रजनी भाभी का पहला मजा

हेलो दोस्तों मेरा नाम नयन है और मैं हैदराबाद का हूं, मेरी उम्र २८ साल है. यह मेरी पहली रियल कहानी है जो मेरी जिंदगी का पहला वाकिया है और अब ज्यादा बोर ना करते हुए मैं मुद्दे पर आता हूं.

यह कहानी कुछ ५ साल पहले की है जब मैं रेस्टोरेंट में मैनेजर की पोस्ट पर काम करता था. वही मेरे रेस्टोरेंट के पास में ही एक फैमिली रहती थी और वह एक मिडिल क्लास से थे, उनके घर पर सिर्फ तीन ही लोग थे, हसबंड अजय उनकी वाइफ रजनी भाभी और उनकी बेटी लक्ष्मी.

रजनी भाभी की उम्र लगभग २६ साल की होगी और उसका फिगर कमाल का था और जो कोई भी उन्हें देखता सिर्फ देखते ही रहता, उनके हस्बैंड का कपड़ो का बिजनेस था जिस के कारण वह कई शहरों का दौरा करते थे, मेरा रेस्टोरेंट उन के घर के पास रहने से मेरी उन से और रजनी भाभी से अच्छी पहचान हो गई थी.

एक दिन रजनी भाभी के हस्बेंड मेरे रेस्टोरेंट आये और कहा कि मैं कुछ दिनों के लिए जयपुर जा रहा हूं और मेरे घर की चाबी और उनकी लड़की के लिए चॉकलेट मेरी वाइफ को दे देना, यह कह कर वह चले गए और कुछ टाइम के बाद रजनी भाभी मेरे पास आई और चाबी मांगी तो मेने उनको चाबी दे दिया और वह चली गई.

फिर कुछ टाइम बाद मुझे याद आया कि उनकी लड़की की चॉकलेट मेरे पास रह गई है तो मैं खुद ही उन्हें देने चला गया और उन के घर में अक्सर बिना दरवाजा नॉक करें चला जाता था और उस दिन भी मैं बिना दरवाजा खटखटाए चला गया और मेने देखा की होल में कोई नहीं था तो मैं उनके बेडरूम की तरफ चला गया तो अचानक मुझे बाथरूम के दरवाजे की आवाज आई तो मैंने जैसे पलट के देखा कि भाभी अभी नहा कर बाहर आई थी और वह सिर्फ टॉवेल में ही थी, जैसे ही भाभी ने मुझे देखा वह परेशान हो गई और जल्दी से बेडरूम की तरफ चली गई, और मैं भी कुछ बताएं बिना चॉकलेट वही रख के चला गया और उस के दूसरे दिन मेरी नाइट शिफ्ट थी.

रजनी भाभी के हस्बैंड का मुझे फोन आया तो मैं परेशान हो गया कि वह मुझे फोन क्यों कर रहे हैं? मैंने हिम्मत से फोन उठाया और पूछा भइया कैसे हो? तो उन्होंने कहा कि उनकी बेटी की तबीयत खराब है क्या वह आज शाम वहां रुक सकते हो क्या? तो मेने जट से हां कर दी और उनके घर चल पड़ा, लेकिन मुझे डर लग रहा था की रजनी भाभी का क्या रिएक्शन होगा?

फिर मैंने दरवाजा बजाया तो भाभी ने आवाज दी कि दरवाजा खुला है, तो मैं अंदर चला गया, तो भाभी सोफे पर बैठी थी और वह आज साड़ी पहनी थी, ब्लैक ब्लाउज और रेड कलर की साडी, जैसे ही हम दोनों की आंखें मिली उन की आंखें झुक गई थी तो उन्होंने कहा कि तुम पहले फ्रेश हो जाओ मैं खाना निकालती हूं.

