मंजू भाभी की मस्त चुदाई – [Part 2]

हेलो दोस्तों मैं यहां अपना एक और नई देसी सेक्स स्टोरी के साथ आया हूं, अब आप सब का ज्यादा टाइम खराब ना करते हुए सीधे स्टोरी स्टार्ट करता हूं.

पहले मैं आपको जिसके साथ मैंने सेक्स किया उस लड़की के बारे में बता दूं. उनकी उमर अभी करीब २८ साल की होगी और उनके दो बच्चे भी हैं, एक लड़का और एक लड़की और उनके हस्बेंड कॉल सेंटर में काम करते हैं.

भाभी का नाम मंजू है और वह हमारे पड़ोस में ही रहते हैं करीब ५ साल से.. उनका लड़का जब वह यहां पर रहने को आए थे तब हुआ था. उनका यहां कोई पहचान वाला नहीं था तो मेरी मां आंटी को काफी अच्छे से हेल्प करती थी और दोस्तों आंटी काफी सेक्सी है हमारे पूरे एरिया वाले उनको चोदने के सपने देखते हैं और में भी उनमें से एक था. उनका फिगर भी बहुत अच्छा है, उनका फिगर ३२-३०-३४ का है.

यह बात तब की हे जब आंटी को बेटा हो चुका था और वह करीब एक साल का हो चुका था. हमें उनके बेटे के साथ खेलने गया हुआ था.

दोस्तों में उनके घर में बिना दरवाजा खटखटाए चला जाता हू.  तो उस दिन भी मैं बिना नॉक किए उनके घर में गया और देखा कि उनका बेटा नीचे लेटा हुआ था और खेल रहा था अकेले ही.

तो मैं उसके साथ बैठकर खेलने लगा मुझे लगा की आंटी अंदर कुछ काम कर रही होगी लेकिन वह तो नहा के बिना कपड़ों के बाहर आ गई होल में और उन्हें भी पर नहीं पता था कि मैं बैठा हूं तो वो ऐसे ही नंगी बाहर आ गई थी.

में तो उनके नंगे बदन को देखते ही रह गया, उनके शरीर पर पूरा पानी लगा हुआ था और टपक रहा था. मेरा लंड तो तुरंत ही खड़ा हो गया. मुझे देखते ही वह अंदर बाथरूम में चली गई और मैं बिना कुछ किए बाहर आ गया और अपने घर पर और मैंने उनके नाम का मुठ मारा. करीब ३ दिन मैं उनके घर नहीं गया और हम दोनों एक दूसरे से नजर नहीं मिला पा रहे थे. पर एक दिन मैं कॉलेज गया था और कॉलेज से वापस आने पर मुझे पता चला कि मेरे मॉम हमारे किसी रिलेटिव के घर गई थी

और दो तीन दिन नहीं आएंगे और डेडी भी जॉब से सीधे वहां जाएंगे. हमारे रिलेटिव के तबीयत खराब हो गई थी और वह यहां पर अपना इलाज कराने आए थे, तो मॉम डैड उनकी हेल्प करने गए थे, और मुझे भी कोई प्रॉब्लम नहीं थी तो एक दिन करीब ११ बजे घर पर कोई नहीं था तो मेरे को फुल मज़े थे. तो में रात भी पोर्न देखता था करता और सुबह आराम से उठता था.

उस दिन भी में सुबह लेटा हुआ था, तब ११ बज रहे थे और मंजू आंटी मेरे घर पर आई पूछने के लिए क्या खाना क्या बनाऊं और उस दिन संडे था तो उनके हस्बैंड अपने दोनों बच्चों को लेकर बाहर गए थे घूमने और रात को लेट आने वाले थे.

तो जब आंटी घर पर आई तो मैं बस अपने अंडरवियर में था और मेरा लंड खड़ा था तो मैंने आंटी को देखकर बगल से टावेल उठा लिया और पहन लिया, आंटी ने मुझे पूछा खाने में क्या बनाऊं? तो मैंने उनसे बोला जो आपको अच्छा लगे बना दो.

तो उसने मुझे बताया कि अंकल नहीं है तो बस हम दोनों के लिए ही बनाना है तो मैंने बोला कि मेरे घर ही कुछ बना लेते हैं, तो वह मान गई और खाना बना लिया. दाल राइस और सब्जी बनाया अच्छा सा और हम खाने बैठे मेरे घर पर..

