टीचर ने कहाँ गांड मत मारो दर्द होता हे

loading...

मेरी ये कहानी मेरी और मेरी प्यारी टीचर सुहानी की हे. ये कहानी आज से 3 साल पहले की हे जब मैं 20 साल का था और मैं बीबीए की पढ़ाई कर रहा था. मैंने बीबीए मैं एडमिशन लिया और जब कोलेज जाना स्टार्ट किया तो हमारे क्लास में फर्स्ट डे मेथ्स की क्लास लेने के लिए एक लेडी टीचर आई. जैसे ही उन्होंने क्लास में एंट्री की मैं तो उनको देखता ही रह गया. उनका फिगर बहुत ही सेक्सी था. वो करीब 34- 28- 36 का होगा.

क्लास में आने के बाद सब से पहले उन्होंने अपना इंट्रो दिया और बताया की उनका नाम सुहानी हे. फिर उन्होंने हम सब का इंट्रो लिया. वो जब चलती थी तो उनकी गांड क्या मस्त लग हिलती थी. मैं तो उनकी गांड का दीवाना हो गया था जैसे. और सिर्फ एक अकेला ही नहीं था. मेरे क्लास के सारे लड़के उनको देख के जैसे आहें भर रहे थे. क्लास में जब भी वो आती तो मैं उनको ऐसे देखता जैसे मैं उनको अपनी आँखों से ही चोद दूँ. उन्होंने भी मुझे दो तिन बार ऐसे नोटिस किया था.

loading...

कुछ ही दिनों में हमारे इंटरनल एक्साम्स स्टार्ट हो गए और मुझे मेथ्स में कम मार्कस मिले. फिर जब हमारा एक्सटर्नल एग्जाम स्टार्ट होने वाला था तो मैं पर्सनली उनसे उनके रूम में मिलने गया और मुझे जहाँ प्रॉब्लम आ रही थी वो उनसे पूछने लगा. उन्होंने मुझे बहुत अच्छे से समझाया.

loading...

हमारी प्रिपरेशन होलीडे होने वाली थी तो उसने मुझसे कहा की अगर आप को मेथ्स में कोई भी प्रॉब्लम हो तो मुझे कॉल कर सकते हो. फिर हम दोनों ने मोबाइल नम्बर एक्सचेंज किये एक दुसरे के साथ.

फिर एक दिन जब मैं घर पर बोर हो रहा था तो मैंने सोचा की मेडम से मिलने चला जाऊं. फिर मैंने उनको कॉल किया और हमने एक दुसरे को हल्लो किया और फिर सुहानी मेडम ने पूछा की किस काम के लिए कॉल किया हे. तो मैंने उनको बताया की मुझे मेथ्स में प्रॉब्लम आ रही हे तो वो सोल्व करनी हे. तो उन्होंने मुझे अपने घर पर बुला लिया और घर का एड्रेस दे दिया.

जब मैं उनके घर पहुंचा और जैसे ही मैंने डोरबेल बजाई तो उसने दरवाजा खोला और मैं उन्हें देख के चौंक सा गया. उस वक्त उन्होंने एक टाईट टी शर्ट पहनी हुई थी. तो मेरा तो उनको देखते ही खड़ा हो गया था.

फिर उसने मुझे अन्दर बुलाया और उसने मुझे कोफ़ी के लिए पूछा. तो मैंने हाँ कर दी. और जब वो किचन में जाने लगी तो मैं उनकी गांड की लचक देख देख के पागल हो गया और मेरा मन उन्होंने चोदने के लिए होने लगा था. मुझे तो ऐसा लग रहा था की आज मेरा लंड मेरी पेंट फाड़ कर बहार आ जाएगा. पर किसी तरह से मैंने कंट्रोल कर के रखा उसको. क्यूंकि वो टीचर थी और मैं उसका स्टूडेंट और मुझे उनकी फिलिंग के बारे में कुछ भी पता नहीं था. अगर नाराज हो जाती तो मुझे फेल भी कर सकती थी वो.

