पड़ोसन की प्यास बुझाई उसे चोद के

loading...

हाई दोस्तों आज मेरी ये पहली ही सेक्स की कहानी है इस साईट पर. मेरा नाम साहिल है और मुझे मेरिड यानी की शादीसुदा लेडिज के साथ सेक्स करना पसंद है क्यूंकि उन्हें बहुत अनुभव होता है चुदाई का. और उन लोगों को पता होता है की कैसे कैसे सेक्सी हथकंडे कर के पार्टनर को खुश करना है. मैं ठीकठाक दीखता हूँ और मेरी उम्र 24 साल है. मेरा लंड भी काफी हेल्धी है. मैं अपनी लाइफ में वेल सेट हूँ चंडीगढ़ के अंदर.

स्टोरी चालु करते है दोस्तों. उसका नाम इशिका है. और वो मेरे फ्लेट के बाजू वाले फ्लेट इ ही रहती है. उसका एक छोटा बच्चा भी है. पहले ये बताऊँ की वो कैसी दिखती है. वो करीब 29 साल की है, पतली और छोटे ही बूब्स है. गांड का रखरखाव अच्छा है और चूत ऊपर से देखने पर लगता हैं की टाईट ही होगी. मैं कैसे उसके ऊपर फ़िदा हुआ? उसकी आँखों में सेक्स और हवस को देख के! और उसकी आँखों से लगता ही था की वो अपनी चूत के अन्दर बड़ा लंड डलवाना चाहती है!

loading...

वो मेरी माँ से अच्छी बात कर लेती थी. और मेरे साथ भी हाय हल्लो होता था उसका. एक दिन उसके फोन में कुछ प्रॉब्लम हुआ था और उसने मेरी माँ को बोला की आप को पता है इसको कैसे ठीक करना है? मेरी माँ ने मुझे बुला के फोन देखने को कहा. फोन के अन्दर छोटा सा ही प्रॉब्लम था जिसे मैं एक मिनिट से भी कम समाय में ठीक कर सकता था. लेकिन मैंने सोचा की फोन रख ही लेता हूँ कुछ देर अपने पास. मैंने उसे कहा मैं चेक कर के देखता हूँ और हो गया तो आप को देने आऊंगा.

loading...

मैने उसके फोन को अपने कमरे में ले जा के पहले ठीक कर दिया. और फिर उसके अन्दर असली स्टफ के लिए छानबिन चालु कर दी. और मैंने उसकी गेलरी में उसके बहुत सब पिक्स देखे. वो अलग अलग पोज में ली हुई सेल्फी थी. जैसे की बिस्तर में नाइटी पहन के लेटे हुए, दिवार के साथ खड़े हुए. कुछ पिक्स में वो फेमली के साथ बहार भी थी. मैंने उसके अन्दर से मस्त हॉट हॉट फोटोज अपने मोबाइल में ट्रान्सफर कर दी. और फिर एक घंटे के बाद मैं उसे उसका फोन दे आया. उसने मेरा नम्बर ले लिया की कुछ प्रॉब्लम हुआ तो बोलूंगी. मैंने भी उसका नम्बर ले लिया. और फिर हम लोगों की बातचीत उस दिन से बढ़ गई. कभी कभी मैं क्सक्सक्स पोर्न की जगह उसकी ये हॉट पिक्स को देख के ही मुठ भी मारता था.

फिर मुझे मेरी माँ से पता चला की इशिका की मेरिड लाइफ उतनी अच्छी नहीं थी क्यूंकि उसका हसबंड बहुत कम दे रहा था फेमली को. वैसे मैंने भी ये देखा था की उसका हसबंड जैसे शाम को सोने के लिए ही घर पर आता था. और वो दिखने में भी एकदम चूतिया लगता था. मम्मी के मुहं से ये सुन के इशिका को चोदने की इच्छा और भी बढ़ गई थी मेरी. और फिर मैंने इशिका के साथ मेरी चेटिंग को धीरे धीरे हॉट टोपिक्स पर चढ़ा दिया. और उसकी चेट से लग ही रहा था की उसे चोदने में एक अलग ही मजा आ जाएगा मुझे!

