ऑफिस की एचआर मेडम की चुदाई

loading...

दोस्तों ये कहानी और रियल लाइफ अनुभव का मिश्रण हैं. मतलब ये बात वैसे सच्ची घटना के ऊपर आधारित हैं. लेकिन लंड को ज्यादा खड़ा और चूत को एक्स्ट्रा गीली करने के लिए उसमे कुछ इधर उधर का मसाला भी एड कर रखा हैं. मैं इस साइट को रेगुलर पढता आया हु जिसकी वजह से मुझे ये लिखने की प्रेरणा मिली. मैंने 24 साल का वर्किंग प्रोफेशन हूँ और बंगलौर में रहता हूँ.

मेरी डिग्री ख़त्म होने के बाद मैं कुछ सोफ्टवेर कम्पनी में जॉब के लिए इंटरव्यू दिए. और फिर मैं एक कम्पनी में सिलेक्ट भी हो गया. वैसे इंटरव्यू में कुल 6 राउंड थे. और पहले राउंड में ही मैंने एक एचआर को देखा जो बड़ी आकर्षक थी. उसने जींस और टॉप पहना हुआ था. और उसका फिगर 34D-32-38 अका था. उसकी स्माइल बड़ी मस्त थी और वो दिखती भी एकदम अच्छी थी. मैंने मन ही मन कहा की अगर सिलेक्ट हो गया तो उसे चोदने का कुछ करूँगा जरुर. और मेरी स्किल्स की वजह से मैं सिलेक्ट हो भी गया.

loading...

इंटरव्यू के बाद मुझे अपने डॉक्यूमेंट सबमिट करने के लिए एचआर में जाना था. मैं वहां पर रीमा (उसका नाम) को ही खोज रहा था. मैंने अपने डॉक्यूमेंटस जमा करवा दिए और उसने मुझे सिलेक्शन के लिए बधाई दी. उसने मुझे कहा की रुको मैं तुम्हे ऑफर लेटर वगेरह दे देती हूँ. और मैं वही खड़ा हुआ रीमा की चाल ढाल को देख रहा था.  उसने मुझे ऑफर लेटर वगेरह दिया.

loading...

और मैंने अचनाक ही उसको कोफ़ी के लिए पूछा लिया. वो भी शॉक हो गई. मैंने उसे सोरी कहा और अपने ऑफर लेटर को ले के वहां से निकल गया. जाते वक्त मैं यही सोच रहा था की मैंने जल्दबाजी कर दी. फिर मैंने कम्पनी ज्वाइन कर ली. करीब एक हफ्ते के बाद मैंने रीमा को कैफ़ेटरिया में देखा और ज्यूस पीते हुए मैं उसी को देख रहा था. उसने भी मुझे देखा और स्माइल की.

मैं मन ही मन खुश हुआ और वो अकेली थी तो उसके पास जा के बैठ गया. मैंने कहा: आई एम् सोरी उस दिन के लिए. शायद मैंने आप को कोफ़ी के लिए जल्दी ही पूछ लिया था. वो हंस पड़ी और बोली.

रीमा: वैसे तुम भागे क्यूँ उस दिन, तुम तो मेरा जवाब सुने बिना ही वहां से निकल पड़े थे.

मैं: सच कहूँ तो मैं घबरा रहा था क्यूंकि इसके पहले मैंने किसी को कोफ़ी के लिए नहीं कहा था.

रीमा: वो सच में क्यूट था और मैं उसके बारे में ही सोच रहा था. लेकिन मेरा जवाब सुने बिना ही तुम निकल गए थे.

मैं: वाऊ, गुड. तो क्या तुम मेरे साथ डिनर करने चलोगी?

रीमा: ही ही ही, उस दिन तुमने कोफ़ी के लिए पूछा था और आज सीधे डिनर, बड़ा फास्ट काम करते हो. लेकिन मैं सिर्फ सेटरडे को ही ऑफर एक्सेप्ट कर सकता हूँ.

मैं: अच्छा, मैं सेटरडे की वेट करूँगा फिर.

रीमा: तुम बड़ी अच्छी बातें करते हो और तुम्हारा आवाज भी सेक्सी हैं.

मैं: थेंक यु, और आप बड़ी अच्छी लगती हो इसलिए मैं कुछ ज्यादा ही अजीब बर्वात करता हूँ.

रीमा: यु आर वेलकम.

और फिर उस दिन के बाद हम लंच में और ब्रेक में भी बाते करते थे. और हमने अपने नम्बर्स भी एक्सचेंज कर लिए थे. मुझे पता चला की रीमा वैसे शादीसुदा थी लेकिन उसका डिवोर्स हो चूका था. उसका हसबंड शराबी और ड्रग एडिक्ट होने की वजह से उसने शादी के एक महीने में ही डिवोर्स ले लिया था उस से.

और फिर दिन निकलते गए और सेटरडे भी आ गया. मैंने उसे कहा की मैं उसे उसके घर से ही पिक कर लूँगा अपनी बाइक पर. मैंने उसे बताये हुए समय पर पिक कर लिया और हम दोनों रेस्टोरेंट पर जा पहुंचे. हम जाते हुए बातें कर रहे थे और बाइक का ब्रेक लगता था तब उसके बूब्स मेरी कंधे के पास घिस जाते थे. और जब जब बूब्स ऐसे टच होते थे तो मैं एकदम पगला जाता था. बदन में करंट दौड़ जाता था मेरे.

