पार्क वाली आंटी को पटाके चोदा

हेलो दोस्तों मेरा नाम प्रेम है, और मेरी उम्र 24 साल है. आज मैं अपनी एक रियल स्टोरी आपके साथ शेयर करने जा रहा हूं. मेरी पिछली दो सेक्स स्टोरी आपको बहुत पसंद आई उनके लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद. यह कहानी उस टाइम की है जब मैं बी. टेक. के तीसरे साल का एग्जाम हो चूका था, और मेरी २ महीने की छुट्टी चल रही थी.

तो मैं टाइम पास करने के लिए शाम को पार्क जाना शुरु कर दिया. मैं हर रोज शाम को पार्क जाता था. मैंने एक दिन नोटिस किया कि एक आंटी मुझे देख रही थी, उनकी उमर तकरीबन २८ साल थी, और उनका फिगर ३२-२८-३६ का था. मैंने अपनी नजर हटा ली और घर चला गया. दूसरे दिन मैं पार्क गया तो देखा आंटी फिर मुझे देख रही थी और आज वह बहुत ज्यादा सेक्सी लग रही थी. उन्होंने ब्लैक कलर का सूट पहना हुआ था और उन्होंने मुझे एकदम से स्माइल पास की. मैंने भी उनको स्माइल पास की, और थोड़े टाइम के बाद में अपने घर चला गया.

एक हफ्ते तक ऐसा ही चलता रहा. फिर एक दिन मैं किसी काम से मार्केट गया हुआ था, तो मैंने वहां उस आंटी को देखा. आंटी शायद किसी पर अंकल के साथ थी. अंकल की उम्र ४० साल के आसपास लग रही थी. आंटी ने मुझे देखा और स्माइल पास की और अंकल के साथ बैठ कर चली गई. फिर शाम को जब मैं पार्क गया आंटी की पार्क में थी. वह एक्सरसाइज़ कर रही थी. एक्सरसाइज़ करते हुए उनकी चुचिया हिल रही थी, उन्हें देखकर मेरा खड़ा हो गया. आंटी भी मुझे बार बार देख रही थी और फिर उसके बाद जब वह घर जा रही थी तो उसका फ़ोन नीचे गिर गया. मैंने बोला आंटी आपका फोन गिर गया मैंने फोन उठाकर आंटी को दिया तू आंटी ने  मुझे थैंक्यू बोला और चली गई, मैं भी चला गया.

अगले दिन मैं पार्क में गया तो आंटी मेरे पास आकर बैठ गई, और बोला कल मैं तुम्हें सही से थैंक यू भी नहीं बोल पाई. और उन्होंने मुझे फिर से थैंक यू बोला और हम बातें करने लगे आंटी ने मेरे बारे में पूछा क्या करते हो? कहां रहते हो? और मैं भी उनके बारे में पूछने लगा आंटी ने बताया कि वह हाउस वाइफ है और उनका कोई बेबी नहीं है. मैंने उनको पूछा उस दिन मार्केट में मिले थे वह आपके हस्बैंड थे तो आंटी ने बोला हा.

और फिर बातें करने के बाद हम घर चले गए. अगले दिन आंटी दोबारा मेरे पास आकर बैठ गई, और बात करना शुरू किया. फिर मैंने आंटी से पूछा आंटी अगर आप बुरा ना मानो तो मैं एक बात पूछ सकता हूं? आंटी ने बोला हां क्यों नहीं. मैंने पूछा कि आप कितनी कम उम्र लगती हो और आपके हस्बैंड ज्यादा उमर के लगते हैं, ऐसा क्यों? तो आंटी ने बहुत उदास होकर बताया की उनकी शादी १८ साल की उम्र में ही हो गई थी.

