ऑफिसर आंटी की चुदाई

loading...

कैसी हो मेरी प्यासी और प्यारी नमकीन चूत वालीयो? मे योगी फिर से हाजिर हूं अपनी नई कहानी लेकर. मैं योगी अभी बेलगाम में पढ़ाई कर रहा हूं उम्र २३ साल है दीखने में सेक्सी हैंडसम हूं.

यह स्टोरी मेरी और एक हाई प्रोफाइल भाभी की है. मैं अपने किसी काम से कमिश्नर ऑफिस गया था वहां मैं बाहर बैठकर इंतजार कर रहा था उतने में मैंने किसी बड़े ऑफिसर के आने की खबर सुनी और वहीं पर ही खड़ा होकर देखने लगा तभी ४-५ कर्मचारी फटाफट चलते हुए आ रहे थे मैं देखकर वही खड़ा रहा और एक बहुत सेक्सी मस्त भरे हुए बदन वाली मस्त औरत उनके साथ आ रही थी मैं समझ गया कि यह वही ऑफिसर है.

loading...

मैं उनकी और देखते ही रह गया, क्या मस्त गोरा बदन? एकदम सेक्सी चिकनी भरी हुई औरत थी वह.. उसने मुझसे पास होते हुए मेरी ओर ना देखकर अनजान बनते हुए ना देखा हो ऐसा जताया.

loading...

मैं वहीं खड़ा था और थोड़ी देर बाद मेरा नंबर आ गया, जैसे ही मैं अंदर जाने लगा दरवाजा खोलते बोला क्या मैं अंदर आ सकता हूं? तो उन्होंने नजर से इशारा किया बैठो. मैं अब उनको अपनी सारी डॉक्यूमेंट दिखा रहा था.

वह बड़ी ध्यान से मेरे सारे डॉक्यूमेंट देख रही थी. पता नहीं क्यों मगर मेरा एक्सपीरियंस कुछ और ही था क्योंकि ज्यादातर बड़े बड़े ऑफिसर लोग सिर्फ साइन करते हैं क्योंकि उनके नीचे वाले सब चेक करते हैं. फिर साइन के लिए भेजते हैं. तो मैं थोड़ा अचंभित था, मगर क्या बोलता वह तो बड़ी ऑफिसर थी तो में देखता रहा.

आप तो जानते ही हो मैं एक अच्छे घराने से हूं और दिखने में सेक्सी हूं. उतने में इन्होंने मुझे पूछा की अगर इसे ऐसे कर रहे हो तो मत करो. बल्कि मैं जैसा कहती हूं वैसे करो.

तभी तुम्हारा यह काम हो जाएगा. वह मुझे अच्छे से समझाने लगी, क्या क्या कैसे डॉक्यूमेंट वगैरह चाहिए.. तो मैं समझ कर बोला थैंक यू मैडम, आपने मेरी बहुत मदद की, वरना यह सब का कोई फायदा नहीं होता और टाइम और पैसा दोनों खर्च होते.. तो उसने अपना कार्ड निकाला और उसके पीछे अपना नंबर लिखा और मुझे दिया और बोली कि कोई भी प्रॉब्लम आए तो मेरे इस नंबर पर कॉल करना, और मेरा नंबर भी ले लिया.

जब मैं वहां से उनको थैंक यू बोल कर निकल पड़ा, लेकिन मैं थोड़ा असमंजस में था क्योंकि वह तो बड़ी ऑफिसर थी और मेरी इतनी मदद की, खुश भी था मेरा वक्त और पैसा भी उन्होंने बचाया था. तो मैं अब मेने वैसे ही किया और सभी कंप्लीट किया और मेरे डॉक्यूमेंट अच्छे से बन गए.

फिर मैंने सोचा मैडम को थैंक्यू बोलना चाहिए, इसलिए मैंने उन्हें कॉल किया. मगर उन्होंने कॉल रिसीव नहीं किया, तो मैंने उन्हें थैंक्यू का मैसेज सेंड किया और अपने काम में लग गया. मैं रात को सब काम निपटा कर सोने जा रहा था और बेड पर पड़ा था और मोबाइल देखा तो उनका मैसेज था.

