मासूम गर्लफ्रेंड की जोरदार फकिंग

loading...

दोस्तों मेरा नाम करन हैं और मैं हैदराबाद से हूँ. मैं बड़ा ही चुदासी टाइप का हूँ और दिन में कम से कम एक बार लंड हिलाता हूँ. मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं हे लेकिन मैं हमेशा सेक्स के लिए एक चूत की तलाश में ही था. चीजे सही नहीं हो रही थी मेरे लिए. मैं नर्वस हो रहा था और सोच रहा था की कोई मिले तो पकड़ के ऐसे चोदुं की नानी याद करवा दूँ उसकी. और कभी कभी घर में अकेला रहा तो चोदने के ख्यालों में ही सुबह से शाम तक ना जाने कितनी बार लंड को हिला लेता था.

और फिर एक दिन मुझे ख्याल आया की ये तो बहुत हो रहा हैं. मैंने खुद को कहा करन ऐसे कब तक लंड हिलाएंगे यार सच में समय आ गया हे की किसी को पटा के पेला जाए. और मैं ये भी जानता था की खुबसुरत लड़कियों को चुदवाने में बड़ी उलझन और नखरे होते हे. और वो जल्दी चोदने नहीं देती हा, मेरा लुक्स एवरेज है, पेट बहार को हे और लंड बड़ा हैं.

loading...

एक दिन मैंने अपनी कोलेज के बहार एक लड़की को देखा. वो बहुत ही खुबसुरत लड़की थी और उसके साथ और चार लडकियां भी थी. वो सभी लडकियां मेरे एक दोस्त की फ्रेंड्स थी. तो मैंने अपने दोस्त को उन लड़कियों के बारे में पूछा. मेरे दोस्त ने कहा देख बाकि के चार का तो लफड़ा आलरेडी चालु हे. लेकिन अभी उस ग्रुप में एक लड़की हे जिसका नाम काजल हे वो फ्री हैं.

loading...

काजल थोड़ी मोटी, डार्क रंग की और बड़े बूब्स और गांड वाली लड़की थी. मैंने अपने दोस्त से काजल का नम्बर माँगा. उसने नम्बर दिया और बोला की बोलना मत की मैंने दिया हैं. अगले दिन मैंने उसको मेसेज किया. पहले तो उसने कहा की मैं अजनबियों से बातें नहीं करती हूँ. लेकिन फिर मैंने उसे कहा की मैं कहा अजनबी हूँ. उसने पूछा तो मैंने बताया अपनी पहचान. वो बोली तो अच्छा रामू (मेरे दोस्त का नाम) ने नम्बर दिया? मैंने कहा नहीं उसने नहीं दिया लेकिन वो इम्पोर्टेन्ट नहीं हे की किसने नम्बर दिया हैं. मैंने काजाल को कहा की मुझे सिर्फ आप के साथ दोस्ती करनी हैं. वो बोली सिर्फ फ्रेंडशिप, मैंने कहा ओके.

मैं जानता था की कोई भी लड़की की पहले तारीफ़ करो तो उसे लगता हे की जूठी तारीफ़ हे या मस्के मार रहा हैं. लेकिन बार बार करो तो उसे लगता हैं की सच ही बोल रहा होगा.

अब मैं डेली काजल के नाम की थी मुठ मारता था. उसकी और मेरी डेली बातें होती थी चेटिंग में और मैं जानबूज के उसकी तारीफे करता रहता था. कुछ ही दिनों में मैं समझ गया की वो एक मासूम लड़की थी. वो भी मुझे पसंद सा करने लगी थी अब.

फिर एक दिन मैंने उसे हिम्मत कर के मूवी में चलने के लिए पूछा. वो मान गई. और हम लोग आईमेक्स में चले गए. तब उसने ब्ल्यू टी शर्ट और ब्लेक जींस पहनी हुई थी. उसका टी शर्ट उसके बदन से चिपक रहा था और ऐसे में उसके बूब्स और भी बड़े लग रहे थे. मैं उसके बूब्स को देख के होर्नी हो चूका था और बेताबी से उसे चोदना चाहता था.

और उसी दिन मूवी और लंच के बाद मैने काजल को प्रोपोस कर दिया. वो दुविधा में थी की हाँ करू या ना!  और फिर मैंने उसे कहा की मैं उसे सच में बहुत प्यार करता हूँ और अपनी आँखों में जूठे आंसू भी ले के आ गया. और फिर उसने हाँ कर दिया. मैं बहुत ही खुश हुआ. और तब मेरे दिल को तसल्ली हुई की अब मैं उसकी चूत को चोद सकूँगा!

अगले हफ्ते मैंने काजल को अपने घर पर बुलाया जब कोई नहीं था. वो झिझक रही थी इसलिए मुझे फ़ोर्स करना पड़ा उसको. उसके आने से पहले मैंने सब अरेंजमेंट कर ली थी. एक हफ्ते भर तक चुदाई हो सके उतने कंडोम ले के आया था मैं. और फिर 10 बजे के करीब वो मेरे घर पर आ गई. काजल को देख के मेरा तो जैसे मुहं ही खुला रह गया था.

