हसबंड स्वेपिंग का अनुभव

मैं और मेरा बॉयफ्रेंड सेक्स के बहुत दीवाने हैं. जैसे कि आपने मेरी पिछली स्टोरी में  पढ़ा ही होगा मैं कितनी बडी रांड हूं, मैं नये पाठकों को बता दूं, मेरी उम्र २० साल है. और मेरे मम्मे बड़े बड़े ३४ की साइज़ के हैं और मेरी सेक्सी गांड ३८ की है और मेरी कमर २९ की है.

यह बात पिछले हफ्ते की है जब हमें ऑनलाइन एक कपल मिला जो के पंजाब से ही था, मेरा बॉयफ्रेंड का नाम अभी है और उसकी उम्र २१ साल है, उस कपल का नाम सैंडी और दिव्या था.

सैंडी का लंड ८.५ इंच का था, और दिव्या की फिगर ३४-३०-३८ था. तो हम को यह कपल ऑनलाइन एक साइट पर सर्फ़ करते हुए मिला था और हम धीरे धीरे अच्छे दोस्त बन गए थे. धीरे धीरे हमने एक दूसरे के पाटनर से फोन पर सेक्सी बातें करनी भी शुरू कर दी थी.

अभी दिव्या के साथ बात करता था और अपना लंड हीलाता था और मैं सनी से बात कर के अपनी चूत को शांत करती थी, पर मेरी जवान चूत कहा शांत होने वाली थी सिर्फ फोन से तो एक दिन हम लोगों ने प्लान बनाया घूमने जाने का, हमने शिमला जाने का डिसाइड किया.

वह कपल मेरिड था और उनको  एक छोटा बेबी भी था, पर बेबी को लाने को हम ने उनको मना कर दिया था.

तो डिसाइड हुआ कि हम लोग फ्राइडे को मिलेंगे.

मैंने एक सेक्सी ब्लैक ड्रेस पहन ली और अभी ने एक ब्लैक कलर की सेक्सी टी शर्ट पहन ली थी.

आखिर वह दिन आ ही गया. फ्राइडे को हम लोग मिले तो सेंडी ने मुझे मिलने के लिए हाथ आगे किया पर मैंने उसको हग करके मिली, मेरे मम्मे उसकी छाती से दब रहे थे और अब मैं उसका लंड खड़ा होता फील कर रही थी. में अंदर ही अंदर बहुत खुश हो गयी थी.

अभी ने भी दिव्या को हग करके मिला.

फाइनली हम कार में बैठ गए और हमने आगे ट्रैवल करना शुरु कर दिया.

अभी ड्राइविंग कर रहा था और सेंडी दिव्या बैक सीट पर बैठने लगे, तभी मैंने दिव्या को कहा प्लीज़ दिव्या तुम आगे बैठ जाओ मुझे यह रियर सिट ज्यादा कंफर्टेबल लगती है.

दिव्या आगे की सीट पर बैठ गई और मैं सेंडी के साथ पिछली सीट पर बैठ गई, अब दिव्या और अभी आपस में बातें करने लग गए और मैं और सेंडी आपस में बात करने लगे थे. तभी मैंने सैंडी से कहा मुझे नींद आ रही है मुझे सोना है, उसने कहा ठीक है और मैंने नाटक करना शुरु कर दिया कि मैं सो गई हूं, और जानबूझकर सेंडी के ऊपर गिर गई, मेरी ड्रेस डीप होने के कारण मेंरे आधे चूचे दिख रहे थे.

और अब वह भी मेरी जांघ पर हाथ फेरने लगा, धीरे धीरे मेरी जांघ सहलाने लगा, मेरे से भी रहा नहीं गया और मेरे मुंह से सिसकारी निकल गई, मेरी सिसकारी से उसकी पेंट में टेंट बन गया और वह अपना हाथ मेरी चूत पर लाकर सहलाने लगा, और मेरी चूत ने इतना पानी छोड़ा की मेरी पेंटी पूरी गीली हो गई थी. इस तरह पूरे रास्ते हम सॉफ्ट फन करते रहे.

