बंगलौर की लेडी की गन्दी चुदाई मासिक के दिनों में

loading...

सभी पढने वालो के लिए मैं फिर से एक मस्त सेक्सी कहानी ले के आया हूँ. ये घटना मेरे साथ आज से करीब पांच साल पहले घटी थी बंगलौर के अन्दर. और तब मैं शादीसुदा नहीं था. उसका नाम सानिया था और उसकी उम्र 27 साल की थी. वो 5 फिट और 11 इंच लम्बी, गोरे रंग की थी. और उसका फिगर 38 30 36 था.

उसकी चूचियां एकदम गोल और भारी थी और गांड के मोड़ इतने सेक्सी थे की किसी को भी देख के सेक्स के चक्कर आ जाए! मेरा उन दिनों मेरी गर्लफ्रेंड के साथ ब्रेकअप हुआ था और मैं जल्दी से किसी के बंधन में बंधना चाहता था. और वीचेट एप्प डाउनलोड कर लिया मैंने अपना नसीब आजमाने के लिए.

loading...

एक महीने जितना समय निकल गया और कुछ नहीं हुआ. इसलिए मैं थोडा फ्रस्टेट भी हो रहा था. मैं सब लेडिज को, काली हो या गोरी, पतली हो या मोटी, हाई हल्लो भेजता था. और फिर एक दिन इस सानिया का मेरे को जवाब आया हाई! और फिर उसने कहा की क्या सच में जो प्रोफाइल में पिक लगाईं है वही तुम हो?

loading...

पहले मैं डर गया की ये ऐसे क्यूँ पूछ रही है? फिर मुझे याद आया की साले गांडू लोग भी एंजल प्रिया बनते है. मैंने कहा हा ये मेरी ही पिक है और बाय ध वे आप की फोटो भी बड़ी अच्छी है. ये कह के मैंने विंक यानी की आँख मारने का सिम्बोल भी उसे भेजा चेट में. उसने शायद मेरे सभी पिक्स देखे और फिर उसका जवाब आया बांसवाडी में रहती हूँ आ सकती हो कुछ देर में? कंडोम के साथ!

रात के करीब 10 बज के 20 मिनिट हुई थी. उस समय मुझे थोडा वहम भी हो रहा था. क्यूंकि कई भोसड़ी के मजाक भी करते है. लेकिन मैंने सोचा की अगर चूत मिल रही है तो चांस लेने में कोई बुराई नहीं है. मैंने अपनी माँ को बोला की मेरे दोस्त के पापा को अटेक हुआ है हार्ट का और ये कह के मैं घर से निकल पड़ा. मैंने बाइक उसके घर की तरफ दे मारी और बिच रस्ते में एक स्टोर से सनी लियोन की एड वाली कंडोम का पेकेट ले लिया. मैं बांसवाड़ी फायर स्टेशन के पास पहुंचा और उसको मेसेज किया की मैं यहाँ हूँ. और उसने मुझे कॉल किया और अपने घर की तरफ आने का रास्ता बताया. आवाज के ऊपर से तो वो सच में एक मस्त लेडी ही लग रही थी.

मैंने इयरफोन लगाईं थी और बाइक चला रहा था. जैसे जैसे उसने रास्ता बताया मैं वैसे वैसे जाने लगा. मैं उसकी लेन में पहुँच गया तो उसने बाइक लेन के एंड में पार्क करने के लिए कहा. और फिर मैं वहां से पैदल ही उसके अपार्टमेंट तक गया. और उसने मुझे बोला की वाचमेन को बोलना की मैं मिस्टर सतीश को मिलने के लिए आया हूँ.

उसने जैसे कहा था मैंने वैसे ही किया और ऊपर चला गया. मैं अभी भी उसके साथ कॉल कर ही था. और मैं जैसे ही उसके मेनडोर के पास पहुंचा तो वही पर उसके पीछे खड़ी हुई थी. उसने मुझे घर में घुसा के फटाक से दरवाजे को बंद कर दिया.

वो सच में एक बहुत ही सुंदर लेडी थी. उसने जींस और टी शर्ट पहनी हुई थी. और उसके अन्दर उसका बदन एकदम सेक्सी लग रहा था. उसने मुझे बैठने के लिए कहा. और वो बोली कुछ पिने के लिए ले के आऊँ?

मेरी तो नजर ही उसके ऊपर से हट नहीं रही थी. तराश के बनाया हुआ बदन थे जैसे उसका. और वो काफी मोडर्न भी लग रही थी. मैंने कहा नहीं, थेंक्स.

उसने पूछा, तो तुम कितने बड़े हो?

मैंने कहा मैं 22 साल का हूँ.

