सेक्सी आयशा को चोदा ओयो रूम्स में

loading...

स्तों आज की ये सेक्स कहानी मेरी और मेरी दिल की रानी आयशा की हे. आयशा का सेक्सी फिगर हे, चौड़ी और मोटी जांघे हे. उसके होंठ भी गुलाब की पंखड़ियों के जैसे और रस से भरे हुए हे. और वो बिस्तर के अन्दर भी बहुत मजे देती हे.

हम दोनों एक म्यूच्यूअल फ्रेंड के थ्रू फेसबुक पर मिले थे. और फिर वो मेरे में इंटरेस्टेड लगी और हमारी बातें बढती चली गई. और उसके चेटिंग करने के ढंग ने मुझे मजा करवा दिया. वो लवली लग रही थी. और मुझे तब पता नहीं था की वो बिस्तर में एक नम्बर की जंगली बिल्ली थी. उसकी उम्र करीब 25 साल की थी.

loading...

आयशा ने खुद को अच्छा मेंटेन किया हुआ था, मैंने उसके भेजे हुए पिक्स के ऊपर ही अपने लंड को घिसा था. और लेपटोप की स्क्रीन के ऊपर उसके पिक्स की स्लाइड शो लगा के मैं अपने लंड को हिलाया भी था. सच कहूँ तो मैं उसे मिल के उसकी लेना को बेताब था. और उसकी बातों से और सेक्सी चेटिंग से लगता था की वो भी मेरे से मिल के मेरे लंड का डंडा अपने भोसड़े में लेना ही चाहती थी.

loading...

और फिर कुछ दिन ऐसे ही चेटिंग कर के हमने मिलने को सोचा. उसने मुझे आईमेक्स पर बुला लिया जो सिटी के बीचोबीच था. मैं उसके बताये हुए वक्त से पहले ही वहां पहुँच गई. अपने दिए हुए वक्त पर वो भी आ गई. उसने आज अपनी पसंद के ब्लेक कपडे पहले हुए थे. उसने निचे टाईट जींस और उपर टॉप डाला हुआ था. उसकी फिगर एकदम कमाल की लग रही थी. एकदम हॉट लग रही थी आयशा!

हमने वही मैन रोड पर खड़े हुए कुछ देर बातें की. बिच बिच में वो अपने खुले हुए बालों को हाथ से सही करती थी. और उसे ऐसे देख के मेरा लंड बवाल मचाता था. फिर हम दोनों अन्दर चले गए. हमने आइसक्रीम खाई और फिर एक हिंदी मूवी देखने के लिए चले गए. लेकिन वो बोली यार मूवी में कहा तिन घंटे बैठेंगे. तो मैं उसे ले के बहार आ गया. पार्किंग लोट में बाइक लेने के लिए वो मेरे साथ ही आई. पार्किंग बेज्मेंट में था और सीढियाँ एकदम खाली ही थी.

मैंने सीढियों के ऊपर उसका हाथ पकड़ के उसे अपनी तरफ खिंचा. वो शर्मा रही थी. मैंने उसे पकड़ के किस कर लिया. वो भी किस दे रही थी मुझे. मेरी लाइफ के एक हसीन किस थी ये.

फिर हम दोनों निचे पार्किंग लोट में गए. मैंने वहां पर उसे पूछा की मुझे जो फिलिंग हे क्या उसके अन्दर भी वो फिलिंग हे? उसने मेरे नजदीक आ के कहा, पता नहीं तुम खुद ही आजमा के देख लो ना. और उसके इन शब्दों ने मेरे अन्दर के मर्द को एकदम से झंझोड़ सा दिया.

