सुनीता को मसाज के बहाने चोदा

हाय फ्रेंड्स, मेरा एडी हे और ये स्टोरी मेरी नौकरानी सुनीता की है. जो कि ४ साल से हमारे घर में मेड है. अब सेक्स स्टोरी पे आता हु.

सबसे पहले तो में आप लोगो को आपको अपने घर का हाल बताता हु. मेरे घर में हम ३ लोग है. में मम्मी और पापा, वो दोनो जॉब करते है. और ८ बजे करीब आते है. में स्कूल में पढता हु. तो मै २:३० तक आ जाता हु और सुनीता मोर्निंग में ७ बजे आ के हमारा ब्रेक फास्ट और लंच एंड डिनर बना के ८ बजे तक चली जाती है. अब उसके बारे में बता दू. मेरी मेड जो हे वह एक ३५ साल की ओरत है. उसका रंग सावला है. पर फेस इतना नॉटी है की जब होठ अंडर करती दातो के बीच में तो लंड तन के भागने लगता है. और गांड इतनी शेप में है जी लंड पागल हो जाये. बूब्स एकदम टाइट है. और हाईट ५ फुट ६ इंच के करीब होगा. वैसे तो में कभी उनको गंदी नजरो से नही देखता पर.

उस दिन जो हुआ तो खुद को हम दोनो ही नही रोक पाए, ये बात थोड़े टाइम पहले की है. डेट १५’ जुलाई २०१६

उस दिन रोज की तरह मै स्कूल से घर आया. और लंच किया. तो सुनीता मेरे रूम में बेठ के मूवी देख रही थी. मुझे देख के चली गई. फिर ३ बजे करीब वो मेरे लिए चाय बना रही थी. तभी गरम गरम चाय जेसी मेरे बेड तक आई तो नीचे टीवी रिमोट पड़ा था. जेसे उसका बेलेंस बिगड़ा और वो २ कप चाय मेरे ओर उसपे गिर पड़ी. मेरे शॉट्स पे गिरी जिससे लंड के पास तक गर्माहट से जलन मचलने लगी. और उसके बूब्स के पास मैने जल्दी से अपना शोर्ट उतारा और अंडरवियर में आ गया. सुनीता ने भी अपनी साड़ी का पल्लू हटाया. मैने देखा सुनीता के बूब्स के पास लाल हो गया था. और जलन हो रही थी. इधर मेरा लंड भी थोडा जलन कर रहा था.

मै फिर भी चुप चाप देखता रहा. मैंने सुनीता के साफ ब्लाउज में से बूब्स देखे और लंड खड़ा हो गया. फिर क्या था? मैं ड्रामे करने लगा की आह मुझे बहोत ही ज्यादा जलन हो रही है. सुनीता ने कहा एडी पहले  मुझे पेस्ट लगा दो मुझे बहुत जलन हो रही है. मैं खुश हो गया और में भाग के गया  मैंने कहा लो लगा लो जलन के ऊपर. उसने पेस्ट लगा लीया. फिर मेरी बारी आई मैंने बोला आंटी प्लीज आप लगा दो वह बोली नहीं बेटा यहां मैं नहीं लगा सकती. यहां खुद लगा लो. मैंने बोला बहुत तेज से जलन हो रही है प्लीज तो वह अब ना कहते कहते बोलने लगी के ठीक हे में लगा देती हु पर बोलना मत किसी से. मैंने कहा ओके नहीं बोलूंगा.

फिर मैंने अपना लंड निकाला उसने हाथ में लिया और भेन्चोद उसके नरम हाथों ने जो  मेरा लंड पकड़ा ऊपर पर उसके चुचे  दिखाई दे रहे थे, यह देख कर मेरा फिर से खड़ा हो गया. वह मुझे कहने लगी यह क्या हो रहा है? मैंने कहा आप प्लीज पर लगाओ जल्दी. उन्होंने पेस्ट दूसरे हाथ में लगाया, पूछा कहां लगाऊं? मैंने बोला कि पूरे इसपे लगाओ. वह कहने लगी रूको वह पेस्ट मेरे टोपे पर मलने लगी. मैंने कहा थोड़ा नीचे भी करो उसने लंड को बिच में से पकड़ लिया कुछ देर तक उसने मल दिया. फिर वह चली गई मैंने सोचा बस चूत मिल जाती अगर इसको चस्का चढ़  जाता तो.

फिर थोड़ी देर बाद वह कहती कि बेटा बहुत जलन हो रही है मेरी जलन कम नहीं हो  रही हे और मुज दे काम भी नहीं हो रहा हे मुझसे. मैंने कहा आप बेड पर आराम से लेट जाओ उसने कहा ठीक है मेरे बगल में आकर लेट गई. मैंने बुब्स के ऊपर हाथ लगाया और बोला यहां जलन मचल रही है? बोली हां कहती हैं. मैंने बोला हवा लगाने दो उतार दो कपड़े. तो वह कहने लगी नहीं तुम्हारे आगे ऐसे हालात में नहीं लेट सकती में. मैंने बोला मैं किसी को नहीं बोलूंगा आपको आराम मिलेगा आप उतार लो. उसने कुछ देर सोचा पर जलन की वजह से उसने ब्लाउज उतारा तो अंदर रेड कलर की ब्रा पहनी थी.