खाना खाने के बाद वैसे तो जाए का टाइम हो चूका था. लेकिन मैंने उसे कुछ टाइम और रुकने के लिए रिक्वेस्ट की. और हम लोग निचे के पार्किंग लोट में चेटिंग कर रहे थे. मैंने उसे कहा की अगर समय हैं तुम्हारे पास तो मेरा घर यही करीब में हैं. और उसने आँख मार के मुझे हां कह दिया.

वो मेरे अपार्टमेंट पर आ गई. मैंने उसे अन्दर वेलकम किया और उसे ज्यूस ऑफर किया. और वो ज्यूस पीते हुए मुझे देख रही थी. उसका दुपट्टा उसके क्लीवेज के ऊपर था और वो बड़ी ही सेक्सी लग रही थी. वो खड़ी हो के जाने ही वाली थी. मैंने बिना कुछ कहे उसे हग कर लिया और उसने भी रिस्पोंस दिया. मैंने उसके और करीब गया और उसके चहरे और होंठो के ऊपर किस कर लिया. उसने कुछ कहा नहीं लेकिन बिना कुछ कहे ही वहां से जाने लगी.

मैं शर्मा रहा था और सोच रहा था की एक अच्छा चांस मैंने अपने हाथ से गँवा दिया. 2 मिनिट के बाद डोर बेल बजी मैंने दरवाजा खोला तो मेरे मुहं से वाऊ निकल गया. वो रीमा ही थी. वो सीधे अन्दर आ गई और मुझसे लिपट के मुझे किस करने लगी. हम दोनों एक दुसरे को जोर से आलिंगन में भर के चूम रहे थे. फिर उसने मुझे पलंग के ऊपर धकेल दिया. और वो मेरी गोदी में आ के बैठ गई. और वो मुझे समुच करते हुए मेरे कान के ऊपर काट रही थी.

वो बोली, आज तुमने मेरे अन्दर की आग को जला दिया हे जिसे अब तुम्हे शांत करनी पड़ेगी. मैंने कहा मेरे लिए वो गर्व की बात होगी. वो जोर की सांसे ले रही थी और मेरे चहरे को लिक कर रही थी. मेरे होंठो को काट रही थी. मैंने भी उसको जोर से किस करते हुए उसके होंठो को काट लिया. वो जोर जोर से मोअन करने लगी थी.

फिर मैंने रीमा का कुर्ता उतार फेंका और उसके कंधे और गले के ऊपर किस करने लगा. मैं उसकी बेक को स्क्रेच कर रहा था और उसे गले से पकड के उसके क्लीवेज के ऊपर चूमने लगा था. उसके बूब्स एकदम मिल्की और सिल्की थे. अब मैंने उसकी ब्रा भी उतार फेंकी और उसके कंधे के ऊपर किस किया.

अब मैं रीमा के बूब्स को लिक करने लगा था और उसके निपल्स को अधूरे चूस के उसे तडपा रहा था. मैं उसके लिप्स को रब कर रहा था और उसके निपल्स को और तडपा रहा था. वो जोर से मोअन करते हुए डीप साँसे ले रही थी.

अब रीमा ने मेरे चहरे को खिंच के अपने बूब्स के ऊपर दबा दिया. मैंने उसके निप्ल्स को अपने मुहं में भर लिए और चूसने लगा. मैं उसके निपल्स को बाईट भी कर रहा था. वो मेरे बालो को पकड़ के जोर जोर से मोअन कर रही थी. मैंने और जोर से उसके बूब्स को चुसे. और फिर मैं उसे पकड़ के अपने बेडरूम की तरफ ले गया. वो सच में हेवी थी. मैंने उसे बिस्तर के ऊपर फेंका और उसकी नाभि को चाटने लगा और उसे अपने दांत से भी काट रहा था. मैंने उसके बेली बटन को खूब चूसा.

और फिर रीमा ने मुझे अपनी बगल चाटने को कहा. मैंने उसके हाथ ऊपर किये और उसकी बगल को चाटने लगा. वो और भी जोर से मोअन कर रही थी, ओह्ह्ह अह्ह्ह जानू! फिर मैंने रीमा की लेगिंग को खोला और उसकी चमकीली पिंक टोअस को चाटने लगा. फिर मैं ऊपर की और बढ़ के उसकी जांघो को चूसने लगा. फिर मैंने रीमा की टांगो को पूरा खोला और उसकी अंदर की जांघो को चाटने लगा. मैं रीमा की चूत को सूंघ रहा था. उसने ब्लेक पेंटी पहनी हुई थी. और वो उत्तेजित होने की वजह से चूत गीली हुई थी जिसके पेच बने हुए थे पेंटी के ऊपर.

