पड़ोसन भाभी पहले चुदने के लिए रेडी नहीं थी

loading...

हाई दोस्तों ये मेरी लाइफ का फर्स्ट सेक्स अनुभव हैं जो आप के साथ शेयर करने जा रहा हूँ. मैं आप को पहले मेरे बारे में बता दूँ. मेरा नाम अमन हैं और मेरी हाईट 6 फिट 2 इंच हैं. स्लिम और सेक्सी बॉडी हैं मेरी, रंग गोरा हैं और मेरा लंड पुरे 7 इंच का हैं. मेरे लंड को देख के किसी भी औरत की चूत में पानी आ जाए ऐसा हैं. अब मैं सिधे स्टोरी पर आता हूँ.

ये कहानी करीब 4 महीने पहले की हैं . मैंने मेरा एम्इ पूरा किया था और जॉब की तलाश में मैं सुरत रेंट पे रहता था. मैं मेरे रूम में अकेला रहता था और मेरे पड़ोस में 2 और घर थे जिसमे 2 घर में फेमिली रहती थी. और एक घर खाली था.

loading...

थोड़े दिन बाद उस मकान में एक मेरिड कपल रहने के लिए आया. 2 दिन बाद कही बहार जा रहा था तभी वो मेरिड कपल मुझे मिला और हमारी जान पहचान हुई. और वो भाभी के बारे में क्या बताऊ!!! एकदम सेक्सी माल दिखती थी, वैसे थी सीधी सादी लेकिन दिखती थी श्रध्दा दास के जैसी. उसकी फिगर भी गजब की थी. और उसके 2 बड़े बूब्स साडी से बहार आने के लिए तरस रहे थे. उसे देखते ही मेरी हालत ख़राब हो गई.

loading...

तभी मैंने अपने आप पर कंट्रोल किया लेकिन मन ही मन ठान लिया था की इसे ठोककर ही रहूँगा. फिर 1 हफ्ता बीत गया और मैं अपने लेपटोप पे काम कर रहा था तभी मेरे दरवाजे पर बेल बजी. मैंने खोला तो देखा की सामने प्रिया भाभी खड़ी थी और ग्रीन लो वेस्ट साडी में क्या माल लग रही थी. मन तो कर रहा था की अभी दबोच लूँ पर मैंने कंट्रोल किया.

मैंने पूछा हां भाभी कुछ काम था? तो उसने कहा की मुझे थोड़ा सामान शिफ्ट करवाना हैं और मेरे हसबंड ऑफिस गए हैं. तो मैंने कहा ठीक हैं. फिर हम उनके घर गए. और सामान को शिफ्ट करने लगे. तभी उसका मोबाइल बजा और उसके हाथ से गिर गया. वो उसे उठाने के लिए निचे झुकी और उसकी साडी का पल्लू गिर गया और उसके बूब्स के दर्शन हो गए. वो नजरें को मैं देखता ही रह गया. और मेरा लंड पूरा खड़ा हो चूका था.

फिर उसने फोन रखा तो मैंने वाशरूम का पूछा तो उसने मुझे बताया. और मैं वाशरूम में चला गया. वह अंदर एक ब्लेक रंग की ब्रा पड़ी हुई थी. मैंने जाते ही उसे उठाया और उसे अपने लंड पर रगड़ने लगा और सूंघने लगा.

मुझे बहुत ही अच्छा लगा और मैं मुठ मार के बहार आ गया और ब्रा को वही पर फेंक दी. फिर हमने सामान शिफ्ट किया और मैं प्रिया भाभी को जाने के लिए बोला तो उसने मुझे रुकने को कहा. और उसने मुझे चाय के लिए रोका तो मैं मान गया. फिर चाय पीते इधर उधर की बातें करने लगे. तो उसने बताया की उसका पति मोस्ट ऑफ़ सिटी के बहार ही रहता हैं अपने काम से. फिर मैंने भाभी को अपने बारे में बताया. थोड़ी देर के बाद मैं वहां से निकल गया. उस रात मुझे नींद नहीं आई और सोचता रहा की कैसे मैं प्रिया भाभी की जमकर ठुकाई करूँ. और प्रिया भाभी को सोच सोच के मैंने तिन बार मुठ मार ली.