मैं खुश हो गया देख के और लंड को सहलाने लग गया. सुनीता मुझे घुर रही थी. मैने कहा की क्या हुआ तो कहने लगी के मुझे बहोत शर्म आ रही हे. मैंने सोचा यही मौका है मैं पास गया और बोला सुनीता एक औरत हो तुम, शरमाओ मत मुझसे मुझसे. मैं भी एक आदमी हूं और यह बोलकर उसके बूब्स पर हाथ रख लिया. वह चुप थी फिर मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से चूचो पर हाथ फेरना शुरू किया वह कहने लगी कि यह क्या कर रहे हो यह सब? मैंने बोला कि बॉडी मसाज. तो कहती वह क्या होता है? मैंने कहां इससे आपको आराम मिलेगा.

फिर मैंने उसको youtube पर न्यूड मसाज की वीडियो दिखाई कहती है हा यह लड़की भी खुश हो रही है आराम मिल रहा होगा इसको भी. उसने बोला तुम्हें आती है? मैंने बोला हां. तो कहती बेटा कर दो, मैंने बोला आंटी आपको सारे कपड़े उतारने पड़ेंगे और उल्टा लेटना पड़ेगा. वह डर गई कहती कपड़ों के ऊपर से ही कर दो मैंने बोला तेल लग जाएगा कपड़ो पर. वह बोली ठीक है उतारती हूं और ब्रा उतारने लगी. मैंने इतने समय में  अपने कमरे से तेल लेने गया. मैंने जा के एकदम मस्त खुशबू वाला इम्पोर्टेड तेल लिया ताकि उसकी खुशबु से उसे सेक्स चढ़े.

फिर जेसे में वापस रूम में आया वह सिर्फ ब्लैक पेंटि में थी और उल्टी लेट गई थी. हे भगवान मेरी आंखें और गांड दोनों फटी रह गई. उसका बदन अंदर से इतना हसीन था की जैसे वह कोई मॉडल हो, एकदम साफ. मेरा लंड पागल होने लगा था. मैंने उसके पास जाते ही बोला शुरू करु तो कहती है मैंने सबसे पहले तो उसकी गांड पर हाथ फेरा कहती क्या हुआ? मैंने कहा अच्छा है आपके ये तो हल्की सी हंसी.

फिर में  इतने में नीचे से पूरा नंगा हो गया. उसका मुह आगे को था.  उसको पता ही नहीं चला. फिर मैंने तेल उसकी पीठ पर डाला और अपने हाथों से उसकी पीठ की मसाज शुरू की. करीब तीन चार मिनिट बाद उसको मजा सा आने लगा. मैंने पूछा क्या हुआ सुनीता? कहती एडी बहोत अच्छा है मुझे बहोत आनंद आ रहा हे. मुझे  कहा और मजा चाहिए? वह बोली हां. मैंने कहा आपकी पेंटि उतार के टांगों तक की करो. मेरे पेंटि खीच के टांगों से बाहर निकाल दी.

अब उसकी गांड मेरे सामने थी. मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैंने उस पर किस कर दी. वह कुछ नहीं बोली कहती करो ना वहां पर भी. मैंने तेल मला ऊपर से लेकर नीचे तक पूरा हाथ फेरता रहा. अब मैंने कहा अब यह लंड कुछ नहीं बोलेगी.

अब मैने अपने तेल वाले हाथ लंड पर लगाये और उनकी गांड पर मेरा लंड फेरा वह समज गई थी की में क्या करना चाहता हु. वह बोली के बेटा एक काम करो अब जहा जलन हो रही हे वहा भी कर दो. मेरा दिमाग ख़राब हो गया. मैने उसे सीधा किया और जोर जोर से उसको बाहों में जकड़ लिया और बोला सुनीता मेरी जान आज तो तुजे चोदुंगा. वह कहने लगी एडी में अब कुछ घंटो के लिए तेरी हु. मेरे साथ तू जो भी करना चाहता हे वह सब कुछ कर ले में तुजे कुछ भी नहीं कहूँगी. यह सब सुन कर मैने उसके ओठ अपने ओठो में लिए और उसको तो किस करनी भी नहीं आती थी.

वह बोली की यह मैने टीवी में देखा हे. यह केसे करते हे? मैने कहा की तुम मेरे ओठो को चुसो अच्छे से. तो वह पास आई और मेरे ओठो को चूमने लगी. मैने कहा की ऐसे नहीं फिर मैने अपने ओठ उसके ओठो में फसा लिए और फिर बोला की अब चुसो तो वह बड़े प्यार से मेरे ओठ को चूसने लगी और थोड़ी देर प्यार से किस करने के बाद वह बोली के अब तुम मेरे बूब्स पर तेल डालो.

