मौसी को चोद के अपना बनाया

हेलो दोस्तों, मैं गौरव फिर लेकर आया हूं आपके लिए एक और वासना की कहानी, मैं शिमला से हूं, यह स्टोरी है मेरी मौसी और मेरे बीच हुए सेक्स की. मेरी मौसी का नाम अपराजिता है पर सब उन्हें अपरा बोलते हैं, हाय क्या बदन है मौसी का? उनकी उम्र ३२ साल है, उनकी शादी को ४-५ साल हो गए हैं, उनका एक छोटा सा बेटा है, उनकी जवानी के तो सभी आशिक है, मेरी मौसी का घर मेरे घर से थोड़ा ही दूर है.

जब मौसाजी कहीं काम से जाते तो मासी मुझे अपने यहां रुका लेती थी, मैं तो खुश रहता था उनके यहां रुकने को, उनकी जवानी को ताड़ने का मौका मिल जाता था, मैं मौसी के बूब्स को घूरता रहता था, एक दो बार तो मौसी ने भी देख लिया, लेकिन कुछ कहा नहीं. मैं उनके पास जाने का बहाना ढूंढता रहता था.

एक दिन मासा जी एक हफ्ते के लिए बाहर जा रहे थे मौसी ने मुझे अपने यहां बुलाया मैं खुश हो गया और वहा पहुंच गया, जैसे ही अंदर गया घर में कोई नहीं था. मुझे बाथरूम से आवाज सुनाई दे रही थी, मैं उनके रूम में वेट करने लगा, मौसी को नहीं पता था मैं आया हूं.

तो वह सिर्फ टॉवल में बाहर आ गई, मुझे देखकर शोक्ड हो गई और जल्दबजी में उसका टॉवेल नीचे गिर गया, वाह क्या नजारा था? मौसी पूरी नंगी मेरे सामने खड़ी थी. मैं मौसी के नंगे जिस्म को घूर रहा था इतने में मौसी ने कहा बेशर्म खड़ा क्या है. बाहर जा मैं सॉरी करके बाहर चला गया.

लेकिन मेरे मन में तो मौसी के ही ख्याल आ रहे थे, उनका नंगा बदन मेरे बदन में आग लगा रहा था, मैं उनके नाम की मुठ मारने लगा, फिर रात को डिनर करते हुए मौसी कुछ शर्मा रही थी, मैंने सोचा अच्छा मौका है मौसी को पटाने का, लेकिन डर भी लग रहा था कि घर पर बता दिया तो?

फिर मैंने हिम्मत की और मौसी को कहा मौसी आप बहुत सुंदर हो, यह सुन कर वह लाल हो गई और शरमा गई, फिर मैंने उनकी खूब तारीफ की, वह समझ गई थी कि मैं अपनी मौसी का दीवाना हो गया हूं, वह भी जवान थी और कब तक अपनी जवानी पर कंट्रोल करती? मैंने उसे बहकने पर मजबूर कर दिया मैंने मौसी को आई लव यू कहा, वह इंकार करने लगी और डांटने का नाटक करने लगी, मेरी मां को बता दूंगा ऐसा बोलने लगी लेकिन मैंने उनके पास जाकर उनके हाथों को पकड़ लिया और आंखों में देखने लगा उनकी सांसे तेज हो गई.

मैंने उन्हें कहा अपरा मैं तुम्हें तब से चाहता हूं जब तुम्हारी शादी भी नहीं हुई थी, तुम इतनी खूबसूरत हो कि क्या करुं सारे रिश्ते नाते भूल गया हूं, मैं तुम्हें पाना चाहता हूं. यह सुन कर वह एक्साईट हो गई और मुझे लिपट गई और बोली ओह बेटा तुम मुझे इतना चाहते हो इतना तो मेरे पति भी मुझे नहीं चाहते और मुझे बाहों में दबा लिया.

मैं इतना खुश हुआ था कि क्या बताऊं? मैं और मौसी एक दूसरे के ओठ चूस रहे थे मैंने अपनी जीभ उनके मुंह में डाल दी उसे चूसने लगी और मेरे बालों को सहला रही थी. मैंने मौसी की साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया, उनके बड़े बड़े बूब्स ब्लाउस से बाहर निकल रहे थे. उन्हें देखकर मेरा लंड फुल टाइट हो गया.

