पति के बिजनेश राइवल ने मुझे चोदा

loading...

दोस्तों मैं अक्षय एक नयी कहानी ले के आया हूँ जो मेरी एक दोस्त प्रिया की हैं. प्रिया 29 साल की एक खुबसुरत महिला हैं जिसकी फिगर 36 28 36 हैं. प्रिया और उसके हसबंड महेश की सेक्स लाइफ बहोत ही अच्छी रही थी. वो रोजाना ही सेक्स किया करते थे. लेकिन ये कहानी हैं प्रिया और महेश के बिजनेश राइवल अजित की. दोस्तों अब आगे की कहानी प्रिया की जबानी.

मैं और महेश बहोत खुश थे अपनी लाईफ से पर मेरी जिंदगी में ऐसा मोड़ भी आएगा ये कभी नहीं सोचा था. की बिजनेश पार्टी में महेश और हमेशा साथ जाए करते थे. अजित भी हमें पार्टी में मिलता अं. अजित अकेला था और कई अफेयर किया करता रहता हैं. पर इस बार उसका शिकार पर मैं थी. वो किसी न किसी बहाने से मुझ से बात करने की कोशिश और करीब आने की कोशिश करता था. लेकिन महेश के मेरे साथ होने की वजह से वो कभी आगे नहीं बढ़ पाया था.

loading...

मैं समझ रही थी की वो मुझसे क्या चाहता हैं इसी वजह से मैं उस से दुरी बना के रखती थी. ये बात एक महीने पहले की हैं जब महेश किसी काम से बहार गए हुए थे. महेश के एक अच्छे क्लाइंट की पार्टी थी. महेश घर पर नहीं थे और उन्होंने मुझे कहा था की किसी भी हालत में इस पार्टी को अटेंड करना हैं क्यूंकि वो अच्छा बिजनेश देता हैं हमें. महेश नहीं चाहता था की क्लाइंट को बुरा लगे. बदकिस्मती से अजित भी उस क्लाइंट के कुछ प्रोजेक्ट कर रहा था. तो वो भी उस पार्टी में आ रहा था.

loading...

उस दिने मैंने इंक कलर की डिज़ाइनर साड़ी पहनी हुई थी. साड़ी ट्रांसपेरेंट होने की वजह से मेरे उभार ब्लाउज में साफ नजर आ रहे थे. और मेरी नाभि भी एकदम क्लीन सी दिख रही थी. मैंने लो वेस्ट साड़ी जो पहनी थी. उस दिन जब मैं पार्टी में पहुंची तो लोग मुझे पलट पलट कर देख रहे थे. आखिर साडी में बला की खुबसुरत जो लग रही थी!

अजित का तो मुहं ही खुला का खुला रह गया था. मुझे देख कर उसकी लाल टपकने आगी थी. अजित ने उस दिन ब्लेक स्यूट पहना हुआ था. जिम जाने की वजह से उसकी बॉडी बहुत ही टाईट थी और मसल भी अछे थे. उसने मुझसे बात करने की कोशिश की पर मैंने उसे इग्नोर कर दिया. क्लाइंट ने भी मेरी तारीफ की. फिर मैं एक टेबल पर बैठकर ज्यूस पी रही थी. और पार्टी की म्यूजिक का आनंद ले रही थी. तभी किसी ने मेरे कंधे पर हाथ रख दिया. मैंने पलट कर देखा तो वो अजित था. मैं चौंक गई तो अजित ने हंस के बोला अरे इतना चौंक क्यूँ रही हो? हम कोई पहली बार थोड़े मिल रहे हैं?

मैं: हां लेकिन तुम यहाँ?

अजित: क्यूँ क्या मैं एक खुबसुरत लेडी से बात भी नहीं कर सकता!

मैं: हाँ पर.

अजित मुझे बिच में टोकते हुए बोला: आज तो तुम बाला की खुबसुरत लग रही हो, मैं चाह कर भी तुमसे नज़रे दूर नहीं हटा पा रहा.

मैं: थेंक यु पर अजित मैं एक मेरिड लेडी हूँ इसलिए तुम प्लीज़ मेरे पीछे अपना टाइम मत वेस्ट करो.

अजित: अरे नहीं टाइम वेस्ट नहीं कर रहा टाइम सही जगह लगा रहा हूँ.

वो मेरे बहुत मन करने पर भी मेरे साथ फ्लर्ट कर रहा था. मैंने छुटकारा पाने के लिए वहां से निकलना ही ठीक समझा. मैं निकलने को ही थी की अजित ने वेटर को बुला के ड्रिक ऑफर की.

अजित: चलो भी प्रिया, माना हम दोनों बिजनेश राइवल हैं पर आज एक जाम हमारे साथ भी लगा ही लो.

मैंने दो मिनिट सोचा की ठीक हैं एक बार ड्रिंक कर लेती हूँ उसके बाद शायद ये पीछा छोड़ देगा मेरा. मैंने उसे ओके बोल दिया ड्रिंक के लिए.

अजित: थेंक्स प्रिय, आज एक जाम तुम्हारे नाम!

और हम दोनों ने ड्रिंक स्टार्ट आर दी. शायद ड्रिंक कुछ ज्यादा ही स्ट्रोंग थी तो मुझे एक ही पेग में नशा सा चड़ने लगा था. और मजा सा भी आने लगा था ना जाने क्या हुआ पर अजित की कम्पनी मुझे अच्छी सी लगने लगी थी फिर अजित और मैंने दो दो पेग और लगाए. मेरे कदम लडखडाने लगे थे क्यूंकि वो ड्रिंक सच में बहुत ही स्ट्रोंग थी मेरे लिए.