एक दिन उसने मुझे मेसेज कर के अपने घर पर बुलाया क्यूँकी वो बोर हो रही थी. मैं नाहा के रेडी हो के उसके घर पर चला गया. जैसे ही उसने दरवाजा खोला तो उसे देख के मेरा मुहं खुला ही रह गया. उसने एक फिट सफ़ेद रंग की लेगिंग पहनी थी जिसमे उसकी जांघ का आकार दिख रहा था. और उसके अन्दर उसकी पेंटी की लाइन भी साफ दिख रही थी. और ऊपर उसने एक टी शर्ट डाली हुई थी जिसमे शायद ब्रा नहीं पहनी थी उसने. उसके बूब्स काफी सेक्सी लग रहे थे और उसे ऐसे देख के मेरा लंड खड़ा हो गया था.

वो मुझे बिठा के मेरे लिए किचन से कुछ लेने के लिए गई. मैं भी उसके पीछे पीछे चला गया. मैंने इशिका को कहा आप मुझे भी पकाना सिखा ही दो. और उसने मुझे बताना चालू किया. मैं जानबूझ के उसे इधर उधर टच कर रहा था सिखने के बहाने से. मेरा आइडिया उसे हॉट करने का ही था, पकाना नहीं! और मेरे टच करने पर वो भी स्माइल दे रही थी वो मैं देख सकता था.

इशिका भाभी को टच कर कर के मेरा लंड पागाल होता जा रहा था. और उसकी आँखों में भी हवस का कीड़ा दिख ही रहा था. और मैंने सही मौका देख के बात निकाली. मैंने कहा माँ बोल रही थी की आप के आप के पति के रिलेशन उतने मीठे नहीं है. और वो आप को सही समय भी नहीं देता है. वो थोड़ी गमगीन सी हो गई और बोली, हां सही है बात उनके पास फेमली को छोड़ के सब के लिए वक्त है. मैंने अपने हाथ को इशिका भाभी के कंधे पर रख दिया और कहा आप वरी न करो भाभी सब ठीक होगा. वो मुझसे लिपट के रोने लगी. मेरा लंड एकदम कडक और खड़ा हो गया उसके मुझे टच करने से!

मैंने उसे शांत किया और उसके मस्तिक पर एक चुम्बन दे दिया. मुझे अच्छी एनर्जी मिली उस से. और मैंने बिना कुछ सोचे उसके होंठो को किस कर दिया. वो अह्ह्ह्ह अह्ह्ह की मोअन करने लगी और उसने मुझे एकदम डीप किस दे दी. मैं उसके पुरे बदन को टच कर रहा था इधर उधर.

वो बोली रुको मैं डोर को लोक कर लूँ. और फिर हम सोफे के उपर आ गए. मैंने उसे सोफे के ऊपर लिटा दिया और उसे किस करने लगा और उसके छोटे छोटे बूब्स को टी शर्ट के ऊपर ही चूमने लगा. उसकी चूचियां कडक हो चुकी थी और निपल्स चिभ सी रही थी मुझे. वो भी पेंट के ऊपर से मेरे लंड को दबा रही थी अपने हाथ से. मैंने अपनी ज़िप खोल के लंड को बहार निकाल दिया.

लंड को देख के इशिका भाभी बोली, बेन्चोद ये तो कितना बड़ा है!

मैंने कहा आज ये तुम्हारा ही है भाभी, ले लो इसे.

इशिका भाभी ने लोडे को अपने हाथ में पकड के हिलाना चालू कर दिया. मैंने भी उसकी लेगिंग को निकाल के उसकी चूत को पेंटी के ऊपर से ही छू लिया. वो काफी गरम थी और उसकी साँसे एकदम तेज हो गई थी. उसकी पेंटी को खिंचा तो चूत का रूप डेक के मैं उसे चाटने से खुद को रोक नहीं पाया. मैं चूत को लिक करने लगा और इशिका भाभी एकदम जोर जोर से मोअन कर रही थी.

और फिर उसने मेरे लौड़े को अपने मुहं में ले के ब्लोव्जोब चालु कर दिया. वो लंड को अपनी जबान से एकदम प्यार दे रही थी. पांच मिनिट के ब्लोव्जोब के बाद मैं भाभी को उठा के उसके बेडरूम में ले गया. और मैंने भाभी को कहा की मुझे औरतों की गांड चाटने की फेंटसी है. वो बोली, तुम बहुत ही एनेर्जेटिक हो सेक्स के अन्दर साहिल, आओ चाट लो.