मैंने मौसी को बेड पर पटक दिया अपने सारे कपड़े निकाल दिये, मौसी इतनी सेक्सी लग रही थी कि मैं उस पर टूट पड़ा और उसके जिस्म को चूसने लगा, वह भी मस्ती में आ गई थी और मेरा पूरा साथ दे रही थी, उन्हें बहुत मजा आ रहा था, उनका पति भी उनके साथ ऐसा मजा नहीं करता था, वह आज मस्ती में बेहक गई थी और मूजे पूछा कहां से सीखा तूने यह सब मेरे राजा? तूने आज मेरे अंदर की आग भड़का दी है. फिर मैंने उन्हें कहा कि आपकी बहन ने यह सब सिखाया है.

यह सुन कर मौसी के होश उड़ गए यह क्या कह रहा है कमीने? तू अपनी मां को चोदता है. तूम लोग पागल हो क्या? फिर मैंने मौसी को समझाया कि इसमें क्या गलत है? मैं अपनी मॉम के काम आऊं फिर वह ज़रूरत जिस्म की ही क्यों ना हो.

यह सुनकर मौसी गर्म हो गई और उसने मुझे बालों से खींच कर अपनी चूत पर मेरा मुंह दबा लिया और बोलने लगी ओ मादरचोद अपनी मां की चूत को भोसड़ा बनाने वाले.. आज अपनी मौसी की आग को शांत कर.. फाड़ डाल आज मेरी चूत हरामजादे.. मजा दे मुझे, मैं भी यह सुनकर शुरु हो गया.

मौसी की चूत को चाटने लगा. मौसी की चूत से रस निकल रहा था, मैं सारा रस पी गया और मौसी की चूत में उंगली करने लगा. मौसी मस्ती में सिसकारी ले रही थी. वाह मेरे बच्चे आज अपनी मौसी को अपना बना ले, चोद दे मुझे बेटा, मैं मौसी के बूब्स चूस रहा था, वाह मौसी तू क्या चीज है? मेरी जान तुझे देखते ही लंड सलामी देने लगता है मेरी रानी, आज तुझे चोद कर मजा लूंगा.

फिर मौसी टांगे फैलाकर मेरे सर को चूत में दबा रही थी, मैं फिर ऊपर आकर उनके होठों को चूसने लगा फिर मैंने अपना लंड मौसी के होठों से लगाया उस ने जोर से अंदर डाल दिया और चूसने लगी, वह पागल हो गई थी और मस्ती में पूरे जोर से चूस रही थी.

उसने चूस चूस के पूरा पानी निकाल दिया और सारा पी गई. बेटा तेरा लंड बड़ा मस्त है इसने तो अपनी मां को भी चोदा है नसीब वाला है. मेने कहा आज अपनी प्यारी मौसी को भी चोदेगा. यह कहकर मैं उनकी चूत में लंड रख दिया और झटके मारने लगा, मौसी गरम हो रही थी और गांड हिला के साथ दे रही थी.

मैंने मौसी को जोर से चोदना चालू किया, मौसी चिल्लाने लगी आह पोह अह्ह्ह इउह्ह हह्ह्ह ओम्म्म ययय मर गई पर में लगा रहा और स्पीड बढ़ाता गया, मौसी भी अब खूब मजे ले रही थी और मेरी गांड दबा रही थी, पूरी रात हमने अलग अलग पोज में चुदाई की. सुबह मौसी मुझको उठा कर बोली बेटा तुमने मुझे बहुत खुश किया, आज से तू मेरा सब कुछ है, यह जवानी अब तेरी है. जब मन करे तब इसका मजा ले.

मैंने मौसी को बेड में खींच लिया और सुबह ही उन की खूब चुदाई की, अब जब भी हमें मौका मिलता है हम खुब चुदाई करते हैं, आज भी मैं मौसी को चोदता हूं और उनकी प्यास शांत करता हूं.

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age