसते हुए देख लिया था. लेकिन मैंने भी कोई फ़िक्र नहीं की अब क्यूंकि एक 18 साल की जवान लड़की मजे से मेरे लंड को चूस रही थी और अब उसकी चूत को लंड की जरूरत करवा दी थी मैंने!

मैं अब उसकी चूत के साथ खेल रहा था और उसके चूत के दाने से भी. फिर मैने धीरे से अपनी एक ऊँगली को उसकी चूत में घुसा दी. वो सच में एकदम टाईट थी लेकिन वो सिल्पेक नहीं थी. मैं धीरे धीरे ऊँगली को औ भी अन्दर कर रहा था और वो और भी जोर जोर से मेरे लंड को चूसने लगी थी. मैं अब उतनी जोर से उसको ऊँगली कर रहा था की उससे अब लंड भी सही चूसा नहीं जा रहा था. वो बस लंड को मुहं में डाल के पड़ी हुई थी. और मैं समझ चूका था की अब उसकी चूत झड़ने की तैयारी में ही थी.

मैंने धीरे से निचे हो के उसके कान में कहा पानी निकालना है तो निकाल लो अपनी चूत का लेकिन आवाज मत करना. और तभी मैंने महसूस किया की उसकी चूत ने मेरे हाथ की उँगलियों को जोर से गिरफ्त में ले लिया था और वो करीब 10 सेकंड तक एकदम से अकड़ गई थी. और फिर उसका बदन ढीला पड़ गया. मेरा लंड तो अभी ज्यों का त्यों खड़ा ही था. मैंने उसके बदन को साफ़ किया और उसे सही बिठाया. और मैं खुद भी अपने कपडे सही कर के बैठ  गया. करीब पांच मिनीट के बाद मेरा अपार्टमेंट आया गया.

वो बहुत पी हुई थी लेकिन उसे और भी नशा करना था. घर में घुसते ही मैंने हम दोनों के लिए बियर की बोतल खोल ली. और वो इतनी स्पीड से बियर को पी रही थी की देख के मैं सोच में पड़ गया की ये क्या हो रहा है! और फिर वो खड़ी हुई और अपने कपडे उतारने लगी. ये 18 साल की सेक्सी जवान लड़की जिसे मैं सिर्फ कुछ घंटो पहले अपनी लाइफ में पहली बार मिला था वो मेरे सामने एकदम ड्रंक और नंगी थी. मैंने उसे हिल्स नहीं उतारने के लिए कहा था. मैं उसके नखरे देख के समझ चूका था की उसे एकदम हार्डकोर चोदना पड़ेगा तब उसकी चूत को शान्ति मिलेगी!

उसकी चूत के ऊपर झांट बहुत सब थी. और वो नंगी होने पर किसी सेक्स की देवी के जैसी ही लग रही थी. मैंने भी खड़ा हो के पुरा नंगा हो गया. और फिर कुर्सी के ऊपर अपने बियर को ले के बैठ गया. मैं पिने लगा और वो फिर से मेरे लंड को चूसने में लग गई. मेरे लंड का पानी एकदम आगे आ चूका था. और तब मैंने उसे बताया की मेरा पानी निकलने को है. और उसने लंड को मुहं से निकाला नहीं और वैसे ही चुस्ती रही. शायद उसे मेरी मुठ पीनी थी.

ऐसी बात नहीं है की मैं पहले किसी के मुहं में झड़ा नहीं था लेकिन ये लड़की तो उतनी जवान और मासूम सी थी की वो किसी सेक्स डॉल के जैसी ही थी. वो मेरे बॉल्स को मसलते हुए लंड को चुस्ती रही. और जब मेरा माल निकला तो उसने एक भी बूंद को बहार नहीं आने दी. वो सब की सब बूंदों को चूस चूस के साफ़ कर गई. वो सब निगल गई थी और फिर उसने लंड को मुहं से निकाल के मेरे सामने देखा! सच में वो लुक्स को मैं अपनी पूरी लाइफ नहीं भूल पाऊंगा.

मैं अब उसके इस मस्त ब्लोव्जोब का बदला उसको देना चाहता था. मैं खड़ा हुआ और अपनी बाकी बची हुई बियर को एक ही सिप में खत्म कर ली मैंने. मैंने उसे उठा के बिस्तर पर डाला और उसके सेक्सी लेग्स को खोला. और फिर मैं उसके बदन को चाटने लगा. मैंने उसके कान को भी किस किया और फिर उसके बूब्स के निचे चाटा और उसके निपल्स को भी छेड़े.

मैंने उसे गले के ऊपर बाईट किया और उसके कंधो को भी पूरा चाटा. और फिर मैं चाटते हुए ही उसके पेट की तरफ बढ़ गया. और फिर मैं जबान को हलके हलके निचे ले गया और उसकी टांगो को पूरा खोल के उसकी चूत को लिक करने लगा. एक मिनिट के अंदर मैं उसकी चूत के दाने को अपनी जबान से सहला रहा था. और उसने अपनी झांटदार चूत को मेरे मुहं के ऊपर घिस दिया. और वो जोर जोर से उसे घिस रही थी और मैं बिना रुके हुए उसको ऐसे ही लिक करता गया. वो किसी छिनाल के जैसे अपनी चूत चटवाने के मजे लूटने में लगी हुई थी.

