सेक्सी क्लाइंट ने मेल एस्कोर्ट का लंड लिया

loading...

मेरा नाम राहुल हे और मैं बंगलौर से हूँ. मेरी उम्र 25 साल हे और मेरी हाईट 5 फिट 10 इंच हे. मेरे लंड का साइज़ 6 इंच हे. आज मैं पहली बार अपना सेक्स अनुभव लिख रहा हूँ. बंगलौर के अंदर ही मैं जॉब करता हूँ और साथ में मेल एस्कॉर्ट का काम भी करता हूँ.

ये बात मेरी 24वी बर्थ डे से स्टार्ट हुई थी. मैं बंगलौर की एक प्राइवेट फर्म में काम करता था. और किरन को मिलने के बाद जैसे मेरी लाइफ ही बदल गई. वो मेरे एक सीनियर कलिग का फ्रेंड था और बंगलौर में उसकी अपनी मेल एस्कोर्ट एजंसी थी. कुछ ही दिनो में मैं और किरन अच्छे दोस्त हो गए. और उसने फिर मुझे अपनी मेल एस्कोर्ट ज्वाइन करने के लिए बोला. मैंने पहले तो मना कर दिया. लेकिन फिर मैंने किरन को बोला की अपनी एजंसी के बारे में वो कैसे काम करती हे वो सब बताये. उसने मुझे सब समझाया. उसने मुझे कहा की देख तेरे लायक कोई इलाईट क्लाइंट आई तो ही मैं तुझे बेझूंगा. तो मैंने कहा चल फिर ठीक हे.

loading...

कुछ दिन के बाद किरन ने मुझे कांटेक्ट किया और बोला की कल शाम को मेरी ऑफिस पर आ जाना तेरे लायक एक क्लाइंट हे. उसने मुझे ये भी बताया था की यहाँ मेल एस्कोर्ट में सब लेडिस सेक्स के लिए नहीं कांटेक्ट करती हे. किसी को मेल के ऊपर डोमिनेंस भी करना होता हे. ऐसी लेडिस अपनी लाइफ में पति से दुखी होती हे. और वो अपनी बढास मेल एस्कोर्ट के ऊपर निकालना चाहती हे.

loading...

अगली शाम को मैं उसके ऑफिस चला गया और उसने मुझे एक नम्बर दिया और कहा की क्लाइंट का नाम नेहा हे. और उसने मुझे कहा की कल मोर्निंग में तू गाला रिसोर्ट पर उसको मिल. मैंने कहा कैसी दिखती हे वो? किरन ने कहा ये देख. ये कह के उसने मुझे नेहा की फोटो दिखाई. और उसने बताया की किरन 38 साल की हे.

उसने कहा की मैंने भी नेहा को फोटो भेजा हुआ हे तेरा इसलिए वो तुझे पहचान जायेगी. किरन ने कहा की वो तुझे पे भी वही पर कर देगी.

अगले दिन मैंने फॉर्मल कपडे पहने और तय किये हुए वक्त पर गाला रिसोर्ट पहुँच गया. वेटर ने मुझे रेस्टोरेंट के टेबल पर बिठाया. जैसे ही मैं बैठा मैंने इस लेडी को देखा जो मुझे देख के स्माइल कर रही थी. और मेरी सांस मेरे गले में ही अटक गई. उसकी आँखे बड़ी थी और बड़े चूसने लायक लिप्स थे उसके. उसका चहरा भी एकदम सेक्सी और गोरा था. उसने एक स्लीवलेस टी शर्ट पहनी हुई थी. इसलिए मेरी आँखों ने उसके बाकी के बदन को भी स्कैन किया. मैंने उसका सेक्सी क्लीवेज देखा और मेरा दिल जोर जोर से धडक उठा. वो उठ के मेरे पास आई. और बोली मेरा नाम नेहा हे और तुम जरुर राहुल हो?

मैंने हां में सर को हिलाया और कहा की मुझे पता नहीं था की आप समय से पहले ही यहाँ आई हो. नेहा ने कहा मैंने जैसे माँगा था उस से अच्छी चीज भेजी हे किरन ने. मैंने कहा ये मेरे लिए फर्स्ट टाइम हे.

उसने हंस दिया. और उसकी हंसी की मस्त स्माइल मेरे कानो में गूंजी. उसने कहा तुम तो फिर जरुर नर्वस हो. वैसे किरन ने मुझे तुम्हारे बारे में बताया हुआ हे.