फिर मैने उसके बूब्स पर तेल डाला और थोड़ी देर तक मालिश की और उसके बाद कुछ देर तक उसके बूब्स को चूसता रहा. मैने बड़े प्यार से उसके पुरे बूब्स पर खूब चूसा और वह अपने मुह से सेक्सी आवाजे निकाल ने लगी थी आह ओह्ह अहह ओह्ह हां ओह्ह औऊ अघह ह्ह्ह और में उसके बूब्स को बड़े प्यार से चुसे जा रहा था. मुझे पता था की उसे गर्म करना हे तो उसके बूब्स के साथ बहोत खेलना पड़ेगा और में मेरे पुरे जोर के साथ उसके बूब्स को दबा रहा था और उसका दुध पिने की कोशिश कर रहा था. अब वह मेरे लंड की बहोत प्यासी हो चुकी थी. वह बार बार मेरा लंड पकड कर हिलाने लगी थी. और अब मुज से भी नहीं रहा जा रहा था. फिर मैने ज्यादा देर न करने हुए उसके चूत और मेरे लंड पे तेल लगाया और वह तो ए.बी.ए. बहोत गर्म हो कर अहः ओह्ह अहह ओह्ह आय्य्य ओम्म्म अह्ह्ह्ह ओह्ह ऐसे आवाज निकाल रही थी. उसने बहोत वक्त से चुदाई नहीं की थी तो लंड लंड उसके अंदर आसानी से नहीं जा रहा था.

फिर मैने उसकी चूत में उंगली करी काफी देर तक तेल डाल डाल के. जिस से वह अब बहोत ज्यादा गर्म हो गयी थी और आह ओह्ह अहह होह अहः ओह्ह कर रही थी और उसके मुह से सेक्सी अवजे सुन कर में बहोत पागल होता जा रहा था. अब में अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर पा रहा था. फिर मैने सोचा की यह अच्छा मौका हे. फिर मैने उसको पूरा सीधा लेटाया और उसकी टाँगे पकड कर मेरा लंड जोर से डाला तो मेरा लंड सीधा आधा उसकी चूत में घुस गया.

फिर में उसे धीरे धीरे ज़टके मारने लगा. तभी मैने धीरे धीरे करते हुए अचानक एक जोर से ज़टका मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. फिर मैने बहोत जोर जोर से करीब १०-१२ ज़टके मारे और वह जड गई. मैने लंड निकाला और उसने अपना पानी मेरे लंड पर छोड़ दिया. अब वह तो शांत हो गयी थी. लेकिन मेरा तो अभी तक नहीं निकला था. तो में क्या करता? तो मैने उसको कहा की अब मेरे लंड को अपने मुह में लेकर चुसो और इसका पानी निकाल दो. तो वह कहने लगी की नहीं में यह सब नहीं कर सकती मुझे वहोत गन्दा लगता हे. मैने कहा की क्यों ऐसा कहती हो तो वह कहने लगी की यह मुझे कडवा लगता हे.

मैने बोला ऐसा कुछ नहीं होगा और तुम्हे भी बहोत मजा आये गा. बस तुम एक बार मुह में ले लो और चुसो इसको. उसका पानी जड गया था और उसकी वासना भी शांत हो गयी थी और उसे वह मुह में लेके कडवा लग रहा था. तो वह मेरा लंड मुह में लेकर अजीब सा मुह बना रही थी. मैने लंड को साफ़ किया और लंड पर फ्रिज में से रूह अफजा की बोतल निकाली और थोडा गुलाब जल मेरे लंड पर गिरा दिया. फिर वह स्माइल करने लगी मैने कहा की अब क्या इरादा हे तुम्हारा? उसने जट से मेरा लोडा हाथ में पकड़ा और अपने मुह में ले लिया और वह जोर जोर से चूसने लगी. और अब ओ वह एकदम मदहोश हो कर मेरा लंड चूस रही थी. और मुझे भी अब बहोत ज्यादा मजा आने लगा था.

मैने उसको कहा की में ज़टके मरूँगा और में उसके बाल पकड कर ज़टके मारने लगा जोर जोर से और मेरा माल उसके मुह में ही जड गया. उस ने मुह से निकाल दिया और मेरे लंड पर मल दिया. और फिर कहने लगी की अब में चुसुंगी और वह मेरा लंड सरा चूस गयी और मेरा लंड साफ कर दिया. मैने कहा ये क्या कर रही हो? तो उसने कहा की मेरे पति गन्दी फिल्म देखते हे उसने तो लडकिय ऐसे ही करती हे. में यह सुन कर हसने लगा और कहा की ठीक हे.

और उस दिन का काम हमें आज भी याद हे लेकिन उस दिन के बाद हमारी चुदाई वापस नहीं हो सकी. क्योंकि उसके दो दिन बाद हमारे घर पर दादी रहने के लिए आ गयी हे. तो में बस किचन में चूस लेता हु और मेरा लंड उसको हाथ में पकड़ा देता हु और बूब्स दबाके पि लेता हु. लेकिन हमारा ओपन काम नहीं हो पा रहा हे जैसे ही होगा आप को जरुर बताऊंगा.