मैं खुश हुआ उन्होंने बोला मीटिंग में थी इसलिए कॉल नहीं रिसीव किया, मैं बोला कोई बात नहीं मैडम आप इतनी बड़ी ऑफिसर हो आप काफी बिजी रहती हो पता है. तो मैंने बताया मेरा काम आपने बताया वैसे किया और हो गया.. तब उसने पूछा चाहो तो मैं तुम्हारी और भी हेल्प कर सकती हूं, मैं खुश हुआ और बोला की मैडम मैं आपके साथ हूं. आप जो बोलोगी कर दूंगा. अगर आपको मेरी हेल्प की जरूरत पड़े तो कभी भी मुझे बुला लेना. तो वह बोली मुझे मैडम मत कहो मैंने तुम्हें फ्रेंड मान कर हेल्प किया है, मैं खुश हुआ क्योंकि इतनी बड़ी ऑफिसर मुझे फ्रेंड बना रही थी.

फिर उन्होंने पूछा सेटरडे संडे को कुछ काम है क्या? मैं बोला नहीं अभी मैं फ्री हूं, अगर कोई काम है तो बता दो.. मैं कर दूंगा.. वह बोली उनको दो दिन बाहर जाना है किसी काम के सिलसिले में और मुझे बोला अगर फ्री हो तो मेरे साथ चलो.

मैं झट से हां कर दिया और यहां वहां की बातें करने लगा, मैंने पूछा कहां जाना है तो उन्होंने बोला बस उनकी फ्रेंड से मिलने जाना है कुछ खास काम से गोवा में.

मैं खुश हो गया और ज्यादा कुछ पूछे बिना इधर-उधर की बातें करने लगा.. वह एक मस्त भरे हुए बदन वाली गांड वाली बड़े-बड़े बूबे वाली सेक्सी औरत थी. उनका फिगर ३६-३२-३८ था. सच कहूं तो एक दम सोनाक्षी सिन्हा लगती थी..

अब सैटरडे को मैं उनके बताए एड्रेस पर गया तो उन्होंने अपनी कार निकाली. मैं बोला ड्राइवर कहां है? तो वह बोली अंदर बैठो में बैठा तो बोली मेरा पर्सनल काम है इसलिए हम दोनों ही जाएंगे.. मैं खुश हुआ क्या मस्त औरत थी यार..

मैं मन में सोचने लगा आज तो मेरे लंड का मजा है. हम गोवा की और निकल पड़े.. मैं बातें करते करते उनको रोमांटिक मूड बनाने में लगा था. उसने एक जगह गाड़ी साइड में ली और मुझे अपनी ओर खींच कर गले लगा लिया.

मैंने भी उनको कस कर गले लगाते हुए उनकी पीठ को सहलाने लगा, मैंने उनकी आंखों में देखकर उनके गुलाबी होंठ पर अपने होठों पर किस करना चालू किया. मैं अब उनके बड़े बड़े दूधों को जोर से दबाने लगा. वह मेरे मुंह में अपनी रसभरी जीभ डाल कर चूसने लगी थी.

मैं अब अपनी नाक से उन की नाक घीसने लगा हमारा यह पहला किस २० मिनट तक चला. और बाद में हम किस को तोड़ते हुए एक दूसरे की आंखों में आंखें डाल कर हंसने लगे. क्योंकि हमारी लास्ट नाइट को ही चैट पर सब प्लानिंग की रखी थी, उसने बोला उसको एक अच्छे और भरोसेमंद सीक्रेट सेक्स पाटनर और बेस्ट फ्रेंड की ज़रूरत है, और इसलिए उसने मेरे सारे डॉक्यूमेंट अच्छे से चेक किए थे, और मेरा फैमिली बैकग्राउंड चेक किया था.

अब हम वहां से गाड़ी स्टार्ट कर के सीधा गोवा की एक रिसॉर्ट में पहुंच गए.

वह एक आलीशान रिसोर्ट था, बहुत मस्त सभी तरह से वह एक आलीशान महल की तरह लग रहा था.. वहां सभी चीजें बहुत महंगी थी. अब हम रूम में पहुंच गए और मैं दरवाजा बंद कर रहा था.