थोड़ी देर बाद वो कोफ़ी ले कर आई और मेरे पास ही बैठ गई. हम ने थोड़ी इधर उधर की बातें की और उसने मुझे कहा की चलो बुक्स निकालो अब हम पढ़ाई स्टार्ट करते हे. मैंने बुक्स तो निकाली लेकिन मेरा ध्यान पढ़ाई में जरा भी नहीं था. सुहानी मेथ्स पढ़ा रही थी लेकिन मैं तो उसके बड़े बूब्स के मेथ्स को समझने की कोशिश में लगा हुआ था. उसके बदन से उस वक्त एक अलग ही खुसबू भी आ रही थी.

मेरा लंड पूरा के पूरा खड़ा हो चूका था. उसने मुझे बार बार नोटिस किया की मैं उसके बूब्स देख रहा हो. तो उसने मुझे टोका और कहा की अब ऐसा नहीं होना चाहिए. और हम ने फिर से पढाई काली की. तो थोड़ी देर के बाद मेरा ध्यान फिर से उसके बूब्स पर चला गया. सुहानी मेडम के बूब्स इतने सेक्सी थे की ध्यान तो जाना ही जाना था वहां पर. उसने मुझे देखा बूब्स की तरफ बार बार झांकते हुए और मेरा लंड भी उस वक्त एकदम कडक और लम्बा हुआ पड़ा था.

सुहानी मेडम: ऐसे क्यूँ देख रहे हो मुझे बार बार, क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं हे?

मैं: नहीं हे मेडम कोई भी.

सुहानी मेडम: क्यूँ तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं बनी अब तक?

तो मैंने कहा की कोई मिली ही नहीं अब तक आप के जैसी!!!

सुहानी मेडम: मेरे अन्दर ऐसा क्या हे भला?

मैंने कहा की आप तो परी के जैसी सुंदर हो मेडम. इतनी खुबसुरत औरत मैंने कभी नहीं देखी और मुझे आप को देखने का बहुत मन करता हे.

सुहानी मेडम: और क्या मन करता हे?

मैं: मन करता हे की मैं आप को किस कर लू! क्या मैं आप को किस कर सकता हूँ?

वो बोली: क्या बस एक ही करनी हे?

उसने जैसे ही ये कहा मैं उनके ऊपर टूट पड़ा और उनको जोर जोर से किस करने लगा. पहले तो वो नोर्मल खड़ी रही. फिर थोड़ी देर बाद वो भी मेरा साथ देने लगी और वो भी मुझे जोर जोर से किस कर रही थी.

अब हम दोनों एक दुसरे को किस करते हुए बहुत ही एक्साइटेड हो चुके थे. तभी उसने मुझे इशारा किया अपने बेडरूम की तरफ. अब तो खुला सिग्नल था और मैंने बिना देर किये उनको अपनी गोदी में उठाया और रूम में ले गया. और ले जाकर बेड के ऊपर पटक दिया और फिर से उन्हें किस करने लगा. अब मेरा हाथ उनके बूब्स के ऊपर था और मैं उनके बूब्स धीरे धीरे दबाने लगा था. पहले एक के ऊपर हाथ फेरा और फिर दुसरे को टी शर्ट के ऊपर ही चुसना चालू कर दिया.

फिर मैंने उनकी टी शर्ट निकाली और उनके बूब्स को जोर जोर से ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा. तभी उसने भी अपना हाथ आगे बढ़ाया और मेरे लंड की तरफ ले गई और पेंट के ऊपर ही मेरे लंड को दबाने लगी और रगड़ने लगी. और मैं उसके पुरे बदन को चाटने लगा था. अब उनके बदन के ऊपर सिर्फ शोर्ट बची हुई थी.