फिर 2 3 दिन बित गए और एक दिन सुबह सुबह बेल बजी. मैं उसे खोलने गया गया तो सामने प्रिया भाभी खड़ी थी यल्लो ट्रांसपरेंट साडी पहन के. और मैं तो उसे देखता ही रह गया और मेरा लंड खड़ा हो गया. और मैंने शॉर्ट्स पहना हुआ था तो बहार से साफ़ दिख रहा था. भाभी ने वो गौर से देखा लेकिन फिर दूसरी बातें करने लगी.

मैंने भी भाभी को वेलकम किया. उसने कहा की बोर हो रही थी इसलिए तुम्हारे यहाँ टाइम पास करने आई हूँ. और उसने बताया की उसका पति 3 दिन के लिए बहार गया हैं. तो मैं मन ही मन खुश हो गया की अब तो उसे चोद के ही रहूँगा.

फिर मैंने बातों बातों मैं उसके बॉयफ्रेंड के बारे में पूछ लिया तो उसने कहा की कोलेज में मेरे 2 बॉयफ्रेंड थे. फिर उसने मुझे पूछा की तुम्हारी ओई गर्लफ्रेंड हैं की नहीं? तो मैंने कहा की अभी तक कोई मिली नहीं. तो उसने कहा जूठ मत बोलो इतने हेंडसम होकर भी ओई नहीं हैं. तो मैंने कहा की अभी तक जैसी चाहिए थी वैसे मिली नहीं. तो भाभी ने पूछा की कैसी गर्लफ्रेंड चाहिए. तो मैंने हिम्मत कर के बता दिया की आप की तरह ही सुंदर होनी चाहिए. ये सुन के वो हंसने लगी.

फिर हम लोग ऐसे ही बातें करने लगे. अचानक उसका फोन बजा और वो चली गई. शाम के 7 बजे मैं उसके घर गया तो दरवाजा खुला था और उस फ्लोर पर कोई था नहीं. सभी अपने घर में थे तो मैंने मौका देख कर उसके घर के अन्दर एंट्री ले ली. और डोर को भी अन्दर से बंद कर लिया. मैं सब जगह पर देखा वो नहीं दिखी. अचानक कुछ आवाज आई बाथरूम से. वो नाहा के निकली और क्या लग रही थी यार एकदम बोम्ब थी वो. बेकलेस साडी ब्लेक कलर की थी उसके बदन के ऊपर.

मुझसे रहा नहीं गया और मैं पीछे से उसकी कमर को पकड के अपनी तरफ खिंचने लगा. वो शोक हो गई कौन हैं??? और मुझे देखकर वो परेशान हो गई. उसने कहा अमन क्या कर रहे हो? मैना कहा भाभी मुझसे अब और नहीं रहा जाता हैं, प्लीज़ मुझे और मत तडपाओ, मुझे आप को जी भर के चोदना हैं. जब से मैंने आप को देखा हे तब से मेरा लंड आप की चूत में जाने के लिए बेताब हैं. ये सब सुनकर वो शोक हो गई और मुझे धक्के दे के बहार जाने के लिए कहा उसने. मैंने उसे जबरदस्ती कर के पकड़ लिया और उसके बूब्स को बहार से ही दबाने लगा. वो ओपोस करती थी लेकिन मेरे दिमाग में जानवर सवार हुआ था. मैंने कास के अपनी और खिंचा और उसको कमर से पकड़ लिया.

फिर वो थोडा ज्यादा जोर देकर मुझसे अलग हो गई और बोली की अगर तुम यहाँ से नहीं जाओगे तो मैं शोर मचाऊँगी. तो मैं थोडा डर गया और उसके घर से अपने पर घर पर आ गया. पर मेरे मन में अब भी उसे चोदने के लिए बेताबी थी. तो मैं फटाफट उसके घर फिर से घुस गया और अब वो किचन में थी. तो मैंने फिर से भाभी को कमर से अपनी और खिंचा और अपना लंड उसकी गांड के ऊपर रगड़ने लगा. और बहभी को कहने लगा की आज तो मैं आप को चोद के ही रहूँगा.