तभी उसने मुझे पीछे से ज़ोर से हग किया और मेरे गले पर अपने नाजुक होठों से चूसते हुए जोरदार किस करने लगी, उनके बड़े बड़े बूबे मेरी पीठ पर दबाव बना रहे थे, मुझे एक नशा सा छा रहा था. मैं भी अपनी गर्दन पीछे करके उसके गोरे गोरे मस्त चिकने गाल पर किस करने लगा. फिर मैंने सीधा हो कर उनकी आंखों में देखा. वह मुझे नशीली आंखों से देखते हुए अपनी तनहाई और जिस्म की भूख को दिखाते हुए इशारे कर रही थी..

फिर हमने एक दूसरे को जोर से हग किया और इस बार हम दोनों ने एक दूसरे को इतना जोर से बाहों में लिया जैसे हम बहुत साल के एक दूसरे को मिले ना हो और जन्मों के प्यासे हो.. अब मैं उनकी नाजुक कमर पर हाथ घुमाते उनकी गाल पर किस करना चालू किया, उसने अपनी आंखें बंद की और मैं अब उनकी पीठ पर हाथ से मसलने लगा. फिर उनके माथे पर किस कर रहा था तो कभी आंखो पर.. अब मैंने उनकी नाक को अपने होठों में लेकर चूसने लगा हल्के से काटने लगा.

वह भी मुझे कसकर अपनी ओर खींच कर मेरे होठों को किस करना चाहती थी और मैंने मेरे हाथ नीचे लाते हुए उनकी मादक मस्त गदराई गांड पर लाकर सहलाई और दबाना चालू किया.. वह अब सिसकियां छोड़ रही थी..

अब मैंने उनके नाजुक होठों को अपने होठों में लेकर कभी जीभ बाहर निकालकर हल्के से चाट लेता, तो वह सिहर जाती  और मेरी जीभ चूसने को तडपती और मैं झट से अपनी जीभ उससे छुड़ा लेता था इसलिए वह और आउट ऑफ कंट्रोल हो जाती..

फिर उसने जोर से मेरे बालों को हाथ में पकड़ कर खिचा तो मेरा मुंह खुला और अब सीधे अपना मुंह मेरे मुंह में डाल कर एक दूसरे की आंखों में देखने लगे, मैं उनकी यह हरकत देख कर हंसने लगा. वह अब मेरे मुंह में मुंह डाल कर किस कर रही थी. मे जीभ को उनके मुंह में डाल कर चूसने लगा.

हमारे जीभ एक दूसरे से मिल रही थी और मैं उनके मुंह का रसपान करने लगा, क्या मस्त टेस्ट था में तो पूरा चूस चूसकर प्राशन कर रहा था, और वह भी मेरे मुंह में जीभ घुसा कर मुझे चूस रही थी..

फिर मैंने उनको बेड पर लेटाया और हम कस कर एक दूसरे को अपनी बाहों में बाहें डाल कर बेड पर किस कर रहे थे. कभी मैं उनके ऊपर तो कभी वह मेरे ऊपर.

दोनों की जिस्म एक दूसरे से घीस रहे थे, लेकिन कोई किस छोड़ने का नाम नहीं ले रहा था, आखिर मैंने उनको लेटा कर उनकी चिकने पेट पर किस करते करते बड़े बड़े बोबे दबा रहा था, और उनकी गहरी नाभि का तो जवाब नहीं.. मैं अपनी जीभ उन की नाभी में घुसेड़ कर चाट रहा था और हाथ से साड़ी ऊपर करके उनकी भरी हुई गदराई गोरी पिंक पिंक जांघो को सहला रहा था, वह अपने हाथों से मेरे बाल को खींच कर अपने पेट में दबा रही थी..

उसकी सांसे बहुत फुल गई थी वह, अपने पांव मेरे बदन पर तो कभी पेट कर घीसने लगी. औउ ययय य्स्स्य गह्ह इह हहह उह उऔ इहिही ओहो इई अहह योगी.. माय डार्लिंग अह हय्य ओह हां उऔ इई क्या जादू कर दिया बेबी.. आज तो तू मुझे पूरा सेटिसफाय कर देगा फोर प्ले करके. मैंने अब उनकी साड़ी निकाल दीए और ब्लाउज निकाल कर अपना ड्रेस निकाला और वह बेड पर लेटी हुई मेरी और प्यासी नजरों से देख रही थी..