हम लोग वहाँ से निकले और मैं करीब में ही एक ओयो रूम्स में जा के रूम ले लिया. उसने भी बताया की वो आज पूरा दिन फ्री ही थी. मैं पहले ही बाथरूम में चल गया और फ्रेश होने लगा. मैंने जान बुझ के बाथरूम का डोर ओपन रखा था और देखना चाहता था की वो क्या करती हे. मैं चुदाई की गर्मी से पहले ठंडे पानी का शावर ले रहा था. जब मैं शावर में था वो पीछे से आ गई. मैंने उसे देखा और हाथ पकड के उसे अपने पास ले लिया. वो भी मूड में ही थी. उसने निचे बैठ के मेरे लंड को अपने मुहं में भर लिया और चूसने लगी.  वाऊ उसके लंड चूसने का अंदाज कितना सेक्सी था.

मैं वही पर एकदम शून्यमनस्क बैंक के खड़ा हुआ था और वो मेरे लंड के ऊपर पूरी धमाल किये हुए थे. वो बिच बिच में लंड को बहार निकाल के मुझे कहती थी की ये बहुत बड़ा और ज्युसी हे.

फिर उसने लंड को अपने मुहं से निकल लिया और उसके ऊपर किस देने लगी. पहले उसने सुपाडे को किस दिए और फिर शाफ्ट को. और फिर से वो लंड का लोलीपोप करने लगी. उसके होंठो से मेरे लंड के ऊपर जो गर्मी आती थी उसकी वजह से मुझे अन्दर से मस्त फिलिंग हो रही थी. वो भी मेरे लंड को चूसते हुए एकदम गरम हो गई. मैंने उसे उठाया और उसके कपडे निकाले. और कपडे खोलते हुए मैं उसके बदन के एक एक अंग को अपने होंठो से चूम रहा था. एक एक चुम्मे से उसके अन्दर की गर्मी सिसकी और आह से निकल रही थी.

जैसे ही मैंने उसकी चिकनी बिना बाल की चूत को देखा तो मेरे अन्दर के कामदेव ने वहां पर चूमने के लिए जैसे मजबूर कर दिया मुझे. मैंने उसकी फांको को खोला और चूत के दाने के ऊपर ही पहली किस कर दी. वो उछल सी पड़ी. मैने चूत के दाने को धीरे से मसला और

वो मेरी कमर को खरोच रही थी. वो अपने ऊपर का कंट्रोल जैसे गुमा रही थी. फिर वो मेरे गले के ऊपर और कानो के ऊपर अपने होंठो से चूसने लगी थी. वो एकदम होर्नी हो गई थी और उसकी चूत एकदम गीली हो गई थी.

अब मैंने उसे अपने हाथो में उठा लिया और मैं उसे बिस्तर के ऊपर ले गया. वो अपनी टाँगे खोल के लेट गई. मतलब की वो लंड का डंडा अपने अन्दर लेने को रेडी ही थी. मैंने अपने लंड को उसकी चूत की फांक के ऊपर लगाया और ऊपर से निचे घिसने लगा. उसकी चूत का पानी मेरे लंड के ऊपर आ गया. और फिर मैंने उसे अपनी बाहों में ले लिया और जोर से किस दिया. आयशा बोली, चलो अब डाल भी दो ना मेरी जान.

बस मैं इसी लम्हे की वेट में था. मैंने लंड को उसकी चूत में डाला तो वो आह कर के मेरे से लिपट गई. उसके लिपटने से मेरे लंड के ऊपर प्रेशर बन गया और पूरा लोडा अन्दर जा घुसा. आयशा ने अपनी चूत को मेरे लंड के ऊपर जोर से दबा रखा था और मुझे बड़ा ही मजा आ रहा था ऐसे टाईट चूत में लंड को डालने का.

आयशा अपनी चूत को घिस रही थी मेरे लंड पर. और मैं उसके बूब्स चूसते हुए उसको चोदने लगा था. वो भी अपनी कमर को हिला हिला के मस्त मरवा रही थी.

बस फिर तो वही हुआ जो हर सेक्स कहानी में होता हे. चूत और लंड की लड़ाई और वीर्य की पिचकारी!!!

loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age