सानिया: और तुमने पहले कभी सेक्स किया है या फिर मैं किसी सेक्स के प्यासे जल्दी झड़नेवाले वर्जिन लौंडे के सामने खड़ी हूँ?

मैंने कहा अरे मैंने पहले बहुत चोदा है और मैं आज रात को वो साबित कर दूंगा!

सानिया: चलो देखते है क्यूंकि मैं एकदम होर्नी औरत हूँ और मुझे शांत करने के लिए मर्दों को काफी मसक्कत करनी पड़ती है.

मैंने कहा कोई बात नहीं है, मुझे भी ऐसे किसी की तलाश थी जो चूत में डीप तक लंड को ले सके और जिसे हार्डकोर चुदाई पसंद हो.

सानिया: अच्छा बच्चा तो फिर कितना बड़ा है तुम्हारा लंड? मुझे दिखाओ.

वो मेरे पास आई और उसने मेरी पेंट को खोल दिया. और बॉक्सर के ऊपर से ही उसने मेरे लंड को फिल किया. मेरा लंड उस वक्त खड़ा ही था और उसने लंड को बॉल्स के साथ पकड के कहा, क्या तुम मुझे अपनी गुलाम बना के चोद सकते हो? मुझे ऐसे मर्दों से चुदना पसंद है जो औरत को एकदम गंदे सेक्स की फिलिंग करवाते है!

मैं ये सब सुन के तो और भी एक्साइट हो गया और मैंने उसे एक किस कर लिया. उसने मुझे पीछे धक्का दे दिया और बोली तुम बड़े ही जल्दी में हो, चलो पहले कपडे तो बदल लेने दो मुझे. फिर वो मुझे हंस के देख के बोली, और चाहों तो तुम मेरे कपडे फाड़ के चोद सकते हो. और साथ में एकदम रफ हो जाना और मुझे गालियाँ भी देना.

मैं उसके पलंग के ऊपर बैठा हुआ था और मेरी पेंट खुली हुई थी. वो कपडे बदल के फटाक से वापस आ गई. उसने एक ब्ल्यू ट्रांसपेरेंट फुल गाउन पहनी थी और उसके हाथ में एक हथकड़ी भी थी. मैं उसे इस रूप में एकदम अचंबित था. वो एक सेक्स की देवी लग रही थी जिसे चोदना कोई भी चाहेगा. वाह क्या मस्त लग रही थी उसकी बड़ी गांड और ऊपर के बड़े बूब्स!

मैं खुद से कह रहा था बेटा आज तो अपनी किस्मत ही चमक गई है! उसने मेरे पास आ के हथकड़ी मेरे हाथ में दे दी और बोली, ये लो चलो अब मुझे दिखाओ की तुम सच में बच्चे नहीं हो और चोद सकते हो एक छिनाल को!

मैंने कहा साली छिनाल, बड़ी गांड वाली रांड अभी दिखाता हूँ तेरे को!

और मैंने हथकड़ी ले ली. और फिर उसको धक्का दे के उसे दिवार के पास खड़ा कर दिया. उसकी कमर मेरी तरफ थी. मैंने उसके दोनों हाथ को पीछे ले लिए और उसे हथकड़ी पहना दी. और फिर उसके बाल को पकड के उसके चहरे को अपने पास ला के कहा, छिनाल रंडी आज अपने मालिक को चूत का मजा देने के लिए रेडी हो जा, मादरचोद! और फिर मैंने उसके होंठो को पर किस कर लिया और वो भी बड़े ही मजे वाली किस दे रही थी मेरे को.

और फिर मैं धीरे से उसके गले के पास आ गया और वहां पर भी किस करने लगा. और मेरे हाथ उसके बूब्स पर थे और वो दोनों को ही मैं मसल रहा था. मैं अब एक कदम पीछे हुआ और उसके बूब्स के ऊपर ताड़ ताड़ दो चमाट लगाईं. और वो एकदम से मचल उठी और उसके मुहं से अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्हह निकल गया.

उसके बूब्स के ऊपर और भी जोर जोर से मारना चालू कर दिया मैं. और फिर मैंने उसकी हथकड़ी को खोला और उसको बोला चल रूम में ले चल मुझे रंडी! वो मुझे मेरा लंड पकड के अपने कमरे में ले गई. मैंने उसे कमरे में दाखिल होते ही बिस्तर के ऊपर फेंक दिया. अब मैंने उसके बूब्स को एकदम हार्ड सक किया और उसकी गांड को एकदम जोर जोर से बजाई. वो कराह रही थी और उसे बहुत मजा आ रहा था. उसने मेरे माथे को अपने बूब्स पर दबाया और बोली, और करो! मैंने उसके हाथ से माथा छुडाया और कहा, साली राडं मेरे को हाथ मत लगा, जब भी तू मेरे को रोकने के लिए हाथ लगाएगी मैं तेरी गांड पर उसकी सजा दूंगा! और ये सुन के तो वो और भी सेक्सी होने लगी थी.

