ट्यूशन वाली सेक्सी मैडम को दिया चुदाई का क्लास

loading...

हाय फ्रेंड्स मेरा नाम मुकुल है। मै उत्तराखंड के एक छोटे से शहर में रहता हूँ। मेरे पिता जी बिल्डर है। मै अपने घर का अकेला चिराग हूँ। मेरे को कभी किसी चीज की कमी मेरे पापा नहीं होने देते। मेरी उम्र 23 साल की है। मै देखने में बहोत ही हैंडसम लगता हूँ। मेरे को देखकर लड़कियां के साथ मैडम का भी मन मचल जाता है। मेरे को इसका पता चला जब मैं ग्रैजुएशन कर रहा था। ये बात भी 2 साल पहले की है। जब मैं ग्रैजुएशन करने के लिए डिग्री कॉलेज में दाखिला लिया। हिंदी पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम  फ्रेंड्स मेरे को बचपन से ही मेरे को अकेले ही कोचिंग पढ़ने की आदत थी। बच्चो के साथ में पढ़ने में मेरे को अच्छा ही नहीं लगता था। मेरे को कुछ समझ में ही नहीं आता था। आप लोगो को पता ही होगा की ग्रेजुएशन की क्लास के लिए घर पर ट्यूशन करना कितना मुश्किल काम है। मैंने अपने कॉलेज के एक मैडम से बात की। किसी तरह से वो मेरे को अकेले पढ़ाने को मान गयी। लेकिन उनकी एक शर्त थीं। मेरे को उनके घर पर आकर पढ़ना पड़ेगा। मैंने भी ये शर्त मान ली। मैडम का नाम दीप शिखा था। मेरे को बहोत ही पसंद थी। जब भी मेरे को वो देखती थी। मेरे मुह से वाओ… क्या माल है ये वर्ड जरूर निकल जाता था। मैडम का बूब्स बहोत ही लाजबाब था। उभरे बूब्स को देख कर बच्चो के साथ साथ टीचरों का भी लंड खड़ा हो जाता था।

मैडम की उम्र ज्यादा से ज्यादा उस समय 27 साल की रही होगी। उनका फिगर बहोत ही बॉम्ब था। 36 30 34 के फिगर कर देखकर मेरा लंड बेकाबू होकर खड़ा हो जाता था। मैंने अपनी पढ़ाई स्टार्ट कर दी। मैडम के घर पर कोचिंग का पहला दिन अटेंड करने गया था। मैडम ने मेरे को शांत एकांत कमरे में ले जाकर पढ़ाया। मेरा मन पढ़ाई पर कम उनके दूध पीने में ज्यादा लगा रहता था। पहले दिन ही उनके थोड़े दूध का दर्शन होते ही मुह में पानी आ गया। उस दिन तो घर आते ही कई बार मुठ मारा। मैडम के घर पर दूसरे दिन पहुचते ही मैंने पहले मैडम को गौर से देखा। हिंदी पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम 

loading...

पढ़ने के बाद मैं जब चल ने लगा तो मैडम ने मेरे को चाय पीने के लिए रोक लिया। मैंने भी सोचा मेरे को भी इसी बहाने थोड़ी सी बात करने का मौका मिल जायेगा। मैडम के साथ बरामदे में बाहर ही बैठा था। मैडम किचन से निकल कर चाय लेकर आ गयी।
दो दिन हो गए मेरे कोचिंग को लेकिन मेरे को उनके घर में उनके अलावा कोई दिख भी नहीं रहा था।
मै: मैडम आपके हसबैंड नहीं दिख रहे??
मैडम: मै तुम्हे शादीशुदा लगती हूँ क्या??
मै: नहीं लेकिन मेरे को लगा की आपकी शादी हो गयी होगी।
मैडम: मेरा घर यहां नहीं है। मैं ये मकान किराए पर लेकर रह रही हूँ।
मै: मेरे को आपका ही लग रहा था।
मैडम: तुम बहोत स्मार्ट हो??

loading...