फिर हम शिमला पहुंचे और एक २ रूम सैट लिया जो कि हमने ऑलरेडी बुक करवा रखा था.

करीब एक घंटे बाद हमारे वाले रुम पर नॉक हुआ तो अभी ने दरवाजा खोला, वहां दिव्या और सेंडी थे, सेंडी सिर्फ बॉक्सर में था और दिव्या ने एक बेबी डॉल ड्रेस पहनी हुई थी.

अभी टी शर्ट और बोक्सर में था और मैंने शोर्ट और टॉप डाला हुआ था.

अभी ने उनको अंदर रूम में इन्वाइट किया और हम लोग बेड पर बैठ गई.

अब हम चारों बातें करने लगे और एक दूसरे से लाइक डिसलाइक पूछने लगे,फिर सेंडी ने अभी को कहा अरे भाई आगे का क्या प्लान है?

अभी मैं तो रेडी हूं बाकि लेडीज से पूछ लो तो सेंडी ने हम दोनों को कहा क्यों दिव्या और श्रुति क्या ख्याल है आपका?

दिव्या ने कहा : किस बारे में?

सैंडी ने कहा : फन के बारे में.

मैंने कहा : पैसा फन

सेंडी ने कहा : एक दूसरे के पार्टनर के साथ फन.

दिव्या ने हेसीटेट करते हुए मना कर दिया.

तो मैंने भी फॉर्मेल्टी के लिए मना कर दिया अंदर से मेरा बहुत मन था.

तो अभी और सैंडी हमें कन्विंस करने लगे.

उनके १५ मिनट मनाने के बाद हम दोनों मान गई.

अब अभी ने सेंडी से कहा भाई थोड़ा तड़पाते हैं अब इनको भी.

और फिर दोनों हमें किस करने लग गए और सैंडी ने एकदम से दिव्या को अभी पर धक्का मारा और खुद मेरे ऊपर गिर गया और दोस्तों फिर शुरू हुआ असली मजा.

सेंडी ने मेरा शरीर सहलाते हुए मुझे स्मूच करना शुरु कर दिया.

वह मेरे मुंह को चाट रहा था और मेरी नेक पर बाइट कर रहा था.

फिर हम दोनों ने एक लंबी फ्रेंच किस की.

फिर सेंडी ने धीरे धीरे मेंरे टॉप में हाथ डाल कर मेरी ब्रा को खोल दिया.

मैंने बिना स्ट्रिप वाली ब्रा पहनी थी, वह हुक खुलते ही नीचे गिर गई थी.

अब मेरे मम्मे एक पतले से टॉप में आजाद थे और मेरे निप्पल्स की साफ शेप बन रही थी.

सैंडी ने मेरे निप्पल टॉप के ऊपर ही मसलने शुरू कर दिए.

अभी नहीं दिव्या को बेड पर लेटा कर उसकी टमी पर किस करना स्टार्ट कर दिया और उसकी बेबी डॉल की स्ट्रेप खोल दी और धीरे धीरे अपने दांतों से पकड़ कर उसकी ड्रेस उतारने लगा.

दिव्या के बूब्स बहुत गोरे और निप्पल एकदम लाइट पिंक थे, अभी का देखते ही लौड़ा फटने को हो गया और अभी पागलों की तरह दिव्या के चूची को दबाने लगा और उनको मुंह में डाल कर चूसने लगा.

इधर सेंडी ने  मेरे टॉप को जिस्म से अलग कर दिया और मेरे बड़े बड़े संतरों को हाथ में लेकर मसलने लगा और चूसने लगा.

उसने मेरी शोर्ट को भी निचे कर दिया और मैंने उसको उतार कर फेंक दिया, अब मैं सिर्फ पेंटि में एक शादी शुदा मर्द के सामने खड़ी थी, वह भी उसकी बीवी के सामने.