उसके बूब्स को कुछ देर मस्त चूसने के बाद अब मैंने उसके गाउन को फाड़ दिया और उसके बाल पकड के उसे मेरा लंड चूसने के ली कहा. वो खड़ी हुई और उसने मेरी पेंट और अंडरवियर को निकाल दिया और मेरे मोटे लंड को देख के बोली बाप रे ये लौड़ा तो कितना मोटा है! काश मेरे हसबंड के पास भी ऐसा ही लंड होता!

वो मेरे लंड को मुहं में भर के चूसने लगी. मैंने एक मिनिट लंड चूसा के उसे दूर किया लंड से. और उसके मुहं को जबरदस्ती से खोल के उसके मुहं में थूंक दिया और कहा, चूस साली जल्दी से मेरे लौड़े को भोसड़ी की, छिनाल.

वो फिर से मेरे लंड को मुहं में भर के चूसने लगी. और मैं जोर जोर से मोअन कर रहा था क्यूंकि मेरे लिए वो अब तक का सब से बेस्ट ब्लोव्जोब अनुभव था. मैं उसके गले को चोदने लगा था अब और वो ग्ग्ग्ग ग्गग्ग्ग की आवाजें निकाल रही थी. मैंने अब उसके बाल पकड के उसे ऊपर खिंचा और उसकी पेंटी को निकाल फेंकी फाड़ के. मैं उसकी चूत चाटने ही जा रहा था की वो बोली, नो नहीं प्लीज, मेरी मासिक चालु है और आज चौथा दिन है!

मेरा चूत चाटने का मन में ही रह गया. मैंने उसे कस के दो चमाट लगाईं और उसके बूब्स के ऊपर जोर से पिंच करते हुए कहा, साली रांड की औलाद चुदने के लिए गंदे गंदे दिन ही मिले तेरे को, साली अपनी भोसड़ी का लोही पिला के मुहे ड्राकुला बना देती थी साली रंडी तेरी चूत को अच्छी तरह फाड़ दूंगा मेरी मादरचोद वेश्या.

लंड को मैंने कंडोम से ढंक लिया. मैंने अपने लंड को एक हाथ से पकड के उसकी क्लाइटोरिस के ऊपर घिसा. वो अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह की मोअन करने लगी. और वो बोली अरे तेरा लंड कितना बड़ा है रे साले. मैंने उसके गले को दबाया और कहा, चुप मादरचोद, तू याह सिर्फ चुदेगी कुछ मुहं से नहीं निकलेगा सिर्फ दर्द और चुदास की सिस्कारियों के सिवा!

मैंने एक ही धक्के में लंड को उसकी चूत की दरार में घुसा दिया और इतना बड़ा लंड ले के वो ही जैसे तृप्त सी हो गई! उसने बताया की उसके हसबंड का सिर्फ 4 इंच का था और चूत में आधा घुसता हो ऐसे लग रहा था. मैंने उसके बाल पकडे और उसको जोर जोर से चोदने लगा.

मैंने उसे चोदते हुए बोला, साली रंडी ये बता तेरे को चुदवाने में मजा आ रही है की नहीं मेरे लंड से! वो कुछ नहीं बोली लेकिन आँखों से हाँ कहा उसने और फिर वो बोली ओह यस्स अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह अह्ह्ह्हह्ह अह्ह्ह्ह! और फिर उसकी चूत से पानी की धार निकली, इंग्लिश पोर्न मूवी में जो दिखाते है न स्कवर्ट वही निकाला था सानिया ने! और सब मेरे लंड के ऊपर ही. वो काफी गरम था जिस से लंड में जैसे नयी जान आ गई.

मेरे लंड के ऊपर उसका पानी और उसकी चूत से निकला हुआ खून और कुछ दुसरे फ्लूइड भी थे. मैंने फिर से लंड को चूत में घुसा दिया और चोदने लगा. और करीब पांच मिनिट कस के चोदने के बाद मैंने अपने लंड का पानी निकाला और पूरा कंडोम भर गया. मैंने लंड को निकाल के कंडोम उतारा. और लंड को उसके मुहं के पास रख के कहा, ये ले छिनाल एक एक बूंद को चाट लेना और कुछ भी बचने ना पाए!

उसने अपनी चूत में दो ऊँगली डाली. वो ऊपर मेरे लंड को चूस रही थी और निचे अपनी चूत को फिंगर कर रही थी. वो बोली कसम से आज पहली बार किसी ने मुझे कामोत्तेजना के इस स्टेप पर ला के खड़ा किया है! और आज ही मुझे पता चला की मैं स्कवर्ट भी कर सकती हूँ!