वो जरा भी नर्वस नहीं लग रही थी. उसने मुझे बताया की वो किरन के साथ भी सो चुकी थी. उसने हम दोनों के लिए खाना मंगवाया और साथ में वाइन भी. उसने खाना कम ही खाया और वाइन के दो ग्लास पी चुकी थी. उसने बताया की मेरा हसबंड मुझे 9 साल पहले छोड़ चूका हे. मैंने कहा वो जरुर पागल ही रहा होगा जो तुम्हे छोड़ा उसने. नेहा हंस पड़ी. और बड़ी ही नजाकत से उसने अपने कंधे को मेरे कंधे से टच करवा दिया. नेहा ने खाने का बिल दिया और बोली मेरा अपार्टमेंट यही करीब में हे. मैंने कहा चलो फिर वही पर चलते हे.

नेहा का फ्लेट वहाँ से वाल्किंग डिस्टेंस पर ही था. हम जैसे ही बिल्डिंग में घुसे वो मुझे लिफ्ट में ले गई. और सेकंड फ्लोर के ऊपर उसका फ्लेट था. वो फ्लेट एकदम आलिशान था जिसके अन्दर हर तरफ पैसे की चमक दिख रही थी. वो मेरे पास ही खड़ी हुई थी. मैं कुछ सोचता उसके पहले उसने मुझे अपनी तरफ घुमा के एक किस दे दिया. मैंने भी उसके लिप्स को चुसे. उसके लिप्स एकदम सोफे थे और वो किस देते हुए मेरी बाहों में सामने से ही आ गई.

वो मुझे किस करने के बाद में अपने बेडरूम में ले गई. और बेडरूम में घुसते ही उसने स्लीवलेस टी शर्ट को अपने बदन से दूर कर दिया. बाप रे क्या मस्त और सेक्सी बदन था उसका. 38 साल की उम्र के लिए ये बदन बड़ा ही सेक्सी था. उसने सच में अपनी बॉडी को बड़ा मेंटेन किया था.

सफ़ेद ब्रा ने उसके बड़े बूब्स को अपने अंदर बाँधा हुआ था. मेरी आँखे उसके बदन के ऊपर चिपकी हुई थी जब वो कपडे खोल रही थी. उसने अपनी ब्रा का हुक भी खोला और उसकी ब्रा निचे गिर गई. नेहा के बड़े बूब्स अब मेरी आँखों के सामने थे. मैंने भी अपना शर्ट निकाल फेंका और अपनी पेंट के बकल को भी निकाला. और मैं वहां खड़ा हुआ उसको देखता रहा. मेरे लंड के प्रेशर एकदम से बढ़ रहा था.

मैंने पेंट को बदन से दूर किया और फिर उसके बदन के निचे के हिस्से के कपड़ो को खोलने लगा. कुछ ही पलों में हम दोनों ही न्यूड थे. और बिस्तर के अन्दर एक दुसरे के पास में पड़े हुए थे. उसने मेरी आँखों में देखा. मैंने अपने एक हाथ को उसके हिप के ऊपर रखा उसकी स्किन को फिल करते हुए. और फिर से उसने अपने होंठो को मेरे होंठो से लगा दिया. मैंने भी उसको हलके से किस किया और अब उसकी जबान मेरे मुहं में घुस आई. हम ऐसे ही पड़े रहे अपनी जबान को एक दुसरे से लड़वाते हुए.

कुछ देर में मैंने उसकी हिप के उपर रखे हुए हाथ को उसके बूब्स की तरफ बढ़ा के उसके राईट बूब को जोर से दबा दिया. और फिर उसकी निपल को हलके से ऊँगली से सर्कल कर के टीज करने लगा. और उसने तब मुझे एकदम जोर से किस किया. उसने किस को तोडा और बोली, सच कहूँ तो किरन ने कभी ऐसे उँगलियों का जादू नहीं चलाया. मैंने उसके होंठो को चूसा और ऊँगली को और भी सेक्सी ढंग से उसके बूब्स पर चाल्ने लगा. फिर मैं उसके निपल के ऊपर अपने होंठो को ले गया और एकदम जेंटल ढंग से लिक करने लगा. वो भी जोर जोर से साँसे और आहें भरने लगी थी निपल के ऊपर जबान के लगते ही.

