सेक्सी भाभी की चूत चुदाई

loading...

हेलो दोस्तों मैं सेम हाजिर हूं एक नई स्टोरी के साथ.. उम्मीद करता हूं आप सब मजे में हैं और अगर मजे में नहीं है तो स्टोरी पढे और मजे ले. मेरी पिछली हॉट इंडियन स्टोरी में राधिका की चुदाई पढ़ के जिसने भी मेल किया उनको थैंक्यू और जिसने नहीं पढा वह पढ़कर देखो, एक अलग ही दुनिया में पहुंच जाओगे..

मेरा नाम सेम है और मैं कोलकाता का रहने वाला हूं, गोरा रंग है हाईट नॉर्मल है और शैतानी दिमाग.. अब आपको बोर ना करते हुए स्टोरी पर आता हूं.

loading...

यह कहानी कुछ साल पहले की है, उस वक्त में १२वीं  कंप्लीट किया था और खाली बैठा था. तो मैंने सोचा कोई जॉब करता हूं, फिर बहुत ढूंढने के बाद एक कॉल सेंटर के टेलीकॉम प्रोसेस में मुझे जॉब मिला.

loading...

एक दिन जब मैं जॉब से घर जा रहा था बस मैं, तो उस बस में बहुत भीड़ थी.. और मैं बस के गेट के पास ही खड़ा था, जैसे-जैसे भीड़ बढ़ी में धक्के खाते खाते अंदर चला गया.

तभी मेरी नजर एक भाभी पर पड़ी जो कि बिल्कुल मेरे बगल में खड़ी थी, क्या बताऊं दोस्तों भाभी नहीं माल थी माल.. एकदम हॉट, साइज़ होगी करीब ४२-३८-४०.. उसे देखते ही मेरा लौड़ा खड़ा हो गया.

तभी भाभी के पीछे जो आदमी खड़ा था उसका स्टॉप आ गया तो वह उतरने के लिए जैसे ही आगे आया, मैं भाभी के पीछे जाकर खड़ा हो गया..

फिर क्या बताऊं दोस्तों भीड़ बस में इतनी थी की हिलने की भी जगह नहीं थी. भाभी ने साड़ी पहनी हुई थी, मेरा लंड भाभी की गांड को चूम रहा था, क्या गांड था एकदम सॉफ्ट कसम से यार मन कर रहा था कि उनको यही पटक के चोद दूं पर पब्लिक प्लेस में क्या कर सकता था? तो वैसे ही लंड ने भाभी की गांड को चुम-चुम के मजे लिए..

कुछ देर बाद मेरी नजर भाभी की ब्लाउज पर पड़ी तो देखा ब्लाउज साइड से थोड़ी फटी है और ब्लैक कलर की ब्रा दिख रही थी, फिर भाभी को थोड़ा शक हुआ की उसकी गांड पर कुछ लग रहा है, पर वह कुछ नहीं कर सकती थी क्योंकि भीड़ बहुत थी. कुछ देर के बाद भाभी का स्टॉप आया और भाभी उतर गई.

मैंने सोचा लगता है भाभी को चोदने का मौका गया और अपने घर में आकर भाभी को याद करके मुट्ठ मारा. फिर मैं जब भी ऑफिस से घर आता है तो देखता की भाभी बस में हे कि नहीं.

तकरीबन एक हफ्ते बाद मुझे वह भाभी बस में दीखी और उस दिन भी भीड़ बहुत थी. मैंने भीड को चीरते हुए भाभी की गांड की तरफ बड़ा और भाभी के पीछे जाकर खड़ा हो गया, और लंड गांड को चूमने लगा.

कुछ देर तक लंड ने गांड को चुमा फिर मुझे कुछ हुआ.. नीचे देखा तो भाभी मेरे पैंट के ऊपर से लंड पर हाथ फेर रही थी और कुछ गुनगुना रही थी.

मेरी तो लॉटरी लग गई, मैंने भी फायदा उठाया और भाभी की कमर पर हाथ फेरने लगा.. भाभी ने साड़ी पहनी थी तो कमर का पूरा मजा उठा रहा था..

कुछ देर ऐसा ही चला फिर भाभी का स्टॉप आ गया. मैंने सोचा की आज भाभी के पीछे ना गया तो फिर कभी मौका मिले क्या पता? तो भाभी के साथ साथ मैं भी उतर गया..

उतरने के बाद मैंने पूछा आपका नाम क्या है? वह बोली सुनीता और तुम्हारा? मैने कहा मेरा नाम सेम है पर आप मुझे जानेमन बुला सकती है.. तो वह हंसने लगी.

फिर यु ही कुछ देर बातें हुई, मैंने कहा आप बहुत हॉट हो, मेरी गर्मी बढ़ रही है. तो वह बोली अच्छा ऐसा हे क्या? मैंने कहा हां.. तो वह बोली चलो फिर गर्मी उतारती हूं तुम्हारी.. में तो शोक्ड हो गया, तो पूछा आपके घर पर कोई नहीं है क्या? तो वह बोली मेरे पति बाहर काम करते हैं और शादी को २ साल हो गए और मेरा कोई बच्चा नहीं है.

मैं यह सुनकर खुश हो गया और उसके घर चला गया. घर पहुंचते ही भाभी ने कहा तुम बैठो मैं कुछ खाने को लाती हूं, वह किचन में गई तो मैं भी उसके पीछे पीछे गया और उसके पीछे से पकड़कर चूमने लगा. तो उसने मुझे रोका और कहा सबर करो इतनी जल्दी भी क्या है? मैंने कहा सबर नहीं होता. तो वह बोली आज रात मैं तुम्हारी ही हु तो जाओ और आराम से सोफे पर बैठो. मैं जा कर सोफे पर बैठ गया.