और मैं उसके बेक पे किस करने लगा. वो ओपोस कर रही थी. अब मैंने उसे घुमा दिया और उसके लिप्स के ऊपर अपने लिप्स रख दिये. और जोर जोर से किस करने लगा. क्या बताऊँ यारो मानो मैं तो जन्नत मैं था. कुछ 15 मिनिट के बाद मैं उसके बूब्स को साडी के ऊपर से ही दबाने लगा. और अब वो धीरे धीरे मेरा साथ देने लगी थी. और सिसकियाँ भरने लगी अह्ह्ह्ह अह्ह्ह ओह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ओह ओह्ह्ह्हह!

फिर मैंने उसकी साडी निकाली और ब्लाउज भी फाड़ डाला. अब उसके बूब्स एक ब्लेक ब्रा में थे. मैं बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही जोर जोर से दबाने लगा. करीब 10 मिनिट के बाद मैंने ब्रा निकाल दी और उसकी चूची को चूसने लगा. मैंने जोर जोर से दबा रहा था. फिर मैंने उसे अपनी गोदी में उठाया और उसके बेड पर जा के पटक दिया. मैंने उसे बिठाया और पूरा नंगा हो गया और इमरा लंड उसके मुहं में दे दिया.  वो जोर जोर से चूसने लगी और मुझे बहुत मजा आ रहा था.

फिर करीब 15 मिनिट के बाद वो उठी. और जाकर तेल ले के वापस आई. मैंने उसके पुरे बदन पर मालिश दी और मेरे लंड के ऊपर भी तेल लगाया. अब मैंने उसकी पेंटी फाड़ दी और मैं उसकी चूत चूसने लगा और धीरे धीरे जेब अन्दर बहार करने लगा. वो जोर जोर से सिस्कारियां भरने लगी थी. अह्ह्ह अह्ह्ह्ह. अब वो बोली अब और मत तडपाओ मुझे मेरे राजा डाल दो अपना लंड. मैंने उसे खड़ा किया और धीरे धीरे अपना लंड घुसेड़ने लगा. उसकी चूत बहुत टाईट थी इसलिए मैंने थोडा तेल लिया और उसकी चूत पर और लंड पर भी लगाया. और फिर मैंने धक्के देने लगा. मैंने एक जोर का धक्का मारा और मेरा लंड पूरा अन्दर चला गया. और वो चीख पड़ी, उईइ माँ!

मैं उसे जोर जोर के धक्के देने लगा. मैं तो जन्नत की सैर कर रहा था जैसे. और प्रिया भाभी कहने लगी, अह्ह्ह अह्ह्ह्ह औऊउ ऊऊह्ह्ह और जोर से करो, और जोर से. और मैं उसकी चूत के अन्दर ही झड़ गया.

मैंने अपना माल भाभी की चूत में ही निकाल दिया. और थोड़ी देर मैंने लंड अन्दर ही रखा और हम सो गए. फिर 30 मिनिट के लिए मैं उसकी पूरी बॉडी चूसने लगा और जोर जोर से बूब्स दबा रहा था. क्या बूब्स थे यार एकदम सनी लियोन के जैसे!

और उस रात हमने वियाग्रा ले के पूरी रात चुदाई की. और अगले 2 दिन के लिए पुरे मजे लिए. कभी मैंने भाभी को बाथरूम में चोदा और कभी किचन मैं. ऐसे हम 2 दिन तक मजे करते रहे और उसका पति अब आ गया था.

और आज भी हमें जब भी मौका मिलता हैं तो हम चुदाई करते हैं. मैं जब भी पल को याद करता तो मेरा लंड खड़ा हो जाता हैं.

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age