स्कुलगर्ल को चोदा ब्ल्यू फिल्म दिखा के

loading...

हाई दोस्तों मेरा नाम सुजीत हैं और मैं कानपुर का रहनेवा हूँ और मैं अभी ग्रेज्युएशन कर रहा हूँ और पेशे से मैं एक कॉलबॉय यानी की जिगोलो भी हूँ. दोस्तों ये कहानी आज से एक साल पहले की हैं. मैंने सोचा की आप लोगो के साथ मुझे शेयर करनी चाहिए. मैं 12वी में पढता था तब ये हुआ था. एक लड़की को मैंने ब्ल्यू फिल्म दिखा के चोदा उसके ऊपर ये कहानी आधारित हैं.

तब हमारी स्कुल के अंदर इंटरक्लास कम्पीटीशन चल रहा थे. और कुछ ही दिनों में अर्धवार्षिक एक्साम भी होने थे. और इसी वजह से स्कुल में बहुत सब बच्चे नहीं आ रहे थे. उस दिन तो मेरी क्लास में सिर्फ मैं और दुसरे चार पांच ही लोग आये हुए थे.

loading...

जिस स्कुल गर्ल को मैंने चोदा था उसका नाम नेहा था. सुबह के समय हमारे क्लास टीचर भी अटेंडेंस लगा कर चले गए थे. ज्यादा बच्चे नहीं थे इसलिए वो भी स्टाफ रूम में चले गए थे. धीरे धीरे कर के बाकी की लडकियां भी चली गई. बस फिर तो क्लास के अन्दर मैं और नेहा ही बचे हुए थे. उस दिन मैं स्कुल में मोबाइल ले के गया था. और मैं इयरफोन लगा के पोर्न देख रहा था. उतने में ना जाने कब नेहा मेरी सिट के पास आ गई और उसने सब देख लिया. मैंने इयरफोन लगाए हुए थे इसलिए मुझे पता भी नहीं चला.

loading...

पर जब मैंने देखा की वो मेरे पास में ही खड़ी हैं मैंने तुंरत अपने फोन को बंद कर दिया. और मैं वहाँ से उठ गया. थोड़ी देर बाद नेहा मुझे देख के मुस्कुरा रही थी. मैंने पूछा की क्या हुआ तो वो बोली की कुछ नहीं चालु रखो. मैं समझ गया की वो भी ब्ल्यू फिल्म देखना चाहती थी. मैना कहा देखना हैं तुम को भी? वो भी पक्की हरामी थी और वो ब्ल्यू मूवी देखने के लिए रेडी थी उसने हां कह दिया मुंडी को हिला के.

मैंने उसको फिर अपने पास बुलाया और हमदोनों ने एक एक इयरफोन लिया और बीएफ देखने लगे. थोड़ी देर बाद हम दोनों गरम होने लगे थे. मैंने धीरे धीरे अपना हाथ उसकी जांघ पर रख दिया. और वो कुछ भी नहीं बोली तो मेरी हिम्मत खुल गई. मैंने थोड़ी देर बाद देखा की उसने भी अपना एक हाथ मेरी जांघ पर रख दिया था. और मैं समझ गया की ये स्कुल गर्ल मेरा लंड लेना चाहती हैं.

मैंने अब अपना हाथ उसकी जांघ से हटाकर उसके कंधे पर रखा तो वो मेरी तरफ देखने लगी. मैं उससे थोडा चिपक के कर बैठ गया. मैंने फिर मोबाइल धीरे से बंद किया और अपना दूसरा हाथ उसकी चूत के पास ले गया.

मैंने देखा की उसकी पेंट गीली थी. नेहा ने कहा यहाँ पर नहीं पप्राइमरी में चलते हैं वहां परे करेंगे. हम दोनों प्राइमरी सेक्शन के क्लास में चले गए वहां पर हमने क्लास की गेट को बंद कर दिया और एक दुसरे को जोर जोर से किस करने लगे.

मैंने नेहा को एकदम दिवार से चिपका दिया और उसे जोर जोर से किस करने लगा. नेह ने मेरा लंड खुद जोर से पकड़ लिया. मैंने तुरंत उसके कपडे उतारे. मैंने उसका टॉप उतारा तो देखा की उसने ब्लैक कलर की ब्रा पहनी हुई थी.

फिर मैंने नेहा की पेंट उतारी तो देखा की उसने निचे ब्लैक कलर की पेंटी पहन रखी थी. मैंने भी अपने कपडे उतर दिए तुरंत ही. मैंने उसको गोदी में बिठाया और फिर उसे टीचर्स की टेबल के उपर लिटा दिया.

और मैं भी उसके ऊपर ही लेट गया. और मैं नेहा को पोर्न मूवी के जैसे ही किस करने लगा. और एक हाथ से उसकी चूत को मसल रहा था. नेहा ने भी मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ लिया था और मैंने उसकी ब्रा को खोला. और उसके दूध को चूसने लगा. वो अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह कर रही थी. मैं उसके निपल्स को धीरे धीरे काटने लगा था और वो अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह उईइ अह्ह्ह की सिसकियाँ ले रही थी.

फिर मैं धीरे धीरे निचे आ रहा था. मैं उसकी नावेल को चाटने लगा. नेहा बहोत फेसन वाली मॉडर्न लड़की थी. मैं उसकी नावेल पर अपनी जीभ दबाने लगा. वो मेरे सर को अपनी नावेल में दबा रही थी.

