खालू ने स्विमिंग पुल में चोदा

loading...

19 साल की थी तब मैं और दिखने में एकदम हिरोइन के जैसी थी. खाला के घर वेकेशन में गई थी तभी से खालुजान की आँखे मेरे ऊपर थी. मैं इतनी भोली भी नहीं थी की समझ ना सकूं. लेकिन खाला और अम्मी के डर से मैं आगे नहीं बढी. खालू हेंडसम मर्द हैं. 42 साल की उम्र हैं लेकिन जिम वगेरह कर के खुद को चुस्त रखा हुआ हैं. और सेलरी भी काफी हैं. घर में दो फोर व्हीलर हैं और अय्याशी की सब सामान भी. बंगले के अन्दर एक स्विमिंग पुल भी हैं और खालू बड़े मजाकिये हैं.

खालू जब मुझे मेक्सी में देखते थे तो उनकी निगाहे मेरे मम्मो पर चिपक सी जाती थी. और मैंने उन्हें तिरछी नजरों से गांड को भी देखते हुए देखा हैं.

loading...

ऐसे ही एक बार मैं खाला के घर पर गई थी होलीडे में. और सन्डे को मेरी खाला किसी काम से अपनी सहेली के साथ मार्केट में गई थी. घर के नोकर को खालू ने पैसे दिए और कुछ सामान लाने को भेजा. फिर वो मेरे पास आये और बोली, निलोफर चलो मैं पुल में जा रहा हूँ तुम आओगी?

loading...

मैं बोली: नहीं खालू मुझे तैरना नहीं आता हैं.

खालू बोले: 4 फिट ही गहरा हैं तैरना नहीं बस खड़े रहना.

मैं: लेकिन मेरे पास स्वीमिंग कोसच्यूम भी नहीं हैं?

खालू: मैं तुम्हारी खाला के ले आता हूँ.

खालू जब वापस आये तो उनके बदन के ऊपर सिर्फ एक स्विमिंग वाली चड्डी थी. उनके लंड का आकार साफ़ बना हुआ दिख रहा था. और ऊपर उनके सपाट पेट के साथ साथ एब्स भी दिख रही थी. खालू ने जो कोसच्यूम मुझे दिया वो काफी छोटा था. जैसे की बिकिनी होती हैं.

मैं बाथरूम में गई और वापस आई तो खालू वहां पर खड़े थे. वो मेरे आगे हाथ लम्बा कर के बोले चलो. मैंने उनका हाथ पकड़ा और वो मुझे ले के चल दिये. हम लोग पुल के पास आये तो वो बोले पहले मैं अंदर जाता हूँ और फिर तुम्हे लेता हूँ.

मैंने कहा ठीक हैं. वो अन्दर गए और फिर मुझे हाथ दे दिये उन्होंने. जानबुझ के ही उन्होंने अपनी छाती को मेरे बूब्स के ऊपर घिस दी. और मेरी निपल्स अभी अकड गई. खालू बोले आज मैं थोड़ी स्विमिंग सिखा ही देता हूँ तुमको भी. और फिर वो बोले चलो आगे खड़ी हो जाओ. पानी मेरी छाती तक था. मैंने खड़े हो के कहा अब. वो बोले मैं पीछे से पकडूँगा तुम आगे हाथ से पानी को काटो.

और उन्होंने मुझे छाती के पास से ही पकड़ा, बूब्स की साइड से उनके हाथ मुझे टच हो रहे थे और मेरी उत्तेजना बढ़ने लगी थी. खालू ने कहा काटो पानी को.

मैं निचे झुकी और उस वक्त उन्होंने पीछे से अपने लंड को मेरी गांड पर लगा दिया. उनका लंड काफी सख्त था. मुझे गुदगुदी सी हुई. मैंने पीछे देखा तो वो बोले, क्या हुआ?

मैंने स्माइल के साथ कहा कुछ नहीं.

वो बोले अच्छा लग रहा हैं ना?

मैंने कहा, हां!