मै: मैडम जी मै अगर स्मार्ट हूँ तो आपके खूबसूरती को क्या कहूँ??
मैडम हँस कहने लगी।
मैडम: बाते तो बड़ी अच्छी करता है तू!!
मैं: मैडम आप शादी कब करोगी?? आपका कोई बॉयफ्रेंड तो होगा ही?
मैडम: मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है। मेरे को शादी वादी में कोई इंटरेस्ट नहीं है।
मै: मैडम शादी के बिना तो जिंदगी अधूरी होती है। सारा सुख नहीं मिल सकता शादी के बिना।
मैडम: सब सुख लेने के लिये शादी जरूरी तो नहीं! और तेरे को कुछ लगता है तो बताओ!

मै: मैडम मैं आपसे कैसे शेयर करूँ??
मैडम: अपने फ्रेंड जैसे मान लो न हमें।
मै: मैम मेरे को शर्म आ रही है। आप समझ रही हैं फिर भी मेरे से क्यों पूँछ रही हो??
मैडम: कही तुम सेक्स के बारे में तो नहीं कह रहे हो??
मैंने अपना सिर हिलाकर हाँ में जबाब दे दिया। मैडम मेरी तरफ देख कर मुस्कुराती हुई बोली।
मैडम: क्या तुमने अभी तक सेक्स नहीं किया है??
मै: किया है मैडम लेकिन बहोत दिन हो गया।
मैडम: भूल तो नहीं गए हो करना??

मै: क्या बात कर रही हो मैडम जी?? मै क्यों भूलूंगा?
मैडम की भी चूत खुजलाने लगी थी। वो बहकने लगीं मेरे को देखते हुए। मेरे से कहने लगी।
मैडम: मैंने आज तक सेक्स नहीं किया है। मेरे को एक ट्यूशन देकर तुम मेरे को सब बता दो।
मै तो चौंक गया। वो मेरे से चुदने को कह रही है। मेरी तो आज लाटरी निकल गयी थी। मैं बहोत ही खुश हो रहा था।

मै: मैडम कैसे सिखाऊं? थेओरी की क्लास लोगी या प्रक्टिकल करा दूँ??
मैडम: मेरे को प्रैक्टिकल ही करा दो। मुझे ज्यादा समझ में आएगा।
वो मेरे को बैडरूम में ले गयी। मै बिस्तर पर बैठा इंतजार कर रहा था। वो फ्रेश होने चली गयी। कुछ देर बाद वो मेरे पास फ्रेश होकर आ गयी। मै मैडम को ताड़ता ही जा रहा था। वो मेरी तड़प को समझ रही थी। मेरे पास आकर कहने लगी। अपनी क्लास स्टार्ट करो। सबसे पहले मेरे करीब आओ। मैडम की आँखों का काजल मेरे को घायल कर रहा था। मैंने थोड़ा सा काजल उनकी आँखों से छुड़ा कर उनके गाल पर लगा दिया।

मैडम: मुकुल क्या कर रहे हो?
मै: आपको टीका लगा रहा था। मेरी नजर न लग जाये आपको!
इतना सुनते ही वो मेरे को किस कर ली। वो समझ रही थी। मैं उनको बहोत लाइक करता था। किस करते ही मेरे को सिग्नल मिल गया। मैंने भी अब अपना रंग दिखाया। मैंने मैडम के बालो को पकड़कर उनका मुह ऊपर उठाते हुए किस करने लगा। मैडम की काले काले होंठ को चूस कर मजा लेने लगा। सॉफ्ट होंठ को चूसने का मजा ही कुछ और था।