मैंने निपल को आराम से अपने लिप्स के बीच में ले लिया और प्यार से उसे दबा के मजे से लिक करने लगा. मैंने कुछ मिनिट ऐसे नेहा के बूब्स पर ही जबान घिसते हुए निकाले. उसके टच मेरे बदन पर एकदम सेक्सी हो गए थे और वो एकदम चुदासी हुई पड़ी थी. नेहा ने लंड को हाथ में पकड लिया और उसे स्ट्रोक देने लगी. मैं और जोर जोर से उसके बूब्स को चूसने लगा. और फिर अपने हाथ को आगे बढ़ा के मैं नेहा की चूत के बालों का टच करने लगा. उसकी पूरी बॉडी में जैसे खिंचाव आ चूका था. और फिर वो झटके से एक साइड में हो गई. फिर वो बोली, आई एम् सॉरी!

मैंने कहा, कोई बात नहीं. और फिर से मैंने उसको किस कर दिया. और इस बार मैंने अपनी गति को पहले से ही ज्यादा रखी थी. फिर मैंने उसके बूब्स को चुसे और निचे जा के उसके बेली बटन यानी की नाभि को चाटने लगा. उसकी उत्तेजना और भी बढ़ रही थी. फिर मैं निचे की और बढ़ा और नेहा की चूत को धीरे से किस कर लिया. वो कराह उठी. मैं अपनी जबान को अंदर किया तो नेहा जैसे पिगल उठी. वो अह्ह्ह्ह अह्ह्ह कर के अपने हाथो को मेरे कंधे के ऊपर रख के दबा रही थी. मैं जैसे शहद को चाट रहा था वैसे चूसने लगा.

वो भी जोर जोर से अपने बदन को मेरे ऊपर घिस रही थी. मैं उत्तेजना के मारे उसकी चूत में अन्दर तक जबान को डाल के हिला रहा था. नेहा ने अब अपने बदन को ऊपर की तरफ उठाया. उसकी चूत मेरे चहरे के ऊपर घिस रही थी. वो बोली, राहुल जोर से करो आह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह आह्ह्ह. उसने लंड को पकड लिया. उसे चूत के अन्दर लंड ले लेना था. मैं ऊँगली को उसकी चूत के ऊपर घुमा रहा था. मैंने मुहं हटा के उसको देखा. वो लंड को धीरे धीरे से स्ट्रोक कर रही थी.

मैंने उसको पूछा की तुमने कभी मुहं में लिया हे? वो जरा शोकड लग रही थी. उसने पूछा, तुम मेरे से करवाना चाहते हो? मैंने हंस के कहा, जरुरी नहीं हे. ये तुम्हारी पार्टी हे जो तुम को ठीक लगे.

वो कुछ भी नहीं बोली. मैंने अपने लंड को उसकी जांघो के बिच में रख के घिसा. उसने कंडोम निकाल के मेरे लंड के ऊपर पहना दिया. मैंने अब अपने लंड को उसकी चूत की एंट्री के ऊपर लगा दिया. एक प्यार भरा धक्का और मेरा लंड 3 इंच जितना चूत के अन्दर जा घुसा. और फिर मैंने उसके बाद में एक और धक्का दे दिया. मेरा लंड चूत में और अन्दर तक जा घुसा. मैंने धक्के देता रहा. और उसकी चूत भी जैसे मेरी तरफ खिंची आ रही थी.

अब मेरे धक्के तेज हो चुके थे और लंड हर धक्के पर और भी अंदर जाता था. उसकी साँसे तेज हुई थी, उसकी आँखे घूम रही थी. मैंने उसको कस के पकड़ा हुआ था और जोर जोर से उसे किस करते हुए चोद रहा था. वो जोर जोर से सिसकियाँ रही थी. मैंने कहा नेहा तुम सच में सेक्स की देवी हो! और ये सुन के नेहा के बदन में जैसे और भी एनर्जी आ गई. वो जोर जोर से गांड हिला के चुदवा रही थी.

नेहा की चूत में वीर्य की पिचकारी छूटी और उसके बदन के अन्दर भी जैसे शान्ति हो गई. वो मेरे से लिपट पड़ी और मैंने उसके होंठो के ऊपर चुम्बन दे दिया.

हम दोनों ऐसे ही एक दुसरे की बाहों में कुछ देर तक पड़े रहे. नेहा तृप्त हो गई थी. वो खड़ी हो के अपने बाल सीधे कर रही थी और मैंने उसकी चूत को देखा तो उसके ऊपर मेरा वीर्य लगा हुआ था. नेहा ने मुझे 10 हजार रूपये दिए और बोली, अब किरन को बोलना पड़ेगा की तुम्हे ही भेजे!

 

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age