मैंने सानिया को बाल से पकड के कहा, चलो अब मेरे को बाथरूम में ले जा के मेरे बदन को साफ़ कर दो. उसने फिर से मेरे लंड से पकड़ के मुझे बाथरुम में ले जा के मेरे लंड को साफ किया पानी से. और एक बार फिर से उसने वहां पर मेरे लंड को अपने मुहं में ले लिया.

मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. हम दोनों शावर के निचे एकदम भीगे हुए थे. मैंने उसे खड़ा किया और दिवार पकड़ा दी. और पीछे से बिना कंडोम के उसकी एकदम गीली चूत को चोदने लगा. वो अह्ह्ह्ह अह्ह्ह फक फक अह्ह्ह कर रही थी. मैंने जोर से उसकी गांड को स्पेंक किया और तेज गति से चोदा उसे. वो अह्ह्ह अह्ह्ह मजा आ गया, क्या लंड है अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह अह्ह्ह्ह डालो अंदर मेरी चूत में अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह करने लगी थी!

मेरे लंड का लावा उगल दिया मैंने उसकी चूत के अन्दर ही और उसको बोला, साली तेरी चूत भी कम नहीं है और तू भी एक नम्बर की रंडी है भोसड़ी वाली, साली पीरियड में चोदने में इतना मजा आया तेरे को की अब मैं तुझे मासिक में ही चोदना चाहता हूँ आगे भी और गांड भी मारूंगा अब जब आऊंगा. अपनी गांड को आज से ही तेल पिला और बेलन लेने की प्रेक्टिस कर, जब आऊंगा तो गांड का गुडगाँव बना दूंगा छिनाल!

फिर हम नाहा के बेडरूम में गए. वहां फिर से मेरा खड़ा हो गया. और अब की मैने उसको अपनी गोदी में बिठा लिया. वो अपने बूब्स को जोर जोर से हिला रही थी और ऊपर निचे करते हुए पागलों के जैसे चुदवा रही थी. और अब की मैंने वीर्य निकलने से पहले ही उसे निचे उतार दिया और लंड उसके मुहं में दे के सब वीर्य वही पर निकाल दिया.

फिर हम दोनों ने एक लम्बी पांच मिनिट की किस की. और वो बोली आज रात यही रुक जाओ तुम, मेरे पति की डबल शिफ्ट है नाईट और अर्ली मोर्निंग करने के बाद वो 11 बजे आयेंगे, तुम 9 बजे तक जितन चोदना चाहो चोद लो मेरे को.

मैंने कहा मैं पहले हमारे लिए खाना और सेक्स की दवाई ले के आता हूँ, अब तो पूरी नाईट ही तुझे चोदुंगा.

उसने मुझे 2 हजार का नोट दिया. मैं पिज्जा, ड्रिंक्स, कंडोम और सेक्स की गोलियां उसके और मेरे लिए ले के आया. खाने के बाद हमने फिर से अपना चोदने का काम चालू कर दिया जो अर्ली मोर्निंग 5 बजे तक चला.

पांच बजे सोने के बाद उसने 8 बजे मेरे को उठाया. मैं नाहा के उसके घर से निकल गया.

वाचमेन ने मेरे को देखा और वो मुछों में ही हंस रहा था. शायद मिस्टर सतीष की ये सेक्सी वाईफ पहले भी ऐसे लडको को बुला के लंड लेती होगी.

और अगली बार चोदने के लिए गया तो उसने ये बात कबूल भी की मेरे सामने. लेकिन उसने अब कहा की अब तुम्हारा लंड मिला है इसलिए मैं किसी और को नहीं बुलाऊंगी. उसने कहा की चेटिंग में लड़के बड़ी बड़ी बातें करते है दारा सिंह और टारजन होने की, लेकिन चूत की गर्मी ने बहुतो के लंड को ऐसे पिगला दिए की वो एक मिनिट भी नहीं चोद सके!

उसका और मेरे चोदने का काम पुरे दो साल तक चला. और वो मुझे खर्चे के लिए अच्छे पैसे भी देती थी. एक बार तो उसका पति किसी प्रोजेक्ट के लिए 5 दिन के लिए घर पर नहीं था तो मैं पांच दिन तक उसके घर में ही रहा और खूब चोदा उसे.

लेकिन आजकल वो मेरी टच में नहीं है. उसके पति का ट्रान्सफर चेन्नई हो गया और वो लोग वहां मूव हो गए. उसने कहा तो था की कांटेक्ट में रहूंगी. लेकिन शायद अब वो चेन्नई में किसी जवान लंड को अपनी चूत का भोग करवाती होगी. मेरी भी अब गर्लफ्रेंड है इसलिए चुदाई का मशीन अपने पास भी है!

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age