मेरी चूत तो मानो तड़प रही थी सैंडी के लंड को लेने के लिए, अब सैंडी मेरे मम्मे चूसने लगा निप्पल पर बाइट करने लगा और धीरे धीरे मेरे मम्मे को चूसता चूसता मेरी चूत की तरफ बढ़ने लगा और मेरी चूत से मेरी पेंटी उतार फेंकी.

मैं चूत को बिल्कुल क्लीन शेव करके गई थी.

यह देखकर वह बहुत खुश हुआ और कहने लगा कि लगता है पूरी तैयारी से आई है रंडी.

मैंने कहा तेरे जैसे का ८.५ इंच का लोड़ा लेने के लिए तैयारी तो करनी ही थी.

अब वह मेरी चूत को पागलों की तरह चाटने लगा, अभी मेरी चूत का दाना चाटता था तो कभी चूत के छेद में जीभ फेरता.

मैं उसके चाटने से मानो पागल हो रही थी.

अभी भी दिव्या की चूत को चाट रहा था और दिव्या बहुत जोर जोर से सिसकिया भर रही थी.

दीव्या की सिसकियां सैंडी को एक्साइट कर रही थी और वह और तेज मेरी चूत को खाने लगा.

अब मेरे से कंट्रोल नहीं हुआ तो मैंने सैंडी को कहा बहुत तड़पा दिया अब मुझे भी दर्शन करवा दो अपने अपने लंड के.

यह सुनते ही सैंडी ने झट से अपना शोर्ट उतार दिया और उसका मोटा काला लंड एकदम बाहर आ गया.

उसका लंड देखते ही मेरे मुंह में पानी आ गया और मैं जल्दी से अपने घुटनों पर बैठ कर उसके लंड को मुंह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

करीब १५ मिनट मैंने उस का लंड चूसा और उधर अभी ने भी अपना लंड दिव्या के मुंह में डाल रखा था और दिव्या पागलों की तरह थूक लगा कर अभी का लंड चूस रही थी.

अभी ने सैंडी को कहा के ले जा इस रंडी को अपने कमरे में और बजा दे इसकी गेम.

अभी को ऐसा बोलते सुन मे और सैंडी दोनों एक्साइट हो गए और सेंडी ने मुझे नंगी ही उठा कर अपने कमरे में ले गया.

अब अभी और सैंडी दोनों ने अपने अपने रूम को अंदर से बंद कर लिया.

सैंडी मुझे कहता आजा मेरी रांड आज रात के लिए मैं तेरा पति हूं और तू मेरी रंडी पत्नी.

मैंने उसकी यह बात सुन कर कहा हा तुम मेरे पति हो हक से करो मेरे जिस्म का जो भी करना है.

और यह सुन कर वह फिर मेरे जिस्म को चाटने लगा और फिर उसने एक एक्स्ट्रा टाइम कंडोम चढ़ाया अपने लंड पर और मेरी चूत को थोड़ा थूक लगा कर अपने लंड का टोपा एकदम मेरी चूत में घुसेड़ दिया, उसका लंड बहुत मोटा होने के कारण मुझे थोड़ा पेन हुआ.

पर बाद में मजा भी बहुत आया.

फिर उसने मुझे कुतिया बनाया और मेरी चूत को पीछे से मारने लगा.

करीब १५ मिनट चूत मारने के बाद वो उठ कर टॉयलेट में गया और अंदर से तेल की बोतल लाया और तेल हाथ में लेकर मेरी गांड की मालिश करने लगा और फिर अपने लंड को धीरे से मेरी गांड पर रख कर अंदर डाल दिया.

मेरी मरने वाली हलता हो गई थी मैं उस से छुटने की कोशिश कर रही थी और उसने मुझे दबोच लिया और दबा दबा कर मेरी गांड मारी.

इस तरह उस रात तीन बार उसने मेरी चूत और गांड की गेम बजाई.