थोड़ी देर बाद वह नाश्ता ले कर आइ और हम बैठकर बातचीत करने लगे, मैंने कहा भाभी आप बहुत खूबसूरत हो और आपका पूरा बदन एकदम सॉफ्ट हे. मैं आपको चोइस देता हूं, आपको मसाज करके चोदूं, या नॉर्मल ही, या फिर कुछ स्पेशल.. तो उसने कहा स्पेशल क्या है? मैंने कहा अब आप इंतजार करो, इतनी जल्दी भी क्या है? आज रात मैं आपका ही हूं तो वह हंस कर बोली बदमाश..

फिर हम साथ में नहाने के लिए गये, जैसे ही भाभी ने कपड़े खोले तो में देखता ही रह गया क्या माल थी यार ऐसे माल को एक हफ्ते लगाकर चोदो पर फिर भी मन ना भरे..

फिर हमने शावर ओन किया और नहाने लगे में हल्के हल्के सक करते हुए मैंने भाभी को  अपनी बाहों में जकड़ा और साप की तरफ लौटने लगा. कुछ देर बाद हम अलग हुए और मैं भाभी को साबुन लगाया और हर जगह सक करने लगा.

वह सिसकिया लेने लगी अहः औऊ इह अह्ह्ह बास य्य्स अह इह हहह. यआह सेम यह तो एक अलग ही मजा है, कभी नहीं किया है ऐसा. उसके बाद मैंने भाभी की चूत पर हाथ रखा और सहलाने लगा.. कुछ देर बाद भाभी ने मेरा लंड हाथ में लीया और मसलने लगी.. क्या मजा आ रहा था..

दोस्तों उसके बाद हम फ्रेश होकर बाथरुम के बाहर आए. मैंने टॉवेल पहना और भाभी ने  एक ट्रांसपरेंट नाइट गाउन पहना था फिर भाभी कॉफी बनाने चली गई और मैं टीवी देखने लगा, भाभी कोफ़ी और कुछ स्नैक लेकर आइ और हम टीवी  देखते देखते उस स्नेक्स का मजा लिया. उसके बाद मैंने भाभी से कहा अब वह स्पेशल चीज किया जाए? तो भाभी ने कहा देर कैसी शुरू हो जाओ..

मैंने फिर भाभी को अपनी गोद में लिया और किस करने लगा. किस करते करते में भाभी के बूब्स प्रेस करने लगा और जोर से दबाने लगा. कुछ देर किस करने के बाद हम लोग अलग हुए और मैंने भाभी को कहा कि फ्रिज से एक प्लेट में आइस लेकर आओ.

वह आइस लेकर आइ और फिर मैंने भाभी के कपड़े उतारे और भाभी को नंगा कर दिया और किस करने लगा. कुछ देर तक किस  करने के बाद मेने आइस का एक टुकड़ा लिया और भाभी के निप्पल पर जैसे ही रखा भाभी उछल पड़ी, फिर मैं आइस भाभी मकी नीपल पर रगड़ने लगा. देखते ही देखते भाभी ने सिसकिया लेना शुरू कर दिया.  फिर दूसरे हाथ से मैंने आइस क्यूब उठाया और अपने मुंह में डालकर भाभी को किस करने लगा.

भाभी पूरी गरम हो गई कुछ देर के बाद मैंने एक आइस क्यूब लीया और भाभी के नाभि पर रखा और चूमने लगा. भाभी ने कहां सेम आज से पहले ऐसी चुदाई कभी नहीं करवाई. एक अलग ही मजा आ रहा है.. मैंने कहा अभी तो पूरी पिक्चर बाकी है.. भाभी ने मुझे अपनी तरफ खींचा और एक जोर का किस दिया, मैं समझ गया भाभी पूरी भरी पड़ी है.

फिर मैंने फोटो को उल्टा किया और भाभी की पिठ पर आइस रगड़ने लगा. भाभी पूरी तड़प गई और मेरे लंड को कस के पकड़ कर मसलने लगी, फिर मैं हल्के से नीचे आया और मुंह में आइस लेकर भाभी की चूत चाटने लगा, अब भाभी छटपटाने लगी और मेरे सर को पकड़कर चूत पर दबाने लगी.

कुछ देर और चूत चाटने के बाद भाभी जड़ गयी और भाभी ने अपने मुह में एक आइस लिया और मेरा लंड चूसने लगी, हाय क्या फिल थी दोस्तों.. ऐसा लग रहा था मे एक  अलग दुनिया में हु और भाभी का लंड चूसने का स्टाइल भी क्या गजब का था.. एक तरफ वह मेरा लंड चूस रही थी अब दूसरी तरफ मैंने एक आइस उठाया और भाभी की चूत पर रगड़ने लगा.

कुछ देर बाद भाभी अलग हुई और मैंने एक आइस लिया और भाभी की गांड पर रखा और भाभी को स्मूच करने लगा, कुछ ही देर बाद मैंने भाभी को सीधा किया और अपना लंड उसकी चूत पे रखा.. वाह क्या चूत थी एकदम टाइट.. मैं हल्के हल्के कर के धक्के लगाने लगा और भाभी सिसकियां भर्ती गई.

फिर मैंने अपना स्पीड बढ़ाया और जोर से चोदने लगा, भाभी ने सिसकिया लेते हुए कहा सेम चोदो और जोर से मिटा दो मेरी चूत की आग.. आज फाड़ दो मेरी चूत आह्ह ओह हहह उऔउ हां इह हां यस्स सेम. १५ मिनट चूत मारने के बाद मैंने भाभी को डौगी स्टाइल में किया और गांड में लंड डालकर चोदने लगा. १० मिनिट बाद में जड़ गया और भाभी को सक करने लगा. फिर में फ्रेश हो कर अपने घर आ गया.

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age