वो भी मेरा साथ दे रही थी। कभी मेरे होंठ को वी चूसती तो कभी मै उनके होंठ को बारी बारी चूस रहा था। उनकी होंठ खूब फूल आया। इतनी जोरदार की होंठ चुसाई से उनके होंठ और भी ज्यादा काले हो गए। मैडम और भी ज्यादा गजब की माल दिखने लगी। मैडम की आँखे बड़ी शराबी लग रही थी। मेरे को जोर से दबाती ही जा रही थी। कुछ ही देर में उनकी साँसे बढ़ने लगी। वो जोर जोर से साँसे भरने लगी। वो भी उत्तेजित होने लगी। मैंने मैडम को कास कर दबाते हुए। गालो के साथ गले पर किस करना शुरू किया। गले पर किस करते ही वो मदहोश होने लगी। मैडम की मदहोशी को देखते हुए मैने अपना हाथ उनकी बूब्स पर रख दिया। बूब्स दबा कर किस करने का मजा ही कुछ और था। पहली बार मेरे को इतना जबरदस्त मुलायम दूध दबाने का मौक़ा मिल रहा था।

मैंने मैडम की समीज को निकाल दिया। काले रंग का ब्रा में उनका बूब्स बहुत ही मस्त लग रहा था। मैडम का दूध पीने के लिए उनके दूध को ब्रा से आजाद कर दिया। काले निप्पल को दबाते ही वो “…..ही ही ही……अ अ अ अ .अहह्ह्ह्हह उहह्ह्ह्हह….. उ उ उ…” की आवाज निकालने लगी। उनके दूध को दबाते हुए मैं पीने लगा। वो मेरे कान पर हाथ रखकर मेरा सर अपने दूध में दबा रही थी। वो मेरे से कह रही थी। चूसो!! चूसो!! आज सारा दूध पीकर मेरे को और मजा दो। मै बहोत ही मजे ले ले कर पी रहा था। उनका दूध कडा होने लगा। मैंने उसे पीना छोड़कर अपना पैंट निकालने लगा। मै अंडरबियर में मैडम के सामने खड़ा हो गया। जोश में मेरे को मैडम के सामने अंडरबियर में खड़ा होने में कोई शर्म नहीं आ रही थी। मैडम ने मेरे अंडरबियर को खीच के निकाल दिया।
मै: अब आपकी बारी है। अब आप मेरे लंड को चूसकर अच्छे से खड़ा करो। हिंदी पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम 
मैडम: जो आज्ञा सर जी!
इतना कहकर वो मेरे ढीले लंड को पकड़ कर हिलाने लगी। मेरा ढीला लंड धीरे धीरे टाइट होने लगा। वो मेरे लंड को मुह में रख कर अपना जीभ लगा रही थी। उनकी खुरदुरी जीभ मेरे लंड पर रगड़ रगड़ कर खड़ा कर रही थी। मेरा लंड टाइट होने लगा।

लोहे के रॉड जैसा खड़ा होकर मेरा लंड उनके मुह से बाहर आने लगा। मेरे को उनकी चूत चोदने की उत्तेजना होने लगी। मेरे लंड का सुपारा गुलाबी हो चुका था। मैंने मैडम के मुह से अपना लंड निकाल कर उनकी सलवार का नाडा खोल दिया। नाडा खुलते ही वो पैंटी में हो गई। सलवार सरक कर नीचे गिर गयी। मैंने मैडम की चूत देखने के लिए मैडम की पैंटी निकाल दी। उनको बिस्तर पर लिटाकर उनकी टांगों को फैला दिया। मैडम की टांगो को फैलाते ही उनकी चूत दिखने लगी। चेहरे से भी ज्यादा खूबसूरत उनकी चूत लग रही थी। वो मेरे लंड को देख कर अपनी होंठ काट रही थी। मैडम की चूत पर काले रंग की खाल उभरी हुई थी। मैंने उनकी चूत का रस चखने के लिए अपना मुह उनकी चूत में लगा दिया। जीभ लगा कर उनकी चूत चाटने लगा।

चूत चाटने में तो मेरे को बहोत मजा आ रहा था। वो “उ उ उ उ उ……अ अ अ अ अ आ आ आ आ… सी सी सी सी….. ऊँ—ऊँ…ऊँ….” की सिसकारी भर रही थी। मैडम की चूत के दाने को काट काट कर उनको बहोत ही उत्तेजित कर रहा था। वो मेरे को अपना लंड डालने को कहने लगी।