अजित ने मुझे घर तक चोदने को कहा. पर मैंने मना कर दिया. लेकिन इतने नशे में गाडी ना चलाने की ख्याल भी मन में था. तो जब अजित ने इंसिस्ट किया तो मैंने हां कर दी.अब वो मुझे संभालने के बहाने मुझे फिल करने लगा. मेरी कमर, बूब्स, एस, सब को बारी बारी फिल करने लगा था. मैंने कोशिश की उसको रोकने की पर नशे की वजह से नाकाम रही.

फिर अजित मुझे घर तक चोदने आया. गाडी में भी गियर बदलने के बहाने से मेरी जांघो को फिल कर रहा था. मैं चाह कर भी उसे रोक नहीं पा रही थी.

जब मेरे घर पहुंछे तो मैंने उसे कहा की मुझे प्लीज़ सोफे तक छोड़ दो. पर वो नहीं माना और मुझे ले के मेरे बेडरूम में आ गया.

मुझे बिस्तर पर लिटा कर अजित मेरे बदन को घूरने लगा. मानो पहली बार किसी लड़की को देख रहा हो. फिर उसने दरवाजा बंद कर दिया और मेरे ऊपर आकर जबरदस्ती मुझे किस करने लगा. नशे के कारण मैं उसे रोक भी नहीं पा रही थी. पिछले दो दीन से सेक्स नहीं मिलने की वजह से मैं भी गरम होने लगी थी. और उसका साथ देने लगी थी मैं.

अब वो मेरी साड़ी उतार कर मेरे बूब्स को ब्लाउज के ऊपर से चूस रहा था मैं भी एक्साइटमेंट में उसका सर पकड़ कर अपनी और दबा रही थी. फिर उसने जल्दी से मेरे सारे कपडे उतार दिए और खुद भी नंगा हो गया. उसका बड़ा लंड 9 इंच के आसपास  था और एकदम तैयार था.

अजित मेरे ऊपर आ गया और जोर जोर से मुझे किस करने लगा मेरे होंठो को भी काट रहा था वो. फिर वो निचे किस करते करते जाने लगा. और मेरे क्लीवेज को लिक कर रहा था. और वो मेरे बूब्स को भी दबा रहा था मैं भी मजे ले रही थी और मोअन कर रही थी. अजित मेरे निपल्स को बाईट कर रहा था. और बूब्स को दबा रहा था. मुझे उसका खड़ा लंड अपनी टांगो पर घिसता हुआ महसूस हो रहा था.

फिर अजित मेरे नावेल की तरफ बढ़ा और उसे लिक करने लगा. मेरे मुहं से जोर से आह निकल गई. कुछ देर नावेल से खेलने के बाद वो निचे बढ़ा और मेरी जांघो को लीक करने लगा. मेरी अंदरूनी जांघो को भी करने लगा और मेरी चूत के ऊपर भी उसकी गरम साँसे महसूस हो रही थी. मैंने उसका सर पकड़  के अपनी चूत के ऊपर रख दिया.

अब अजित ने अपनी जीभ से मेरी चूत को लिक करने लगा और दो ऊँगली चूत में डाल के अन्दर बहार करने लगा. मुझे बहोत मज़ा आ रहा था अजित मुझे तब तक चूसता रहा जब तक मेरी चूत गीली नहीं हुई. जब चूत एकदम गीली हो गई तो उसने अपने लंड पर थूंक लगाया और मेरे ऊपर आ के लंड मेरी चूत के छेद पर टिका दिया.

अजित ने एक जोर का झटका दे दिया और मेरी चूत की गहराई में अपना लम्बा लंड डाल दिया. हर स्ट्रोक के साथ उसका लंड और अन्दर जा रहा था और मेरी चूत के सब से गहरे हिस्से को छू रहा था. मैंने लंड को इतनी गहराई में पहले कभी महसूस नहीं किया था. वो अन्दर बहार कर रहा था और अपनी स्पीड को बढ़ा रहा था. उसके जोरदार झटको से पूरा बेड हिलने लगा था.

वो मेरे पैर को अपने कंधे पे रख के और तेज चोदने लगा था. 20 मिनिट तक चोदने के बाद उसने अपना पानी मेरी चूत में ही छोड़ा दिया. वो इए ही मेरे ऊपर गिर के सो गया और थकान और नशे की वजह से मैं भी ऐसे ही सो गई. उसका लंड अभी भी मेरी चूत में ही था.

सुबह मेरी आँख खुली तो अहसास हुआ की क्या हुआ था रात क! पहले तो बहुत गुस्सा आया पर जब उसके बड़े लंड का स्पर्श हुआ तो नशा चढ़ने लगा फीर से. मैंने अजित को किस कर के उठाया. अजित ने मुझे देखा, स्माइल किया और हम दोनों एक दुसरे को समुच करने लगे. फिर हमने रात की अधूरी चुदाई को पूरा किया, आग अलग पोजीशन में सेक्स किया, और मैंने उसका लंड भी मुहं में लिया.

हमने फिर शावर के निचे खड़े हुए भी चुदाई की. फिर मैंने नाश्ता बनाया हम दोनों के लिए और वो नास्ता कर एक जाने लगा. गेट के पास रुक कर वो वापस आया और मुझे एक जोरदार किस दे के कहा, मिलती रहना मेरी जान!

मैं समझ गई की अभी तो चुदाई चालु हुई थी और वो आगे भी मुझे चोदेगा. मन में तो मैं भी बहुत खुश थी की एक नया लम्बा लंड मुझे मिल गया था.

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age