मेरी मोम रंडी निकली

loading...

हेलो दोस्तों, मैं मुंबई में रहने वाला लड़का हूं. उम्र २३ साल, मेरे घर में मेरी एक बड़ी दीदी और मॉम डैड है.

मेरे डैड फॉरेन में नौकरी करते हैं और मोम यहां हाउसवाइफ है.

loading...

डेड ६ महीने में एक बार आते हैं इंडिया.

loading...

मॉम को देख कर लगता था के मेरी मां इस दुनिया की सबसे अच्छी माँ है लेकिन यह बात गलत निकली.

मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि उन्हें सेक्स करने की इतनी इच्छा थी, लेकिन अब क्या कर सकते हैं? भूखे कुत्ते को हड्डी डालो तो जपट से लपटता है, वैसे ही मोम को भी सेक्स की प्यास थी.

बात तब की है जब मैं ११ के एग्जाम देकर घर आया, मैं एग्जाम देकर घर पहुंचा करीब १ बज रहे थे.

दरवाजे को खोलने गया कि मुझे अंदर से कुछ आदमियों की और मोम की बात करने की आवाज़ आई, मुझे लगा शायद अंदर कोई मेहमान आया है.

और घर के बाहर तीन आदमियों की फुटवेअर भी थी, कुछ अजीब सी फीलिंग आई लेकिन मैंने दरवाजे को धक्का मार के खोलने की कोशिश की, दरवाजा अंदर से लॉक था.

मैंने घंटी बजाई लेकिन बेल नहीं बज रही थी, बेल का मेन स्विच अंदर से ऑफ़ था.

मेरी दीदी भी घर पर नहीं थी वह कॉलेज ट्रिप पर गई थी.

मैं सोच में पड़ गया कि क्या करूं? फिर मैंने बाहर रखे एक स्टूल से घर के रोशनदान में झांकने की कोशिश की, कि शायद कोई दिखे तो दरवाजा खोलने को कहु.

अंदर देखा तो मेरे पैरों तले जमीन निकल गई, दोस्तों मैंने जो देखा मैं हक्का बक्का रह गया.

मैंने देखा कि घर में तीन आदमी थे और मोम लेदर कोच पर बैठी थी, एक ट्रांसपरेंट नाइटी पहन के. तीनो आदमी मॉम को किस कर रहे थे कोई चूस रहा था कोई निप्पल मसल रहा था कोई बूब्स दबा रहा था गांड में चाटे मार रहा था.

मोम तो जैसे एक रंडी की तरह अपना शरीर बेच रही थी.

मैं समझ गया यहां अब क्या सीन होने वाला है..

फिर उन लोगों ने मॉम को कोच पर पटका और उनके सारे कपड़े फाड़ने लगे.

मोम ने अंदर रेड ब्रा पैंटी पहनी थी, फिर उन लोगों ने मॉम को ऊपर से नीचे तक १५ मिनट तक चूसा कितना चूसा और काटा के ब्रा और पैंटी गीली हो गई.

मोम ने जोर से कहा आज फाड़ देना मुझे हर जगह से, चीर देना मुझे टुकड़ों में..

यह सुन के मेरे होश उड़ गए, सोच नहीं सकता था जिस को अपनी मां बोलता हूं वह इतनी बड़ी रंडी है.

चूसने के बाद एक आदमी ने मॉम की पैंटी फाड़ते हुए उनको कोच पे डॉग पोजीशन में रखा, फिर उसने अपना बेल्ट निकाला और मम्मी गांड पर फटके लगाना शुरु किया.

मोम की आवाज निकली आह्ह औऊ ईई माआअ, वह रो रही थी और उनकी गोरी गोरी गांड लाल हो चुकी थी, मोम के मुंह पर एक आदमी लंड रगडने लगा.

फिर एक आदमी ने मॉम की बड़ी बड़ी गांड और बड़े बड़े बूब्स पर तेल लगाया, मॉम का बटन लाल हो चुका था.

