पड़ोसन भाभी ने बड़े लंड से चुदवाया

हेल्लो दोस्तों ये मेरी इंडियन सेक्स स्टोरी हैं कैसे मैंने अपनी वर्जिनिटी लूस की थी उसके बारे में. मेरे पड़ोस में रहनेवाली भाभी के साथ ये काण्ड हुआ था जो आज की इस हिंदी सेक्स कहानी में आप पढ़ रहे हो.

मेरा नाम मनीष हैं और मैं अहमदाबाद का हु. मेरी एज २५ साल हैं और मैं दिखने में ठीक और हेंडसम हूँ. मेरी हाईट ५ फिट १० इंच और लंड की लम्बाई पुरे ७ इंच हैं. अब आप को ज्यादा बोर न करते हुए मैं सीधे कहानी पर आता हु. ये घटना मेरी लाइफ में ४ साल पहले घटी थी.

हम अपने पुराने घर से नए घर में शिफ्ट हुए थे. साथ ही हमारे पड़ोस वाले बंगलो में भी एक फेमली थोड़े टाइम पहले ही आया था. इस फेमली में  भाभी, भैया उनका एक लड़का और उनके पेरेंट्स थे. हमारी फेमलीस की आपस में अच्छी बनती थी और भाभी हमारे घर अक्सर आया करती थी. वो मम्मी के साथ टाइम किल करने को आती थी.

सोरी मैं भाभी के बारे में तो आप को बताना ही भूल गया. उनकी एज करीब २९-३० साल हैं और वो दिखने में किसी बोलीवुड की हिरोइन के जैसी हैं. उनका रंग साफ़ और फिगर ३६-३२-३६ का हैं और वो अपनेआप को काफी फिट रखती हैं.

वो रोज सुबह में जोगिंग के लिए जाती हैं. मुझे भी सुबह में जल्दी उठ के टहलने की आदत हैं तो अक्सर हम दोनों साथ में हो जाते थे. इसकी वजह से हमारी अच्छी दोस्ती भी हो गई थी और मैं भी उन्हें पसंद करने लगा था.

एक दिन उनके सास ससुर फोरेन टूर पर गए थे और उनका लड़का अपने मामा के घर पर रहने के लिए गया था. और हसबंड को अचानक ही किसी काम से आउट ऑफ़ सिटी जाना पड़ा. मेरे पेरेंट्स भी उस दिन किसी शादी की वजह से घर पर नहीं थे. वो लोग भी ३ दिन के लिए सूरत गए हुए थे. भाभी ने मुझे कहा की तुम मेरे घर ही आ जाओ हम दोनों का टाइम भी कट जाएगा और मुझे खाना भी मिल जाएगा. मैंने कहा की ठीक हैं.

पहले दिन तो सब कुछ नार्मल था. वो दिन मानसून के थे और बारिश भी बहुत हो रही थी. अगले दिन मैं बहार से भीगता हुआ वापस आया और घर पहुंचा तो फ्रेश होकर डिनर के लिए भाभी के घर जा पहुंचा. भाभी थोड़ी डरी हुई सी लग रही थी.

मैंने पूछ लिया की क्या हुआ भाभी तो वो बोली की बिजली की कडक से बहुत डर लगता हैं मुझे. मैंने कहा अब मैं हूँ न आप के पास फिर कैसा डरना! फिर डिनर के बाद हम बालकनी में खड़े हुए बारिश का मज़ा ले रहे थे और अचानक से बिजली गिरी. भाभी डर के मारे मुझसे चिपक गई और उसने मुझे टाईट हग दे दिया. क्या बताऊँ दोस्तों मेरे बॉडी में पूरा करंट सा दौड़ गया था उस वक्त!

थोड़ी देर बाद वो नोर्मल हुई और उन्हें पता चला और शर्माते हुए वो अन्दर चली गई. फिर मैं अपने घर जाने लगा तभी उन्होंने कहा आज घर जाना जरुरी हैं क्या? यहाँ नहीं रुक सकते क्या आज की रात? मैं तो इसी मौके की तलाश में था और मैंने फट से हाँ कह दिया  भाभी को.

फिर हम टीवी देखने लगे उसने मर्डर मूवी चला दी और एक हॉट सिन आया तभी भाभी बोली की इन एक्टर्स को कितने जलसी हैं न शूटिंग के टाइम पर कितना मजा आता होंगा इन सिन्स में.

