कुंवारी मौसी को ठंडी की रात में चोदा

loading...

दोस्तों ये बात आज से 3 सा पहले की है. नवम्बर के महीने में मैं अपनी नानी के घर पार गया हुआ था. मेरी नानी का विलेज वाराणसी यानी की बनारस से 23 किलोमीटर है. ठंडी के दिन थे. उस टाइम मेरे नानी के घर पे बस नानी, नाना, और मेरी दो मौसियाँ थी.

मेरी छोटी मौसी किसी भोजपूरी ऐक्ट्रेस के जैसी सेक्सी है. उसका फेस एकदम मासूम आलिया भट के जैसा है. और उसके बूब्स चेस्ट के ऊपर खरबूजे के जैसे बड़े बड़े है. और एकाद बार गलती से मेरा टच हो गया बूब्स को तो वो बड़े ही सॉफ्ट थे. उसकी कमर पतली है बूब्स के अनुपात में और निचे की गांड फिर से फैली हुई है बूब्स वाले भाग के जैसे ही. मौसी की उम्र मेरे से 5 साल ही ज्यादा है और वो सिर्फ 12 तक पढ़ी है.

loading...

मौसी का नाम गंगा है और उसके ऊपर पुरे विलेज के मर्द लाइन मारते है. पर जहाँ तक मुझे खबर थी उसका अभी तक किसी के साथ भी चक्कर नहीं था, क्यूंकि मेरे नाना जी टपोरी और बदमाश रहे है इसलिए वो उनसे बहुत ही डरती है. लेकिन अंदर से उसका बदन भी ठडक रहा था और जोश चढ़ा हुआ था उसे भी.

loading...

बिजली की कटोती थी. इसलिए उस रात मेरा बहुत मन था की मैं छत पर सोने के लिए जाऊं. इसलिए नानी और दोनों मौसी ने कहा हम भी तेरे साथ आयेंगे. लेकिन आधी रात में जब ठंडी हवाएं चली तो हमने सोचा निचे जाने के लिए. और तब तक पॉवर भी आ गया था.

लेकिन मैं और गंगा मौसी एक कम्बल में पड़े रहे. मेरी बड़ी मौसी और नानी जी निचे चली गई. अकेले में और मौसी को दुपट्टे के बिना देखा तो मेरे अन्दर का मर्द उफान पर आ गया. मैंने उस दिन तो अपने लंड को हिला लिया उसके नशीले चुंचे देख के.

अगली रात को नानी ने कहा मैं छत पर नहीं आउंगी इसलिए मैं और गंगा मौसी छत पर गए. आज ठंडी कम थी लेकिन हम दोनों कम्बल में ही थे. मैने कहा, मौसी एक बात पूछूं आप से?

वो बोलीहाँ पूछना.

मैंने कहा, मौसी ये बच्चे कैसे पैदा होते है?

वो एकदम जोर से हंस पड़ी और बोली मुझे नहीं पता है वो सब तुम ही बता दो.

मैं: हमारे बुक्स में लिखा है की बॉयज को अपना वो गर्ल्स के अन्दर डालना होता है और तब बेबी हो जाता है.

मौसी को भी मेरे मुहं से ये सब सुन के मजा आ रहा था.

गंगा मौसी: अरे ऐसे नहीं विस्तार से बताओ तो मैं समझूंगी

और उसने जब ये कहा तो उसके चहरे के ऊपर एक अलग ही हवस नजर आ रही थी मेरे को. उसकी चुदास और कामुकता जाग उठी थी.

मैंने कहा रुको मौसी पहले मैं छत का दरवाजा बंद कर देता हूँ और फिर आप को समझाता हूँ.

मैंने फट से जा के दरवाजे को अंदर से बंद कर लिया ताकि कोई कबाब में हड्डी न बने.

मैं वापस आया तो गंगा मौसी गद्दे में लेटी ही थी और उसके बूब्स क़यामत लग रहे थे. उसने मुझे इशारे से अपने पास लेटने को कहा.

मौसी: अच्छा अब बताओ मेरे को की बच्चे कैसे पैदा होते है.

मैंने कहा, मैं बताता हूँ लेकिन जैसे मैं बोलूँगा वैसे करोगी?

गंगा मौसी ने हँसते हुए कहा हां बाबा करुँगी तू बता मुझे.

मैंने कम्बल ओढ़ लिया और अन्दर उसके गाल के ऊपर किस करने लगा. आप लोगों को पता ही ही होगा की शर्दी के अन्दर कम्बल में कितना मज़ा आता है!

मैंने गंगा मौसी को एकदम अपने से चिपका लिया था. पहले नोर्मल सा लिप किस फिर धीरे धीरे फ्रेंच किस करना चालू कर दिया. हम दोनों बस खो गए थे उस वक्त एकदम से. मैंने अपने हाथ से उनके कमर को पकड लिया था.

मैं उसके नेक पर पीछे और उसके कान के पीछे वाले हिस्से पर गरम साँसे छोड़ना आगा. ऐसा करते ही गंगा मौसी भी तेज तेज और गर्म साँसे लेने लगी. गाँव में सब उस समय तक सो जाते है इसलिए दोनों बेफिक्र हुए मजा लूट रहे थे.

