मच्योर बुआ की चूत चोदी उसकी बर्थडे पर

loading...

मैं 25 साल ला नोर्मल बिल्ड और लुक्स वाला लड़का हूँ. मैं पूना में रहता हूँ लेकिन वैसे मैं चंडीगढ़ से हूँ. मैं पूना में नया नया आया था तब लाइफ डिफिकल्ट थी. मैं हॉस्पिटलिटी बेकग्राउंड से हूँ और अलग अलग शराब की एकदम सही पहचान हे.

मेरी एक कजिन बुआ हे जो पूना में ही रहती हे. मेरी बुआ की फेमली में वो और उसका बेटा यानी की दो लोग ही हे. ताउजी तो कनेडा में सेटल हे और वो इंडिया बहुत कम आते हे. मैं बुआ के प्लेस से काफी दूर रहता था. वो और उनका बेटा मुझे अक्सर कॉल कर के अपने पास बुलाते थे लेकिन मेरे पास सच में उन्के पास जाने का वक्त ही नहीं होता था. लेकिन जब बुआ की बर्थडे थी तो उन्होंने बहुत जोर किया और मैंने भी सोचा की चलो चला ही जाता हूँ. क्यूंकि बुआ ने मेरी माँ को भी कॉल कर के बोला था की वासु को मेरी बर्थडे के दिन आने के लिए कहना. मैंने बुआ के जन्मदिन को ऑफ़ ले लिया और उनके घर पर चला गया.

loading...

पहले मैंने आप को बताया नहीं लेकिन मेरी बुआ का नाम पूनम हे और वो करीब 38-40 साल की हे. मुझे उसका फिगर तो पता नहीं लेकिन उसके बड़े दूध से भरे हुए बूब्स हे और ऐसी ही बड़ी गांड भी हे. उसकी गांड और बूब्स के ऊपर कोई भी आदमी मरना चाहे ऐसी हे.

loading...

मैंने अपने साथ एक फुल का बुके, वाइन की बोतल, चोकोलेट ली और उन्के घर पर गया. जैसे ही बुआ ने दरवाजा खोला उन्होंने मुझे हग किया. और उसके बूब्स मेरी छाती से टकरा गए. बुआ ने मस्त साडी पहनी हुई थी. और उन्हें ऐसे देख के मेरा तो खड्डा हो गया जिस से मुझे शर्म भी आ रही थी. लेकिन जैसे तैसे कर के मैंने लंड की उंचाई को छिपा ही ली. वहां पर मेरे 10-12 लोग आये हुए थे. मेरा कजिन, उसकी आइटम, उसके कुछ दोस्त और मेरी बुआ की दोस्त.

बुआ ने मुझे अपने दोस्तों से मिलवाया और मैं सब को मिला थी. पार्टी काफी अच्छी थी और फिर महमान जाने लगे. उसके बाद एंड में मैं हम चार लोग ही रह गए. मैं मेरी बुआ, कजिन और उसकी आइटम यानी की गर्लफ्रेंड. और फिर मेरे कजिन ने कहा की मेरी गर्लफ्रेंड रात को यही रुकने वाली हे. थोडा अजीब लगा मुझे लेकिन वो सच में अपनी इस आइटम को ले के अपने कमरे में चला भी गया. अब मैं और बुआ लिविंग रूम में थे. मैंने और बुआ ने साथ में बैठ के वाइन पिने का डिसाइड किया.

हम दोनों पीते हुए लाइफ की बातें करने लगे. कुछ ही पलों में टोपिक गर्ल्स पर चला. मैंने बुआ को बताया की मेरा अपनी पुरानी गर्लफ्रेंड के साथ ब्रेकअप हो गया हे. और फिर मैंने उसे अंकल के बारे में पूछा तो बुआ ने कहा अंकल ने कभी मेरे से अच्छा बिहेव किया ही नहीं. आंटी के कहने के मुताबिक़ वो उसे अवॉयड करते हे और बुआ ने ये भी कहा की वो तो अंकल के खिलाफ मुकदमा करने को भी सोच रही हे. बुआ ने बोला की वो वहां केनेडा से कॉल भी नहीं करते हे और पिछले दो साल से तो इंडिया भी नहीं आये हे.