तो में फ्रेश होने के लिए बाथ रुम चला गया और वहां देखा कि भाभी की पैंटी थी जो कि गीली थी, जैसे ही मैंने उसकी खुशबू सूंघी, मैं पागल हो गया की भाभी को चोदने का कोई मौका मिल जाए.

यही सोच कर मैं बाहर आ गया और खाना खाया और सोफे पर बैठ गया और टीवी देखने लगा और टीवी पर डीडीएलजे का गाना आया जिसमें हीरोइन टॉवेल में रहती है तब मेरी निगाह भाभी की तरफ गई.

तो मेने देखा कि वह शरम से दूर हो गई थी, फिर हमने बातें शुरू की, बातों बातों में भाभी ने कहा कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है क्या? तो मेने कहा कि मेरी गर्लफ्रेंड है और उसे नहाने के बड़ा शौक है, और वह समझ गई कि मैं उसी के बारे में बोल रहा हूं.

फिर हमने टीवी के चैनल चेंज किया तो उस पर एक हॉट सीन चल रहा था, वह देख कर भाभी को क्या हुआ वह बेड रूम में चली गई, मैंने भी उनका पीछा किया और देखा कि वह निराश हो गई थी.

तो मैंने पूछा कि क्या हुआ भाभी? आप क्यों उदास हो गई? तो वह पहले मना किया फिर उन्होंने कहा कि उनके हस्बैंड उनको इतना टाइम नहीं देते तो मैंने भी बिना देर किए उन्हें गले लगाया तो उन्होंने कुछ भी रिस्पांस नहीं दिया.

तो मैंने फिर उनके माथे पे चूमा तो वह भी मेरे गले लग गई और कहा कि मैं तुम्हें चाहती हूं मगर तुम्हें यह नहीं कह सकती थी, यह सुन कर में अपने होश खो बैठा के इतने दिनों से मैं जिस मौके की तलाश कर रहा था वह सामने से आया, फिर मैंने बिना देर किए उनके लिप्स पर किस करना शुरू किया.

फिर वह भी मेरा साथ देने लगी, मैं किस देते देते उनके बूब्स भी दबा रहा था और वह पूरे मूड में आ गई थी, तो मैंने उनका ब्लाउज खोला और देखा कि उसके बूब्स ब्रा से निकलने के लिए तड़प रहे थे, मेने उन्हें आजाद किया और फिर मैं उनके बूब्स को चूसने लगा.

मेरा एक हाथ उनके बूब्स दबा रहा था और दूसरा उनकी चूत को सहला रहा था. फिर मैंने उनके सारे कपड़े उतार दिया मैंने देखा कि उनकी चूत बिल्कुल लाल हो गई थी और वह जड़ने वाली थी और उसने भी मेरे सारे कपड़े उतार दिए मेरा लंड उसकी चूत को मिलने को तड़प रहा था, मगर मुझे उसे और तड़पाना था.

फिर मैंने अपना लौड़ा उसके मुंह में डाल दिया और उस में ही झड़ गया, फिर ज्यादा देर करे बगैर लंड उसकी चूत में डालने लगा तो वह चिल्ला उठी, वह दर्द से तड़पने लगी, उसने कहा कि जरा आहिस्ता डालो मैंने उसको फिर से डालने की कोशिश की तो अब की बार आधा चला गया वह फिर से तड़पने लगी.

मैंने एक और झटका लगाया और पूरा लंड अंदर चला गया, और वह तड़पने लगी थी तो मैं उस के लिप्स को चूसने लगा और फिर कुछ देर बाद वह जड़ गई और वह  बेजान हो गयी. मगर अभी मैं नहीं जड़ा था तो मैं जारी रहा.

और कुछ देर बाद मैं भी झड़ गया और मैंने अपना सारा लिक्विड उस की मुलायम चूत में डाल दिया और दोनों सारी रात बिना कपड़ों के सो गए और उस दिन से जब कभी मौका मिलता तो भाभी को चोदना नहीं छोड़ता था.

8 Replies to “रजनी भाभी का पहला मजा”

Comments are closed.