मैंने उसे अपने दोनों हाथ से जकड़ा हुआ था और मैं उसको और भी जोर जोर से लिक करने लगा. मैंने अपनी जबान को जितना अंदर कर सकता था उतना कर दिया. और फिर चूत के निचे जा के उसकी गांड के होल को भी चाट लिया. हम दोनों एकदम पागल हुए पड़े थे और वो ऐसे मोअन कर रही थी जैसे की वो कोई जानवर हो जिसे चुदवाना हो. अब मैंने उसकी चूत में अपनी एक ऊँगली को घुसा दिया और उसे चोदने लगा.

एक मिनिट की ऊँगली चोदन में ही उसका पानी निकल गया. और अब की उसका उतना सब पानी निकला था जिसे देख के मैं खुद परेशान था. अब मैं उसके ऊपर चढ़ गया और अपने लंड को उसकी चूत के ऊपर घिसने लगा. हम दोनों ही मस्ती में थे और वो जोर जोर से मोअन करने लगी थी. मैं अब लंड को धक्के देने लगा था जिसकी वजह से उसे बहुत दर्द हो रहा था.

करीब 10 बार मैंने अपने लंड को उसकी चूत में घुसाने की नाकाम कोशिशें की. और फिर आखिर मेरा लंड आधा घुस ही गया उसकी चूत में. और जब मैंने उसके चहरे को देखा तो उसके ऊपर हल्का सा दर्द था. मैंने उसे हग कर लिया और उसने मुझे कहा आज पूरी रात तुम मेरी चूत को चोद दो अपने इस बड़े लंड से.

उसने मुझे बिस्तर की किनार पर कर दिया था. अब हम दोनों के बदन एक दुसरे से ऐसे चिपके हुए थे की हम दो नहीं बल्कि एक ही इंसान हो! हम दोनों नए शादीसुदा जोड़े के जैसे चुदाई का असीम आनंद लूट रहे थे.

मैंने देखा की उसकी चूत से हल्का सा खून भी आ गया था जो मेरे लंड पर लगा हुआ था. मैंने उसे कहा तो वो बोली हां पहली बार इतना मोटा अंदर गया हैं तो ब्लड तो आना ही था. और मैं उसे फिर से बेफिक्र हो के ठोकने लगा. मैंने करीब उसे 15 मिनिट तक चोदा और मेरा वीर्य अब रेडी हो रहा था झड़ने के लिए. और उतने में तो उसकी चूत का पानी निकल गया. और जब उसने अपनी चूत को मेरे लंड पर दबा के अपने पानी को छोड़ा तो मुझे एक अलग ही ख़ुशी हुई उस वक्त.

मेरा मन तो इस खुबसुरत लड़की की प्यारी सी चूत में ही झड़ने का था. लेकिन तभी वो उठ खड़ी हुई और निचे बैठ के फिर से मेरे लंड को मुहं में भर के चूसने लगी. और वो बोली, मेरे मुहं में ही निकालो सब! मैंने उसके माथे को पकड़ा और जोर जोर से झटके लगाए उसके मुहं में ही. और एक मिनिट क अंदर ही मेरे लंड से वीर्य का सैलाब निकल के उसके मुहं में आ गया. और इस बार भी वो एक एक बूंद को गटक गई!

हम दोनों काफी थक चुके थे. उसकी चूत को देखा तो वो एकदम लाल हो के खुली पड़ी थी. और उसके ऊपर खून भी लगा हुआ था. मैंने उसे साफ़ किया और उसके ऊपर थोड़ी कोल्ड क्रीम लगा दी. और फिर हम दोनों नंगे ही एक दुसरे के पास सो गए. वो मेरे लंड के साथ खेल रही थी. और मेरी नींद कब आई मुझे पता ही नहीं.

मेरी नींद तब खुली जब उसने फिर से मेरे लंड को अपने मुहं में लिया हुआ था. उसे देखा तो उसका नशा भी जा चूका था और हेंगओवर की वजह से उसकी आँखे एकदम लाल थी. वो ऐसे लंड को सक कर रही थी की क्या कहूँ. कभी लंड को तो कभी बाल्स को पुरे मुहं में भर के मजे से चूस लेती थी मैंने भी उसके साथ 69 पोजीशन बना ली और उसकी चूत को चाटने लगा. वो मेरे लंड को चूसते हुए ही झड़ गई.

और मेरे लंड का पानी भी निकल गया उसके मुहं में. इतने कम घंटो में उसने तीसरी बार भी मेरे लंड का पानी पी लिया. और उसने बोला की उसे स्वेलो करने में बहुत मजा आता है.

और फिर मैं उसे अपनी बाइक के ऊपर उसके हॉस्टल छोड़ के आया. दोस्तों हम दोनों की मुलाकातें अब डेली होने लगी थी. रोज सेक्स नहीं लेकिन ड्रिंकिंग होती थी साथ में. जब दोनों में से एक का भी मन हो तो मेरे प्लेस पर आ के हम फुल नाईट ऐसे ही सेक्स करते थे.

लेकिन फिर उसकी पढ़ाई ख़तम हुई और वो वापस अपने नेटिव प्लेस को चली गई. आज तक मैं उसके जैसी दूसरी लड़की को खोज नहीं पाया हूँ जो एकदम मस्ती से मेरे लंड को चूस के उसका पानी पी जाए!

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age