बस ये सुनते ही उन्होंने मेरे बूब्स को हाथ से दबा दिए. उन्होंने मुझे पानी के निचे दबाया हुआ था और पानी के भीतर ही मेरे बूब्स को वो मसल रहे थे. मेरे मुहं से एक आह निकल गई. लेकिन वो तो जैसे कुछ हुआ ही ना हो वैसे मुझे मसल रहे थे. फिर उन्होंने कहा, पकड़ोगी?

मैंने हाथ पीछे ले जा के उनके लंड को छू लिया. बाप रे कितना मोटा था वो, चड्डी के ऊपर से ही मैं उसे हिला रही थी. लंड हिलाते हुए ही मैंने कहा, कोई आ गया तो खालू?

वो बोले कोई नहीं आएगा, खाला को मार्किट में शाम होगी और नोकर को मैंने इतनी दूर भेजा हैं की उसे भी टाइम लगेगा. और मैंने उसे कहा हैं की तुम शाम को ही आना अब. इसलिए वो सामान ले के अपने घर गया होगा.

मैं: आप का तो बहुत बड़ा हैं खालू.

खालू: तुम्हे देख के आज कुछ ज्यादा ही बड़ा हो गया हैं मेरी जान.

फिर उन्होंने अपने एक हाथ को ऊपर मेरी ब्रा में घुसा दिया और अपने गरम गरम हाथ से वो बूब्स का मर्दन करने लगे. मैंने भी अब उनकी चड्डी में हाथ डाला और लंड को डायरेक्ट पकड़ लिया. वो काफी तगड़ा लौडा था. खालू ने अब मुझे बोला, चलो मुहं में ले लो थोडा.

मैंने कहा, खालू यहाँ पर खुले में?

वो बोले: अरे ये बंगले के चारोतरफ 10 फिट की दिवार हैं और अभी कोई प्लेन और हेलीकॉप्टर भी हमारे ऊपर नहीं हैं.

मैंने कहा, बहुत बड़ा हैं कैसे लुंगी मुहं में.

खालू ने कहा: जितना मुहं में ले सको उतना ही लेना.

फिर हम दोनों बहार आ गए. खालू ने चड्डी से लंड को बहार निकाला और वो स्विमिंग बेंच के ऊपर बैठ गए. उनका लंड आसमान की तरफ खड़ा हुआ था और काफी तगड़ा था वो. मैंने लौड़े को पकड़ के जरा सा हिलाया और खालू के मुहं से आह निकल गई. वो बोले, कम ओन मुहं में ले लो मेरी रानी.

मैंने लंड को हलके से किस किया और खालू के मुहं से आह निकल गई. मैंने अब लंड को थोडा ही मुहं में ले के सक किया, खालू ने हाथ लम्बा किया और मेरे बूब्स को दबाने लगे. वो बोले, तेरे बूब्स एकदम चिकने हैं और टाईट थी. तुम्हारी खाला जब जवाब थी तब उसकी चुचिया ऐसी ही थी.

मैंने लंड को मुहं से निकाल के कहा, आप और खाला तो बहुत चोदते होगे ना?

वो बोले, अब पहले जैसा चोदने नहीं देती हैं तेरी खाला. पहले तो मैं काम से आऊँ तो नाइटी में ही होती थी और अक्सर हमने पूरी पूरी नाईट चोदा हैं. लेकिन अब वो सुखी हो गई हे और उसका भोसडा भी ढीला हो गया हैं.

मैंने कहा, आप को मैंने देखा हैं अक्सर मुझे वैसे देखते हुए!

खालू ने मुझे लंड की तरफ वापस धकेल के कहा, अरे मेरी जान तुम्हे तो कब से चोदना थे मुझे लेकिन आज मौका हाथ में आया. मैंने खालू के लंड को निचे के हिस्से से पकडा और सुपाडे को और निचे के 2 इंच के हिस्से को मुहं में ले लिया. वो बोले, अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह यस्सस!