हम दोनों पीते गए और वो अंकल के बारे में ही बोलती गई. और बुआ की आँखों में आंसू निकल पड़े. और वो मुझे कह रही थी की तुम जवान हो इसलिए नहीं समझोगे मेरी हालत. और फिर वो अपने बेटे यानि की मेरे कजिन की भी फ़रियाद करने लगी की कैसे वो बस लड़कियों की दुनिया में ही रहता हे. और वो उसकी फ़िक्र नहीं करता हे जरा भी. मैंने बुआ की आँखों से आंसू पोंछे और वो मेरे कंधे के ऊपर सर रख बैठी.

मैंने कहा आंटी आप उन दोनों का टेंशन छोडो मैं हमेशा आप के लिए हूँ जब भी आप को मेरे लायक काम हो मुझे बता देना. मैंने टोपिक को चेंज करने के लिए उसकी सुन्दरता की तारीफ़ की. आंटी ने कहा तुम नहीं समझोगे एक औरत की जरूरतों को!

मुझे हिंट मिल गई थी. मैंने बुआ के डीप क्लीवेज को देखा और उसके नाभि के बटन को थी. एक अजीब सा सन्नाटा था. मेरे ऊपर शराब हलकी हलकी सी चढ़ी हुई थी और मौसम भी एकदम मस्त था उस वक्त. मैं एकदम से खड़ा हुआ और मैंने बुआ को अपने सिने से लगा लिया. मैंने उन्के गाल पर चूम लिया और फिर गले के ऊपर भी. वो पथ्थर थी जैसे, ना कुछ कह रही थी ना कोई रिस्पोंस दे रही थी. लेकिन मैं उसे अभी भी किस कर रहा था. उसने मुझे धक्का दिया और बोली नहीं नहीं ये गलत हे ये सही नहीं हो रहा है हमारे बिच में.

लेकिन मेरा मूड ही नहीं था उसको सुनने का. मैंने फिर से उसे पकड़ लिया और अपने काम चालू कर दिया. मैंने कहा, बुआ आप का हसबंड और बेटा आप का नहीं हे फिर आप उतना क्यूँ सोचती हो. आज मैं आप को प्यार दे रहा हूँ तो ले लीजिये ना. वो थोड़ी कन्फ्यूज सी थी लेकिन अब कन्विंस सी लग रही थी. मैंने किस करना फिर से चालू कर दिया. और अब मैं उसके बूब्स भी दबाने लगा. फिर मैं बुआ को ले के बेडरूम में चला गया. मैंने वहां पर उसके कपडे खोलने चालु कर दिए. मैंने बुआ की ब्रा खोली और उसके बूब्स एकदम से बाहर आ गए. मैंने उन्हें चुसना और काटना चालू कर दिया. बुआ को भी हॉट लग रहा था और वो प्लीजर की वजह से मोअन कर रही थी. मैंने अब उसे एक लम्बा किस किया. फिर मैंने उसके कान के लोबस को भी काटा.

फिर मैंने बुआ के नाभि के बटन को किस किया. वो भी उतावली सी हो रही थी. अब मैं उसके लव होल पर यानी की उसकी चूत तक चला गया. मैंने उसकी पेंटी निकाल दी. उसकी चूत पर हलके हलके बाल थे. मैंने उसकी चूत को सुंघा और वो पहले से ही गीली थी. मैं किस करने लगा और वो ख़ुशी के मारे एकदम पागल सी हो रही थी. वो उछल उछल के अपनी चूत को मेरे मुहं पर घिस रही थी.

मैं उसकी चूत को चूसता रहा और उसने अपने लेग्स को फोल्ड कर दिया. मेरा पूरा मुहं उसकी चूत में घुसा हुआ था और सांस लेने में भी जैसे तकलीफ सी हो रही थी. लेकिन सच कहूँ तो मजा आ रहा था. बुआ के लव ज्यूस बहने लगे जिसे मैंने पी लिए. मैंने बुआ को अब मेरा लंड चूसने के लिए इशारा किया. वो मान गई और लंड को अपने मुहं में ले लिया.