उन सब ने अपने अपने कपड़े उतारे मोम उन लोगों का लंड देखकर मचल उठी, कहां कितने दिन से तरसी हुई हु.

और उतनी देर में एक आदमी ने मोम के मुह के अंदर अपना लंड पेल दिया.

लंड उसने अंदर तक घुसा दिया.

मोम के हलख तक चला गया था लंड, मैं ऊपर से जांक कर देख रहा था, कुछ नहीं कर सकता था, बस मोम को देख कर लग रहा था कि जैसे कुतिया चुद रही हो.

दूसरे आदमी ने मोम को अपने ऊपर लेटने को कहा और उसने मॉम की गांड में अपना लंड डाल दिया. मॉम चीख उठी अहह उऔउ ईई माया हहह उऔउ अमी इःह्ह अम्मम्म, उस आदमी ने मॉम को गांड में डाल के ही रुक गया, जैसे ही उसने अपना लंड निकाला उसका लंड मॉम की टट्टी से लिपटा हुआ था, पूरे लंड पर संडास लगा हुआ था.

उसने गुस्से में मॉम को एक चांटा मारा और कहां अबे रंडी गांड धो कर क्यों नहीं आई? मोम रोने लगी और कहा कि जब तुम लोग मेरी गांड की पिटाई कर रहे थे तभी मेरी गांड फट गई.

तीनों आदमी गुस्से में थे, कुछ २० सेकंड के लिए रुक गए, अचानक दूसरे आदमी जिसके लंड में घु लगा हुआ था, उसने मॉम का मुंह पकड़कर मॉम के मुंह में लंड पेल दिया. मोम छटपटा उठी, लंड में लगा संडास मुंह में घुस चुका था.

मुझे देखकर उल्टी करने का मन हुआ.

तीन आदमी ने मॉम को पकड़कर कोच पर पटका और चूत गांड मारना चालू किया, किसी का लंड चूत में, किसी का गांड के खड्डे में, तो किसी का मुंह के अंदर पूरी तरह से घुसा रहे थे.

मॉम की चीख सुनकर मैं अफ़सोस और गुस्सा दोनों कर रहा था.

उन सब ने मॉम की इतनी बुरी तरह चुदाई की जैसे घोड़े को घोड़ी मिल गई हो.

करीब डेढ़ घंटे तक यह सब चलता रहा, फिर सबने मॉम के मुंह पर अपना लंड का मुठ मारा और मोम सारा मुठ आपने फेस पर और मुह के अंदर लिया, ऐसे पी रही थी जैसे मुठ की प्यासी हो कई सालो से.

सब नहाने चले गए.

मोम उठ कर अपना मुंह एक कपड़े से साफ कर रही थी, सारा घर एक रंडी खाने की तरह महक रहा था, गु की बदबू, फर्श पर गिरी मुठ, और कोच पर तेल की बूंदे..

फिर मैं स्टूल से उतरकर नीचे भाग गया, मुझे वह मोम का सीन देख कर अजीब सी बेचैनी होने लगी.

मैंने अपनी मां को रंडी बनकर चुदाई करते हुए देखा.

करीब २ घंटे बाद में घर गया, दरवाजा जोर जोर से ठोका, मॉम ने दरवाजा खोला.

ऐसा लग रहा था घर में कुछ हुआ ही नहीं, मोम के चलने के अंदाज से पता चल रहा था कि काफी दर्द में है. उनके मुह से हल्की सी गंदी बदबू आ रही थी. वह मुंह इधर उधर छुपा कर बोली, खाना लगा दूं? पेपर कैसा गया?

२ घंटे पहले खुब गंदा वाला गैंगबैंग हुआ था…

लेकिन मुझे पता चल गया था कि मॉम इज अ चीटर एंड अ रंडी.

इस किसे के बाद से मैंने मॉम पर काफी नजर रखना शुरु कर दिया.

और आगे ऐसे बहुत किस्से हैं जो आप लोगों को बताऊंगा मेरी मॉम के बारे में.

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age