उस टाइम उनके हस्बैंड की उमर ३० साल थी. और फिर मैंने पूछा आंटी आपको कोई बेबी क्यों नहीं हुआ? आंटी ने बताया उसके हस्बैंड गे हैं, और कुछ नहीं कर पाते. उनको मुझ में कोई इंटरेस्ट नहीं है. मैंने उनको बहुत बार बोला किसी डॉक्टर को दिखाओ, तो डॉक्टर ने भी मना कर दिया इसलिए आज तक कोई बेबी नहीं हो पाया. मैंने बोला यह तो बहुत गलत हुआ आंटी आपके साथ. मैंने बोला अगर आपको कोई काम हो तो मुझे बता देना, मैंने अपना नंबर दिया और फिर हम घर चले गए. मैं फोन का इंतजार कर रहा था. मुझे लग रहा था अगर आंटी मुझ से चुदवाना चाहती है तो जरूर मैसेज या कॉल करेगी.

रात को करीब ११ बजे whatsapp पर उनका मैसेज आया, और हमने बातें करना शुरु कर दिया. मैंने आंटी से पूछा अंकल आपके साथ हैं? तो उन्होंने बोला नहीं वह तो २ दिनों के लिए बाहर गए हुए हैं. और वैसे भी उनके यहां होने से भी कोई फायदा नहीं होता, क्योंकि वह दूसरे रुम में सोते हैं. आंटी की बातें सुनकर मैंने आंटी को चोदने का प्लान बनाया और आंटी से मैंने सेक्सी चैट स्टार्ट कर दी. वह मेरी बातों का रिप्लाइ  अच्छे से दे रही थी. और मैंने बातों बातों में आंटी को चोदने के लिए मना लीया और आंटी मान गई. फिर मैंने उनको बोला मैं कल रात को मैं आपके वहां रुक जाऊंगा, और  बोल दूंगा कि फ्रेंड के साथ जा रहा हूं, तो  आंटी ने भी हां कर दी.

फिर मैं कल रात का वेट करने लगा. मैं सुबह उठकर अपने नीचे के पैर साफ किए और शेव भी की. और बस रात होने का इंतजार कर रहा था. मैंने अपने घरवालों को बोला मैं अपने फ्रेंड के साथ जा रहा हूं, मुझे फोन मत करना क्योंकि मेरा फोन रोमिंग में लग जाएगा. यह कहकर मैं ९ बजे घर से निकल गया, मैं करीब १० बजे आंटी के घर पहुंचा. आंटी घर पर अकेली ही रहती थी, मैंने डोर बेल बजाई.

तभी आंटी डोर ओपन करने के लिए आई. आंटी ने डोर ओपन किया, आंटी ने लाल कलर की साड़ी पहनी हुई थी, और गोल्डन कलर का ब्लाउस पहना हुआ था. ब्लाउज में आंटी की चुचिया देखकर मैं पागल सा हो गया. मैं अंदर चला गया घर के. घर के अंदर आंटी ने पहले से ही परर्फ्युम स्प्रे किया हुआ था. उसकी खुशबु ओर अट्रेक्ट कर रही थी. आंटी के बाल खुले हुए थे आंटी ने मुझे बैठने के लिए बोला.

वह अंदर से अपने और मेरे लिए चाय ले कर आ गई. ऐसा लग रहा था आज आंटी पिछले १० साल की सेक्स की हवस मिटाना चाहती थी. आंटी ने मेरे लिए और अपने लिए एक एक पेग बनाया और रात के ११:३० बजे तक हम ड्रिंक करते रहे. वह अपने हस्बैंड के बारे में बता रही थी की उसने आज तक मुझे सही से नहीं चोदा हे और उसका बहुत छोटा हे.

वह १ मिनट में जड जाता है और मेरी प्यास नहीं बुज पाती, मैं तड़पते रह जाती हूं. बातों बातों में मैं आंटी के ब्लाउज पर हाथ लगा रहा था. थोड़े टाइम के बाद आंटी ने अपनी साड़ी उतार दी अब वो ब्लाउज और पेटीकोट में थी. आंटी को ऐसे देख कर मेरा लंड खड़ा होने लगा. आंटी ने मुझे बोला तू अपनी टी शर्ट और पेंट उतार दे गर्मी ज्यादा हो रही है. और मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए.