उसने ब्लेक टी शर्ट पहनी हुई थी जो वी नेक की थी और उसके ऊपर उसने डेनिम का शर्ट पहना हुआ था. निचे उसने ब्लू जींस डाली थी और वो बड़ी ही सेक्सी लग रही थी. मैं खाना अच्छा पका लेता हूँ. मैंने हमारे लिए चिकन बनाया और उसे खिलाया. और उसे खाना बहुत पसंद भी आया.

फिर मैं काजल को अपने बेडरूम में ले गया और मैंने एसी ओन कर दिया. मैंने कहा बेड के ऊपर थोडा सुस्ता लो. उसने मुझे कह दिया की देखो मैं शादी के पहले कुछ भी नहीं करुँगी! मैंने कहा अरे पागल करना तो मुझे भी कुछ नहीं हैं लेकिन सिर्फ किस तो कर ही सकते हैं. और ये कह के मैंने अपना शर्ट उतार दिया. मुझे ऐसे देख के उसे शर्म आ रही थी. और फिर काजल के चौड़े लिप्स को पागल के जैसे सक करने लगा. और फिर मैं किस करते हुए ही उसके ऊपर चढ़ गया. उसके हाथो को जकड़ के मैंने उसके कान और गले के ऊपर भी किस कर दिए.

और फिर उसने डेनिम शर्ट में हाथ डाल के मैंने उसको निकाल फेंका. मैं अब उसके बूब्स को मसल रहा था लेकिन वो बार बार मेर्रे हाथ को धकेल रही थी. मैंने एकदम रोतले स्वर में उसे प्लीज़ कहा और वो अब धक्के नहीं दे रही थी. और उसको धीमा पड़ता देख के मैंने उसकी टी शर्ट जल्दी से निकाल दी और ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स को मसलने लगा. मैंने उसकी ब्रा का हुक निकाला और उसके ब्रा के निपल्स को और ऊपर के हिस्से को चूसने और चाटने लगा.

वो खुद के ऊपर बहुत कंट्रोल करना चाहती थी. लेकिन अब वो भी खुद के ऊपर का कंट्रोल गवां चुकी थी. वो जोर से मोअन कर रही थी और मेरे बालों को उसने अपने हाथ में जकड़ के खिंच लिया. और मैंने अब धीरे से अपने शोर्ट को निकाल फेंका उसके बिना देके. मैंने काजल का हाथ पकड़ के अपने लंड पर रख दिया. वो एकदम से घबरा गई, किस करनी बंद कर दी और जैसे कहना चाहती हो की बस अब कुछ नहीं करना हैं!

मैं गुस्सा हुआ और उसके दोनों हाथ को पकड़ के उसे चूमने लगा. वो अपने चहरे को दूर करना चाहती थी लेकिन मैंने करने नहीं दिया. और मेरा लंड उसकी चूत वाले हिस्से के ऊपर जींस से लड़ रहा था. वो मना कर रही थी लेकिन मैंने उसकी एक भी नहीं सुनी. मैंने एक हाथ से उसकी जींस को खोल के निचे कर दिया. वो कह रही थी, नहीं नहीं नो प्लीज़ मत करो!

लेकिन मैंने उसकी एक नहीं सुनी और जींस को फेंक दिया साइड में. और उसकी सॉफ्ट टच वाली वजाइना को मैं पेंटी के ऊपर से घिसने लगा. वो डर के मारे रोने लगी थी. उसे रोते हुए देख के जैसे मुझे और भी मजा आने लगा था. मैंने उसके निपल्स को बाईट किया और उसे दर्द दिया. वो छटपटा रही थी लेकिन उसका छूटना मुश्किल था. वो दर्द से तिलमिला सी रही थी लेकिन वो सब मुझे अच्छा लग रहा था. और फिर मैंने उसकी पेंटी भी निकाल दी और वो एकदम नंगी थी. अब तक हम अँधेरे कमरे में थे जिसमे उजाला नहीं था. और फिर मैंने उसके नंगे बदन को देखना चाहा और ट्यूबलाईट ओन कर दी. वो हम दोनों को नंगे देख के रोने लगी. वो मुझे रुकने के लिए कह रही थी. उसकी बॉडी एकदम अमेजिंग थी. वो मोटी और सकी थी. मैं अब उसके पुरे बदन को किस कर रहा था और अपने दांतों से काट रहा था. और वो चिल्ला रही थी.