ये सुनकर मैं शोक हो गया, मैंने जानकार भाभी से पूछा इसमें क्या जलसे? उन्होंने कहा अभी तुम बच्चे हो तुम्हे क्या पता चलेगा. मैंने कहा तो आप ही मुझे बता दीजिये न भाभी. भाभी ने मुझसे पूछा की सेक्स के बारे में क्या जानते हो तुम?

मैंने कहा सुना तो हैं पर कभी किया नहीं हैं. भाभी ने पीछा क्यूँ नहीं किया ab तक? मैंने कहा की आजतक प्रोपर  समझाने वाला मिला नहीं तो मुझे जो सब कुछ कर के दिखाए प्रेक्टिकली.

और इतनी देर जिस की वेट कर रहा था वही हुआ. भाभी ने कहा चलो आज मैं तुम्हे सिखा देती हूँ. तुम्हे बच्चे से मर्द बना देती हूँ.

मैं बहुत ही उत्तेजित हो गया भाभी की ये बात सुन के. मेरा पहला बार का था इसलिए कुछ नर्वस भी था मैं. भाभी ने कहा चलो अन्दर बेडरूम में चलते हैं.

अन्दर जाने के बाद भाभी ने एकदम से मुझे अपने बालों से पकड़ लिया और मेरे होंठो पर स्मूच करने लगी. क्या लिप्स थे उनके मानो मैं जन्नत की शेयर में आ गया था.

करीबन १० मिनिट तक हमने एक दुसरे को सेक्सी किया दिया. और फिर भाभी ने मेरा एक हाथ पकड के अपनी चुन्चियों के ऊपर रख कर जोर से दबाने को कहा. फिर उन्होंने अपनी टी-शर्ट उतारी और अन्दर उन्होंने कोई ब्रा नहीं पहनी थी इसलिए उनके बड़े बड़े चुंचे मेरे सामने थी. वो देख के मैं उनपर भूखे शेर की तरह टूट पड़ा.

उन्हें भी मजा आ रहा था और वो मोअन करे जा रही थी. मेरा लंड भी अब टाईट होने लगा था और हम दोनों ने अपने सब कपडे उतार दिए थे और एकदम नंगे हो गए थे.

मैं उनके बूब्स के साथ खेले जा रहा था और वो मेरे लंड को सहलाए जा रही थी. baडा मजा आ रहा था. धीरे धीरे मैंने अपने एक हाथ को उनकी चूत पर रख दिया जो बहुत ही मस्त पिंक थी और वो एक भी बाल बिना एकदम क्लीन थी. मैं फिर उसमे ऊँगली करने लगा और वो अब कंट्रोल से बहार हो रही थी.

फिर वो मेरे लंड को अपने मुह में लेने चूसने लगी. वो पुरे लौड़े को लोलीपोप की तरह अन्दर ले के चुस्से लगाती थी. और दो मिनिट में ही मेरे लंड का रस भाभी के मुहं में ही निकल पड़ा. भाभी सब रस को पी गई. फिर मैंने भाभी की टाँगे खोली और उनकी चूत की फिंगर की. फिंगर करने से वो भी झड़ गई.

थोड़ी देर के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और इस बार मैंने सीधा मेरा लंड पकड कर भाभी की चूत पर रख दिया. फिर स्लोवली मैं उसे अन्दर डालने लगा तब हम दोनों को बहुत दर्द हो रहा था. बट थोड़ी देर बाद में हम दोनों को मजा भी आया.

मैंने जोर से धक्का लगाया और लंड पूरा अन्दर चला गया. और भाभी चिल्ला उठी, कितना बड़ा हैं तेरा लंड बाप रे बहुत दर्द हो रहा हैं मुझे! तेरे भाई से डबल मोटा हैं तेरा लंड तो!

और फिर वो अपनी गांड हिला के रंडी की तरह हिल हिल के चुदवाने लगी. मैंने भाभी की चुन्चियों को अपने मुहं में भर लिया और अपनी कमर के सहारे झटके लगा के भाभी की चूत के अन्दर लंड को ठोकने लगा. भाभी आह आह ओह ओह कर रही थी और मुझे कस के अपनी तरफ खिंच भी रही थी.

कुछ देर मिशनरी पोज़ में चुदाई के बाद मैंने और भाभी ने डौगी सेक्स भी किया. और इसी पोज़ में मैंने अपने वीर्य को भाभी की चूत में छोड़ दिया.

दोस्तों अब तो ये पड़ोसन भाभी मेरे बड़े लंड की प्यासी हो गई है. पति जब घर न हो तो वो मुझे बुला के चूत और गांड मरवा लेती हैं. आज इतने समय के बाद भी हमारे दोनों के बदन एक दुसरे को संतोष देते हैं!