अब मैं सिर्फ अंडरवियर पहना हुआ था और मेरा खड़ा हुआ लंड साफ दिख रहा था. आंटी मेरे लंड की तरफ देख रही थी और थोड़ी देर बाद वह मेरे लंड के ऊपर हाथ फेरने लगी. मैं समझ गया था आंटी को चोदने का टाइम हो गया है. उनके हाथ फेरने से मेरा लंड और ही बड़ा हो गया. मैं धीरे धीरे उनकी चुचियो को मसल रहा था. वह मेरे पास आकर मेरी गोद में बैठ गई, और हम किस करने लगे. वह मेरे होठों पर किस कर रही थी. जैसे यह उनकी पहली सुहागरात हो.

१० मिनट कीस करने के बाद मैंने पीछे से आंटी का ब्लाउज उतार दिया. आंटी ने काले कलर की ब्रा पहनी हुई थी आंटी ने खुद वह भी उतार दी. उन्होंने मेरे फेस को पकड़ा और अपनी चुचियों को मेरे मुंह के अंदर घुसा दिया और बोली तू चूस और जोर जोर से चूसो आज तक इन को किसी ने सही से नहीं चूसा. आज तुम इसे चूस लो. तुम इसे अच्छे से चूसो और अपनी आंटी की प्यास बुझा दो. आंटी मेरी गोदी में बैठी हुई थी मेरा खड़ा लंड उनकी चूत में चुभ रहा था.

उन्होंने खड़े होकर अपना पेटीकोट और पैंटी उतार दी, और मेरे फेस को अपनी चूत में देने लगी. मैंने उनकी चूत चूसना शुरू कर दिया, वह सिसकियां लेने लगी. उन्होंने मेरा अंडरवियर उतार दिया और मेरे लंड को देख कर हैरान हो गई. क्योंकि उसने कभी इतना बड़ा लंड नहीं देखा था. वह पागलों की तरह मेरे लंड को उसके मुंह में लेकर चूसने लगी.

मैंने पहली बार अपना सारा वीर्य उनके मुंह में डाल दिया. और वह सारा वीर्य पी गई. और उसने चूस चूस कर मेरा लंड फिर से खड़ा कर दिया. आंटी ने मुझे नीचे लिटा दिया और ऊपर से मेरे लंड पर बैठ कर अपनी चूत चुदवाने लगी. वह आराम आराम से ऊपर नीचे हो रही थी. क्योंकि वह पहली बार इतना लंबा लंड ले रही थी. वह चिल्ला रही थी कितना लंबा है तेरा.. मजा आ गया… आह्ह अह्ह्ह ओह्ह्ह औऊउ उह्ह्ह्ह आह्ह ओह्ह्ह्ह. आंटी ने अब अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से झटके देने लगी.

मैं आंटी को घोड़ी बना दिया और जोर जोर से चोदने लगा. आंटी के मुंह से चीख निकल रही थी लेकिन मैं रुका नहीं चोदता ही रहा. ४ या ५ पोझिशन में आंटी को चोदने के बाद मैने बोला मुझे आपकी गांड मारनी है.

मैंने आज तक कभी किसी की गांड नहीं  मारी थी. आंटी कहने लगी मैंने कभी पीछे से नहीं लिया आराम से करना वरना दर्द होगा. मैंने बोला ओके. आंटी अंदर से तेल लेकर आ गई. मैंने अपने लंड पर थोड़ा तेल लगाया और थोड़ा उसकी गांड पर लगाया. फिर धीरे धीरे लंड अंदर डाला वह जोर जोर से चिल्लाने लगी, निकालो इसे अहहह ओह्ह्ह आह्ह्ह हुह्ह्ह बहुत दर्द हो रहा है लेकिन मी धीरे धीरे अंदर डालता रहा और फिर मैं थोड़ी देर में लंड अंदर चला गया.

अब आंटी गांड हिला हिला कर लंड अंदर ले रही थी और फिर मैंने सारा वीर्य उनकी गांड के अंदर डाल दिया. आंटी ने पहली बार इतना लंबा लंड लिया था इसलिए उनसे रुका नहीं जा रहा था इतना लंबा लंड देखकर.  और रात भर उन्होंने तिन बार अपनी चूत चूदवाई.

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age