अब मैं उसके ऊपर आ गया. उसके हाथ को पीछे कर के उसके होंठो को अपने पास ले के चुसे और अपने लंड को उसकी चूत में फंसाया. और एक मस्त झटका लगा दिया. मैंने उसके मुहं को बंद कर रखा था लेकिन फिर भी वो चीख पड़ी. और उसकी आँखों से आंसू भी निकल पड़े. काजल की चूत एकदम टाईट थी और वो अन्दर से बड़ी गरम थी. मुझे भी घुसाने से दर्द हो रहा था. और मैं ऐसे ही एक मिनिट के लिए पडा रहा और फिर धीरे से हिलना चालू किया.

मैं उसे रोते हुए सुनना चाहता थाइसलिए मैंने उसके होंठो से लगे हुए अपने होंठो को दूर कर दिया. वो रो रही थी जोर जोर से और मैं उसे मजे से चोदने लगा था. मैंने उसके कान चबा रहा था और उसके चहरे के ऊपर भी किस कर रहा था. वो मुझे रुकने के लिए कह रही थी. लेकिन मैं उसे और भी जोर जोर से चोदने लगा था. पांच मिनिट क्र बाद मैंने कहा मेरा माल निकलने वाला हैं. वो बोली प्लीज़ अन्दर नहीं लेकिन मुझे तो अंदर ही झड़ना था. और मैंने अपने गर्म वीर्य की पिचकारी काजल की चूत में ही छोड़ दी. वो बड़ा गुस्सा हुई और मुझे ये करने के लिए मारने लगी. बड़ा मजा आ गया. मैंने उसके ऊपर रोल कर के लेट गया.

काजल अब जोर जोर से रो रही थी जैसे उसका रेप हो गया हो. वो खुद को कोश रही थी की उसने मेरे ऊपर ट्रस्ट किया. मैंने बेड के ऊपर की चद्दर को देखा तो वो एकदम लाल हो चुकी थी उसके खून से. और उसे देख के मेरे लंड में फिर से जान आ गई. मैंने उसे घुमाया और वो जोर जोर से चिल्ला रही थी. मैंने उसके बाल पकडे और उसे बिस्तर के ऊपर उल्टा फेंका. फिर मैं पिचेह चढ़ गया उसके और डॉगीस्टाइल में उसकी चूत को चोदना चालू कर दिया. सामने बड़े आईने के अंदर वो देख रही थी की मैं पीछे से उसे चोद रहा था. उसको बड़ा दर्द हो रहा था इसलिए वो रो रही थी. लेकिन मैंने उसकी एक नहीं सुनी और. और मैं कस कस के उसकी चूत को ठोकता ही चला गया.

वो मिन्नते कर रही थी मुझे रुकने एक लिए. मैंने अपने फोन को उठाया और आईने के अंदर के सिन के कुछ पिक्स ले लिए. और फिर उसे बिना कुछ कहे वीडियो रिकोर्डिंग भी चालु कर दी हम दोनों के सेक्स की. अब तो मैं उसके ऊपर चढ़ गया था और गांड को पकड के ऐसे चोद रहा था की उसकी जबान बाहर आ गई थी.

वो मुझे जोर जोर से कह रही थी की छोड़ दो प्लीज. मैंने फिर से उसकी चूत में पानी छोड़ दिया. मैं बाथरूम में गया और खुद को साफ़ कर लिया. वो भी मेरे पास आई लेकिन वो मुश्किल से चल भी पा रही थी. वो भी रोते हुए अपनी चूत को साफ़ कर रही थी. उसकी चूत से अभी खून आ रहा था. वो अपने कपडे पहन के जाने के लिए रेडी हो रही थी. मैंने कहा जाना हे तो जाओ लेकिन पहले थोड़ा खा लो ताकि शक्ति मिले थोड़ी. वो मना कर रही थी तो मैंने उसे ताड़ ताड़ तमाचे लगाए. अब वो खाने के लिए बैठ गई.

और फिर से मेरा लंड खड़ा हो गया. अब मैंने उसे लंड चूसने के लिए कहा. उसने कहा प्लीज़ जाने दो अब तो दो बार चोद लिया हैं तुमने. मैंने कहा एक बार लंड चूस दो मेरा फिर जाने देता हूँ. वो नहीं मान रही थी तो मैंने कहा लंड चूस दोगी तो चोदुंगा नहीं.

वो रोते हुए फिर से मेरा लंड चूस रही थी. मैंने उसके बाल पकडे और उसके मुहं को चोदने लगा. वो मेरी गांड को पकड़ के लंड चूस रही थी और मैंने बॉल्स तक उसके लंड को घुसा दिया था. फिर मैंने लंड को बहार निकाला. मैंने कहा चलो जींस निकालो काजल.

वो नहीं मानी लेकिन मैंने उसे 4 तमाचे लगाए और उसकी जींस को घुटनों तक निकाल के उसे घोड़ी बना दिया. मैंने लंड को चूत में घुसा दिया और वो रोने लगी थी. चुदाई के बाद मैंने पिचकारी उसकी गांड पर मारी. वो खड़ी हुई और कपडे पहनने लगी. मैंने कहा आई लव यु!

वो मेरे कमरे से भागते हुए बोली, हरामी!

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age