मैं अब उनकी चिकनी मस्त जांघों को सहलाते चाटने लगा, किस करने लगा. उनका पेट पर हाथ घुमा रहा था, उंगली से नाभी को छेड़ने लगा. क्या मस्त टेस्ट था उनका मैं तो पागलों की तरह चाट रहा था.

अभी मैंने उनके बड़े बड़े बूब्स को ब्रा से आज़ाद कर के मसलने लगा. उन की उभरी हुई गुलाबी निप्पल को उंगलियों के बीच में लेकर मसलने लगा और उनकी नेट वाली पैंटी पर किस देने लगा. मेरी गर्म सांसे उनकी चूत पर छोड़ने लगा.. वह मेरा सर पकड़कर मेरे बाल को नोचते अपनी जांघ को मेरे गालों पर दबा रही थी जिससे मेरा सर अपनी चूत पर दबाने लगी और अपना सर बेड़ पर इधर उधर पटकने लगी. अब मैंने उनकी पेंटि निकाल कर उनकी चूत देखी और देखते ही रह गया..

उनकी चूत एकदम साफ थी फूली हुई और बड़ी मस्त लग रही थी, और सांसो की रफ्तार के साथ फुल रही थी. अब मैंने उनकी चूत पर हल्के से अपनी गर्म जीभ फीराई और चूत को पूरा मुंह खोलकर अंदर कर लिया.

इस पर वो जैसे पागल हो गई और इतनी जोर से मुझे जांघों में जकड़ कर चूत पर हाथों से दबाया, जिससे मुझे सांस लेने भी ना आए.. मैं अब उनकी गांड को थपथपाते दबाने लगा, अब मैंने चूत चाटते हुए उनकी और देखने लगा.

वह पूरी जोश में मानो जन्नत में थी और खूब एंजॉय ले रही थी, उसने मेरी और देखकर बोला अब रहा नहीं जाता योगु… आ जाओ मुझ में समा जाओ.

मैंने उनके चुत से उपर जाते पेट को चुसते गांड दबाते अब बूब्स को चूसने लगा और जोर से चूसना चालू किया, इस बीच उन्होंने मेरी अंडरवियर निकाली और मेरा लंड हाथ में देखते ही बोली यार तेरा लंड तो मेरी चूत फाड़ देगा, बड़ा भी है और मोटा साइज है.. मैंने कहा ७ इंच हे बेबी.. आज से यह तुम्हारा है, जब चाहे हुकुम करो जानेमन कहते वह मेरा लंड सहलाने लगी. और मैं उनकी बूब्स को चुसे जा रहा था, अब उन्होंने मुझे बेड पर लेटाया और मेरा लंड हाथ में लिए सहलाते मेरे ऊपर आ कर उल्टी बैठ गई..

अब उनकी चूत मेरे मुंह के पास और उनका मुंह मेरे लंड के पास..

अब मैंने उनकी चूत में मेरी उंगली घुसाई वह थोड़ी उछल गई और मेरी और देखते नॉटी स्माइल करके मेरे बदन पर जुक गई.. वह मेरे लंड को किस कर रही थी चूम रही थी चाट रही थी..

मैं जोश में आ कर उनकी चूत में अपनी पूरी चीभ घुसा कर गोरी गोरी गांड को थपथपाते मारते बजाने लगा, चाट चाट आवाज और हम दोनों की सांसो की आवाज से पूरा कमरा गूंज रहा था. यह वह मेरा लंड पूरा मुंह में समाने की कोशिश करते चुसति जा रही थी. मानो अपने मुंह में अंदर कर के ही रहेगी. इस वजह से उनके बूब्स से मेरे पेट पर दबने से मुझे और एक अलग नशा आ रहा था, और मैं भी चूत को जोर से चूसने लग जाता था, मानो हम दोनों अब जन्नत में थे..