फिर उन्होंने मुझे अपनी तरफ खिंचा हम दोनों ने लिप किस की. वो बोले अब मैं तेरी चूत चाट लूँगा. उन्होंने मेरे साथ 69 पोजीशन बनाई और मैंने उनके लंड को अब हिलाया. और वो कुत्ते के जैसे जबान को निकाल के मेरी चूत के लिप्स को ऊपर से निचे तक चाटने लगे. फिर उन्होंने अपने लंड को मेरे मुहं में और घुसाया और फिर मेरी गांड को फांको को खोला. फिर उन्होंने गान के होल को भी चाटा. मैं एकदम उत्तेजना में थी. खालू ने कहा, चलो अब कर ही लेते हैं.

वो बोले कपडे उतार दो सब के सब. मैं पूरी न्यूड हो गई. वो बोले एक बार घुम के अपना बदन तो दिखाओ जानेमन. मैंने खालू के सामने घूम के उन्हें अपना पूरा नंगा बदन दिखाया. खालू ने  सनस्क्रीन लोशन जो की वाटरप्रफु था उसे अपने लंड पर लगाय और बोले चलो पुल में करते हैं. मैंने पुल में गई और खालू ने मुझे बाहों में ले के निचे उतारा. फिर एक साइड की दिवार पकडवा के मुझे खड़ा किया. मेरी गांड और चूत का हिस्सा तो पानी के निचे था. खालू के लाड पर चिकना क्रीम लगा था, वो सनस्क्रीन लोशन.

उन्होंने मेरी चूत के ऊपर लंड को रख दिया और पचाक, कर दिया अन्दर! मेरा पहली बार नहीं था लेकिन पानी के अन्दर पहली बार था. खालू ने मेरे मम्मे दबाये और वो अपनी कमर को हिलाने लगे. पानी के अन्दर बुलबुले और लहरें बन रही थी. और वो जोर जोर से लौड़े को अन्दर घुसा के फिर बहार निकाल रहे थे.

मैं भी उनका पूरा साथ दे रही थी. और अपनी गांड को आगे पीछे कर रही थी.

खालू: अह्ह्ह वाह रे तेरी चूत, हिला अपनी गांड को मेरी छोटी सी छिनाल.

ये लो खालू, मार लो मेरी रसीली पुसी को, अह्ह्ह डालो अन्दर पूरा और मेरी गांड को स्पेंक करो ना!

मैं भी मस्ती में बोल रही थी. और खालू ने ठीक वैसे ही किया. उनका पूरा लंड अन्दर जा के जब बहार आता था तो कसम से बड़ा मजा आता था. फिर उन्होंने मुझे कामर से उठा के ऊपर बिठाया और मेरी चूत को थोडा चाटा. फिर मैं उनकी गोदी में चढ़ गई. और अपनी कमर के ऊपर के हिस्से को हिला के चुदवाने लगी. वो मेरे मम्मे चूस रहे थे.

मेरे अंकल का लंड इतना मोटा था की चुदवाने में मजा आ गया बस. और वो गर्म गर्म वीर्य की पिचकारी ने मुझे पिगला ही दिया. मैं भी उनके साथ ही झड़ गई. हम दोनों ने वही पानी से अपने अंगो को धोया. और फिर खालू मुझे ले के बाथरूम में चले गए फर्स्ट फ्लोर पर. वहां पर उन्होंने मेरी चूत पर साबुन लगा के मेरी चुदाई की.

जब हम नाहा के बहार आये उतने में नोकर आ गया था. खालू तोवेल से अपना बदन पोंछते हुए बोले, आज पुल का पानी बदल दो भैया!!!

मैं मन ही मन मुस्कुरा रही थी की चूत और लंड का पानी मिला हैं पुल में इसलिए उन्होंने वो चेंज करवाना हैं. उस दिन से मेरी और खालू के सीक्रेट देसी अफेयर की जर्नी चालू हो गई. वो मुझे ढेर सारे पैसे देते हैं, अय्याशी करवाते हैं और चोदते हैं!!!

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age