मैंने अपने दांतों से पेंटी को उतारा और उसकी चूत को किस करने लगा. मैंने पूरी चूत के ऊपर बहुत सब किस किये. चूत के ऊपर हलके हलके बाल थे. मैंने उसकी चूत के लिप्स को चाटना चालू कर दिया. और फिर उसकी चूत की फांको को खोल के मैंने उसके दाने को लिक किया.

मैंने उसकी चूत के दाने को अपनी ऊँगली से दबाया. वो जोर जोर से मोअन करने लगी. मैंने अब उसके चूत के दाने को अपने मुहं में भर लिया और चूसने लगा. मैं उसे दांतों से काट भी रहा था. और मैंने उसे अपनी तरफ खिंच के चूत के अन्दर अपनी जबान डाली. वो बेशुध्ध हो चुकी थी और उसकी मोअनिंग एकदम बढ़ चुकी थी. एकदम से अह्ह्ह ह्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्ह कर के वो कह रही थी, फक माय कन्ट, ओह यस बेबी, फक इट, अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह! और तभी उसकी चूत का पानी मेरे मुहं के ऊपर ही छुट गया. मैंने उसके पानी को अन्दर तक जबान डाल के पूरा चाट लिया.

उसका बदन पूरा कांप रहा था और उसको पसीना भी बहुत हुआ था. ठंडी के मौसम में भी उसने मुझे कह के फेन ओन करवा दिया. फिर उसने खड़े हो के मुझे पूरा नंगा कर दिया. अब वो अपने सेक्सी बदन को मेरे सामने हिला के मेरे को उत्तेजित करने लगी थी. मेरी अंडरवियर के हटने पर बड़ा लंड एकदम से उछल सा गया. रीमा मेरे लंड को देख के एकदम खुश हो गई. वो अपने घुटनों के ऊपर बैठ गई और मेरे लंड को उसने मुहं में भर लिया.

वो मेरे लंड को चाटने के साथ साथ बॉल्स को लिक कर रही थी और लंड को पकड़ के हिला भी रही थी. और फिर उसने मुझे बेड के ऊपर पुश कर दिया और मेरे बॉल्स को लिक करने लगी. और फिर वो और भी निचे गई और मेरे एसहोल को भी लिक करने लगी. और ऊपर मेरे लंड को वो हाथ से हिला रही थी और निचे गांड के छेद को चाट रही थी. मैंने कुछ ही देर में उसे कहा की मेरा पानी निकलने को हैं. वो बोली निकाल दो. मेरा वीर्य जैसे ही बहार आया वो सब चाट के खा गई.

मैंने अब उसे बिस्तर के ऊपर लिटा दिया और उसके होंठो को चूसने लगा. वो चुदने को और मैं चोदने के लिएरेडी थे. मैंने उसकी टांगो को पूरा खोला और अपने लंड को उसकी चूत पर लगा दिया. वो थोड़ी टाईट थी इसलिए मैंने धीरे से अन्दर कर दिया और रीमा को चोदने लगा. वो भी एन्जॉय कर रही थी और मोअन कर रही थी. अब मैंने अपनी स्पीड को बढ़ा दिया और उसे जोर जोर से चोदने लगा. मैं उसकी चूत को फक फक फक चोद रहा था और उसने मुझे जोर से पकड़ा हुआ था. मैं उसके लिप्स को चूस रहा था और उसे जोर जोर से चोद रहा था.

15 मिनिट की चुदाई के बाद वो झड़ गई और फिर कुछ देर में मैं भी उसकी चूत के अन्दर ही झड़ गया. उसने मेरे कंधे को और गले को लिक किया और बहुत सब लव बाइटस दे दिए.

और उसने अपने फोन को निकाल के अपने घर मम्मी को कॉल किया. उसने अपनी मम्मी को कहा की हमारे ऑफिस के एक कलिग की मम्मी अस्पताल में हे और काफी सिरियस हैं इसलिए वो आज रात को घर पर नहीं आ पाएगी. और मैं समझ गया की आज पूरी रात को रीमा मेरे से चुदेगी!

उस रात को हमने कुल 4 बार चुदाई की. मैं सुबह होते होते पूरा थक चूका था. वो खुश हो गई थी बहुत समय के बाद ऐसे चुदने के बाद. हम दोनों मेरे कम्बल में नंगे ही एक दुसरे से लिपट के सो गए. सुबह उठा तो वो मेरा लंड चूस रही थी. घर जाने से पहले उसने एक बार और मेरे से चूत चुदवा ली.

दोस्तों उस दिन के बाद रीमा मेरी रखेल सी बन गई. अक्सर सेटरडे को वो मेरा लंड लेने के लिए मेरे अपार्टमेंट पर आती थी और खूब चुद्वाती थी.

अभी कुछ दिनों पहले ही उसकी एंगेजमेंट हो गई हे और उसने अब मेरा लंड लेना बंद कर दिया हैं. शायद पति के लिए चूत को टाईट कर रही हैं.  उसने मुझे कहा की मैं तुम्हारे लंड को बहुत मिस करुँगी. और उसने मुझे ये भी कहा हैं की शादी हो जाने के बाद मैं तुम्हारे साथ एक्स्ट्रा मेरिटल अफेयर रखूंगी!

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age