फिर वह को उठी और मुझे बाहों में लेकर किस करने लगी तो मैंने उनको किस करते हुए मेरे नीचे लिया, और अब मेरा लंड उनकी जांघो पर और खुली हुई चूत पर घिसने लगा. उनके बोबे मेरी बॉडी पर मसलकर दबाने लगा, अब मैंने देर ना करते हुए अपना लंड चूत पर सेट करके पहला थोड़ा हल्के से अंदर घुसाया..

और फिर एक जोर से झटके के साथ अंदर घुसाया, वह जोर से चिल्लाई मगर मैंने झट से उनके होठों को मेरे होठों से लगाकर उनकी आवाज दबाई. अब मैं ऊपर से धक्के देकर चोदने लगा, उनको पहले ही बहुत गर्म किया ताकि उनको तकलीफ ना हो और उनकी चूत में से काम रस का रिसाव हो और वह भी मजे ले सकें..

अब मैंने जोरदार झटके लगाने चालू किए, अब मैं फटाफट उनको चोद रहा था.

वह भी नीचे से गांड उछाल कर मेरा साथ दे रही थी, और मेरे झटकों को जवाब दे रही थी.. और अब हमारी चूदाई की चट चट की आवाज और हमारी सिसकियो की आवाज़ आ रही थी हमारी सांसो की आवाज से पूरा रुम गूंज रहा था..

फिर मैंने उनको घुमाया और मैं उनके पीछे लेट कर उनको कस कर पीछे से अपनी बाहों में जकड़ कर उनके बालों के नीचे गले पर किस करने लगा किस करने लगा फिर उनके बड़े बड़े बोबे को जोर से मसलने लगा और मेरा लंड उनकी गांड की दरार में डालकर घीसने लगा दबाने लगा, उन की जांघ को अपने पैरों से सटाने लगा, मैं चाहता था कि जितना हो सके उतना मेरा बदन उनके बदन पर सट कर घिसना चाहता था, ऐसा करने से वह और मस्ती में आ गई. और हाथ को मेरी गांड पर रखकर गांड दबाते अपनी और खींचने लगी.

वह भी ऐसा ही चाह रही थी और अब सर पलटकर मेरी आंखों में देखते मेरे होठों को अपने होठों में ले लिया और चूसने लगी. अब मैंने हलके से लंड को उनकी राइट पैर की चांघ को उठाकर लंड चूत पर लगा कर जोर से झटका मारा, मेरा लंड अंदर घुसकर पच पच हमारे बदन की आवाज और सिसकियों की आवाज से फिर हमारी चूदाई शुरू हुई. इस पोज में में शॉट लगाते लगाते हुए उनके बूब्स भी जोर से दबा रहा था. जिससे उनको पूरा मजा दुगना हो रहा था, और वह मेरे होठों चूस रही थी और चुदवा रही थी. वह जोश में आकर मेरी गांड पर चांटा मार रही थी..

हम दोनों ने मिलकर एक दूसरे को चिपका लिया था, अब उनकी चूत में मेरे लंड को ज़ोर से जकड़ ने काम चालू किया. मेरा गरम लंड बड़ा और टाइट हो गया, उनकी चूत की गर्मी में जाकर और चूत का दबाव देख कर मुझे लगा कि अब चूत बहुत जकड़ रही है, और मेरे लंड को और बड़ा करने लगी. अब में कचाकच झटके मारने लगा..

और अब मेरी गांड को दबाते उन्होंने जोरकर अपनी और खींचा और चूत का खिंचाव बहुत बढ़ाया और इससे हम दोनों ने एक साथ पानी छोड़ दिया.. मैंने भी उनको जोर से मेरी ओर खींचा बाहों में दबाया और पुरे लंड को चूत में घुसा कर टाइट हग किया, और चूत में ही पानी डाल दिया.. तब उसने मेरे होंठ चूस कर किस दिया मानो उनकी आंखों से बयान कर रही हो की उनको बहुत मजा आया.. अब हम दोनों वैसे ही एक दूसरे को चिपक कर सो गए, दोनों को नींद कब लगी पता ही नहीं चला..

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age