मैं जैसे ही उनको छूता उनके मुह से आवाजें निकलने लगती अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह स्स्स्स आह्ह और अब वो कहने लगी की और जोर से दबाओ तो मैं और एक्साइट हो गया और जोर जोर से उनके बूब्स को दबाने लगा और उनके पुरे बदन को दांतों से काटने भी लगा.

फिर मैंने उनकी शोर्ट और पेंटी को भी निकाल दी और उसने मेरे भी सारे कपडे उतार दिए और हम दोनों पुरे न्यूड हो गए थे. उसने मेरा लंड मुहं में ले लिया और जोर जोर से चाटने लगी. और मैं उनके बूब्स को चूसने लगा और उनकी चूत को रब करने लगा.

वो अब पुरे मूड में थी और उसने कहा की अब नहीं रहा जा जाता तो मैंने उनको बेड पे लिटा दिया और मेरा लंड उनकी चूत पर रगड़ने लगा. तभी वो बोली, जान और मत तडपाओ डाल दो प्लीज़ अपना पूरा लंड.

मैंने भी और देर न करते हुए एक जोर का धक्का दिया तो पूरा लंड उनकी चूत में चला गया. सुहानी मेडम ने जोर से चीखना स्टार्ट कर दिया. उनके पुरे घर में उनकी आवाजें गूंज रही थी. फिर थोड़ी देर में वो शांत हो गई तो मैंने भी अपने धक्के स्लो से थोडा फास्ट कर दिए. अब वो भी मजे लेने लगी थी तो मैंने अपनी स्पीड में चोदना स्टार्ट कर दिया.

अब उनके मुहं से अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह उई की आवाजें आने लगी थी. फिर मैंने उनसे ऊपर आने को कहा. और वो मेरे ऊपर आकर मेरा लंड चूत में डालकर उछल उछल के चुदवा रही थी.

करीब 20 मिनिट बाद हम दोनों साथ में ही झड़ गए और मैंने अपना सारा माल उनकी चूत में ही छोड़ा. वो अब थक चुकी थी तो मेरे ऊपर ही लेट गई. फिर थोड़ी देर बाद हम बातें करने लगे और हम नार्मल हो गए थे. तभी उसने फिर से मेरा लंड सहलाना स्टार्ट कर दिया और हमने फिर से सेक्स स्टार्ट कर दिया. हम दोनों ही बहुत एन्जॉय कर रहे थे.

15 मिनिट की चुदाई में मैंने उनको अलग अलग पोज़ में चोदा और जब मैं उनको डौगी स्टाइल में चोद रहा था तो मैंने उनकी बड़ी गांड को देखा और मेरा उनकी गांड को चोदने का मन करने लगा था. और ये तो मेरी कब से विश थी की मैं सुहानी मेडम की गांड को चोदुं. तो मैंने उनको कहा की मुझे अपनी गांड भी मारनी हे तो उसने कहा की नहीं उस में बहुत दर्द होगा. बस आगे ही बहुत हे. पर मेरे थोडा और बोलने पर वो मान गई.

अब वो क्रीम ले कर आई और मेरे लंड पर लगाईं और थोड़ी क्रीम उसने अपनी गांड में भी लगाईं. और फिर से वो पोज में आ गई. फिर मैंने अपने लंड को जोर से झटका मारा तो आधा लंड मेडम की गांड में चला गया और वो जोर जोर से चीखने लगी थी.

थोड़ी देर बाद जब वो नोर्मल हुई तो हम ने शो स्टार्ट किया. फिर थोड़ी देर बाद तो वो अपनी गांड उछाल उछाल कर चुदवा रही थी. और हम दोनों करीब 45 मिनिट बाद झड़ गया और मैंने सारा पानी उनकी गांड में ही छोड़ दिया. और थोड़ी देर लेट कर हमने आराम किया और थोड़ी देर बाद हम उठे. हम एक दुसरे से नोर्मल होकर बातें करने लगे और अब हमें जब भी मौका मिलता हे तो हम एक दुसरे के बदन की जरुरतो को पूरा करते हे.

Share this Story:
loading...

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age