बुआ ने किसी प्रोफेशनल रांड के जैसे मेरे लंड को चूसा. एक मच्योर लेडी को लंड चुसाने का अपना अलग ही मजा था. मैंने उसके बाल पकडे और उसे आगे पीछे कर के लंड चूसने में मदद करने लगा. मेरे लंड से प्रीकम निकला जिसे वो सब का सब चाट गई अपनी जबान से. मैं उसके बूब्स से खेल रहा था. वो और भी सेक्सी ढंग से मेरे लंड को चूस रही थी. मैंने बेड में लेटे हुए ही उसकी चूत में अपनी एक ऊँगली घुसा दी. पहले एक, फिर दूसरी और फिर ऐसे कर के मैंने अपनी तीसरी ऊँगली को भी बुआ की चूत में डाल दी.

और फिर मैं रेडी था अपनी हॉट बुआ की चूत को चोदने के लिए. मैंने बुआ को पूछा की क्या वो चाहती हे की मैं प्रोटेक्शन लगाऊं लंड के ऊपर. वो बोली नहीं कंडोम के बिना कर सकते हो तुम. और सच कहूँ तो मुझे भी कंडोम पहन के चोदने में मजा नहीं आता हे. साला चूत और लंड के बीच में कंडोम जो होता हे. मैंने अपने लंड को बुआ की मच्योर चूत में डाला और उसे चोदने लगा.

बुआ की चूत एकदम गरम गरम थी और एक मिनिट में ही उसने पुरे के पुरे लंड को अपनी चूत में घुसवा लिया था. मुझे भी कोई जल्दी नहीं थी और मैंने आराम आराम से उसकी चूत में धक्के लगाने चालू किये. और फिर मैं आराम से ही अपनी स्पीड को बढाता गया. वो अपने नाख़ून मेरी कमर के ऊपर घुसा रही थी जिसका दर्द मुझे महसूस हो रहा था. और मेरे लंड और उसकी चूत के लड़ाई की चप चप छप छप की आवाज भी आ रही थी. मैंने अपनी एक ऊँगली को बुआ के मुह में दे दिया और वो जैसे लंड सक कर रही हो वैसे इस ऊँगली को चाटने लगी.

कुछ देर में बुआ मेरे सामने घोड़ी बन गई और मैंने उसे पीछे से अपना लंड दे दिया. हम दोनों ऐसे चोद रहे थे जैसे आज चुदाई के लिए आखरी दिन हो और कल से कोई चुदाई ही ना होनी हो.

हम दोनों के बदन पसीने से थपथ हो चुके थे. मेरा लंड पानी छोड़ बैठा और मैंने सब ज्यूस बुआ की चूत में ही छोड़ दिया. मैं थक गया था और वही लेट पड़ा और उसको किस करने लगा. हम दोनों ने कपडे पहने. बुआ ने मुझे गले लगा लिया और उसने कहा की आज बहुत समय के बाद वो सेक्स कर रही थी. और उसने ये भी कहा की आज का ये सेक्स सेशन उसकी लाइफ का सब से अच्छा सेक्स अनुभा था.

बुआ ने मुझे कहा की प्रतीक (मेरा कजिन) दिन में घर पर नहीं होता हे और संडे को भी वो पूरा दिन पार्टी ही करता हे दोस्तों के साथ. मैं समझ गया की वो क्या कह रही थी. मैंने कहा बुआ अब मैं हर संडे को आप के साथ ही बिताऊंगा.

वो रो पड़ी और बोली, आई लव यु!

मैंने बुआ को किस कर लिया और वो मुझे ड्राप करने के लिए बहार तक आई. कजिन और उसकी गर्लफ्रेंड ना होती तो मैं जाता भी नहीं.

लेकिन फिर मेरा हर संडे का काम फिक्स हो गया. बुआ संडे को मेरे साथ ही रहती थी. कभी हम साथ में मूवी भी जाते थे. और चांस मिले तो सिनेमा में भी वो लंड चूस देती थी मेरा! अभी भी मैं पूना में ही हूँ और आज भी बुआ की चूत चोदता हु हर हफ्ते!

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age