फिर मैंने गर्म हाथ को उनके पेट पे सहलाना चालू कर दिया. उसके कमर को मसाज करना चालु किया. उसके नाभि को भी किस कर दिया. और स्यूट के अन्दर हाथ डाल दिया. और उसकी ब्लेक कलर की ब्रा हल्का हल्का दबाने लगा. ऐसा मैंने 2 मिनिट ही किया और उसने धीरे से बोला की ब्रा के अन्दर हाथ दो प्लीज़.

मैंने उसके स्यूट को पूरा खोला और ब्रा को खोल दिया. उसके दूध जैसे गोरे बूब्स को दबाने लगा मैं. वो सिस्कारियां लेने लगी. आह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह और उसने अपनी आँखे बंद कर ली और उस समय एन्जॉय कर रही थी. फिर मैंने उसके बूब्स को गोल गोल दबाने लगा.

मौसी के निपल्स एकदम टाईट हो गए थे. फिर मैंने उनके निपल्स को छोटे बेबी के जैसे चूसने लगा. वो मेरे बालों को सहला रही थी. ऑलमोस्ट 10 मिनिट तक मैंने मौसी के बूब्स को अच्छे से दबाया और चूसा.

अब मैंने अपना हाथ उनकी सलवार में डाल के नाड़े पर रखा और फिर नाड़े को खोल दिया.

मैंने मौसी की जांघो को टच और मसाज किया और बाद में उनकी ब्लेक ब्लेक पेंटी के ऊपर से हाथ फेरने लगा. मुझे हाथ फेरते ही पता चला की वो एकदम गीली हो चुकी थी. मैंने मौसी की पेंटी के अन्दर हाथ डाल दिया और उनकी चूत के क्लाइटोरिस पे अपनी ऊँगली रख दी. और धीरे धीरे ऊपर निचे उनकी चूत को हिलाने लगा. और उसकी गीली चूत में अपनी 2 ऊँगली को अन्दर और बहार करने लगा. 5 मिनिट तक मैंने ऐसा किया.

और फिर अपनी जबान से मैं मौसी की चूत को चाटने लगा. वो इतनी एक्साइट हुई थी की वो हिलने लगी और मैंने ऐसा तक मिनिट तक किया.

गंगा मौसी अभी तक वर्जिन ही थी इस से पहले कभी किसी लड़के ने उसके साथ सेक्स नहीं किया था. उसका ये पहला अनुभव था और इसलिए वो अपनी गीली चूत के मजे देते हे जोर जोर से सिस्कारियां भर रही थी.

आह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ओह ओह अह्ह्ह्ह और करो भांजे! अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह और जोर से चाटो मेरी मुनिया को. मेरी प्यास को आज अपने लंड से भुजा दो मेरी नन्ही जान. अब जल्दी से मुझे वो भी दे दो अपनी मुनिया के अन्दर.

मैं भी बहुत ही कामुक हो गया था और मैंने अपनी पेंट को खोला और अपना 6 इंच लम्बा लंड उसकी टाईट चूत के ऊपर रख दिया. क्यूंकि मेरी मौसी वर्जिन थी इस्लि मैंने बिना कंडोम के ही उसके साथ चुदाई करने को सोचा.

उसकी चूत बहुत ज्यादा गीली हो गई थी और उसकी गीली चूत में अपना लंड डाला ही की वो मना करने लगी क्यूंकि उसे बहुत दर्द होने लगा था. मैंने बोला शांत हो जाओ और मैंने उसके दोनों टांगो को अपने कंधो केऊपर रख दिया और उसकी गांड के निचे तकिया लगा दिया और जोर जोर इ धक्का दिया. और अब मेरा आधा लंड मौसी की चूत में घुस चूका था.

वो चिल्लाने ही वाली थी की मैंने उसके होंठो पर अपनत होंठो को लगा दिए और 2 3 मिनिट बाद जब वो थोड़ी शांत हुई तो पूरा लंड मैंने अन्दर डाल दिया. पहली बार मैं 5 7 मिनिट ही चला की तब तक उसके अन्दर ही मैं झड़ गया.

फिर मैंने गंगा मौसी के पास ब्लोव्जोब करवाया और फिर पांच मिनिट में मेरी हवस जग उठी. और उसके बाद सिम्पल लिटा के 45 मिनिट तक मैंने गंगा मौसी को चोदा.

फिर मैंने मौसी को घोड़ी बना दिया और जब उसको चोदना स्टार्ट किया तो लग रहा था की मेरी मौसी सनी लियोन थी जिसे मैं चोद रहा था. जब मैं थक गया तो उसको अपने गोदी में ले के खूब चोदा. हमने सेक्स की स्टार्टिंग रात को करीब 11 बजे चालु किया था और सुबह के 3 बजे तक हम चोदते रहे.

फिर हम दोनों निचे एक साथ बाथरूम में भी नहाये और मैंने उसको दिवार पकड़ा के फिर से उसको चोदा.

फिर हमने सोने चले गए. मैं नानी के घर पुरे 10 दिन के लिए गया था. और उन 10 दिनों में मैंने शायद मेरी इस सेक्सी मौसी को 40-45 बार चोदा. और एक रात को मैं जेली ले के गया था रात को छत पर. बहुत मनाने के बाद ही मौसी ने गांड भी मारने को दी. और फिर उसने कहा की गांड में लेने में उसे मजा आया था.

दोस्तों ये थी मेरी सेक्स कहानी मेरी मौसी के साथ सेक्स करने की. आशा है की आप को पसंद आई है!

 

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age