मैडम: मुकुल मेरी चूत में अब अपना लंड घुसा दो। फाड़ दो मेरी चूत!! आज मेरी चूत गर्मी को शांत कर दो! और न तड़पाओ मेरी जान।
मै भी ऐसे शब्दों को सुनकर उत्तेजित हो गया। मैंने भी अपना लंड उनकी चूत पर रगड़ने लगा। वो अब कंट्रोल नहीं कर पा रही थी। बिस्तर के चादर को वो हाथो से समेटते हुए दबा रही थी। उनकी गर्म चूत में अपना लंड घुसाने लगा। मेरे लंड का टोपा उनकी चूत में बड़ा धक्कम धक्का मार कर अंदर कर दिया। वो जोर से “ओह्ह माँ….ओह्ह माँ…उ उ उ उ उ……अ अ अ अ अ आ आ आ आ….” की चीख निकाल दी। मैंने धक्के पर धक्का मार के पूरा लंड उनकी चूत के अंदर घुसा दिया। अपनी कमर उठा उठा कर लंड अंदर बाहर करने लगा। मैडम की चूत में मेरा 6 इंच का लंड घुस गया। वो बहुत ही बेकरारी से मेरा लंड घुसवा रही थी। उनकी तड़प को कुछ कम करने में मेरे को लगभग मेरे को 5 मिनट लग गया। हिंदी पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम 

दर्द आराम मिलते ही मैडम ने मेरे को और जोर से चोदने को कहने लगी। मै भी बहुत तेजी से चुदाई करनी शुरू कर दी। वो मेरे को बोल बोल के बहोत ही उत्तेजित करने लगी। मेरे गांड पर हाथ मार मार कर चुदवा रही थी। और जोर से… और जोर से चोदो चोदो फाड़ डालो मेरी चूत बोल बोल कर सारा माहौल ही जोशीला कर दिया। मैने बिना रुके लगभग 20 मिनट तक उनकी टांगो को फैला कर चुदाई की। वो भी “….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हमममम अहह्ह्ह्हह..अई…अई…अई…..” की आवाज के साथ अपनी गांड उठा कर चुड़वाई करवा रही थी। मैडम की चूत की चटनी बन रहा थी। मैं झड़ने वाला हो गया। मैने अपना लंड तुरन्त ही निकाल कर चुदाई रोक दी।

कुछ देर बाद मैडम को कुतिया बना दिया। मैडम की कमर पकड़ कर अपना लंड उनकी चूत में घुसाकर जोर जोर से चुदाई करने लगा। उनकी चूत जल्दी जल्दी की रगड़ बर्दाश्त न कर सकी। वो जल्द ही झड़ गयी। वो अब “आऊ…..आऊ….हमममम अहह्ह्ह्हह…सी सी सी सी..हा हा हा..” की आवाज के साथ चुद रही थी। उनकी चूत की चटनी बनकर उससे जूस निकलने लगा। मै भी झड़ने को हो गया। मैंने भी चुदाई की रफ़्तार और बढ़ाकर उनकी चूत का बुरा हाल कर दिया। सारा माल मक्खन की तरह हो गया। मेरे लंड पर ढेर सारा माल लगा हुआ था। मेरा लंड भी जबाब दे गया। मैडम की चूत से अपना लंड निकाल कर उनके मुह में ठूस दिया। मै भी “अई…..अई….अई… अहह्ह्ह्हह…..सी सी सी सी….हा हा हा…” की आवाज के साथ स्खलित होने लगा।
उनका मुह मेरे लंड के पानी से भर गया। वो मेरे माल को पीकर शांत हो गयी। मैंने उसके बाद हर दिन चुदाई करता हूँ। अब तो मैं चूत के साथ साथ गांड चुदाई भी कर लेता हूँ। मैडम मेरे से बहोत खुश रहती हैं। आपको स्टोरी कैसी लगी मेरे को जरुर बताना और सभी फ्रेंड्स नई नई स्टोरीज Hindipornstories.com पर पढ़ते रहना. आप स्टोरी को शेयर भी करना.

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age