अब उन्होंने कहा कि टीवी  चालू कर और मैं भूल गया था कि मैंने टीवी  में डीवीडी प्लेयर कनेक्ट किया हुआ है और उसमें पोर्न कि सीडी भी ऐसी ही लगी हुई है, जैसे ही मैंने टीवी  स्टार्ट किया तो पोर्न स्टार्ट हो गया और मैं बहुत डर गया. उस समय तो आंटी भी काफी चौक गयी के यह क्या? तो उन्होंने ने मुझे पूछा कि यह है क्या सब.

तो मैंने उनसे बोला कि किसी को बताना मत और सॉरी बोला. उसने तो मुझे एक नॉटी सा स्माइल दिया और खाने लगी, और मैं टीवी  बंद करने के लिए सोचा तो उन्होंने कहा कि टीवी स्टार्ट कर और पोर्न ओपन कर, मैं काफी चौक गया..

यह सुनकर मुझे बहुत खुशी हुई और मैंने स्टार्ट किया और पोर्न स्टार्ट होते ही मैं पूरे जोश में आ गया और मेरा लंड खड़ा हो गया, और देख के आंटी भी थोडी गरम हो गई तो मैंने सोचा क्यों ना मैं ट्राय करूं आंटी पर और मैं उनके पास जाकर बैठ गया और अपना लंड मसलने लगा पैंट के ऊपर से.

यह देखकर आंटी बोली क्या कर रहा है बेटा? तो मैंने बोला कि मुझे खुजली हो रही है तो उन्होंने कहा कि पैंट निकाल के खुजाले, और मैंने इतना सुन कर अपने सारे कपड़े निकाल दिए और पूरा नंगा हो गया. मेरा लंड पूरे जोश में था और वह देखकर आंटी और ज्यादा गरम हो गई और मेरे लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी और बोली कि उनके हसबंड का लंड तो मेरे लंड से आधा भी नहीं है और चूसने लगी.

करीब ७-८ मिनट उन्होंने मेरा लंड चूसा और मैं जड़ गया और मैंने टीवी  बंद किया और आंटी की साड़ी उतार दिया और उनके ३२ के बूब्स को उनके ब्लाउज के ऊपर से चूसने लगा, बहुत मजा आ रहा था मुझे. और अब वह और ज्यादा गर्म हो गई थी और खुद ही अपने सारे कपड़े निकालने लगी. पर मैंने उन्हें रोका और उनके ब्रा और पैंटी नहीं उतारने दिया क्योंकि मुझे उतारने थे वह तो.

और मैंने सोचा इससे अच्छा मौका और कहां मिलने वाला है, अपने मोबाइल में वीडियो रिकॉर्डिंग स्टार्ट किया और आंटी ने भी कुछ नहीं बोला और मैंने जोश में आकर उनके पैंटी फाड़ दिया और उनके ब्रा का हुक भी तोड़कर निकाला तो वह भी कुछ नहीं बोली और मैंने उनके चूत के तरफ देखा था कि सुंदर सी थी और ऊपर से क्लीन शेव थी और अब उनकी चूत चाटना शुरु किया तो तभी पता चला कि वह पहले से ही अपना पानी छोड़ चुकी थी.

तो मेरे पूछने पर बताया कि काफी टाइम से उन्होंने सेक्स नहीं किया तो मैंने बोला कि अब तू मेरी रंडी है मैं तुझे रोज चोदूंगा और वह खुश हो गई और मुझे चूमने लगी अब मैंने अपना लंड  उसकी चूत पर लगाया और एक ही धक्के में आधा लंड  डाल दिया.

उसकी चूत में और वह तड़प उठी, काफी मजा आया. और दूसरे धक्के में पूरा लंड  घुसा दिया उसकी चूत में, और चोदना शुरु किया और काफी देर तक चोदा उसको. और वह भी अलग अलग पोजीशन से मुझसे चूद रही थी. मैंने करीब २ घंटे उसको चोदा उस दौरान में दो बार जड़ा था पर वह बार बार मेरा लंड मुंह में लेकर खड़ा करती थी और चुदाती थी.

उसके बाद मैं उसको हर सन्डे चोदता था, करीब छह सात महीने चोदा और इस बीच में मेरे बच्चे की मां भी बनने वाली थी पर उसने पिल्स ले लिया. उसके बाद मैंने उसको चोदना छोड़ दिया क्योंकि वह पागल हो गई थी पर मुझे अपने साथ भागने के लिए बोलने लगी थी.

One Comment