वो मेरे सामने अपने चूतडो को उठा के घोड़ी बन गई. मैंने उसकी सेक्सी गांड के कूल्हों को दोनों हाथ से खोला और उसके डार्क रंग के एसहोल के ऊपर अपनी जबान लगा दी. मैं चूत के और गांड वाले हिस्से को सूंघ भी रहा था और अपनी ऊँगली से सहला भी रहा था. ऊँगली और जबान से भाभी को गुदगुदी भी हो रही थी. लेकिन मैं जानता था की इस गुदगुदी से उसके अंदर का सेक्स ज्वाला और भी भड़क उठेगा!

इशिका भाभी की गांड का सवाद एकदम मस्त था. मैं और भी जोर जोर से अपनी जबान को उसके ऊपर घिस रहा था और वो चद्दर को हाथो में क्रश कर के जोर जोर से मोअन कर रही थी.

मैंने अपनी जबान से उसके होल को पूरा गिला कर दिया था. और फिर हलके से अपनी एक ऊँगली को भी भाभी की गांड में घुसा दी. और वो मामियां उठी और बोली आरामस इ करो मेरी गांड अभी वर्जिन है! और सख्ती ने मुझे पहले ही महसूस करवा दिया था की ये एसहोल अभी अखंडित ही था.

मैंने थोड़े थूंक को ऊँगली पर ले के फिर से गांड पर दिया और अब की उंगली चिकनाहट की वजह से गांड में घुसी भी. वो होल एकदम टाईट था और मैं ऊँगली को अन्दर बहार कर के उसे कराह पर मजबूर किये हुए था. लेकिन इस पेन के साथ इशिका को मजा भी आया रहा था. उसने मुझे बोला की उसका हसबंड सिर्फ एक ही पोजीशन में सेक्स करता है, मिशनरी में लिटा के मेरे ऊपर चढ़ के पानी निकालता है बस.

मैंने अब गांड की ऊँगली को ऐसे ही रखा और चूत में एक ऊँगली घुसा दी. वो अब तो पागल होने लगी थी. और उसकी आवाजें अब एकदम गहरी और सेक्सी होने लगी थी. मैंने गांड और चूत पर मोर्चा खोला था उस से आगे बढ़ के मैंने अब उसके बूब्स को भी हाथ में ले लिया. मेरे दोनों हाथ से मैं इशिका भाभी के सभी सेक्सी अंगो को प्यार कर रहा था! आप समझ ही सकते हो की उसकी हालत क्या रही होगी उस वक्त!

वो बोली, साहील अब जल्दी से मुझे चोद लो प्लीज!

मैंने निचे लेट के भाभी को अपने ऊपर बिठाया. और उसकी टांगो को सही सेट कर दिया. निचे से उसकी चूत में लंड घुसा दिया मैंने. वो मजे से मेरे लौड़े की सवारी करने लगी थी. और उसके छोटे छोटे बूब्स मस्त ऊपर निचे हो रहे थे जब वो मेरे ऊपर जम्प करती थी. मैं कभी उसकी गांड को तो कभी उसके बूब्स को हाथ से मसल के उसे मेरे ऊपर और सेक्सी ढंग से जम्प करवा रहा था.

पांच मिनिट के बाद मैंने अब उसे घोड़ी बना दिया. और उसकी चूत में पीछे से पूरा लंड डाल दिया. लंड जैसे गर्म छुरी हो बटर के अन्दर वैसे चूत को पिग्लाता हुआ उसे अन्दर जा घुसा. मैंने इशिका की गांड पकड के इस पोस में भी उसकी खूब ली.

मैं जानता था की इशिका भाभी मिशनरी पोज वाले सेक्स से उब सी गई थी. इसलिए मैंने वो किया ही नहीं. जब मेरा माल निकलने को था तो मैंने फटाक से लंड को चूत से निकाल लिया. वो घुटनों पर मेरे सामने बैठ गई. और मैंने अपने हाथ से लंड को हिला के उसके नंगे बूब्स और एस के ऊपर सब माल छिडक दिया. पति से नाखुश सेक्सी भाभियाँ ऐसे वाइल्ड सेक्स अनुभव बड़े लाइक करती है.

इशिका को चोदने के बाद मैं अपने घर चला गया. लेकिन उसके साथ का सिलसिला थमा नहीं. आज भी अक्सर मैं उसके घर में घुस के उसकी बजा देता हूँ. हम दोनों अब सेक्स में बहुत एडवांस हो चुके है. वो मुझे पोर्न दिखा के उसके अंदर दिखाई गई सेक्स पोस बनाने के लिए कहती है!

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age