फिर मैं थोडा और निचे आया और उसकी पेंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को अपनी जीभ से दबाने लगा. उसकी पेंटी भी एकदम गीली हो चुकी थी. मेरी जीभ के ऊपर उसकी चूत के पानी का नमकीन सवाद आ रहा था. फिर मैंने इस सेक्सी स्कुल गर्ल की पेंटी को उतारने की कोशिश की. लेकिन उतनी जल्दी से उतरी नहीं क्यूंकि उसकी पेंटी की डोरी में गाँठ पड गई थी. मेरे से अब रहा नहीं जा रहा था. इसलिए मैंने गाँठ को चोदने के बजाय उसकी पेंटी को ही फाड़ दिया.

वो बोली फाड़ क्यूँ दी यार मैंने कहा, खुल नहीं रही थी. फिर मैंने उसके पैरो को फैलाया और उसकी चूत को चाटने लगा. और वो अह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह कर रही थी. जब मैंने अपनी जीभ उसकी चूत में डाली तो वो चिल्ला पड़ी अह्ह्ह अह्ह्ह मैंने उसके मुहं को हाथ से बंद कर दिया.

फिर मैं उसकी चूत को चाटने लगा अपनी जीभ से. उसकी चूत को मस्त अन्दर बहार करने लगा. मैंने उसकी चूत के दाने को अपने होंठो के बिच में दबाया और वो अपने हाथ से मेरे सर को चूत पर दबा रही थी. उसकी सिस्कारियों की वजह से मेरा लंड एकदम टाईट हो गया था. मैंने जल्दी से अपनी अंडरवियर उतारी और कंडोम को अपने लंड पर चढ़ाया (मैं आज भी हमेशा कंडोम साथ में ही रखता हूँ) और अपने लंड को उसकी चूत के ऊपर फेरने लगा. नेहा लंड बार बार पकड़ कर अपनी चूत में दबा रही थी.

मैंने फिर अपना लंड धीरे से उसकी चूत में डाला. वो तुरंत चिल्ला पड़ी और रोने लगी. आइने कहा क्या हुआ वो बोली हटो बहुत दर्द हो रहा हैं. मैंने कहा कुछ नहीं होगा वो मुझे अपने से दूर हटाना चाह रही थी.

पर मैंने उसकी कमर को कस के पकड़ के एक झटका कस के मारा तो वो चिल्ला पड़ी अह्ह्ह अह्ह्ह मैंने तुरंत उसके मुहं को अपने मुहं से बंद कर दिया. मैं उसे किस कर रहा था और वो रो रही थी. मैं थोड़ी देर वैसे ही रहा और जब थोड़ी देर बाद वो शांत हुई तब मैंने उसकी चूत में धक्के मारने चालु किये. करीब 20 मिनिट तक धक्के मारता रहा और थोड़ी देर बाद में उसकी चूत में ही झड़ गया. मैं कुछ देर ऐसे ही उसके ऊपर ही लेटा रहा.

जब हम दोनों चोदने के बाद टेबल से निचे उतरे तो मैंने देखा की टेबल पर खून पड़ा हुआ था और नेहा की चूत से अभी भी टपक रहा था. वो सही से चल भी नहीं पा रही थी. मैंने उसको एक चेयर में बिठाया और अब मुझे उसकी गांड भी मारनी थी.

पर मैंने उसको बताया तो वो नहीं मानी कक्यूंकि उसको बहुत दर्द हो रहा था. फिर मैंने उसको खड़ा किया और निचे झुक के उसकी खून स सनी हुई चूत को चाटने लगा. अब उसको अच्छा लग रहा था और वो मेरे सर को पकड के अपनी चूत के ऊपर दबा रही थी. मैंने सोचा अब वो नार्मल हो गई हैं.

मैंने उसको पीछे से पकड़ा और उसके दूध को दबाने लगा. फिर धीरे से मैंने नेहा को टेबल पर झुका दिया और उसकी गांड को चाटने लगा. वो अह्ह्ह अह्ह्ह कर रही थी.

मैं फिर खड़ा हुआ और अपना लंड उसकी गांड पर सहलाने लगा. वो बोली ये मत करना. यानि की गांड मत चोदना. पर मैं नहीं माना और उसकी कमर को कस कर पकड़ा और एक ही झटके में आधा लंड और फिर दुसरे झटके में पूरा लंड अन्दर घुसा दिया. वो चिल्लाने लगी और छूटने की कोशिश करने लगी.

पर मैंने उसको नहीं छोड़ा और उसकी गांड को चोदता रहा और वो जोर जोर से चिल्ला रही थी. मैं गांड बिना कंडोम के ही ले रहा था उसकी. वो बेहाल हो गई. लेकिन फिर उसे भी मजा आया एनल सेक्स में. 10 मिनिट के बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया. फिर मैं उस से अलग हुआ और वो रो रही थी तो मैंने उसे चुप करवाया.

मैंने देखा की उसकी गांड में से मेरा वीर्य बहार आ रहा था जिसके ऊपर गु भी लगा हुआ था. मैंने अपने लौड़े को नेहा के मुहं में दे के कहा चूस इसे.

नेहा ने लंड को चूस के साफ़ किया मैंने कहा, चल अब फिर से ब्ल्यू फिल्म देखते हैं. वो बोली नहीं नहीं मैं तो घर जाती हूँ वरना तुम फिर से मेरी गांड फाड़ दो गे अपने बड़े लौडे से.

वो कपडे पहन के भाग खड़ी हुई लेकिन चुदवाने की वजह से कदम डगमगा रहे थे उसके!

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age